दिलेर था बॉबी कटारिया जो हरियाणा पुलिस की 6 दिन की रिमांड में बच गया, हरिया 3 दिन में मर गया

bobby-kataria-alive-in-6-day-police-remand-but-hariya-dead-in-6-day

गुरुग्राम: आज हरियाणा के पलवल से सनसनीखेज खबर आयी है, पुलिस और प्रशासन की नाक में दम करने वाले बदमाश हरिया की पुलिस रिमांड में मौत हो गयी. कहा जा रहा है कि उसकी मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई है. हालाँकि कुछ लोग कह रहे हैं कि यह मौत पुलिस की थर्ड डिग्री से हुई होगी, खैर हरिया के लिए कोई दुखी होने वाला नहीं है क्योंकि वह बदमाश था, इसलिए शायद उसके लिए कोई खड़ा नहीं होगा.

हरिया की मौत से इतना तो साफ़ है हरियाणा पुलिस की रिमांड बहुत खतरनाक होती है, इनके टॉर्चर से किसी का बचना मुश्किल है लेकिन गुरुग्राम के समाजसेवक बॉबी कटारिया गुरुग्राम पुलिस की 6 दिन की रिमांड से बचकर जिन्दा निकल आये, उन्हें भी पुलिस ने चोरी का आरोप लगाकर 6 दिन के रिमांड में लिया था.

बॉबी कटारिया के पत्र के अनुसार 6 दिन में उन्हें इस कदर से टॉर्चर किया गया कि उनके मन में कई बार सुसाइड का ख्याल आया लेकिन उन्होने ऑंखें बंद करके पुलिस का हर जुल्म सह लिया. उनके पीछे दो बच्चे, बीवी, पिता, माँ और भाई भी थे, इसके अलावा उनके लाखों समर्थक भी थे, सुसाइड का विचार आते ही उनके मन में इन लोगों का ख्याल आ जाता था इसलिए उन्होंने जान देने का ख्याल निकाल दिया और इसी का नतीजा है कि आज वह जिन्दा हैं और अपने साथ हुए टॉर्चर को दुनिया के सामने ला रहे हैं.

लेकिन हरिया अपनी जान नहीं बचा पाया, वह बदमाश था, उसनें फरीदाबाद-पलवल में आतंक मचा रखा था, उसनें तीन दिन पहले ही सरेंडर किया था, पलवल पुलिस ने उसे 6 दिन की पुलिस रिमांड में लिया था लेकिन तीसरे दिन ही उसकी मौत की खबर आ गयी.

कहने का मतलब ये है बॉबी कटारिया बहुत हिम्मत वाला था जो हरियाणा पुलिस की 6 दिन की रिमांड से बचकर वापस आ गया जबकि हरिया की तीन दिन में ही मौत हो गयी.

बॉबी कटारिया बताते हैं कि पुलिस रिमांड में उन्हें रात भर निर्वस्त्र रखकर मारा जाता था, उनकी टांगे फाड़ दी जाती थीं, उनके जाँघों पर एक एक क्विंटल का रोलर रखकर पैरों पर चलाया जाता था और उसपर एक दो पुलिस वाले बैठ जाते थे, उसके चेहरे पर पुलिस वाले थूकते थे और उसे चाटने के लिए बोलते थे, ऐसा ना करने पर पूरे परिवार को ख़त्म करने की धमकी देते थे, उसे लेडीज कपडे पहनकर नाचने के लिए बोला जाता था, उसे दूर दूर से पुलिस वाले आकर पीटते थे और उसके शरीर पर थूक-कर चले जाते थे. उसके साथ हर तरह का टॉर्चर किया गया, जिसे उसनें सह लिया.

इतने खतरनाक टॉर्चर से बॉबी कटारिया के दिल में कई बार सुसाइड करने का विचार आया लेकिन उसके समर्थक और परिवार वाले उसकी आँखों में घूमने लगते थे इसलिए वह अपनी जान नहीं दे पाया.

LEAVE A REPLY