हथीन में दर्दनाक हादसा, कृत्रिम झील में डूबने से नौ वर्षीय वसीम व सात वर्षीय वाहिद की मौत

hathin-news-wasim-and-wahid-drowned-in-mining-lake-in-ghudawali

हथीन, 23 मार्च: हथीन खंड के गांव उटावड-घुडवली के पहाड़ो में अवैध खनन से बनी कृत्रिम झील में डूबने से नौ वर्षीय वसीम व सात वर्षीय वाहिद की मौत हो गई। ये दोनों बच्चे अपने गांव के  एक अन्य बच्चे के साथ झील में स्नान करने गए थे। जैसे ही बच्चे झील में स्नान करने उतरे तो झील के गहरा होने के कारण दोनों उसमें डूब गए।

बच्चों के डूबने के बाद उनके तीसरे साथी ने गांव में जाकर घटना के बारे में बताया। सूचना मिलने पर गांव के लोग झील पर आए। उन्होंने डूबे हुए बच्चों को काफी मशक्कत के बाद झील से निकाला। घटना के बाद बहीन थाना प्रभारी कृष्ण कांत व पुलिस उटावड चौकी इंचार्ज रामेश्वर सिंह मौके पर पहुंचे। गांव के लोग पूर्व में अवैध रूप से हुए खनन को लेकर गुस्से में थे। लोगों का कहना था कि उस गहरे खनन को अगर मिट्टी से ढांप दिया जाता तो ऐसे हादसे नहीं होते। पुलिस ने मामले में 174 के तहत कार्रवाई करके बच्चे के शवों का  मेडिकल कराने के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

बृहस्पतिवार को घुड़ावली निवासी मुबीन व मतीन के बच्चे वसीम व वाहिद गांव के  एक अन्य बच्चे के साथ पहाड़ी में बनी कृत्रिम झील पर स्नान करने गए। बताया गया है कि झील के समीप कपड़े उतार कर वसीम व वाहिद स्नान करने लगे। जबकि उनका तीसरा साथी वहीं पर बैठा हुआ था। जैसे ही दोनों बच्चे झील में स्नान के लिए उतरे तो झील में बने गहरे गड्ढे में चले गए। बच्चों को तैरना नहीं आता था। इसलिए दोनों गहरे पानी में डूब गए। यह दृश्य तीसरा बच्चा देख रहा था। दोनों  के डूबने के बाद तीसरे बच्चे ने गांव में जाकर घटना के बारे में जानकारी दी। गांव के लोगों ने मौके पर पहुंचकर झील से दोनों बच्चों के शवों को निकाला।

वसीम  पांचवीं कक्षा तथा वाहिद दूसरी कक्षा में पढ़ते थे। सुचना मिलने पर पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। गांव के लोगों का आरोप था कि अवैध खनन के समय भी उन्होंने गांव के समीप गहरे खनन को लेकर शिकायत की थी। लेकिन उनकी किसी ने नहीं सुनी। गांव के लोगों ने प्रशासन से खनन के रूप में बनी झील को मिट्टी से  भरने की मांग की है। घटना के बाद गांव में शोक  की लहर दौड़ गई है।

उधर, थाना प्रभारी कृष्ण कांत का कहना था कि पुलिस ने आवश्यक कार्रवाई के बाद बच्चों के शवों को परिजनों को सौंप दिया ह। (रिपोर्टर देवराज शर्मा)