मुख्य सचिव के बाद आयी मनोज तिवारी की बारी, केजरीवाल ने अपने घर पर मीटिंग के लिए बुलाया, 12 बजे

arvind-kejriwal-wrote-manoj-tiwari-for-meeting

नई दिल्ली, 11 मार्च: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल ने एक बड़ा कदम उठाते हुए दिल्ली के बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी और कांग्रेस अध्यक्ष अजय माकन को अपने घर पर मीटिंग के लिए बुलाया है, अब यह बात समझ से परे है कि केजरीवाल नेताओं और अधिकारियों को अपने घर पर ही मीटिंग के लिए क्यों बुलाते हैं. मीटिंग बाहर भी तो हो सकती है.

अभी कुछ दिनों पहले केजरीवाल ने दिल्ली के मुख्य सचिव अंशुल प्रकाश को रात 12 बजे अपने घर पर मीटिंग के लिए बुलाया था लेकिन वहां पर कई आप विधायकों ने उनपर हमला बोल दिया था. इस मामले में आप पार्टी के दो विधायक अमानतुल्लाह और प्रकाश जरवाल को जेल भेजा गया. अमानतुल्लाह खान अभी भी जेल में बंद हैं.

केजरीवाल ने सीलिंग के मुद्दे पर मनोज तिवारी और अजय माकन को अपने घर पर मिलने के लिए बुलाया है, केजरीवाल ने अपनी चिट्ठी में लिखा है कि सीलिंग की वजह से दिल्ली में एक भयावह स्थिति पैदा हो गयी है, इस समस्या का हल निकालने के लिए हम सभी को राजनीति से ऊपर उठकर एक होना चाहिए. इस विषय में मैंने 13 मार्च मंगलवार 12 बजे अपने घर पर एक मीटिंग बुलाई है जिसमें आप सादर आमंत्रित हैं. कृपा करके 3 से अधिक लोग ना आयें ताकि मीटिंग सुचारू रूप से चले.

केजरीवाल ने 12 बजे अंशुल प्रकाश को भी बुलाया था और 12 बजे ही मनोज तिवारी को भी बुला रहे हैं, अंशुल प्रकाश की पिटाई के मामले में पाया गया था कि केजरीवाल के घर में CCTV कैमरों से छेड़छाड़ की गयी थी, कई कैमरों को बंद कर दिया गया था. उसके बाद अंशुल प्रकाश की पिटाई की गयी थी. अब मनोज तिवारी पर निर्भर करता है कि वह खतरा मोल लेते हैं या नहीं.