एक महिला टीचर ने बताया, निर्भया जैसे गैंगरेप क्यों होते हैं, खुद को कैसे बचाएं लड़कियां

why-nirbhaya-gangrape-case-occure-how-do-girls-should-care

रायपुर: एक महिला टीचर ने अपनी स्कूल की छात्राओं को बताया है कि निर्भया जैसे गैंगरेप कैसे होते हैं, ऐसी घटनाओं से कैसे बचा जाना चाहिए, लड़कियों को अपनी देखभाल कैसे रखनी चाहिए. महिला टीचर की इस शिक्षा पर विवाद हो रहा है हालाँकि कुछ लोग इसे सही भी बता रहे हैं.

छत्तीसगढ़ की एक महिला टीचर ने छात्र और छात्राओं को सलाह दी कि भड़कीले कपड़े और लिपस्टिक लगाने से निर्भया जैसी बलात्कार की घटनाओं को बढ़ावा मिलता है. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि लड़कियों का रात में घर से बाहर जाना भी इस तरह की घटनाओं को आमंत्रण देता है.

जानकारी के लिए बता दें कि छत्तीसगढ़ के रायपुर केंद्रीय विद्यालय की एक बायोलॉजी टीचर ने यह नसीहत लड़कों की मौजूदगी में दी. टीचर स्नेहलता शंखवार के अनुसार जो लड़कियां रात में घूमती हैं उनके साथ इस तरह की घटना कभी भी हो सकती है.

महिला शिक्षक की इस शिक्षा का कुछ छात्राओं के अभिभावकों ने प्रिंसिपल से मिलकर शिकायत कराई है. टीचर की इस नसीहत को कुछ छात्रों ने अपने फोन पर भी रिकार्ड कर लिया. जिसमें वह कहती हुई सुनाई दे रही हैं कि जब लड़कियों का चेहरा खूबसूरत नहीं होता है तभी वह एक्सपोज करती है. लड़कियां इतनी बेशर्म कैसे हो सकती हैं. लड़कियां किसी लड़के के साथ रात को बाहर कैसे जा सकती हैं जो उनका पति नहीं है.

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि निर्भया की मां को अपनी बेटी को इतनी रात को बाहर जाने की अनुमति नहीं देनी चाहिए थी. उनका मानना है कि इसमें निर्भया की गलती थी. महिला टीचर ने बताया कि जिन लड़कियों के साथ इस तरह की घटनाएं होती हैं वह श्रापित हो जाती हैं और यह उनके लिए सजा होती है.

LEAVE A REPLY