उपदेश राणा ने हिन्दुस्तानी मुस्लिमों को प्यार से समझाया, मत पढ़ा करो रोड पर नमाज, क्योंकि

updesh-rana-request-muslims-not-to-namaaj-on-road

नई दिल्ली: हिन्दू राष्ट्रवादी नेता उपदेश राणा ने कल ऐलान किया था कि अगर 72 घंटे में अलीगढ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से जिन्ना की फोटो नहीं हटाई गयी तो मैं खुद पहुंचकर हटा दूंगा. उपदेश राणा वहां पर पहुँचने की तैयारी भी कर रहे हैं.

आज उपदेश राणा ने फेसबुक पर लाइव आकर एक और मुद्दा उठाया, उन्होंने कहा कि हिन्दुस्तानी मुसलमानों को रोड पर नमाज नहीं पढना चाहिए. उन्होंने बड़े प्यार से मुस्लिमों को इस बारे में समझाया.

उपदेश राणा ने मुस्लिमों को कहा कि मैं किसी मुस्लिम का विरोधी नहीं हूँ, मैं सिर्फ उन लोगों का विरोधी हूँ जो पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाते हैं, आतंकवादियों का समर्थन करते हैं.

उन्होंने मुस्लिमों को समझाते हुए कहा कि मैं आपके अच्छे के लिए बोल रहा हूँ, आप लोग अपनी मस्जिद, अपने मदरसे में नमाज पढ़िए और शांति के साथ पढ़िए, रोड पर आपका ध्यान खुदा की इबादत से हट जाता होगा, वहां पर जाम भी लग जाता है, कोई ना कोई आवाज आती रहती है, कोई जय श्री राम बोल रहा है, कोई जय भोलेनाथ बोल रहा है, आखिर ये हिंदुस्तान है, यहाँ पर सभी लोगों को बोलने की आजादी है. अच्छा यही होगा कि आप लोग शांति के साथ मस्जिदों और मदरसों में नमाज पढ़ें.

उन्होंने कहा कि रोड पर नमाज पढने से लंबा जाम लग जाता है, लोगों को इन्तजार करना पड़ता है, परेशानी होती है, इसे आप लोगों को भी समझना चाहिए.