अमित शर्मा बोले, अगर सही से होता इस देश का बँटवारा तो देश में कैंसर ना फैलता: पढ़ें

amit-sharma-said-desh-ka-bantwara-sahi-se-nahi-hua-in-hindi

आज 30 जुलाई को भारत के उभरते हुए कवि अमित शर्मा का जन्मदिन है, आज हमने उनका एक विशेष इंटरव्यू किया जिसमें उन्होंने बेबाकी से सभी मुद्दों पर अपनी राय रखी. हाल ही में उनकी असहिष्णुता पर एक कविता सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. हमने उनसे इसी कविता पर कई प्रश्न पूछे, इस कविता में उन्होने यह भी कहा है कि पहली बात तो माँ भारती का बँटवारा होना नहीं चाहिए था लेकिन अगर बंटवारा हो गया तो सही से बँटवारा करना था.

उन्होने कहा कि इस देश का बँटवारा धर्म के आधार पर हुआ था, पाकिस्तान की पैरवी करने वाले लोगों ने कहा था कि हमारा खान पान अलग है, हमारा रहन सहन अलग है, हमारा धर्म अलग है इसलिए हमें अलग देश चाहिए, मतलब मुस्लिमों के लिए पाकिस्तान माँगा गया था जबकि हिन्दुओं के लिए हिंदुस्तान था. उन्होने कहा कि जब मुस्लिमों को पाकिस्तान जाना था तो उन्हें भारत में क्यों रहने दिया गया. लाखों लोग भारत में ही रह गए और अब पापुलेशन बढ़ाकर कई जगह आजादी आजादी का नारा लगा रहे हैं और यह बीमारी कैंसर की तरह बढ़ती जा रही है, अगर देश का सही से बँटवारा हुआ होता और सभी मुस्लिम पाकिस्तान चले जाते तो हमारे देश में जिहाद ना फैसला, देश के टुकड़े टुकड़े करने की बात ना होती और आतंकवाद ना होता. (कुछ बातें अमित शर्मा की कविता से)

पढ़ें पूरा इंटरव्यू: अपनी कविताओं से 10 मिनट में युवाओं को देशभक्त बना देते हैं कवि अमित शर्मा: जन्मदिन पर इंटरव्यू

LEAVE A REPLY