अन्ना हजारे को नहीं मिला युवाओं का साथ, क्योंकि, लोग नहीं चाहते दूसरा नौटंकीवाल

anna-andolan-against-modi-sarkar-youth-said-we-dont-need-nautankiwal

नई दिल्ली, 23 मार्च: अन्ना हजारे ने आज से मोदी सरकार के खिलाफ किसान आन्दोलन शुरू किया है लेकिन लगता है कि इस बार वह देशवासियों का मूंड नहीं भांप पाए. अन्ना हजारे के आन्दोलन में युवाओं ने दिलचस्पी नहीं दिखाई है, सोशल मीडिया पर अन्ना हजारे की काफी आलोचना हो रही है. अधिकतर युवाओं का कहना है कि अन्ना हजारे जब जब आन्दोलन करते हैं, कोई ना कोई नौटंकीवाल पैदा होता है. अब हम दूसरा नौटंकी-वाल नहीं चाहते.

आज धरना मास्टर अन्ना हजारे बहुत दुखी होंगे क्योंकि मोदी सरकार के खिलाफ आन्दोलन में रामलीला मैदान में भीड़ नहीं आयी है. अन्ना ने सोचा होगा कि मोदी सरकार के खिलाफ आन्दोलन में भीड़ जमा हो जाएगी लेकिन ऐसा कुछ भी नहीं है. राम लीला मैदान में इस समय सिर्फ 200 लोग हैं. पूरा मैदान खाली पड़ा है इसीलिए अन्ना हजारे ने भी धरना का समय आगे बढ़ा दिया है. पहले वह 11 बजे धरना पर बैठने वाले थे लेकिन अब 12 बजे बैठेंगे.

अन्ना हजारे के फ्लॉप आन्दोलन देखकर सोशल मीडिया पर उनकी खिंचाई शुरू हो रही है, कई लोग कह रहे हैं कि जब भी अन्ना हजारे आन्दोलन करता है तो कोई ना कोई नौटंकीवाल पैदा होता है. लोगों को बेवकूफ बनाना ही इनका मकसद होता है. अब इनके आन्दोलन की पोल खुल चुकी है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अन्ना हजारे आज से केंद्र सरकार के खिलाफ अनिश्चितकालीन भूख हड़ताल पर बैठने वाले हैं । आज पहला दिन है।  वर्ष 2011 में भ्रष्टाचार की जांच के लिए लोकपाल के गठन की मांग को लेकर वह इसी मैदान में भूख हड़ताल पर बैठे थे।