अगर मैं भारत का प्रधानमंत्री होता तो नोटबंदी की फाइल कूड़ेदान में फेंक देता: राहुल गाँधी

rahul-gandhi-notbandi-file

नई दिल्ली, 10 मार्च: मोदी सरकार की नोटबंदी को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने बड़ा बयान दिया है. राहुल गाँधी इस वक्त मलेशिया के दौरे पर हैं. आज उन्होंने भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए कहा कि नोटबंदी का निर्णय एकदम गलत निर्णय था, वह इस निर्णय के समर्थन में नहीं हैं और अगर वह देश के प्रधानमंत्री होते तो नोटबंदी की फाइल को कूड़ेदान में फेंक देता.

आपको बता दें कि नोटबंदी का प्रधानमंत्री मोदी का निर्णय दुनिया का सबसे बड़ा और सबसे कठिन निर्णय था, जिस दिन मोदी ने यह निर्णय किया था और नोटबंदी का फैसला किया था पूरी दुनिया उनके निर्णय पर हैरान हो गयी थी लेकिन साथ में यह भी सोच रही थी कि अगर यह निर्णय सफल हुआ तो भारत का भाग्य बदल जाएगा लेकिन अगर यह निर्णय विफल हुआ तो भारत बर्बाद हो जाएगा. लेकिन मोदी सरकार ने अपने निर्णय को सफल साबित करते हुए नोटबंदी को शकुशल लागू किया और पूरा किया. अब भारत की जीडीपी फिर से दुनिया में सबसे तेज गति से बढ़ रही है.

राहुल गाँधी ने आज इसी निर्णय की आलोचना करते हुए कहा है कि मोदी का यह निर्णय सबसे ख़राब निर्णय था, अगर वह प्रधानमंत्री होते तो इस फाइल को कूड़ेदान में फेंक देते. खैर ऐसा ही काम उनकी दादी इंदिरा गाँधी ने भी किया था, एक समय नोटबंदी की फाइल उनके पास भी आयी थी लेकिन उन्होंने यह कहते हुए फाइल को कूड़ेदान में फेंक दिया था कि मुझे चुनाव थोड़ी हारना है.

LEAVE A REPLY