राक्षस बने गए भीम आर्मी के दलित गुंडे, मासूम बच्ची का सर फोड़ दिया

LIKE फेसबुक पेज
bhim-army-attacked-masoom-kids-in-chhatisgarh-bharat-bandh

नई दिल्ली: भारत बंद के नाम पर दलित गुंडों ने पूरे देश में आतंक मचा दिया है, मध्य प्रदेश से एक अजीब वीडियो सामने आया है जहाँ उपद्रवी गोली चला रहे हैं। रिवाल्वर लेकर प्रदर्शन कर रहे हैं। इस वीडियो पर इन गुंडों के अलांवा कांग्रेस के चीफ राहुल गांधी पर भी सवाल उठाये जा रहे हैं जो ऐसे लोगों को सलाम ठोंक रहे हैं।

भीम सेना के गुंडों ने इंसानियत की हद पाद करते हुए एक मासूम बच्ची का सर फोड़ दिया. यह हिंसा मारीपुर पुल पर हुए जहाँ भीम आर्मी के गुंडे पहुंचे और ऑटो सवार एक छोटी बच्ची के सर पर लाठी से वार कर दिया।

सबसे अधिक बुरे हालात बीजेपी शासित राज्यों में हैं, कांग्रेस और अन्य मोदी विरोधी पार्टियों ने दलित आन्दोलन को समर्थन दिया है इसलिए कांग्रेस शासित और अन्य बीजेपी विरोधी पार्टी शासित राज्यों में कोई आन्दोलन नहीं है.

मध्य प्रदेश के ग्वालियर जिले में एक युवक सरेआम पुलिस पर गोलियां चलाता दिखा. भिंड में कर्फ्यू लगा दिया गया है, सागर में भी हालात बुरे हैं.

फरीदाबाद: आरक्षण विरोधी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष संजय शर्मा जी कुछ तथाकथित दबंग दलितों द्वारा सुप्रीम कोर्ट के आदेश के विरोध स्वरुप बंद को अनुचित बताते हुए कहा है कि जो लोग पुरे शहर एवं देश के कई शहरो को बंधक बनाने की सामर्थ्य रखते हैं वे दलित नहीं दबंग हैं एससी एक्ट का दुरूपयोग कर वे लोग अपनी दबंगई को कायम रखना चाहते हैं सुप्रीम कोर्ट ने अत्यंत न्याय सांगत व्यवस्था दी है कि एससी एक्ट के तहत किसी भी व्यक्ति को तुरंत गिरफ्तार न किया जाए बल्कि DSP रेंक का अधिकारी सत्यता की जांच करे कि कही इस एक्ट का दुरूपयोग तो नहीं किया गया है यदि आरोप सही हैं तो एससी एक्ट ही लगेगा इसमें सिर्फ एक न्याय पूर्ण व्यवस्था को सुद्रढ़ बनाया गया है क्योंकि एससी एक्ट के तहत दर्ज होने वाले मुकद्दमे 90% झूठे होते हैं इस एक्ट का उपयोग सिर्फ पैसा कमाने और अपना वर्चस्व कायम रखने के लिए किया जा रहा है।

कांग्रेस और बीजेपी जैसी राजनितिक पार्टियाँ गैर दलित वर्ग पर अन्याय करने वाले इस कानून को कितने ही वर्षों से लागू किये हैं हमें आश्चर्य इस बात को लेकर है कि सामान्य एवं अन्य पिछड़ा वर्ग के 300 से अधिक सांसद और देश के 3 हजार 600 से अधिक विधायक यह अच्छी तरह से जानते हैं कि एससी एक्ट और जातिगत आरक्षण ने उनके अपने समाज को बर्बादी के कगार पर खड़ा कर दिया है परन्तु अपने पार्टी के आकाओं के प्रति अपनी बफादारी दिखाने के लिए अपनी पार्टी के ऐसे तुगलकी फैसलों का विरोध तक दर्ज नहीं करवाते बल्कि उनका साथ देकर अपना मंत्री पद सुनश्चित करने की जुगत में रहते हैं। मालुम हो कि दलित संगठनों ने भारत बंद के दौरान आज देश के कई राज्यों में जमकर उपद्रव मचाया है। यहाँ तक की भीम आर्मी वाले मासूम बच्चों को भी पीट रहे हैं। ये ट्वीट्स पढ़ें।

LEAVE A REPLY