बंगाल पंचायत चुनाव में 12 लोगों की मौत, मीडिया नहीं ठोंक रहा कानून व्यवस्था पर ताल, क्योंकि?

west-bengal-panchayat-election-5-dead-in-clash-media-not-debate

कलकत्ता: आज पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव हुए जिसमें TMC और BJP कार्यकर्ताओं के बीच कई जगह भिडंत हुई जिसमें 12 लोग मारे गए. शर्म की बात यह है कि भारत के मीडिया चैनलों ने इस पर डिबेट या ताल नहीं ठोंकी, ऐसा इसलिए क्योंकि बंगाल में बीजेपी की सरकार नहीं है.

अगर यही कांड बीजेपी शासित राज्यों में होता, यूपी, मध्य प्रदेश या गुजरात में होता तो मीडिया चैनल इस पर डिबेट बुलाते और कानून व्यवस्था पर सवाल खड़ा करते लेकिन पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी की सरकार है, वहां के लोगों को हिंसा करने और सरकार को हिंसा ना रोकने का लाइसेंस प्राप्त है इसलिए मीडिया चैनलों ने डिबेट नहीं बुलाई. TMC और कांग्रेस पार्टी में दोस्ती है इसलिए कांग्रेस ने भी सरकार पर कोई सवाल नहीं खड़ा किया.

इससे भी शर्मनाक बात यह हुई कि TMC सरकार में मंत्री रबिन्द्र नाथ घोष ने कूच बिहार में बूथ नंबर 8/12 पर पुलिस की में एक बीजेपी कार्यकर्ता सुजीत कुमार दास को पीट दिया. जब पुलिस की मौजूदगी में ऐसी गुंडागर्दी हो रही है तो जहाँ पुलिस नहीं होगी वहां कैसा हाल होगा.