जम्मू में 60 हजार रोहिंग्या, काजल बोलीं, जैसे कश्मीर जाने में लगता है डर, अब जम्मू में भी

rohingya-issue-in-jammu-big-conspiracy-to-remove-hindu-kajal-shingala

जम्मू: कठुआ मामले में भले ही मीडिया ने अपनी TRP के लिए सच को दबा दिया हो लेकिन धीरे धीरे सच बाहर आ रहा है. कठुआ मामले में रोहिंग्या का कनेक्शन सामने आ रहा है. स्थानीय लोगों का कहना है कि आसिफा की हत्या रोहिंग्या ने की है और उसे मंदिर में फेंककर हिन्दुओं को बदनाम करने का घृणित प्रयास किया है. इसके अलावा इलाके में दहशत फैलाने की कोशिश की है ताकि हिन्दू वहां से भाग जाएं और सारा इलाका रोहिंग्या का हो जाए.

इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए युवा नेता काजल शिंगला ने कहा कि रोहिंग्या समस्या को कोई भी मीडिया नहीं दिखा रहा है क्योंकि मीडिया इस वक्त सिर्फ अपनी TRP देख रहा है.

काजल ने बताया कि कश्मीर में जो घटना पंडितों के साथ हुई थी, जिस तरह से उन्हें रातों रात भगा दिया गया था, कश्मीर को हिन्दू विहीन कर दिया गया था, अब वही साजिश जम्मू में भी हो रही है.

काजल ने बताया कि जम्मू में करीब 22 हजार रोहिंग्या परिवार बसा दिए गए हैं, सबको आधार कार्ड दिए गए हैं, पक्की कॉलोनियां बसा दी गयी हैं. हर परिवार में 4-5 लोग हैं और इनकी संख्या 60 हजार के आस पास है. धीरे धीरे इनकी जनसँख्या बढ़ती जाएगी और इनकी संख्या लाखों में हो जाएगी. उसके बाद जिस प्रकार से हमें कश्मीर जाने में डर लगता है वैसे ही जम्मू जाने में डर लगेगा. जिस प्रकार से हमें अमरनाथ जाने में डर लगता है उसी प्रकार से वैष्णों देवी जाने में डर लगेगा.