योगी ने बाबा साहेब के नाम में जोड़ा रामजी, दलित राजनीति करने वाली पार्टियों में मचा हडकंप

bhimrao-ramji-ambedkar-real-name-baba-saheb-by-cm-yogi-adityanath

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक बड़ा फैसला किया है. अब बाबा साहेब के नाम में रामजी जोड़कर उसे फुल फॉर्म में लिखा जाएगा. अभी तक बाबा साहेब का नाम बी. आर. आंबेडकर लिखा जाता था जिसकी वजह से लोगों को पता नहीं चल पाता था कि आर का मतलब क्या है, उनके नाम में आर का मतलब रामजी था लेकिन यह बात किसी को पता नहीं थी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि बाबा साहेब के पिता का नाम रामजी मालोजी सकपाल था. बाबा साहेब भी अपने नाम में रामजी लगाते थे, उन्होंने भीमराव रामजी आंबेडकर के नाम से ही संविधान में हस्ताक्षर किये हैं लेकिन दलित राजनीति करने वाली पार्टियों ने रामजी को साम्प्रदाईक मानकर उसे हटाकर आर लिख दिया था लेकिन योगी ने निर्णय किया है कि जब बाबा खुद अपने नाम में रामजी लिखते थे तो अब पूरा देश उन्हें उनके असली नाम से ही जानेगा. अब बाबा साहेब का नाम भीमराव रामजी आंबेडकर ही लिखा जाएगा.

योगी सरकार के इस आदेश से दलित राजनीति करने वाली पार्टियों के हडकंप मच गया है, उन्हें लगता है कि हम कितनी मुश्किलों से दलितों को राम से दूर ले जा रहे थे लेकिन अब योगी ने बाबा साहेब के नाम में रामजी लगाकर दलितों को फिर से राम की तरफ खींचने की कोशिश की है. इस निर्णय के बाद मीडिया ने भी बवाल मचा दिया है. बीजेपी ने नहले पर दहला मार दिया है.