मोसुल में 39 भारतीयों की हत्या पर प्रधानमंत्री मोदी ने जताया दुःख, ढूँढने में लगाई पूरी ताकत

pm-narendra-modi-expressed-grief-39-indians-killed-by-isis

नई दिल्ली, 20 मार्च: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मोसुल में 39 भारतीयों की हत्या की खबर सुनकर दुःख जताया है. उन्होंने कहा कि इस हत्याकांड पर पूरा देश दुखी है, हम दुखी परिवारों के साथ हैं. उन्होंने यह भी कहा कि हमारी साथी सुषमा स्वराज और वीके सिंह ने भारतीयों को ढूँढने में कोई कसर नहीं छोड़ी. विदेश में भारतीयों की सुरक्षा के लिए हमारी सरकार हमेशा समर्पित है.


वीके सिंह की जमकर हो रही तारीफ

विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह की पूरे देश में तारीफ हो रही है. भारत ऐसा देश है जिसनें ईराक के मोसुल शहर में मारे गए 39 भारतीयों के शवों को पहाड़ खोदकर निकलवा दिया है. सभी भारतीयों के शव सड़ चुके थे, सिर्फ हड्डियाँ बाकी थी लेकिन सभी लोगों का DNA टेस्ट करवाकर उनकी पहचान भी की जा चुकी है.

वीके सिंह की इसलिए तारीफ हो रही है कि उन्होंने भारतीयों का पता लगाने के लिए पूरी जान लगा दी. कोई और सरकार होती तो दो तीन साल पहले उन्हें मृत घोषित करके उनकी फाइल बंद कर देती, पहाड़ खुदवाने, हड्डियाँ इकठ्ठी करने और उनका DNA टेस्ट कराने की जहमत भी ना मोल लेती लेकिन वीके सिंह ने पहाड़ खोदकर भारतीयों के शवों को निकाल लिया.

वीके सिंह भारतीय सेना के चीफ रह चुके हैं शायद इसी वजह से ऐसा कर पाए. उन्होंने भारतीयों को ढूँढने के लिए आतंकियों के गढ़ मोसुल के कई चक्कर लगाए. जुलाई 2017 में ISIS के कब्जे से मोसुल आजाद हुआ था, उससे पहले वहां जाना नामुमकिन था लेकिन जैसे ही मोसुल आजाद हुआ, वीके सिंह ने वहां पर डेरा डाल दिया और मारे गए लोगों को खोज निकाला.