Showing posts with label States. Show all posts
Showing posts with label States. Show all posts

Wednesday, January 18, 2017

बंगाल में बवाल, पुलिस की गोली से एक प्रदर्शनकारी की मौत

बंगाल में बवाल, पुलिस की गोली से एक प्रदर्शनकारी की मौत

bengal-news-protest-against-power-grid-project-one-shot-dead

कोलकाता, 17 जनवरी: पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले के भांगर ब्लॉक में प्रस्तावित विद्युत ग्रिड परियोजना के खिलाफ चल रहा विरोध प्रदर्शन मंगलवार को हिंसक रूप अख्तियार कर लिया। शाम को पुलिस और ग्रामीणों के बीच हुए संघर्ष में गोली लगने से एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई, जबकि दूसरा घायल हो गया है। राजनीतिक हिंसा के अपने इतिहास के लिए कुख्यात भांगर पिछले सप्ताह राज्य सरकार द्वारा 16 एकड़ कृषि भूमि जबरन अधिग्रहित किए जाने के बाद से उबल रहा है। यह कृषि भूमि भांगर-2 ब्लॉक के खमरैत, माछी भांगा, टोना और पदमपुकुर गांवों में फैली हुई है। यह जमीन पॉवर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (पीजीसीआईएल) के लिए अधिग्रहीत की गई है।

आक्रोशित प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ उस समय जमकर झड़प हुई, जब पुलिस ने पदमपुकुर गांव में घुसने की कोशिश की। कड़े प्रतिरोध के कारण पुलिस ने बल प्रयोग किया।

घायल प्रदर्शनकारी को ग्रामीणों ने अपने कब्जे में ले लिया और बाद में उसे कोलकाता के आरजी कर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में भर्ती कराया।

संघर्ष की स्थिति तब पैदा हुई, जब मंगलवार अपराह्न् त्वरित कार्रवाई बल की एक टुकड़ी के साथ बड़ी संख्या में पुलिस बल ने गांव में प्रवेश करने कोशिश की।

इसके बाद पुलिस वाहनों पर चारों तरफ से पथराव शुरू हो गया, जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए।

पुलिस ने कहा कि ग्रामीणों ने पुलिस के एक वाहन को जला दिया, जबकि दो अन्य पुलिस वाहन को एक तालाब में धकेल दिया।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया है कि भूमि मालिकों की सहमति के बगैर कोई भूमि अधिग्रहित नहीं की जाएगी, और जरूरत पड़ी तो भांगर में प्रस्तावित पॉवर ग्रिड अन्यत्र स्थानांतरित कर दिया जाएगा।

घटना के बाद बनर्जी ने ट्वीट किया, "यदि लोग जमीन नहीं देना चाहते तो भूमि अधिग्रहण नहीं होगा। यदि जरूरत पड़ी तो प्रस्तावित पॉवर ग्रिड कहीं और स्थानांतरित कर दिया जाएगा।"

इसके पहले पुलिस द्वारा सोमवार रात की गई कथित प्रताड़ना के विरोधस्वरूप लगभग 10000 ग्रामीण लाठी-डंडे के साथ जमा हो गए और उन्होंने गांव की ओर जाने वाले मार्ग को विभिन्न स्थानों पर पेड़ की शाखाएं गिराकर जाम कर दिया।

हथिराबंद ग्रामीणों ने निर्माणाधीन पॉवर ग्रिड के पास तैनात पुलिसकर्मियों को घेर लिया और उन्हें गांव से चले जाने को कहा। उसके बाद पुलिस ने इलाके पर नियंत्रण करने के लिए प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े।

प्रदर्शनकारियों ने त्वरित कार्रवाई बल (आरएएफ) और पुलिस पर ग्रामीणों को आतंकित करने और रात के अंधेरे में उनके घरों में घुसने का भी आरोप लगाया।

माछीभांगा गांव के एक निवासी ने कहा, "आरएएफ और पुलिस बेरहमी से हमें पीट रही है। वे हमें आतंकित करने की कोशिश कर रहे हैं। यहां तक कि महिलाओं और बच्चों तक को नहीं बख्शा जा रहा है। हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।"

भूमि अधिग्रहण विरोधी आंदोलन में एकजुट प्रदर्शनकारियों ने मांग की है कि राज्य के विद्युत मंत्री सोवनदेब चटर्जी भांगर आएं और पॉवर ग्रिड परियोजना रद्द किए जाने की घोषणा करें।

एक प्रदर्शनकारी ने कहा, "सरकार कह रही है कि हमारे गांव में पावर ग्रिड बनाने की योजना रद्द कर दी गई है, लेकिन निर्माण कार्य फिर क्यों जारी है? बिजली मंत्री को यहां आकर परियोजना रद्द किए जाने की घोषणा करनी होगी।"

राज्य के बिजली मंत्री चटर्जी ने हालांकि मंगलवार अपराह्न् कहा कि उन्होंने पावर ग्रिड का काम रोकने का आदेश दे दिया है और उन्होंने गांवों में बाहर के लोगों द्वारा हिंसा भड़काने का आरोप लगाया है। 

चटर्जी ने कहा, "पावर ग्रिड का निर्माण कार्य फिलहाल रोक दिया गया है। लेकिन ग्रामीणों का एक गुट अभी भी प्रदर्शन कर रहा है। ऐसा लगता है कि प्रदर्शनकारियों का कोई और मकसद है। वहां बाहरी लोग और अन्य राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता हैं, जो हिंसा भड़का रहे हैं।"

Tuesday, January 17, 2017

महत्वहीन हो चुके हैं सिद्धू इसलिए उनके कांग्रेस में जाने से हमें कोई फर्क नहीं पड़ेगा: केजरीवाल

महत्वहीन हो चुके हैं सिद्धू इसलिए उनके कांग्रेस में जाने से हमें कोई फर्क नहीं पड़ेगा: केजरीवाल

kejriwal-said-sidhu-lost-his-credibility-he-does-not-matter-to-us

चंडीगढ़, 17 जनवरी: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को इस आरोप को खारिज किया कि वह मतदाताओं से पंजाब और गोवा में अन्य पार्टियों से पैसा लेने लेकिन वोट आम आदमी पार्टी को देने का आग्रह कर रिश्वतखोरी को बढ़ावा दे रहे हैं। आम आदमी पार्टी (आप) नेता ने चंडीगढ़ में मीडिया से बातचीत में यह भी कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होने के फैसले से पंजाब विधानसभा चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

निर्वाचन आयोग ने केजरीवाल को एक नोटिस भेजकर जवाब देने को कहा है क्योंकि उन्होंने गोवा के मतदाताओं से अन्य राजनीतिक दलों से पैसे लेने, लेकिन वोट आप को देने को कहा था। भाजपा ने इस बारे में शिकायत दर्ज कराई थी।

केजरीवाल ने कहा कि 2015 दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले भी उन पर ऐसे ही आरोप लगाए गए थे, लेकिन अदालत ने उनके पक्ष में यह कहते हुए फैसला दिया था कि वह रिश्वतखोरी को बढ़ावा नहीं दे रहे हैं।

केजरीवाल ने साथ ही कहा कि सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होने से पंजाब चुनाव के नतीजों पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

कांग्रेस में शामिल होने से पहले सिद्धू के आप में शामिल होने के अनुमान लगाए गए थे।

आप नेता ने कहा, "सिद्धू अपना महत्व खो चुके हैं।"

केजरीवाल ने साथ ही दोहराया कि अकाली विरोधी वोट काटने और पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की मदद के लिए पंजाब कांग्रेस प्रमुख कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लांबी से चुनाव लड़ने का फैसला किया है। 

प्रकाश सिंह बादल लांबी से चुनाव लड़ रहे हैं।

उन्होंने कहा, "लांबी में हमारे उम्मीदवार जरनैल सिंह का प्रचार अभियान शानदार चल रहा था। इसलिए बादल ने अमरिंदर से लांबी से चुनाव लड़ने का आग्रह किया ताकि अकाली विरोधी वोट बंट जाएं।"

केजरीवाल ने कहा कि अकाली नेताओं को राजनीतिक रूप से ही हराना जरूरी नहीं है, बल्कि उन्हें उनके अपराधों की सजा देना भी जरूरी है।
‘कमजोर समाजवादी पार्टी’ ने ‘कुंठित कांग्रेस’ ने मिलाया हाथ इसलिए नहीं बनेगी बात: शाहनवाज हुसैन

‘कमजोर समाजवादी पार्टी’ ने ‘कुंठित कांग्रेस’ ने मिलाया हाथ इसलिए नहीं बनेगी बात: शाहनवाज हुसैन

shahnawaz-hussain-told-congress-desperate-samajwadi-party-weak

New Delhi, 17 January: उत्तर प्रदेश में बीजेपी की मजबूत स्थिति को देखते हुए समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने आपस में गठबंधन बनाने का फैसला किया है ताकि बीजेपी को चुनावों में हरा सकें और अखिलेश अपनी कुर्सी बचा सकें। गठबंधन पर बात बन चुकी है लेकिन अभी तक सीटों का बंटवारा नहीं हुआ है। 

बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कांग्रेस पहले ही बर्बाद हो चुकी है, हर जगह से समाप्त होती जा रही है, समाजवादी पार्टी खुद को ही कमजोर मानती है वरना गठबंधन की जरूरत ही नहीं पड़ती। उन्होंने कहा कि एक कुंठित और एक कमजोर पार्टी के गठबंधन से कोई बात नहीं बनेगी क्योंकि जनता इनकी मंशा को समझ रही है। 

उन्होंने कहा कि दो कमजोर पार्टियां कभी भी मजबूत गठबंधन नहीं बना पातीं वह भी जब सामने बीजेपी है। उन्होंने कहा कि इस वक्त उत्तर प्रदेश में बीजेपी की जो आंधी चल रही है उसके सामने कोई भी गठबंधन नहीं टिक सकता। 

उन्होंने कहा कि अखिलेश और मुलायम सिंह ने आपस में नौटंकी करके विकास के मुद्दे पर से जनता का ध्यान भटकाने की कोशिश की है लेकिन जनता चुनावों में अखिलेश की असफलता पर ही मुहर लगाएगी। जनता अब गुंडाराज और भ्रष्टाचार की सरकार को बर्दास्त करने वाली नहीं है। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पहले शीला दीक्षित को दिल्ली से मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाकर लाई और अब समाजवादी पार्टी के साथ मिल गयी, अब सवाल यह उठता है कि अब वे शीला दीक्षित को मुख्यमंत्री कैसे बनायेंगे, अब तो उन्हें 100 से अधिक सीटें भी लड़ने के लिए नहीं मिलेंगी। यह दर्शाता है कि कांग्रेस के पास कोई रणनीति नहीं है, उसे पता ही नहीं है कि क्या करना है। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस अब खँडहर हो चुकी है इसलिए उनके पास अकेले लड़ने की ताकत ही नहीं बची है। 
कांग्रेसी नेता की पंडित-जातिवादी राजनीति के खिलाफ इकठ्ठे हुए फरीदाबाद के सभी पार्षद: पढ़ें

कांग्रेसी नेता की पंडित-जातिवादी राजनीति के खिलाफ इकठ्ठे हुए फरीदाबाद के सभी पार्षद: पढ़ें

faridabad-bjp-parshad-unite-request-media-help-to-maintain-peace

Faridabad, 17 January: आपने देखा होगा कि कांग्रेस को लोकसभा चुनावों में हार नहीं पची, हरियाणा विधानसभा चुनावों में भी हार नहीं पची और जाट आन्दोलन के दौरान दंगों में कांग्रेस का हाथ पाया गया, अब फरीदाबाद नगर निगम चुनावों में भी कांग्रेस को अपनी हार नहीं पच रही है।

वार्ड 22 से बीजेपी उम्मीदवार बिल्लू पहलवान उर्फ़ जीतेन्द्र यादव ने कांग्रेसी नेता अवनेश शर्मा को 553 वोटों से हरा दिया, अवनेश शर्मा को अपनी हार नहीं पची तो उन्होंने कहा कि पंडितों के साथ अन्याय किया गया है, जान बूझकर उन्हें हराया गया है। चुनावों में धांधली हुए है, वैसे अगर चुनावों में धांधली हुई होती तो उन्हें 6000 के करीब वोट भी ना मिलते। 

अब अवनेश शर्मा ने फरीदाबाद के पंडितों को बीजेपी के खिलाफ भड़काना शुरू कर दिया है, हाल ही में ब्राह्मण महापंचायत बुलाई गयी, बीजेपी पार्षद बिल्लू ने आरोप लगाया कि अवनेश शर्मा के आदमियों ने उनके कई आदमियों की पिटाई भी कर दी है, खेडी पुल पार करते ही उनके आदमियों को पीटा जाता है, उनकी गाड़ियों पर पत्थर बरसाए जाते हैं। वे सभी पंडितों को बीजेपी के खिलाफ भड़का रहे हैं। हिंसा का रास्ता अपनाया जा रहा है, क्षेत्र में अशांति हो रही है। 

इस अशांति के खिलाफ आज बीजेपी और निर्दलीय पार्षद इकठ्ठे हुए और मीडिया से क्षेत्र में शान्ति बनाए रखने और सच दिखाने की अपील की।

बीजेपी पार्षद धनेश अधलखा ने कहा कि चुनाव हो गया, जिसे जीतना था वह जीत गया और जिसे हारना था वह हार गया, बीजेपी भी 11 वार्डों में हारी है लेकिन हमने कहीं भी ना तो फिर से काउंटिंग कराई और ना ही बवाल किया, लेकिन कांग्रेसी नेता अपनी हार को पचा नहीं पाया और कहा कि पंडितों के साथ अन्याय किया गया है, अब वह जातिवादी राजनीति खेल रहा है।

उन्होंने यह भी कहा कि चुनाव में हार के बाद उम्मीदवार को समझना चाहिए कि जनता ने उसे नकार दिया जबकि जीतने वाले को जनता की सेवा करनी चाहिए, बीजेपी इसी फ़ॉर्मूले पर चलती है, हम क्षेत्र में शांति चाहते हैं लेकिन अवनेश शर्मा कांग्रेस पार्टी की शह पर इसे जातिवाद का रंग दे रहे हैं जो कि पूरी तरह से गलत है।

इस अवसर पर वार्ड 26 से पार्षद अजय बैसला ने कहा कि बीजेपी सरकार में सुशासन होता है, अवनेश शर्मा ने कानून अपने हाथ में लिया है, उन्होंने तोड़ फोड़ की है और पुलिस वालों के साथ भी हाथापाई की है इसलिए उनपर कानूनी कार्यवाही होनी तय है, उन्हें कानून से बचाने के लिए ही इसे जातिवाद का रंग दिया गया है।


बीजेपी की आंधी से इतना डर गए हैं कि लालू यादव ने ‘UP चुनाव’ को बताया ‘देश का चुनाव’

बीजेपी की आंधी से इतना डर गए हैं कि लालू यादव ने ‘UP चुनाव’ को बताया ‘देश का चुनाव’

up-election-2017-lalu-yadav-told-its-country-election-not-up

Patna, 17 January: वैसे तो सभी विरोधी नेता उत्तर प्रदेश में मोदी और बीजेपी लहर से इनकार करते हैं लेकिन वे अन्दर ही अन्दर घबराएं हुए हैं, उनके अन्दर खलबली मची हुई है, लालू प्रसाद भले ही बिहार के नेता हैं लेकिन मुलायम सिंह के समधी होने के नाते वे भी उत्तर प्रदेश के चुनावों में नजर रखे हुए हैं, वे बीजेपी लहर से इस कदर घबरा गए हैं कि अनाप शनाप बयान दे रहे हैं। 

कल उन्होने कहा कि अखिलेश को साइकिल मिल गयी और बीजेपी वाले हाथ मलते रह गए, सच्चाई यह थी कि मुलायम सिंह को साइकल नहीं मिली और हाथ भी वही मल रहे हैं, अखिलेश सिंह के खिलाफ मुलायम सिंह चुनाव आयोग गए थे ना कि बीजेपी वाले। 

लालू यादव यहीं पर नहीं रुके, उन्होंने मुलायम सिंह यादव से अपील करते हुए कहा कि वे अखिलेश यादव को अपने आशीर्वाद दें क्योंकि यह देश का चुनाव हो रहा है ना कि सिर्फ यूपी का। अब आप ही बताइये क्या यह देश का चुनाव है, चुनाव तो उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने के लिए हो रहा है। 

लालू यादव को धरती खिसकती दिख रही है, इस वक्त उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनावों से भी तेज मोदी लहर है, देश में कहीं भी चुनाव हों, बीजेपी की जीत हो रही है, नोटबंदी के कदम के समर्थन के रूप में जनता बीजेपी को वोट दे रही है। लालू को पता है कि अगर बीजेपी ने उत्तर प्रदेश जीत लिया तो समझो पूरा देश जीत लिया। इसीलिए वे कह रहे हैं यह यूपी का नहीं देश का चुनाव है।