एक फेक FB पोस्ट पर दिव्या स्पंदना ने बनाया जर्नलिस्ट का मजाक, रोज झूठ बोलते हैं राहुल गाँधी

divya-spandana-make-joke-mahesh-vikram-hegde-rahul-gandhi-lie-daily

नई दिल्ली, 31 मार्च: पोस्ट कार्ड न्यूज़ पोर्टल के जर्नलिस्ट महेश विक्रम हेगड़े को सिर्फ फेसबुक पर एक फेक पोस्ट लिखने के मामले में धारा 153 के तहत कांग्रेस सरकार ने गिरफ्तार कर लिया, आज कांग्रेस की आईटी सेल की चीफ दिव्या स्पंदना ने महेश विक्रम हेगड़े का मजाक उड़ाया और उन्हें जर्नलिस्ट मानने से इनकार कर दिया, इंडिया टुडे के शो कर्नाटक पंचायत में उन्होंने अपने कांग्रेसी टट्टुओं से ताली बजवाकर महेश विक्रम हेगड़े की हंसी उड़ाई. पोस्ट कार्ड न्यूज़ के लाखों फॉलोवर हैं.

आप देखते होंगे कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी रोजाना झूठ बोलते हैं, झूठ फैलाते हैं, घोटाले में जमानत पर बाहर हैं, उनकी मम्मी सोनिया गाँधी भी नेशनल हेराल्ड घोटाले में जमानत पर बाहर हैं. उसके बावजूद भी दिव्या स्पंदना एक जर्नलिस्ट का मजाक उडाती हैं.

अगर भारत में कोई नेता सबसे अधिक झूठ बोलता है तो उसका नाम राहुल गाँधी है, कभी 15 लाख खाते में आने पर झूठ फैलाते हैं जबकि नरेन्द्र मोदी ने कभी नहीं कहा कि मैं विदेश से काला धन लाकर सभी भारतीयों के खाते में डलवा ही दूंगा, मोदी ने हमेशा ये कहा था कि विदेश में इतना कालाधन है कि हर एक के खाते में 15-15 लाख आ सकता है लेकिन राहुल गाँधी ने इसे तोड़कर यह झूठ फैलाना शुरू किया कि मोदी ने सभी भारतीयों से 15 लाख देने का वादा किया है, कुछ मूर्ख तो यह भी कहते हैं कि मैं 15 लाख रुपये आने का इन्तजार कर रहा हूँ.

राहुल गाँधी और भी कई झूठ बोलते हैं, गौरी लंकेश की हत्या हुई थी तो राहुल गाँधी ने कहा कि उसे मोदी, आरएसएस और बीजेपी ने मारा, कभी कहते हैं कि गाँधी को आरएसएस ने मारा, कोर्ट में उनके खिलाफ केस भी चल रहा है. हाल ही में उन्होंने मेघालय में एक रैली में कहा था कि मध्य प्रदेश में बीजेपी वाले चर्च तुड़वा रहे हैं, यह भी झूठ था.

कहने का मतलब है कि अगर किसी भी आम आदमी को लगे कि राहुल गाँधी झूठ बोल रहे हैं तो उसे थाने में जाकर FIR करवा देनी चाहिए क्योंकि कर्नाटक की कांग्रेस सरकार ने ऐसा ही किया है, पोस्ट कार्ड न्यूज़ के फाउंडर महेश विक्रम हेगड़े को कर्नाटक की सिद्धारमैया सरकार ने कल गिरफ्तार करवा दिया.

क्यों किया गया महेश विक्रम हेगड़े को गिरफ्तार

महेश विक्रम हेगड़े ने फेसबुक पर पोस्ट किया था – जैन मुनि पर एक मुस्लिम ने किया हमला. सिद्धारमैया सरकार में कोई भी सुरक्षित नहीं है. सिद्धारमैया को यह बात चुभ गयी, उन्होंने महेश विक्रम हेगड़े पर दंगा भड़काने (धारा 153) के तहत मामला दर्ज किया है.

चलो मान लिया कि महेश विक्रम हेगड़े ने अपनी पोस्ट में मुस्लिम लिख दिया था तो क्या राहुल गाँधी अपने भाषण में मुस्लिम नहीं बोलते, अपने ट्वीट में मुस्लिम नहीं लिखते। कांग्रेस का हर नेता कहता है कि बीजेपी दंगे करवा रही है, मुस्लिमों पर हमला हो रहा है. इन सभी के खिलाफ FIR होनी चाहिए। अगर कोई भी नेता या मीडिया अपनी पोस्ट में मुस्लिम लिखता है तो उसके खिलाफ FIR दर्ज होनी चाहिए।