बॉबी कटारिया के टॉर्चर-पत्र से बढ़ा उसके समर्थकों का गुस्सा, खट्टर सरकार से CBI जांच की मांग

harmeet-singh-demand-cbi-enquiry-bobby-kataria-case-gurugram-police

गुरुग्राम: बॉबी कटारिया का टॉर्चर का पत्र सामने आने से उसके समर्थकों में गुरुग्राम पुलिस के खिलाफ काफी गुस्सा है, बॉबी कटारिया ने एक पत्र में गुरुग्राम पुलिस के 6 दिन के रिमांड में हुए टॉर्चर का खुलासा किया था जिसे सुनकर लोगों की रूह काँप जाती है.

बॉबी कटारिया ने पत्र के जरिये बताया है कि पुलिस रिमांड में उन्हें रात भर निर्वस्त्र रखकर मारा जाता था, उनकी टांगे फाड़ दी जाती थीं, उनके जाँघों पर एक एक क्विंटल का रोलर रखकर पैरों पर चलाया जाता था और उसपर एक दो पुलिस वाले बैठ जाते थे, उसके चेहरे पर पुलिस वाले थूकते थे और उसे चाटने के लिए बोलते थे, ऐसा ना करने पर पूरे परिवार को ख़त्म करने की धमकी देते थे, उसे लेडीज कपडे पहनाकर नाचने के लिए बोला जाता था, उसे दूर दूर से पुलिस वाले आकर पीटते थे और उसके शरीर पर थूक-कर चले जाते थे. उसके साथ हर तरह का टॉर्चर किया गया, जिसे उसनें सह लिया.

इतने खतरनाक टॉर्चर से बॉबी कटारिया के दिल में कई बार सुसाइड करने का विचार आया लेकिन उसके समर्थक और परिवार वाले उसकी आँखों में घूमने लगते थे इसलिए वह अपनी जान नहीं दे पाया.

बॉबी कटारिया की पीड़ा समझते हुए उसके समर्थक हरमीत सिंह खट्टर सरकार और हरियाणा के डीजीपी बीएस संधू से बॉबी कटारिया मामले की CBI जांच करने की मांग कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि अगर बॉबी कटारिया ने किसी को गाली दी थी तो उसे उस गलती की सजा मिलनी चाहिए थी लेकिन उसके खिलाफ कई FIR दर्ज करके उसके इस तरह से टॉर्चर देने के मामले की जांच होनी चाहिए और दोषी पुलिस कर्मियों पर कार्यवाही होनी चाहिए वरना कुछ गलत पुलिस वालों की वजह से पूरी हरियाणा पुलिस पर सवाल उठेंगे जो खट्टर सरकार के लिए सही नहीं होगा.

उन्होंने हरियाणा के डीजीपी बीएस संधू और भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से भी इस मीमले में कार्यवाही करने की मांग की. उन्होंने खट्टर से कहा कि आप हरियाणा के गृह मंत्री हैं इसलिए आपकी जिम्मेदारी बढ़ जाती है. इस मामले में तुरंत कार्यवाही करें, CBI जांच का आर्डर दे और दोषी पुलिस कर्मियों पर कार्यवाही करें.

LEAVE A REPLY