एग्जिट पोल वालों ने जान बूझकर नहीं दिया बीजेपी को बहुमत ताकि फिर उठे EVM हैकिंग का मुद्दा

LIKE फेसबुक पेज
evm-tempering-issue-will-be-raised-after-karnataka-counting

नई दिल्ली: कल कर्नाटक में चुनाव संपन्न हुए जिसके बाद एग्जिट पोल के नतीजे घोषित किये गए. एग्जिट पोल में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं दिया गया है हालाँकि बीजेपी को सबसे बड़ी पार्टी बताया जा रहा है. कांग्रेस को भी टक्कर में दिखाया गया है.

अधिकतर एग्जिट पोल में बीजेपी को 100 के आस पास, कांग्रेस को 90 के आस पास और जेडीएस को 20-30 के आसपास दिखाया गया है, हंग असेम्बली की आशंका जाई गयी है और जेडीएस को किंगमेकर दिखाया गया है. कुल 220 सीटों पर चुनाव हुए हैं, 2 पर चुनाव होने बाकी हैं.

हमारी एनालिसिस में बीजेपी को साफ़ साफ़ बहुमत मिल रहा है, बीजेपी को कम से कम 140 सीटें मिलने जा रही हैं. हमारी रिसर्च में मीडिया चैनलों और एग्जिट पोल वालों ने जान बूझकर बीजेपी को बहुमत नहीं दिया ताकि नतीजे आने के बाद EVM हैकिंग का मुद्दा उठे.

अगर EVM हैकिंग का मुद्दा उठा तो मीडिया चैनलों की एक महीनें तक टीआरपी बढ़ेगी और बेतहाशा कमाई होगी. कांग्रेस और अन्य दलों ने भी EVM हैकिंग का मुद्दा उठाने की पूरी तैयारी कर ली है.

नतीजे आने के बाद कांग्रेस और अन्य विरोधी पार्टियाँ कहेंगी कि जब बीजेपी को एग्जिट पोल में बहुमत नहीं मिला तो नतीजों में बहुमत कैसे मिल गया, यह इस बात का सबूत है कि ईवीएम हैकिंग की गयी है.

LEAVE A REPLY