काजल शिंगला ने उठाया सवाल, सिर्फ मुस्लिमों के लिए तख्तियां क्यों उठाते हैं बॉलीवुड के लोग, पढ़ें

kajal-shingala-exposed-bollywood-actors-stand-only-for-muslims

नई दिल्ली: कठुआ मामले को सोची समझी साजिश के तहत अंजाम दिया गया है, साजिशकर्ताओं ने मामले को तूल देने के लिए बॉलीवुड कलाकारों का सहारा लिया है, सभी को एक तख्ती पकड़ा दी गयी है जिस पर लिखा है – I am Hindustani, I am ashamed, JusticeforAasifa, 8 year old Gang Raped and murdered in Devi-Sthan Temple Kathua. यहाँ पर सबसे हैरानी वाली बात ये है कि इन कलाकारों ने जो तख्तियां उठा रखी हैं उसपर एक ही स्टाइल और हैण्डराइटिंग में मैटर लिखा गया है जिसका मतलब है कि एक ही आदमी इनके पास जाता होगा और इन्हें तख्तियां पकड़ाकर फोटो खींच लेता होगा, आखिर कौन है वो आदमी जिसकी इतनी आसानी से बॉलीवुड कलाकारों तक पहुँच है.

काजल शिंगला ने कहा है कि आसिफा की हत्या पर उन्हें भी दुःख है लेकिन जिस प्रकार से इस मामले को तूल दिया जा रहा है उससे कई सवाल पैदा हो रहे हैं. आखिर बॉलीवुड के कलाकार सिर्फ मुस्लिमों के लिए क्यों खड़े होते हैं – चाहे अख़लाक़ हो, जुनैद हो और आसिफा हो. जैसे ही किसी मुस्लिम के साथ क्राइम होता है तो बॉलीवुड के लोग तख्तियां लेकर खड़े होते हैं और हिंदुस्तान को बदनाम करने लगते हैं. क्या हिन्दुओं के लिए इनके पास समय नहीं है या ये लोग हिन्दुओं को इंसान नहीं समझते हैं.

कठुआ कांड में कहा जा रहा है कि कुछ हिन्दुओं ने 8 वर्षीय मुस्लिम लड़की आसिफा का कठुआ के एक मंदिर में 8 दिनों तक गैंगरेप किया और उसके बाद उसकी हत्या कर दी. मंदिर में ही बच्ची को छुपाकर रखा गया था. हालाँकि गाँव वालों का कहना है कि मंदिर में बच्ची को छुपाने की जगह ही नहीं थी, मंदिर सिर्फ एक कमरे का है जहाँ पर मूर्तियाँ भी लगी हैं, वहां पर रोजाना लोग दर्शन करने आते हैं ऐसे में बच्ची को 8 दिन छुपाकर गैंगरेप की बात विल्कुल गलत है.

यह बात बॉलीवुड के कलाकार और कुछ अन्य लोग नहीं समझ रहे हैं. दर्जनों हिरोइनों, क्रिकेटरों और अन्य स्टारों ने अपने हाथों में तख्तियां उठा रखी हैं जिसमें लिखा है – I am Hindustani, I am ashamed, JusticeforAasifa, 8 year old Gang Raped and murdered in Devi-Sthan Temple Kathua.

इन सभी हीरोइनों के हाथों में जो तख्तियां हैं उसमें देवी स्थान जरूर लिखा है. देखने पर ऐसा लग रहा है कि हिन्दू मंदिरों को बदनाम करने की साजिश की जा रही है जबकि मंदिर में 8 दिन तक गैंगरेप की बार गलत बताई जा रही है, सच यह है कि रेप और मर्डर करके बच्ची की लाश को मंदिर में फेंक दिया गया था. स्थानीया लोग कह रहे हैं कि रेप रोहिंग्या आतंकियों ने किया है और हिन्दुओं को बदनाम करने के लिए क्राइम ब्रांच ने गलत रिपोर्ट तैयार की है, लोग CBI जांच की मांग कर रहे हैं.

काजल शिंगला ने बॉलीवुड कलाकारों द्वारा देवी स्थान बदनाम किये जाने से नाराज होकर कहा है कि अगर मंदिर में गैंगरेप मर्डर की बार झूठ निकली तो मैं इन सभी लोगों पर हाई कोर्ट में केस करुँगी. देवी स्थान को बदनाम करने वालों को मैं छोडूंगी नहीं.