श्रीदेवी को दारूबाज बताकर कुछ भारतीय मीडिया चैनल कर रहे बदनाम करने की कोशिश, बिक गए शायद

paid-india-media-defaming-sreedevi-telling-him-alcoholic-darubaaj

नई दिल्ली, 26 फ़रवरी: भारत की मशहूर अदाकारा श्रीदेवी की मौत या हत्या पर सस्पेंस गहरा गया है, पहले कहा जा रहा था कि उन्हें हार्ट अटैक आ गया लेकिन अब कहा जा रहा है कि वह बाथटब में डूबकर मर गयीं. यह अपने आप में हैरान करने वाला खुलासा है. इससे भी हैरान करने वाली ख़बरें कुछ भारतीय मीडिया चैनल दिखा रहे हैं, एक अजेंडे के तहत श्रीदेवी को दारूबाज बताकर बदनाम करने की कोशिश की जा रही है.

मीडिया चैनल दिखा रहे हैं कि शराब ने छीन ली चांदनी की जिंदगी, नशे ने डुबा दिया, ज्यादा पी रखी थी जबकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में कहीं पर भी दारू पीने की बात का जिक्र नहीं है, यह बात भारतीय मीडिया एक अजेंडे के तहत संदिग्ध हत्यारे को बचाने के लिए कर रहा है, ऐसा लगता है कि कुछ भारतीय मीडिया चैनल बिक गए हैं और उनके डूबने को उचित ठहराने की कोशिश कर रहे हैं.

क्यों हो रहा है शक

जिस बात का शक जाहिर किया जा रहा है वह सही निकल रहा है, ऐसा लग रहा है कि किसी ने श्रीदेवी को बाथरूम के बाथटब में डुबाकर मार डाला और इसे हार्ट अटैक का नाम दे दिया लेकिन पोस्टमार्टम रिपोर्ट में साफ़ साफ़ लिखा है कि उनकी मौत बाथटब में डूबकर मरने से हुई है, इससे भी हैरानी वाली बात यह है कि मेडिकल रिपोर्ट में उनकी मौत एक्सीडेंटल ड्रोनिंग (दुर्घटनावश डूबने) से हुई है.

आप समझिये, डॉक्टर को क्या पता कि बाथरूम में उनका डूबना एक्सीडेंटल था, मतलब वह दुर्घटनावश डूब गयीं थीं, यह तो किसी डॉक्टर को पैसा देकर लिखवाया जाता है. वरना कोई डॉक्टर रिपोर्ट में एक्सीडेंटल लिखता ही नहीं है, हाँ पुलिस जांच के बाद जरूर ऐसा लिख सकती है इसीलिए इसे संदेहास्पद हत्या मानकर दुबई पुलिस ने इसकी जांच करने का फैसला किया है.

समझने वाले समझ सकते हैं कि बाथटब में कोई अपने आप कैसे डूब सकता है, छोटा सा बाथटब होता है, उसमे कोई अपने आप कैसे डूबकर मर सकता है, इसके अलावा बाथटब में अधिकतर नहाने के वक्त पानी भरा जाता है, लोग सुबह नहाते हैं ऐसे में शाम 7 बजे बाथटब भरा होना और उसमें श्रीदेवी जैसी हस्ती का डूबकर मर जाना, अपने आप में समझ से परे है.

LEAVE A REPLY