पीएम मोदी ने फेक न्यूज़ वाले पत्रकारों को दी बड़ी राहत, पलटा स्मृति ईरानी का फैसला, पढ़ें

pm-modi-dismiss-smriti-irani-order-on-fake-news-fake-journalist

नई दिल्ली: फेक न्यूज़ छापने वाले पत्रकारों को प्रधानमंत्री मोदी ने बड़ी राहत देते हुए सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी का फैसला पलट दिया है, उन्होंने स्मृति ईरानी द्वारा जारी किया प्रेस स्टेटमेंट वापस लेने का आदेश दिया है जिसमें फेक न्यूज़ देने वाले पत्रकारों की सदस्यता रद्द करने की बात की गयी थी.

आपको बता दें कि सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय ने फेक न्यूज़ छापने वाले पत्रकारों के खिलाफ दिशानिर्देश जारी कर दिए हैं, अब पहली बार फेक न्यूज साबित होने पर पत्रकार की 6 महीने तक मान्यता रद्द हो जाएगा, दूसरी बार फेक न्यूज पर 1 साल और तीसरी बार फेक न्यूज साबित होने पर हमेशा के लिए मान्यता रद्द कर दी जाएगी.

सरकार ने यह भी कहा है था अगर किसी जर्नलिस्ट ने जान बूझकर गंभीर हालात पैदा करने वाली फेक न्यूज़ पोस्ट की तो उसकी सदस्यता हमेशा के लिए रद्द कर दी जाएगी.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा है कि फेक न्यूज़ का मामला प्रेस काउंसिल ऑफ़ इंडिया ही देखगा, मंत्रालय इस मामले पर कोई कार्यवाही नहीं करेगा.

मोदी के इस आदेश के बाद फर्जी पत्रकारों को बड़ी राहत मिली है, सुबह से बड़े बड़े पत्रकारों ने कोहराम मचा दिया था, बड़े बड़े चैनलों के बड़े बड़े पत्रकारों की भी नींद उड़ गयी थी. अब उन्हें राहत मिली है.