पहले भेजते थे लड़की, फिर करते थे ब्लैकमेल, DLF CIA ने किया पर्दाफाश

cia-dlf-naveen-parashar-team-arrested-2-male-female-accused-in-honey-trap

फरीदाबाद, 7 अगस्त: DLF क्राइम ब्रांच प्रभारी इंस्पेक्टर नवीन पाराशर की टीम ने एक हनी ट्रैप मामले का पर्दाफाश करके एक युवक और एक युवती को गिरफ्तार किया है. युवक के कहने पर युवती अपने हुश्न के जाल में लोगों को फंसाती थी और उन्हें फर्जी मामलों में फंसाने की धमकी देकर करोड़ों रुपये की डिमांड की जाती थी, एक शिकार से इन्होने एक करोड़ रुपये की डिमांड की थी और करीब 16 लाख वसूल भी लिए थे.

इस मामले का खुलासा करने वाले इंस्पेक्टर नवीन पाराशर ने बताया कि पलवल में रमेश चन्द्र नामक व्यक्ति ने 16.10.2017 को हनी ट्रैप का एक मामला दर्ज करवाया था. उन्होंने बताया था कि दो तीन लड़कियों ने उन्हें बहला फुसलाकर अपने जाल में फंसा लिया, इसके बाद उन्होंने इनपर मामला दर्ज करवाकर ब्लैकमेल करना शुरू किया, उन्होंने रमेश को नॉएडा ले जाकर उससे एक करोड़ रुपये की मांग की हालाँकि उससे 16 लाख रुपये लेकर उसे छोड़ दिया.

बाद में रमेशचन्द्र ने होडल थाने में मामला दर्ज करवाया, वहां की पुलिस जांच से उनको संतुष्टि नहीं मिली तो उन्होंने DGP से मिलकर फरीदाबाद पुलिस द्वारा जांच की मांग की, DGP साहब ने तुरंत CP साहब को आदेश दिए, CP ने इसकी जांच DLF क्राइम ब्रांच को सौंपी.

नवीन पराशर ने बताया कि इस मामले में दो आरोपी – अशफाक और एक अन्य लड़की पहले ही गिरफ्तार कर लिए गए हैं, आज इस मामले के मुख्य आरोपी रामजी और एक अन्य लड़की को गिरफ्तार किया गया है.

इंस्पेक्टर नवीन पाराशर ने बताया कि दोनों को कोर्ट में पेश करके रिमांड की मांग की जाएगी ताकि अन्य आरोपियों को गिरफ्तार किया जा सके साथ ही पैसे की रिकवरी की जा सके.

इंस्पेक्टर नवीन ने बताया कि ये दो तीन मामलों में पहले भी गिरफ्तार हो चुके हैं, इनका पूरा गिरोह है, ये लोगों के पास लड़कियां भेजते हैं और उसके बाद उन्हें ब्लैकमेल करके उनसे पैसों की डिमांड करते हैं. कई लोग लोकलाज से डरकर इनके खिलाफ मामले नहीं दर्ज करवाते. हम इन गैंग के सभी आरोपियों को गिरफ्तार करके पूरे मामले का पर्दाफाश करेंगे. देखें VIDEO.