5 लोगों के हत्यारे, गुरुग्राम पुलिस की हिट लिस्ट में टॉप बदमाश को गोली मारकर दबोचा गया, पढ़ें

LIKE फेसबुक पेज
gurugram-police-kaushal-gang-2-criminals-arrested-sector-10-cia

गुरुग्राम: क्राइम ब्रांच सेक्टर-10 टीम को बड़ी कामयाबी मिली है, कौशल गैंग के दो खूंखार बदमाशों को एनकाउंटर में गिरफ्तार किया गया है. दोनों बदमाशों पर कई लोगों की ह्त्या का आरोप है.

पकडे गए बदमाशों का विवरण

1. अमित डागर पुत्र ज्ञान सिंह निवासी म0न0 277 राजीव कॉलोनी थाना सदर गुरुग्राम। इसका मूल पता गाँव महेशपुर जिला पलवल है। यह 11वी कक्षा तक पढ़ा हुआ है।
2. अनिल उर्फ लट्ठ निवासी ककरौला दिल्ली।

पुलिस कार्यवाही की डिटेल

क्राइम यूनिट सेक्टर-10 गुरुग्राम से मिली जानकारी के अनुसार – आज दिनांक 10.08.2018 को एक गुप्त सूचना मिली कि कौशल गैंग के कुछ बदमाश किसी बड़ी वारदात को अंजाम देने की फिराक मे थाना राजेन्द्रा पार्क ईलाका मे घूम रहे हैं। इस सूचना पर निरीक्षक सज्जन सिहं के नेतृत्व मे SI विनोद कुमार अपनी क्राईम टीम सैक्टर 10 गुरुग्राम सहित पहुंचकर द्वारका एक्सप्रेसवे धनवापुर चौक थाना राजेन्द्रा पार्क पर नाका बन्दी की गई। नाकाबंदी के दौरान एक i20 गाडी आई जिसको पुलिस पार्टी ने रुकने का ईशारा किया। पुलिस पार्टी को देखकर i20 गाडी मे सवार युवकों ने पुलिस पार्टी पर गोली चला दी। बचाव मे पुलिस पार्टी ने भी गोली चलाई जिससे एक युवक अमित डागर के पैर मे गोली लग गई। इस मुठ्ठभेड़ के बाद i20 गाडी सवार दोनों बदमाशों को काबू किया.

घायल बदमाश को भेजा गया अस्पताल

घायल बदमाश अमित डागर को ईलाज के लिए तुरंत सीविल हॉस्पिटल मे भर्ती कराया गया जहां पर इसका ईलाज चल रहा है। अमित डागर उपरोक्त एक खूंखार बदमाश है जो कि कौशल गैंग से संबंध रखता है। इस पर हत्या, जानलेवा हमला करना, जबरन उगाही जैसे लगभग एक दर्जन से भी अधिक संगीन मामले दर्ज हैं।

बरामदगी

अमित डागर से एक विदेशी पिस्टल, एक जिंदा कारतूस बरामद हुआ तथा उसके साथी अनिल लठ से एक पिस्तौल व 2 जिंदा कारतूस व गाडी i20 नम्बर HR 26 BX 8252 बरामद हुई है।

आपराधिक रिकॉर्ड

आरोपी अमित डगर कौशल गैंग का मुख्य सदस्य है तथा गुरुग्राम पुलिस के मोस्ट वांटेड अपराधियों की लिस्ट में सबसे ऊपर था। यह पिछले लगभग 15 सालों से अपराध की दुनियाँ मे सक्रिय था। गाँव नाहरपुर रूपा के पास स्थित राजीव कॉलोनी मे इसका घर है। कौशल के साथ मिलकर इसने हत्या जैसी कई संगीन वारदातों को अंजाम दिया था। इसने वर्ष 2006 मे नाहरपुर रूपा निवासी सुदेश उर्फ छैलू की हत्या की थी। कुछ साल पहले ये अपने गैंग के साथ कैथल हरियाणा के एक और मोस्ट वांटेड सुरेंदर ग्योंग से मिल गया था तथा उसके साथ मिलकर इसने काफी अपराध किए थे। पैरोल पर आने उपरांत इसने लगभग 8 हत्याओं की वारदात की हैं। फ़रारी के दौरान यह लोगों से जबरन उगाही (रंगदारी) करने के लिए कॉल करने लगा तथा जबरन उगाही करता था। इसके लिए यह मुख्य रूप से बुक्की या इस तरह के काम करने वालों को निशाना बनाते थे। इन्होने गाड़ियों की लूट की कई वारदात कई बिजनेसमैन/प्रापर्टी डीलरो को फोन करके रंगदारी मांगने की वारदातो को भी अन्जाम दिया है। फिरौती ना देने पर इसने कई व्यक्तियों पर भी जान से मारने की नीयत से फायरिंग करने की वारदातो मे भी वांछित रहा है। पिछले कुछ समय मे अमित डागर ने मर्डर की कई वारदातों मे शामिल रहा है जो कि निम्न हैं:

1. महेश उर्फ अटैक का मर्डर गांव झाडसा,
2. सतबीर शऱाब ठेकेदार गांव बिरहेडा (फरुखनगर) मर्डर
3. जोनी की माँ गांव नाहरपुर रुपा का मर्डर
4. गिरदावर गांव तिहाडा (रिवाडी) का मर्डर
5. संजय सरपंच वासी ततारपुर का मर्डर

उपरोक्त के अतिरिक्त अमित डागर पर जानलेवा हमला करना, जबरन उगाही जैसे लगभग एक दर्जन से भी अधिक संगीन मामले दर्ज हैं। इन मामलों मे इसने दुश्मनी व सुपारी लेकर हत्या की कई वारदात की थी। गुरुग्राम पुलिस की इस सफलता से इस प्रकार के अपराधों पर अंकुश लग जाएगा।

इनके अतिरिक्त कई गाड़ियों की लूट वा शहर गुरुग्राम मे कई बिजनेसमैन व प्रापर्टी डीलरो को फोन करके फिरौती मांगने की वारदातो को अन्जाम दिया है। फिरौती ना देने पर इसने कई अन्य व्यक्तियों के ऊपर भी जान से मारने की नीयत से फायरिग करने की वारदातो मे भी वांछित रहा है। इनसे विस्तार से पूछताछ करने पर अन्य वारदातों का खुलासा होना की भी सम्भावना है।

ईनाम

इसकी गिरफ्तारी पर गुरुग्राम पुलिस द्वारा 1 लाख व कैथल पुलिस द्वारा 5 हजार रुपए ईनाम की घोषणा थी। अन्य स्थानों पर इस पर कोई ईनाम है इस बारे पता किया जा रहा है।

इन दोनों शातिर अपराधियों को पकड़ने वाली पुलिस टीम को उनके द्वारा किए गए सराहनीय कार्य के लिए पुलिस आयुक्त महोदय ने प्रथम श्रेणी प्रशंसा पत्र व नकद ईनाम की घोषणा की है।

LEAVE A REPLY