मायावती को झटका, राजा भैया बोले, मैं अखिलेश के साथ हूँ लेकिन बसपा के साथ नहीं हूँ, पढ़ें

raja-bhaiya-raghuraj-pratap-singh-with-akhilesh-not-mayawati

प्रतापगढ़, 23 मार्च: राज्य सभा में मायावती को बड़ा झटका लग सकता है क्योंकि कुंडा के निर्दलीय विधायक राजा भैया ने एक रहस्यमय ट्वीट किया है, उन्होंने कहा है कि – न मैं बदला हूँ, न मेरी राजनैतिक विचारधारा बदली है, ‘मैं अखिलेश जी के साथ हूँ,’ का ये अर्थ बिल्कुल नहीं कि मैं बसपा के साथ हूँ।

रघुराज प्रताप सिंह उर्फ़ राजा भैया के इस ट्वीट का मतलब है कि वह अखिलेश को तो वोट दे सकते हैं लेकिन अगर अखिलेश से उनसे मायावती को वोट देने की बात की तो वह बसपा को अपना वोट नहीं देंगे. बता दें कि राजा भैया और मायावती कट्टर विरोधी माने जाते हैं, मायावती ने राजा भैया को कई महीनें के लिए जेल में भेजा था, उनके खिलाफ पोटा भी लगाया था.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि उत्तर प्रदेश के राज्य सभा चुनाव में मायावती ने अपने उम्मीदवार भीम राव अंबेडकर को जितवाने के लिए पूरी ताकत लगा दी है लेकिन उन्हें बहुत बड़ा झटका लगा है क्योंकि BSP विधायक अनिल सिंह ने BJP को वोट दिया है. बीजेपी को वोट देने के बाद अनिल सिंह ने कहा कि मैंने अपनी अंतरात्मा की आवाज पर महाराज जी को वोट दिया है.

अब इसके अलावा सपा या बसपा से अगर एक भी विधायक बीजेपी के पाले में आ गया तो सपा या बसपा का कोई उम्मीदवार चुनाव हारेगा और 9वीं सीट भी बीजेपी के खाते में चली जाएगी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हर राज्य सभा उम्मीदवार को कम से कम 37 विधायकों के वोट चाहिए. सपा के पास 47 विधायक हैं. उनके एक प्रत्याशी जया बच्चन की जीत तय है लेकिन मायावती ने सपा से 10 सपा विधायकों की डिमांड कर दी है. मतलब मायावती को 10 सपा विधायकों के वोट चाहिए ही चाहिए, भले ही सपा की उम्मीदवार चुनाव हार जाएं.