हिन्दू नववर्ष पर जय श्री राम, वन्दे मातरम बोलना पड़ा मंहगा, मोदी के मंत्री का बेटा गया जेल

arijit-shashwat-chaubey-sent-14-days-jail-bhagalpur-court

भागलपुर: भागलपुर पुलिस प्रशासन और कोर्ट ने मोदी के मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अरिजीत शाश्वत चौबे को 14 दिन के लिए जेल भेजकर देश के देशभक्तों को साफ़ साफ़ चेतावनी दी है कि हिन्दू त्योहारों पर भगवान का जुलूस यात्रा निकालने से बचें, अगर जुलूस निकालें तो वह पर भारत माता की जय, जय श्री राम या वंदे मातरम ना बोलें, कोई भी नारा ना लगायें, अगर नारा लगाने के बाद दूसरे धर्म के लोग नाराज हो गए और उन्होंने दंगा-फसाद शुरू कर दिया तो दंगा भड़काने का आरोप जय श्री राम, वन्दे मातरम का नारा लगाने वालों पर मढ़ा जाएगा और उसे जेल भेज दिया जाएगा.

अरिजीत शाश्वत ने हिन्दू नववर्ष पर भागलपुर जिले में भगवा यात्रा निकाली थी, जुलूस में उन्होंने जोश में जय श्री राम, वन्दे मातरम और भारत माता की जय के नारे लगा दिए जो दूसरे धर्म के लोगों को अच्छा नहीं लगा, कुछ देर बार उन्होने जुलूस निकालने वालों पर बमबारी और पत्थरबाजी शुरू कर दी. भागलपुर में दंगों की आग भड़क उठी लेकिन इसका आरोप मोदी के मंत्री अश्विनी चौबे के बेटे अरिजीत शाश्वत चौबे पर लगाया गया.

अगर अरिजीत शाश्वत चौबे ने जय श्री राम, वन्दे मातरम और भारत माता की जय के नारे ना लगाए होते तो दूसरे धर्म के लोग नाराज ना हुए होते और दंगा ना होता, कहने का मतलब ये है कि अब भारत में जय श्री राम, भारत माता की जय और वन्दे मातरम का नारा लगाना अपराध हो गया है.