मोदी-योगी का असर, जानी दुश्मन राजा भैया और मायावती बनेंगे दोस्त, राज्य सभा में देंगे वोट

raghuraj-pratap-singh-raja-bhaiya-vote-for-mayawati-in-rajya-sabha

लखनऊ, 22 मार्च: अगर राजनीति में दो जानी दुश्मन नेताओं की चर्चा होती है तो मायावती और राजा भैया का नाम सामने आता है. राजा भैया और मायावती में कभी नहीं बनी, मायावती ने राजा भैया को ख़त्म करने के लिए पूरी ताकत लगा दी थी, उनपर पोटा लगाकर जेल में भेज दिया गया था, कई महीनों तक राजा भैया जेल में रहे थे, मायावती ने उनकर सब कुछ जब्त करवा दिया था, कई एकड़ में फैले उनके बेंती तालाब की खुदाई शुरू करवा दी थी ताकि वहां से कोई नर कंकाल निकले और राजा भैया को आजीवन जेल में सड़ाने का मौका मिल जाए. मायावती राजा भैया को कुंडा का गुंडा बोलती थीं.

अब उत्तर प्रदेश में योगी की सरकार आ गयी है तो गुंडों की आफत आ गयी है, मोदी योगी की जोड़ी से डरकर राजा भैया ने अपनी जानी दुश्मन मायवती की पार्टी बसपा को राज्य सभा में वोट करने का फैसला कर लिया है.

उत्तर प्रदेश में राज्य सभा की 10 सीटों के लिए कल मतदान है. भाजपा की 8 सीटों पर जीत पक्की है जबकि एक सीट पर सपा की जीत पक्की है. भाजपा ने 9वां उम्मीदवार मैदान में उतारकर विपक्षियों को परेशान कर दिया है. भाजपा का खेल उत्तर प्रदेश के कुंडा से निर्दलीय विधायक राजा भैया ने बिगाड़ दिया है. राज्य सभा के लिए सपा-बसपा ने गठबंधन किया है, मायावती के उम्मीदवार भीम राव को जितवाने के लिए राजा भैया बसपा को वोट देंगे.

कल अखिलेश यादव ने अपने समर्थकों के लिए भोज का आयोजन दिया था जिसमें राजा भैया भी शामिल हुए. प्रेस से बात करते हुए राजा भैया ने कहा कि मैं अखिलेश के साथ था और रहूँगा, मैं राज्य सभा चुनाव में सपा का समर्थन करूँगा. सपा की जीत पक्की है इसलिए राजा भैया सपा की दोस्त बसपा यानी मायावती को वोट देंगे.