रामनवमी पर श्रीराम का जुलूस ले जाने वाले युवक की छीन ली गयी जिंदगी, दर्दनाक फोटो

west-bengal-riot-image-condition-worst-on-ram-navami

कलकत्ता: पश्चिम बंगाल का माहौल अब खराब हो चुकी है, धार्मिक आजादी ख़त्म हो चुकी है, सभी हिन्दू त्योहारों पर दंगे जरूर होते हैं, वहां पर हिन्दू ना तो जुलूस निकाल सकते हैं और ना ही झाकियां निकाल सकते हैं, राम नवमी पर हिन्दुओं ने श्रीराम की शोभा यात्रा निकाली थी जिसमें बाद दंगे भड़क गए. बंगाल के कई राज्यों में दंगे अभी भी जारी हैं, हमारे पास दंगो की कई वीडियो हैं लेकिन इस वेबसाइट पर गूगल टर्म्स एंड कंडीशन का उल्लंघन नहीं किया जा सकता इसलिए ना तो वीडियो दिखाए जा रहे हैं और ना ही दर्दनाक फोटो दिखाए जा रहे है.

श्रीराम का जुलूस निकालने वाले एक युवा की बहुत ही बेरहमी से ह्त्या कर दी गयी, फोटो में ब्लड को ढककर मारे गए युवक की तस्वीर जारी की गयी है.

अगर कहें तो ममता बनर्जी के राज में पश्चिम बंगाल दंगों की आग में जल रहा है. ममता बनर्जी के बंगाल में दंगाइयों पर ममता बरस रही है इसलिए उनकी हिम्मत इतनी बढ़ गयी है कि पुलिस अफसरों को भी मार रहे हैं. राम नवमी पर भड़के दंगे थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. रानीगंज दंगे में आसनसोल-दुर्गापुर के DCP और IPS ऑफिसर अरिंदम दत्ता चौधरी भी गंभीर रूप से घायल हो गए हैं, दंगाइयों ने उनसे उनका हाथ ही छीन लिया. इस घटना पर राज्य के IPS एसोसिएशन ने दुःख जताया है.

IPS एसोसिएशन ने ट्विटर पर यह फोटो शेयर करके लिखा – यह सब देखने के लिए दर्द होता है लेकिन यह भी पता चलता है कि पुलिस किस प्रकार के संकट और कठिन परिस्थितियों का सामना करते हैं।