मायावती को झटका, बसपा विधायक अनिल सिंह बोले, मैंने माया को नहीं महाराज जी को वोट दिया है

LIKE फेसबुक पेज
bsp-mla-anil-singh-vote-for-bjp-in-up-rajya-sabha-election

नई दिल्ली, 23 मार्च: उत्तर प्रदेश के राज्य सभा चुनाव में मायावती ने अपने उम्मीदवार भीम राव अंबेडकर को जितवाने के लिए पूरी ताकत लगा दी है लेकिन उन्हें बहुत बड़ा झटका लगा है क्योंकि BSP विधायक अनिल सिंह ने BJP को वोट दिया है. बीजेपी को वोट देने के बाद अनिल सिंह ने कहा कि मैंने अपनी अंतरात्मा की आवाज पर महाराज जी को वोट दिया है.

अब इसके अलावा सपा या बसपा से अगर एक भी विधायक बीजेपी के पाले में आ गया तो सपा या बसपा का कोई उम्मीदवार चुनाव हारेगा और 9वीं सीट भी बीजेपी के खाते में चली जाएगी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हर राज्य सभा उम्मीदवार को कम से कम 37 विधायकों के वोट चाहिए. सपा के पास 47 विधायक हैं. उनके एक प्रत्याशी जया बच्चन की जीत तय है लेकिन मायावती ने सपा से 10 सपा विधायकों की डिमांड कर दी है. मतलब मायावती को 10 सपा विधायकों के वोट चाहिए ही चाहिए, भले ही सपा की उम्मीदवार चुनाव हार जाएं.

मान लीजिये सपा के पास 47 विधायक हैं. अगर वह 10 विधायकों को मायावती को दे देंगे, उसके बाद उनके पास सिर्फ 37 बचेंगे, ऐसे में अगर किसी सपा विधायक ने धोखेबाजी करके बीजेपी के लिए क्रॉस वोटिंग कर दी तो सपा उम्मीदवार की हार हो जाएगी.

इधर मायावती के पास सिर्फ 19 विधायक हैं, उन्हें 7 कांग्रेस विधायकों का समर्थन हासिल है, अगर उन्हें 10 सपा विधायक भी वोट दे देते हैं तो उनके उम्मीदवार भीम राव अंबेडकर की जीत हो जाएगी लेकिन अगर किसी कांग्रेसी विधायक ने दगा दे दिया तो भी बसपा की हार हो जाएगी. इसके लिए बसपा को 1 RLD विधायक का भी समर्थन जरूरी होगा.

कुल मिलाकर बीजेपी के 8 सदस्यों की जीत तय है लेकिन सपा-बसपा की जीत तय नहीं है क्योंकि अगर एक भी विधायक बगावत कर गया तो सपा-बसपा का खेल खराब हो जाएगा. अगर मायावती की हार हो गयी तो उनका सपा से रिश्ता टूट जाएगा, अगर ऐसा हो गया तो बुआ हमेशा के लिए नाराज हो जाएंगी क्योंकि उन्होंने 2 लोकसभा सीटों पर सपा को जीत दिलवाई है.

LEAVE A REPLY