अगर होगा फिर से CBSE एग्जाम तो छात्रों को देना चाहिए हर्जाना, वसूलना चाहिए लीक करने वालों से

LIKE फेसबुक पेज
modi-sarkar-should-give-compensation-cbse-students-for-reappear

नई दिल्ली: सरकार ने पेपर लीक की ख़बरों के बाद कहा है कि CBSE 10वीं बोर्ड का मैथ और 12वीं बोर्ड का इकोनॉमिक्स पेपर फिर से देना होगा लेकिन इस मामले में 20 लाख छात्रों का क्या कसूर है, कुछ गुनहगारों की सजा सभी 20 लाख छात्र क्यों भुगतें, इसलिए दोबारा परीक्षा देने को लेकर छात्रों में रोष है.

अगर दोनों पेपर का फिर से एग्जाम होता है तो मोदी सरकार को चाहिए कि प्रत्येक छात्रा को कम से कम 5000 हजार रुपये हर्जाना देना चाहिए और ये पैसे उन दोषियों से वसूला जाना चाहिए जिन्होंने पेपर को लीक कराया है, ऐसे लोगों की पूरी संपत्ति कुर्क करके आजीवन जेल में डाल देना चाहिए, ऐसा इसलिए क्योंकि इन्होने लाखों छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया है.

पेपर लीक की ख़बरों के बाद कांग्रेस को मोदी सरकार के खिलाफ बड़ा मुद्दा मिल गया है. कांग्रेस पार्टी के नेता मोदी सरकार को लीक सरकार बोल रहे हैं. मोदी सरकार के कार्यकाल में सिर्फ एक साल बचे हैं, अगर 20 लाख बच्चे और इनके 1 करोड़ परिवार वाले मोदी सरकार से रूठ गए तो मोदी की वापसी मुश्किल है इसलिए छात्रों को दोबारा परीक्षा देने के लिए बाध्य करने का हर्जाना देना चाहिए ताकि उन्हें लगे कि मोदी सरकार इनके साथ है, हर्जाना देने में अरबों रुपये का खर्च आएगा लेकिन यह पैसा उन लोगों से वसूलना चाहिए जिन्होंने पेपर लीक किया है.

LEAVE A REPLY