देश की रक्षा करते हुए दीपावली की रात शहीद हुए भूपेन्द्र कालिराणा को आज उनकी बहन ने बांधी राखी

जोधपुर, 26 अगस्त: वर्ष 2012 में दीपावाली की रात देश की रक्षा करते हुए आतंकियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हुए भूपेन्द्र कालिराणा को आज उनकी बहन ज्योति कालीराणा ने उनकी प्रतिमा पर उनकी कलाई में राखी बाँध कर रक्षाबंधन की हार्दिक शुभकामनाएं दी.

कौन थे शहीद भूपेन्द्र कालीराणा

जानकारी के अनुसार वर्ष भूपेन्द्र कालिराणा जोधपुर के रहने वाले थे, 2012 में सारा देश जहां दीपावाली की खुशियां मना रहा था वहीँ श्रीनगर के नौगांव सैक्टर मेँ तैनात भारत माँ के ये अनमोल बेटे अँधेरे से ढकी बर्फ से आच्छादित पहाड़ियों पर बैठे देश सेवा का धर्म निभा रहे थे.

रात्रि के लगभग 10 बजे इन्हेँ सूचना मिली की 9 सबूरी की घाटियों से कुछ आतंकी सीमा मेँ प्रवेश कर रहे हैँ, देश की सबसे भीषण जंगी जाट रेजिमेंट के ये जाबांज जवान जान की परवाह किये बगैर ऑपरेशन रक्षक के तहत आतंकियों को उनके ठिकाने पर पहुँचाने के लिए निकल पड़े, लगभग 4 घंटे चली आमने सामने की मुठभेड़ में सभी आतंकी मारे गये लेकिन दुश्मन की गोली लगने के कारण जाट रेजिमेँट के जाबांज सिपाही भूपेन्द्र कालीराणा अपने साथी महेन्द्रपाल जाट के साथ दिवाली की रात 13 नवम्बर 2012 को आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हो गए.

loading...