इंसानों को कीड़े-मकोड़े समझता था बलराज भाटी, कर चुका था 30 मर्डर, पढ़ें एनकाउंटर की पूरी स्टोरी

how-balraj-bhati-encounter-by-haryana-stf-up-stf-in-noida-news

फरीदाबाद, 23 अप्रैल: बलराज भाटी के बारे में एक बड़ी खबर आयी है, इंसानों को कीड़े-मकोड़े समझने वाला यह राक्षस अब तक 30 लोगों का क़त्ल कर चुका था, फरीदाबाद में इसनें जबरदस्त आतंक फैलाया था जिसकी वजह से कुछ दिनों पहले कमिश्नर अमिताभ सिंह ढिल्लों ने इनके खिलाफ 1 लाख रुपये का ईनाम रखा था. बलराज भाटी को पकड़ने का काम सेक्टर 48 क्राइम ब्रांच के प्रभारी इंस्पेक्टर विमल कुमार को दिया गया था, जैसे ही विमल कुमार बलराज भाटी के पीछे पड़े उसनें फरीदाबाद, गुरुग्राम, पलवल और होडल में अपना ठिकाना छोड़ दिया.

फरीदाबाद पुलिस द्वारा एनकाउंटर के डर से बलराज भाटी फरीदाबाद से भागकर नॉएडा में रहने लगा लेकिन आज हरियाणा STF और यूपी STF की टीम ने मिलकर बदमाश बलराज भाटी का किस्सा ख़त्म कर दिया.

एनकाउंटर की साइड स्टोरी

हरियाणा पुलिस के एक प्रवक्ता ने यह जानकारी देते हुए बताया कि पुलिस को मोस्ट वांटेड क्रिमिनल बलराज भाटी के सम्बंध में गुप्त सूचना मिली थी कि वह जबरन वसूली की राशि लेने के लिए नॉएडा के सैक्टर 37 के पुल के निकट आएगा, जिस पर डीएसपी राहुल देव के नेतृत्व में एसटीएफ की टीमें लगभग 9.30 बजे नॉएडा पहुंची. इस ऑपरेशन में उत्तर प्रदेश की एसटीएफ टीम और नोएडा पुलिस के सहायता ली गई और सैक्टर 37 के पुल पर अभियुक्त की स्विफ्ट कार के आने की प्रतीक्षा की.

जब बलराज भाटी की कार दिखी तो उसे रोकने का इशारा किया गया, बलराज को साथियों सहित आत्मसमर्पण के लिए कहा गया तो उन्होंने पुलिस पर फायरिंग शुरू कर दी।

प्रवक्ता ने इस बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि नॉएडा के सैक्टर 49 पहुंचने पर गोलीबारी के दौरान बलराज भाटी की कार का टायर ब्लास्ट हो गया। इसके उपरांत कार में से बलराज भट्टी सहित तीनों अभियुक्तों ने पुलिस पार्टी पर फायरिंग करते हुए भागने का प्रयास किया। हमारी टीमों ने भी उनका पीछा किया। बलराज भट्टी, जो अंधाधुंध फायरिंग कर रहा था, वह फायरिंग करते हुए एक छत पर चढ़ गया, जबकि पुलिस की एक टीम बलराज के पीछे थी। पुलिस की जवाबी फायरिंग में खूंखार अपराधी मारा गया। फायरिंग के दौरान तीन सिविलियन और दो मुख्य सिपाही घायल हो गये।

उन्होंने बताया कि इस सम्बंध में नॉएडा के सैक्टर 39 पुलिस थाने में एक एफआईआर दर्ज की गई और मामले की जांच की जा रही है। प्रवक्ता ने बताया कि क्रिमिनल बलराज भाटी हरियाणा, दिल्ली और उत्तर प्रदेश के अनेक मामलों में संलिप्त था, वह सिंहराज भाटी गैंग के लिए काम करता था.