कुशीनगर कांड: हर गाँव में सरकारी स्कूल लेकिन शिक्षा के व्यापार ने ले ली 13 मासूमों की जान

kushinagar-school-van-train-accident-13-school-children-killed

कुशीनगर: कुशीनगर में एक दर्दनाक हादसे में 13 मासूम स्कूली बच्चों की जान चली गयी, इस घटना पर पूरा देश दुखी है लेकिन यह भी सवाल उठ गया है कि आखिर शिक्षा खरीदने की इतनी होड़ क्यों मची हुई है, हर गाँव में, हर इलाके में सरकारी स्कूल हैं लेकिन माँ-माप अपने बच्चों को प्राइवेट स्कूलों में भेजकर शिक्षा खरीदने के लिए क्यों मजबूर हैं. आखिर सरकारी स्कूलों की हालत में सुधार करके पढने लायक क्यों नहीं बनाया जा रहा है.

कुशीनगर हादसे के बारे में पता चला है कि ड्राईवर ने 12 लोगों की जगह 25 बच्चों को वैन में ठूंस रखा था, इसके अलावा वह इतनी जल्दबाजी में था कि इशारा करने के बाद भी वैन को नहीं रोका और ट्रेन के सामने आ गया. ट्रेन ने वैन को टक्कर मार दी और इतनी जानें चली गयीं. इस हादसे में ड्राईवर की भी जान चली गयी.

बताया जा रहा है कि डिवाइन पब्लिक स्कूल की टाटा मैजिक वैन सुबह बच्चों को लेकर स्कूल जा रही थी। वैन बच्चों से भरी थी। विशुनपुरा थाने के दुदही रेलवे क्रॉसिंग के पास थावे-बढ़नी पैसेंजर गुजर रही थी। बताया जा रहा है कि यह क्रॉसिंग मानव रहित है। स्कूली वैन ट्रैक से निकलने लगी, तभी वह वहां से गुजर रही ट्रेन से जा टकराई। हादसा इतना तेज था कि आवाजें दूर-दूर तक गईं। आस-पास के लोग चीख-पुकार सुनकर मौके पर पहुंचे और राहत कार्य शुरू किया। पुलिस और प्रशासन को सूचना दी गई।

LEAVE A REPLY