Showing posts with label Telangana. Show all posts
Showing posts with label Telangana. Show all posts

Nov 22, 2017

हैदराबाद के हवाई अड्डे पर नकली सीबीआई अधिकारी को 26 लाख रूपये से गिरफ्तार किया गया

हैदराबाद के हवाई अड्डे पर नकली सीबीआई अधिकारी को 26 लाख रूपये से गिरफ्तार किया गया

fake-cbi-officer-arrested-in-hyderabad-rgi-airport-with-20-lakh-cash

हैदराबाद (तेलंगाना) : सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (सीबीआई) ने नकली सीबीआई अधिकारी एम नागेश्वर राव को मंगलवार को हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल (आरजीआई) हवाईअड्डे पर 26 लाख रुपये की शुद्ध नकद राशि के साथ गिरफ्तार कर  लिया  गया है।

शामशाबाद में आरजीआई हवाई अड्डे पर आयकर अधिकारी ने एयर इंटेलिजेंस यूनिट को शिकायत की थी, यूनिट ने तुरंत कार्रवाई करते हुए पुलिस ने राव को गिरफ्तार कर लिया और आईडी कार्ड, सीबीआई विभाग के चार लिफ़ाफ़े, कवर, केन्द्रीय सतर्कता आयोग प्रमुख के पत्र सहित कई अन्य दस्तावेज जब्त कर लिए.

आरोपी विजयवाड़ा से पंचायत विभाग के एक कर्मचारी के लिए अदालत में एक आधिकारिक काम का निर्वहन करने के लिए 26,00,000 रुपये ले जा रहा था, जिसका भूमि विवाद मामला अदालत में लंबित था। जब वह हवाई अड्डे पर उतर गए तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया।

पहले आरोपी ने निजी कंपनी में खाता प्रबंधक के रूप में काम किया था और कंपनी के तालाबंदी के कारण, वह 2014 में विजयवाड़ा में स्थानांतरित हो गया था, जहां उन्होंने कंपनी में अकाउंटेंट के रूप में काम किया था। हालांकि, बीमार स्वास्थ्य के कारण, उन्हें सेवा से हटा दिया गया था। तब से, वह आसान पैसा बनाने के लिए सीबीआई विभाग के उप मुख्य जांच अधिकारी के रूप में प्रतिरूपित कर रहे हैं। 

Nov 17, 2017

अध्यापक ने पांच साल के बच्चे की मार मार के उधेड़ दी चमड़ी

अध्यापक ने पांच साल के बच्चे की मार मार के उधेड़ दी चमड़ी

telangana-teacher-ne-chhatra-ko-maar-maar-kar-udhed-di-chamadi

कुछ अध्यापक इतने गुस्से वाले होते हैं कि छात्रों के साथ अमानवीय व्यवहार करते हैं, देश में ऐसा कई जगह हो रहा है लेकिन बहुत कम लोग इसकी शिकायत करते हैं.

अब ऐसी ही एक खबर तेलंगाना से आई है, एक पांच साल के बच्चे पर अध्यापक को इतना गुस्सा आया कि उसने मार मार कर छात्र की चमड़ी ही उधेड़ दी.

रिपोर्ट के अनुसार आरोपी अध्यापक के खिलाफ FIR दर्ज की गयी है, पुलिस मामले की जांच में जुट गयी है और अध्यापक को भी गिरफ्तार कर लिया गया है.

Nov 15, 2017

थाने में महिला होमगार्ड से मसाज करवाकर ले रहे थे आनंद, दरोगा जी हो गए सस्पेंड

थाने में महिला होमगार्ड से मसाज करवाकर ले रहे थे आनंद, दरोगा जी हो गए सस्पेंड

telangana-police-inspector-suspend-having-massage-women-homegard

हैदराबाद: थाने में ही महिला होमगार्ड के हाथों मसाज का आनंद लेना एक दरोगा जी को भारी पड़ गया, उनके आचरण को खराब बताकर उन्हें ड्यूटी से सस्पेंड कर दिया गया, दरोगा जी का कहना था कि उनकी पीठ में दर्द था इसलिए वह मसाज करवा रहे थे लेकिन थाने में मसाज कराना किसी को पचा नहीं, पता नहीं उनकी पीठ में दर्द था या दरोगा जी आदतन मसाज करवा रहे थे। किसी ने वीडियो बना लिया और सुबह न्यूज़ एजेंसियों ने ये वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दिया और अब दरोगा जी बेचारे सस्पेंड कर दिए गए। 

मामला तेलंगाना के जोगुलांबा गडवाल जिले का है जहाँ के एक असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर आज शाम कथित खराब आचरण के लिए निलंबित कर दिया गया। उस पर यह कार्रवाई एक वीडियो के वायरल होने के बाद की गई, जिसमें उसे एक महिला होमगार्ड से ‘मसाज’ करवाते हुए देखा जा सकता है. 

हैरदाबाद रेंज के उप पुलिस महानिरीक्षक एम स्टीफन रवींद्र ने बताया कि असिस्टेंट सब इंस्पेक्टर हासन को उसके ‘‘खराब आचरण” के लिए निलंबित किया गया है। वैसे दरोगा जी वीडियो को फर्जी बता रहे हैं। वीडियो कई महीने पहले का था लेकिन वाइरल आज हुआ जिसे कई टीवी चैनलों ने भी चलाया था।

Aug 21, 2017

राष्ट्रगान का अपमान करने पर तीन कश्मीरी युवक गिरफ्तार: पढ़ें

राष्ट्रगान का अपमान करने पर तीन कश्मीरी युवक गिरफ्तार: पढ़ें

three-kashmiri-students-arrested-for-disrespecting-national-anthem

हैदराबाद: हैदराबाद से एक बड़ी खबर आयी है. तीन कश्मीर छात्रों को राष्ट्रगान का अपमान करने पर गिरफ्तार किया गया है. सूचना के अनुसार सिनेमाघर में फिल्म से पहले जब राष्ट्रगान बज रहा था तो ये तीनों अपनी सीट से खड़े नहीं हुए उल्टा खड़े लोगों को देखकर हंसने लगे. जिसके बाद इनके खिलाफ पुलिस में शिकायत कर दी गयी.

यह घटना शनिवार दोपहर की है, तीनों कश्मीरी युवक शहर के मंत्रा मॉल में फिल्म देखने गए थे. इनके खिलाफ राजेंद्र नगर पुलिस स्टेशन में शिकायत की गयी थी जिसके तुरंत बाद पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार कर लिया.

इस मामले में पुलिस का कहना है कि हमें शनिवार को ही शिकायत मिली थी कि तीनों छात्र राष्ट्रगान बजने के समय खड़े नहीं हुए, ये लोग हंस रहे थे और खड़े हुए लोगों पर कमेन्ट कर रहे थे. तीनों को गिरफ्तार करके थाने लाया गया. ये कश्मीर के बारामुल्ला के रहने वाले हैं. ये लोग यहाँ पर अल-हबीब कॉलेज ऑफ़ इंजीनियरिंग में बीटेक की पढ़ाई कर रहे हैं. घटना की जांच जारी है.

Jul 20, 2017

पढ़ें, तेलंगाना के मंत्री KTR ने दिग्विजय सिंह को क्यों दी राजनीति से रिटायर होने की सलाह

पढ़ें, तेलंगाना के मंत्री KTR ने दिग्विजय सिंह को क्यों दी राजनीति से रिटायर होने की सलाह

telangana-minister-ktr-advise-digvijay-singh-to-retire-from-politics

तेलंगाना राष्ट्र रमिति के नेता और राज्य के उद्योग और वाणिज्य मंत्री केटी रामा राव और दिग्विजय सिंह के बीच ट्विटर वार शरू हुआ है, आज केटी रामा राव ने दिग्विजय सिंह को उम्र का ख्याल करते हुए राजनीति से रिटायर होने की सलाह दे डाली. उन्होंने ट्विटर पर लिखा - आप हार चुके हैं सर, आपकी सम्मान के साथ रिटायर होने की उम्र हो चुकी है और अपनी उम्र के अनुसार कुछ करने का समय आ गया है, मुझे ख़ुशी है कि आपको तेलंगाना की स्पेलिंग आ गयी है.
आपको बता दें कि कल कांग्रेसी नेता दिग्विजय सिंह ने तेलंगाना सरकार पर दवा घोटाले का आरोप लगाया था, उन्होंने कहा था कि तेलंगाना में बहुत बड़ा ड्रग स्कैम हुआ है और इसमें तेलंगाना राष्ट्र समिति के नेताओं का हाथ है, अब देखना है कि इन्हें बचाया जाता है या सजा दी जाती है.

इसके बाद केटी रामा राव ने भी दिग्विजय सिंह को कड़ा जवाब देते हुए उन्हें राजनीति से रिटायर होने के सलाह दे डाली.

आपको बता दें कि दिग्विजय सिंह और तेलंगाना सरकार में इससे पहले भी ट्विटर वार हो चुका है, इससे पहले दिग्विजय सिंह ने आरोप लगाया था कि तेलंगाना पुलिस ने राज्य के मुस्लिमों को बदनाम करने के लिए ISIS की एक फेक वेबसाइट बनायी है, जिसके जरिये राज्य के मुस्लिमों को ISIS की तरफ आकर्षित किया जाता है. क्या यह नैतिक है? क्या मुख्यमंत्री KCR ने तेलंगाना पुलिस को अधिकृत किया है कि वे मुस्लिमों को बहलाकर उन्हें ISIS से जुड़ने के लिए प्रेरित करें. अगर उन्होंने ऐसा किया है तो उन्हें तुरंत इस्तीफ़ा देना चाहिए.

दिग्विजय सिंह के इस ट्वीट पर तेलंगाना सरकार ने कड़ी आपत्ति जताई थी.

Jun 19, 2017

रामनाथ कोविंद का समर्थन करने में सुपरफास्ट निकले तेलंगाना CM KC Rao, बोले ‘हम मोदी के साथ हैं’

रामनाथ कोविंद का समर्थन करने में सुपरफास्ट निकले तेलंगाना CM KC Rao, बोले ‘हम मोदी के साथ हैं’

telangana-cm-kcrao-support-nda-president-candidate-ramnath-kovind
New Delhi, 19 June: भारतीय जनता पार्टी की तरफ से बिहार के गवर्नर Ram Nath Kovind का नाम राष्ट्रपति पद के लिए प्रस्तावित किया गया है, किसी को आशा नहीं थी कि एकाएक नए चेहरे को राष्ट्रपति पद के लिए चुना जाएगा क्योंकि इससे पहले सुषमा स्वराज और लाल कृष्ण आडवाणी का नाम आगे चल रहा था लेकिन बीजेपी की संसदीय बोर्ड की मीटिंग में Ram Nath Kovind का नाम प्रोपोज किया गया जिसे सभी ने मंजूर भी कर लिया, माना जा रहा है कि राष्ट्रपति पद के लिए प्रधानमंत्री मोदी ने ही उनका नाम सुझाया है.

NDA के उम्मीदवार का समर्थन करने में सबसे आगे रहे तेलंगाना राष्ट्र समिति के अध्यक्ष और तेलंगाना के मुख्यमंत्री KC Rao. उन्होंने मोदी का समर्थन करने में 10 मिनट भी नहीं लगाया, रामनाथ कोविंद का नाम तय करने के बाद मोदी ने फोन पर उनसे समर्थन माँगा, उन्होने तुरंत कहा - 'हम आपके प्रस्ताव का पूरी तरह से समर्थन करते हैं'. 
वाकई में मोदी का समर्थन करने में KC Rao सुपरफास्ट निकले क्योंकि अभी तक NDA की सहयोगी शिवसेना ने भी रामनाथ कोविंद का समर्थन नहीं किया है और कुछ दिनों का समय माँगा है.

Dec 29, 2016

हैदराबाद में फर्जी बिल बनाकर बैंक में 98 करोड़ का कालाधन जमा करने वाले दो सुनार दबोचे गए

हैदराबाद में फर्जी बिल बनाकर बैंक में 98 करोड़ का कालाधन जमा करने वाले दो सुनार दबोचे गए

hyd-2-jewellers-arrested-for-deposits-rs-98-crore-after-notbandi

Hyderabad, 29 December: हैदराबाद से आज फिर एक बड़ी खबर आयी है, पुलिस ने दो ऐसे व्यापारियों को गिरफ्तार किया जिन्होंने नोटबंदी के बाद फर्जी बिल बनाकर बैंक में 98 करोड़ रुपये जमा कराये थे, दोनों व्यापारी मुसद्दीलाल ज्वेलरी से जुड़े हुए हैं। 

सेंट्रल क्राइम स्टेशन की टीम से मंगलवार को मुसद्दीलाल ज्वेलरी को चलाने वाले कैलाश चंद गुप्ता और नरेदी नरेंद्र कुमार को गिरफ्तार कर लिया, दोनों ने नोटबंदी के बाद गलत काम किया था और गलत ढंग से रुपये जमा करवाये थे। 

जानकारी के अनुसार जैसे ही प्रधानमंत्री मोदी ने नोटबंदी की घोषणा की थी उसी वक्त गुप्ता ने अपने बेटे निकिल और नितिन, बहू नेहा और दूसरे लोगों के साथ मिलकर घर में रखे कालेधन को सफ़ेद करने का प्लान बनाया और उन्होंने फर्जी नामों से फर्जी रशीदें बनायी। इन्हीं रशीदों को बैंक में दिखाकर उन्होंने 98 करोड़ रुपये जमा कर दिए।

पुलिस ने जाँच में पाया है कि सुनार के परिवार वालों ने मिलकर मुसद्दीलाल ज्वेलर्स के नाम से 3100 ग्राहकों का 57 करोड़ रुपये का फर्जी बिल बनाया, इसके अलावा 40 करोड़ रुपये का फर्जी बिल वैष्णवी बुलियन प्राइवेट लिमिटेड के नाम से बनाया।

जब पुलिस ने रशीदों के आधार पर इनके नकली ग्राहकों से बातचीत की तो ग्राहकों ने कहा कि हमने तो नोटबंदी के बाद कोई खरीदारी की ही नहीं, हमारे नाम से गलत बिल बनाया गया है। 

Dec 26, 2016

आंध्र, तेलंगाना में मुर्गो की लड़ाई पर रोक बरकरार

आंध्र, तेलंगाना में मुर्गो की लड़ाई पर रोक बरकरार

andhra-pradesh-and-telangana-news-cocks-fight-ban-resumed

हैदराबाद, 26 दिसम्बर: हैदराबाद स्थित आंध्र प्रदेश व तेलंगाना के उच्च न्यायालय ने सोमवार को मुर्गो की लड़ाई पर लगी रोक को बरकरार रखते हुए आंध्र प्रदेश और तेलंगाना की सरकारों को यह सुनिश्चित करने को निर्देश दिया कि संक्रांति उत्सव के दौरान मुर्गो की लड़ाई का आयोजन नहीं हो। अदालत ने मुर्गो की लड़ाई पर पूर्ण रूप से प्रतिबंध लगा दिया है, न कि केवल जनवरी महीने में होने वाले संक्रांति उत्सव के लिए इसे प्रतिबंधित किया गया है। यानी, साल में कभी भी मुर्गो की लड़ाई का आयोजन नहीं किया जा सकेगा।

दोनों तेलुगू भाषी राज्यों के लिए समान उच्च न्यायालय ने भारतीय पशु कल्याण बोर्ड, ह्यूमन सोसायटी इंटरनेशनल/इंडिया, पीपुल फॉर एनिमल और अन्य संगठनों की ओर से दायर याचिका पर सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया।

याचिकाकर्ताओं ने अदालत के संज्ञान में लाया कि इस प्रथा पर रोक और पूर्व में इस सिलसिले में दिए गए अदालत के आदेशों का उल्लंघन करते हुए हर साल संक्रांति के अवसर पर 14 जनवरी को मुर्गो की लड़ाई का आयोजन हो रहा है।

दोनों राज्यों में संक्रांति उत्सव के दौरान हर साल बड़े पैमाने पर मुर्गो की लड़ाई का आयोजन होता है। इसमें दो मुर्गे होते हैं और उनके पैरों में तेज ब्लेड बांध कर उन्हें मरने तक लड़ने के लिए छोड़ दिया जाता है। खास तौर पर आंध्र प्रदेश के तटीय इलाकों में इस लड़ाई पर लोग करोड़ों रुपये के दांव भी लगाते हैं।

भारतीय पशु कल्याण बोर्ड के सदस्य व ह्यूमन सोसायटी इंटरनेशनल/भारत (एचएसआई/इंडिया) के प्रबंध निदेशक एन.जी. जयसिम्हा ने अदालत के आदेश का स्वागत किया है।

एचएसआई/इंडिया के सरकारी मामलों की संपर्क अधिकारी और इस मामले की याचिकाकर्ता गौरी मौलेखी ने उम्मीद जताई कि राज्य सरकार अदालत के आदेश को कड़ाई से लागू करेगी और मुर्गो की लड़ाई आयोजित करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करेगी।

पशु क्रूरता निवारण अधिनियम के तहत पशुओं को लड़ाई के लिए उकसाना और उनकी लड़ाई का आयोजन करना अपराध है।

साल 2014 में उच्च न्यायालय ने मुर्गो की लड़ाई पर प्रतिबंध लगाने का आदेश दिया था। इसको एक राजनीतिक नेता ने सर्वोच्च न्यायालय में चुनौती दी थी। गत साल शीर्ष अदालत ने यथास्थिति बनाए रखने का आदेश दिया और उच्च न्यायालय से मामले को फिर से शुरू करने और सभी पक्षों के तर्क सुनने के लिए कहा था।

सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता रघुराम कृष्णम राजू और दो अन्य लोगों ने दावा किया कि अदालत ने पारंपरिक खेल को हरी झंडी दे दी है। 

भाजपा नेता और अन्य लोगों का तर्क है कि मुर्गो की लड़ाई परंपरा और संस्कृति का हिस्सा है और इसके बिना त्योहार अपना महत्व खो देगा।

इस लड़ाई का आयोजन खुले मैदान में होता है और हर वर्ग के हजारों लोग इसे देखते हैं। इनमें नेता, व्यापारी, सेलेब्रिटी, सभी होते हैं।