JNU की आजादी गैंग की शेहला राशिद और कठुआ केस में पीड़िता की वकील दीपिका की फोटो वायरल, गहराया शक

shehla-rashid-deepika-singh-rajawat-photo-viral-kathua-case

नई दिल्ली: JNU में एक आजादी गैंग है जो आजादी आजादी के नारे लगाता है और देश के दुकड़े टुकड़े करने का सपना देख रहा है, ये हर प्रान्त को अलग करके सबको आजादी दिलाना चाहते हैं, आजादी दिलाने के लिए हर तिकड़म अपनाते हैं, बड़ी बड़ी साजिशें करते हैं. शेहला राशिद इस गैंग की बड़ी नेता हैं और अब इनकी फोटो कठुआ केस में मृतक आसिफा की वकील दीपिका सिंह राजावत के साथ वायरल हो रही है जिसकी वजह से शक गहरा रहा है कि कहीं कठुआ मामले में हिन्दुओं और हिन्दू मंदिरों को बदनाम करने की साजिश के पीछे JNU का आजादी गैंग तो नहीं है.

समझने वाले समझ सकते हैं कि कठुआ केस की साजिश के पीछे मुख्य वजह जम्मू और कश्मीर को एक दूसरे से अलग करना है, जम्मू में हिन्दू आबादी अधिक है जबकि कश्मीर में मुस्लिम आबादी अलग है. कश्मीर की आजादी की मांग की जा रही है और आजादी गैंग भी इसका समर्थन करता है. इसीलिए कठुआ की साजिश रची गयी है, आसिफा का क़त्ल करके उसका इल्जाम कुछ हिन्दुओं पर डाला गया है ताकि जम्मू के हिन्दुओं में नाराजगी बढ़े, सरकार के खिलाफ गुस्सा फूटे और अलगाव की हवा बहे. इस मामले की CBI जांच की मांग की जा रही है और होनी भी चाहिए, CBI जांच की मामले का सच सामने ला सकती है.

शेहला राशिद और दीपिका सिंह राजावत की फोटो देखकर सोनम महाजन ने ट्वीट किया – कठुआ केस की वकील दीपिका सिंह राजावत से मिलिए, कठुआ केस की वकील एक तरफ तो कहती हैं कि उनका किसी से राजनीतिक संपर्क नहीं है लेकिन उनकी फोटो शेहला राशिद के साथ है, इसके अलावा वह इंदिरा जैसिंग की NGO में भी काम करती हैं.

बता दें कि कठुआ मामले में बहुत बड़ी साजिश की आशंका व्यक्त की जा रही है और इसके पीछे बड़ी बड़ी ताकतें हो सकती हैं, कश्मीर में पीडीपी भी अपना वोटबैंक मजबूत करने के लिए साजिश कर सकती है. नीचे क्लिक करके पूरी खबर पढ़ें और कठुआ मामले की सच्चाई जानिये.

पढ़ें, कठुआ केस का पूरा सच, कैसे हुई आसिफा की हत्या, क्या है वजह

LEAVE A REPLY