मुस्लिम ससुर ने दलित दामाद की काटी गर्दन-गुप्तांग, फरीदाबाद में दोनों ग्रुपों में शुरू हुआ दंगा

dalit-muslim-rite-in-faridabad-after-sanjay-killed-by-saleem-fajruddin

फरीदाबाद, 23 अगस्त: सैनिक कॉलोनी, NIT 3 में मुस्लिम समाज के लोगों द्वारा क़त्ल किये गए संजय के शव को आज अंतिम संस्कार के लिए तीन नंबर मस्जिद के पास श्मशान में लाया गया लेकिन वहां पर बहुत बड़ा बवाल हो गया हालाँकि पुलिस ने हालात को नियंत्रण में ले लिया. अभी भी भारी संख्या में पुलिस बल तैनात हैं. दलित युवक संजय के परिजनों ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा है कि हमारा ही बेटा क़त्ल कर दिया गया और हमारे ऊपर ही लाठीचार्ज किया जा रहा है.

दलित समाज के लोग जान के बदले जान की मांग कर रहे हैं, उनका कहना है कि जिस तरह से उनके बेटे संजय को क़त्ल किया गया उसी तरह से सलीम, फजरुद्दीन और अन्य आरोपियों को फांसी पर चढ़ाया जाए. आज मौके पर काफी मुस्लिम समाज के लोग भी इकठ्ठे होकर पत्थरबाजी कर रहे हैं, अपने अपने घरों की छतों पर खड़े होकर पुलिस और राहगीरों पर पत्थर बरसा रहे हैं.

आज मस्जिद के पास भारी संख्या में मुस्लिम समाज के लोग भी इकठ्ठे हुए और वहां पर जमकर पथराव किया, लोग पुलिस और दलित समाज के लोगों पर अपने घरों से पत्थर बरसा रहे थे. दंगों जैसे हालात हो रहे हैं लेकिन पुलिस किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार है.

बता दें कि दलित समाज के संजय ने मुस्लिम समाज की लड़की से एक साल पहले भागकर शादी कर ली थी, कुछ महीनों पहले दोनों फरीदाबाद वापस लौटे थे लेकिन जब लड़की अपने घर गयी तो वहां से नहीं लौटी, उसका बच्चा गिरवा दिया गया और दोनों का सेक्टर 12 कोर्ट में तलाक करवा दिया गया. उसके बाद दोनों अलग अलग रहने लगे.

15 अगस्त के आस पास लड़की का भाई सलीम अपने दोस्तों के साथ संजय के घर आया और उसे बहला फुसला कर अपनी बहन से मिलाने के लिए ले गया लेकिन अपने दोस्तों और पिता के साथ मिलकर उसकी ह्त्या कर दी.

बता दें कि संजय का क़त्ल पहाड़ी पर 15 अगस्त के आसपास किया गया था लेकिन उसका शव दर्दनाक हालत में 21 अगस्त को पहाड़ी से बरामद हुआ, उसकी हालत देखकर दलित समाज के लोग भड़क गए. उसकी गर्दन भी अलग थी अरु गुप्तांग भी गायब था. अब कई दिनों से बवाल की स्थिति पैदा हो रही है लेकिन पुलिस हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार है.