योगी सरकार को बदनाम करने के लिए झाँसी में सामने आया तकिया-कांड, पढ़ें क्या है हकीकत

accident-victim-man-leg-make-takiya-in-jhansi-medical-college-up

झाँसी, 11 मार्च: उत्तर प्रदेश में योगी सरकार को आये 11 महीनें होने को आये हैं लेकिन योगी सरकार को बदनाम करने की कोशिशें शुरू हो गयी हैं, अब झाँसी मेडिकल कॉलेज में एक तकिया-कांड सामने आया है जिसकी वजह से योगी सरकार की जमकर किरकिरी हो रही है, विरोधी पार्टियों के नेता योगी सरकार पर जमकर हमले कर रहे हैं और प्रदेश में स्वास्थ्य व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं.

झाँसी मेडिकल कॉलेज में एक एक्सीडेंट पीड़ित युवक को लाया गया था, उसका पैर कट चुका था, डॉक्टरों ने उसे ग्लूकोज लगा रखा था लेकिन उसके सर के नीचे तकिये की जगह उसी का कटा हुआ पैर रखा गया था, यह फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है और विरोधी पार्टियों के नेता योगी सरकार पर कटाक्ष कर रहे हैं जिसे देखकर लग रहा है कि योगी सरकार को बदनाम करने की साजिश हो रही है.

एकबारगी देखने पर ऐसा लग रहा है कि युवक के सर से तकिया हटाकर उसका पैर लगाकर उसकी वीडियो बनायी गयी है, यह काम उस आदमी ने किया है जिसने योगी सरकार को बदनाम का अभियान शुरू किया होगा या उसके परिजनों ने ही उसका पैर सर के नीचे रखकर उसकी वीडियो बना ली और उसे अखिलेश यादव तक पहुंचा दिया.

यहाँ पर आरोपी डॉक्टरों के खिलाफ एक्शन शुरू हो चुका है लेकिन यह भी ध्यान देने लायक है कि कोई भी डॉक्टर या नर्सिंग स्टाफ इस तरह की हरकत कर ही नहीं सकता क्योंकि मेडिकल क्षेत्र के लोग कटे पैर को छू भी नहीं सकते क्योंकि इससे इन्फेक्शन फैलने का डर रहता है, यह काम मरीज के ही परिवार के किसी व्यक्ति ने या किसी शरारती तत्त्व ने किया है और उसकी वीडियो बनाकर वायरल की है.

विरोधी लोग यह भी कह रहे हैं कि अस्पतालों में तकिया भी नहीं है जबकि मरीज के पैर के नीचे तकिया रखा हुआ है जिसे देखने पर लगता है कि जो तकिया बेड पर रखा गया था उसे मरीज के पैर के नीचे रख दिया गया जबकि कटे हुए पैर को उसके सर के नीचे रखकर वीडियो बना ली गयी.

फिलहाल इस कांड की जाँच शुरू हो चुकी है. महारानी लक्ष्मी बाई मेडिकल कॉलेज की प्रिंसिपल साधना कौशिक ने कड़े एक्शन का भरोसा दिया है. इस मामले में चार सदस्यीय कमेटी का गठन किया गया है. अभी तक प्राप्त सूचना के मुताबिक़ एक डॉक्टर और एक नर्स को सस्पेंड किया गया है.

मरीज के बारे में बताया जा रहा है कि वह एक स्कूल बस का क्लीनर का काम करता था, एक्सीडेंट में उसका पैर ख़राब हो गया था, उसे इन्फेक्शन से बचाने के लिए उसका पैर काट दिया गया लेकिन बाद में उसका कटा पैर ही उसके सर के नीचे रखकर तकिया बनाकर वीडियो बना ली गयी.

LEAVE A REPLY