दलित के घर – पनीर, छोले, रसगुल्ले, रायता, सलाद कैसे, बिकाऊ मीडिया चैनलों ने मचाया बवाल

indian-paid-media-create-issue-minister-suresh-rana-eat-food-at-dalit-house

अलीगढ: आज भारत के मीडिया चैनलों ने बवाल मचा दिया, ऐसा इसलिए क्योंकि एक दलित के घर उन्होने पनीर, छोले, रसगुल्ले, रायता और सलाद देख लिया. मीडिया वालों ने सोचा कि दलित के घर इतना बढ़िया खाना कैसे आ गया है, इन लोगों के इतने अच्छे दिन कैसे आ गए. मीडिया को ऐसा लगता है कि दलित लोग पनीर, छोले, रसगुल्ले, रायता और सलाद खाते ही नहीं.

बात दरअसल ये थी कि उत्तर प्रदेश सरकार में मंत्री सुरेश राणा अलीगढ के लोहागढ़ गाँव में एक सरकारी कार्यक्रम में गए थे. लोहागढ़ दलित बाहुल्य गाँव है, वहां अधिकतर दलित ही रहते हैं, सुरेश राणा ने दलित के यहाँ भोजन का भी कार्यक्रम बनाया था.

जब सुरेश राणा वहां पर खाना खाने गए तो वहां बफर सिस्टम लगा था, जिसमें पनीर, छोले, रसगुल्ले, रायता, सलाद रखा हुआ था, सुरेश राणा ने कहा कि मैं आपके घर पर बैठकर खाना खाऊंगा, उनके लिए घर में खाना गया और उन्होंने अपने साथियों सहित वहां पर खाना खाया लेकिन मीडिया की नजर वहां रखे पनीर, छोले, रसगुल्ले, रायता, सलाद पर पड़ गयी.

मीडिया वालों ने कहा कि सुरेश राणा ने दलित के यहाँ भोजन फिक्स किया था, उन्होंने यहाँ हलवाई की व्यवस्था की, कई सब्जियों की व्यवस्था की, रसगुल्ले भी मंगाए, सलाद का भी इंतजाम किया.

सुरेश राणा ने कहा कि यह दलित बाहुल्य गाँव है और खाने की व्यवस्था गाँव वालों ने ही की थी लेकिन मीडिया उनकी बात नहीं मानी और उनपर फिक्सिंग का आरोप लगा दिया.

अब आप समझिये, अगर आपके यहाँ कोई मंत्री दौरा करेगा तो आप अपने रिश्तेदारों को बताएंगे, अपने दोस्तों को बताएँगे और उन्हें अपने घर बुलाएंगे, वे लोग भी मंत्री से मिलने के लिए आपके घर आयेंगे, उनके लिए आपको भोजन की व्यवस्था करनी पड़ेगी, ऐसे में 50-60 लोग घर के ही हो जाते हैं, अब आप बताइये, इतने लोगों के लिए घर में खाना कौन बनाएगा, जाहिर है कि कोई ना कोई हलवाई अरेंज किया जाएगा.

ऐसा ही लोहागढ़ के दलित ने किया, मंत्री के साथ 10-20 लोग होते हैं, अपने घर के भी 50-60 लोग होते हैं, उस व्यक्ति ने सभी के खाने का इंतजाम करने के लिए हलवाई लगा दिया. हलवाई ने खाना बनाकर बफर सिस्टम की तरह सजा दिया. मीडिया वालों को ये बात पची नहीं और इसे फिक्सिंग बताकर मंत्री के खिलाफ बवाल मचा दिया.