पेटा पर जमकर बरसे विधायक राजा सिंह, बकरीद पर जानवरों का हुआ क़त्ल क्यों था तुम्हारा मुंह बंद

telangana-mla-raja-singh-slams-peta

हैदराबाद, 3 सितम्बर: तेलंगाना के गोशामहल से विधायक और गौरक्षक राजा सिंह ने पेटा के बयान पर पलटवार करते हुए करारा जवाब दिया है.

राजा सिंह ने कहा – जब ईद थी तो इनके मुंह पर ताला लग गया लेकिन जब हिन्दुओं का त्यौहार आया तो इनका मुंह फिर से खुल गया, क्या बकरीद पर इनके मुंह में ताला लग गया था, या इन्हें सांप ने काट लिया था जो जानवरों की ह्त्या होते  हुए भी खामोश थे, बकरीद पर न जानें कितनी गौ माता की हत्याएं हुयीं, उस समय तुम्हारी संस्था कहाँ थी, क्यों नहीं आया कोई बयान.

राजा सिंह ने कहा ने जानकारी देते हुए बताया कि जितना गाय का दूध और घी उपयोग में आएगा उतनी गायों की जान बचेगी, क्योंकि कसाई लोग घी दूध नहीं देखते उन्हें तो सिर्फ मांस खाने से मतलब है. अगर लोग गाय का घी दूध अधिक इस्तेमाल करेंगें तो उन्हें गाय के महत्त्व का पता चलेगा.

राजा सिंह ने कहा – हमें किस प्रकार से जन्माष्टमी मनाना है पेटा से सुझाव लेने की जरूरत नहीं है, अगर पेटा को सुझाव देना है तो हर धर्म के लोगों को दें, एक धर्म को न दें.

पेटा ने क्या दिया था सुझाव

बता दें कि पेटा पशुओं के अधिकारों के लिए काम करने वाली एक अन्तराष्ट्रीय संस्था है. पेटा इंडिया ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लोगों से अपील की है कि जन्माष्टमी पर गाय का घी इस्तेमाल न करें, बल्कि इसकी जगह शाकाहारी घी का इस्तेमाल करें, गाय का घी इस्तेमाल नहीं करने से गाय भी खुश होगी.