Showing posts with label States. Show all posts
Showing posts with label States. Show all posts

Wednesday, January 18, 2017

बंगाल में बवाल, पुलिस की गोली से एक प्रदर्शनकारी की मौत

बंगाल में बवाल, पुलिस की गोली से एक प्रदर्शनकारी की मौत

bengal-news-protest-against-power-grid-project-one-shot-dead

कोलकाता, 17 जनवरी: पश्चिम बंगाल के दक्षिण 24 परगना जिले के भांगर ब्लॉक में प्रस्तावित विद्युत ग्रिड परियोजना के खिलाफ चल रहा विरोध प्रदर्शन मंगलवार को हिंसक रूप अख्तियार कर लिया। शाम को पुलिस और ग्रामीणों के बीच हुए संघर्ष में गोली लगने से एक प्रदर्शनकारी की मौत हो गई, जबकि दूसरा घायल हो गया है। राजनीतिक हिंसा के अपने इतिहास के लिए कुख्यात भांगर पिछले सप्ताह राज्य सरकार द्वारा 16 एकड़ कृषि भूमि जबरन अधिग्रहित किए जाने के बाद से उबल रहा है। यह कृषि भूमि भांगर-2 ब्लॉक के खमरैत, माछी भांगा, टोना और पदमपुकुर गांवों में फैली हुई है। यह जमीन पॉवर ग्रिड कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड (पीजीसीआईएल) के लिए अधिग्रहीत की गई है।

आक्रोशित प्रदर्शनकारियों की पुलिस के साथ उस समय जमकर झड़प हुई, जब पुलिस ने पदमपुकुर गांव में घुसने की कोशिश की। कड़े प्रतिरोध के कारण पुलिस ने बल प्रयोग किया।

घायल प्रदर्शनकारी को ग्रामीणों ने अपने कब्जे में ले लिया और बाद में उसे कोलकाता के आरजी कर मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल में भर्ती कराया।

संघर्ष की स्थिति तब पैदा हुई, जब मंगलवार अपराह्न् त्वरित कार्रवाई बल की एक टुकड़ी के साथ बड़ी संख्या में पुलिस बल ने गांव में प्रवेश करने कोशिश की।

इसके बाद पुलिस वाहनों पर चारों तरफ से पथराव शुरू हो गया, जिसमें कई पुलिसकर्मी घायल हो गए।

पुलिस ने कहा कि ग्रामीणों ने पुलिस के एक वाहन को जला दिया, जबकि दो अन्य पुलिस वाहन को एक तालाब में धकेल दिया।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया है कि भूमि मालिकों की सहमति के बगैर कोई भूमि अधिग्रहित नहीं की जाएगी, और जरूरत पड़ी तो भांगर में प्रस्तावित पॉवर ग्रिड अन्यत्र स्थानांतरित कर दिया जाएगा।

घटना के बाद बनर्जी ने ट्वीट किया, "यदि लोग जमीन नहीं देना चाहते तो भूमि अधिग्रहण नहीं होगा। यदि जरूरत पड़ी तो प्रस्तावित पॉवर ग्रिड कहीं और स्थानांतरित कर दिया जाएगा।"

इसके पहले पुलिस द्वारा सोमवार रात की गई कथित प्रताड़ना के विरोधस्वरूप लगभग 10000 ग्रामीण लाठी-डंडे के साथ जमा हो गए और उन्होंने गांव की ओर जाने वाले मार्ग को विभिन्न स्थानों पर पेड़ की शाखाएं गिराकर जाम कर दिया।

हथिराबंद ग्रामीणों ने निर्माणाधीन पॉवर ग्रिड के पास तैनात पुलिसकर्मियों को घेर लिया और उन्हें गांव से चले जाने को कहा। उसके बाद पुलिस ने इलाके पर नियंत्रण करने के लिए प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े।

प्रदर्शनकारियों ने त्वरित कार्रवाई बल (आरएएफ) और पुलिस पर ग्रामीणों को आतंकित करने और रात के अंधेरे में उनके घरों में घुसने का भी आरोप लगाया।

माछीभांगा गांव के एक निवासी ने कहा, "आरएएफ और पुलिस बेरहमी से हमें पीट रही है। वे हमें आतंकित करने की कोशिश कर रहे हैं। यहां तक कि महिलाओं और बच्चों तक को नहीं बख्शा जा रहा है। हम इसे बर्दाश्त नहीं करेंगे।"

भूमि अधिग्रहण विरोधी आंदोलन में एकजुट प्रदर्शनकारियों ने मांग की है कि राज्य के विद्युत मंत्री सोवनदेब चटर्जी भांगर आएं और पॉवर ग्रिड परियोजना रद्द किए जाने की घोषणा करें।

एक प्रदर्शनकारी ने कहा, "सरकार कह रही है कि हमारे गांव में पावर ग्रिड बनाने की योजना रद्द कर दी गई है, लेकिन निर्माण कार्य फिर क्यों जारी है? बिजली मंत्री को यहां आकर परियोजना रद्द किए जाने की घोषणा करनी होगी।"

राज्य के बिजली मंत्री चटर्जी ने हालांकि मंगलवार अपराह्न् कहा कि उन्होंने पावर ग्रिड का काम रोकने का आदेश दे दिया है और उन्होंने गांवों में बाहर के लोगों द्वारा हिंसा भड़काने का आरोप लगाया है। 

चटर्जी ने कहा, "पावर ग्रिड का निर्माण कार्य फिलहाल रोक दिया गया है। लेकिन ग्रामीणों का एक गुट अभी भी प्रदर्शन कर रहा है। ऐसा लगता है कि प्रदर्शनकारियों का कोई और मकसद है। वहां बाहरी लोग और अन्य राजनीतिक दलों के कार्यकर्ता हैं, जो हिंसा भड़का रहे हैं।"

Tuesday, January 17, 2017

महत्वहीन हो चुके हैं सिद्धू इसलिए उनके कांग्रेस में जाने से हमें कोई फर्क नहीं पड़ेगा: केजरीवाल

महत्वहीन हो चुके हैं सिद्धू इसलिए उनके कांग्रेस में जाने से हमें कोई फर्क नहीं पड़ेगा: केजरीवाल

kejriwal-said-sidhu-lost-his-credibility-he-does-not-matter-to-us

चंडीगढ़, 17 जनवरी: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को इस आरोप को खारिज किया कि वह मतदाताओं से पंजाब और गोवा में अन्य पार्टियों से पैसा लेने लेकिन वोट आम आदमी पार्टी को देने का आग्रह कर रिश्वतखोरी को बढ़ावा दे रहे हैं। आम आदमी पार्टी (आप) नेता ने चंडीगढ़ में मीडिया से बातचीत में यह भी कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होने के फैसले से पंजाब विधानसभा चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

निर्वाचन आयोग ने केजरीवाल को एक नोटिस भेजकर जवाब देने को कहा है क्योंकि उन्होंने गोवा के मतदाताओं से अन्य राजनीतिक दलों से पैसे लेने, लेकिन वोट आप को देने को कहा था। भाजपा ने इस बारे में शिकायत दर्ज कराई थी।

केजरीवाल ने कहा कि 2015 दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले भी उन पर ऐसे ही आरोप लगाए गए थे, लेकिन अदालत ने उनके पक्ष में यह कहते हुए फैसला दिया था कि वह रिश्वतखोरी को बढ़ावा नहीं दे रहे हैं।

केजरीवाल ने साथ ही कहा कि सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होने से पंजाब चुनाव के नतीजों पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

कांग्रेस में शामिल होने से पहले सिद्धू के आप में शामिल होने के अनुमान लगाए गए थे।

आप नेता ने कहा, "सिद्धू अपना महत्व खो चुके हैं।"

केजरीवाल ने साथ ही दोहराया कि अकाली विरोधी वोट काटने और पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की मदद के लिए पंजाब कांग्रेस प्रमुख कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लांबी से चुनाव लड़ने का फैसला किया है। 

प्रकाश सिंह बादल लांबी से चुनाव लड़ रहे हैं।

उन्होंने कहा, "लांबी में हमारे उम्मीदवार जरनैल सिंह का प्रचार अभियान शानदार चल रहा था। इसलिए बादल ने अमरिंदर से लांबी से चुनाव लड़ने का आग्रह किया ताकि अकाली विरोधी वोट बंट जाएं।"

केजरीवाल ने कहा कि अकाली नेताओं को राजनीतिक रूप से ही हराना जरूरी नहीं है, बल्कि उन्हें उनके अपराधों की सजा देना भी जरूरी है।
‘कमजोर समाजवादी पार्टी’ ने ‘कुंठित कांग्रेस’ ने मिलाया हाथ इसलिए नहीं बनेगी बात: शाहनवाज हुसैन

‘कमजोर समाजवादी पार्टी’ ने ‘कुंठित कांग्रेस’ ने मिलाया हाथ इसलिए नहीं बनेगी बात: शाहनवाज हुसैन

shahnawaz-hussain-told-congress-desperate-samajwadi-party-weak

New Delhi, 17 January: उत्तर प्रदेश में बीजेपी की मजबूत स्थिति को देखते हुए समाजवादी पार्टी और कांग्रेस ने आपस में गठबंधन बनाने का फैसला किया है ताकि बीजेपी को चुनावों में हरा सकें और अखिलेश अपनी कुर्सी बचा सकें। गठबंधन पर बात बन चुकी है लेकिन अभी तक सीटों का बंटवारा नहीं हुआ है। 

बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन ने इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि कांग्रेस पहले ही बर्बाद हो चुकी है, हर जगह से समाप्त होती जा रही है, समाजवादी पार्टी खुद को ही कमजोर मानती है वरना गठबंधन की जरूरत ही नहीं पड़ती। उन्होंने कहा कि एक कुंठित और एक कमजोर पार्टी के गठबंधन से कोई बात नहीं बनेगी क्योंकि जनता इनकी मंशा को समझ रही है। 

उन्होंने कहा कि दो कमजोर पार्टियां कभी भी मजबूत गठबंधन नहीं बना पातीं वह भी जब सामने बीजेपी है। उन्होंने कहा कि इस वक्त उत्तर प्रदेश में बीजेपी की जो आंधी चल रही है उसके सामने कोई भी गठबंधन नहीं टिक सकता। 

उन्होंने कहा कि अखिलेश और मुलायम सिंह ने आपस में नौटंकी करके विकास के मुद्दे पर से जनता का ध्यान भटकाने की कोशिश की है लेकिन जनता चुनावों में अखिलेश की असफलता पर ही मुहर लगाएगी। जनता अब गुंडाराज और भ्रष्टाचार की सरकार को बर्दास्त करने वाली नहीं है। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पहले शीला दीक्षित को दिल्ली से मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाकर लाई और अब समाजवादी पार्टी के साथ मिल गयी, अब सवाल यह उठता है कि अब वे शीला दीक्षित को मुख्यमंत्री कैसे बनायेंगे, अब तो उन्हें 100 से अधिक सीटें भी लड़ने के लिए नहीं मिलेंगी। यह दर्शाता है कि कांग्रेस के पास कोई रणनीति नहीं है, उसे पता ही नहीं है कि क्या करना है। 

उन्होंने कहा कि कांग्रेस अब खँडहर हो चुकी है इसलिए उनके पास अकेले लड़ने की ताकत ही नहीं बची है। 
कांग्रेसी नेता की पंडित-जातिवादी राजनीति के खिलाफ इकठ्ठे हुए फरीदाबाद के सभी पार्षद: पढ़ें

कांग्रेसी नेता की पंडित-जातिवादी राजनीति के खिलाफ इकठ्ठे हुए फरीदाबाद के सभी पार्षद: पढ़ें

faridabad-bjp-parshad-unite-request-media-help-to-maintain-peace

Faridabad, 17 January: आपने देखा होगा कि कांग्रेस को लोकसभा चुनावों में हार नहीं पची, हरियाणा विधानसभा चुनावों में भी हार नहीं पची और जाट आन्दोलन के दौरान दंगों में कांग्रेस का हाथ पाया गया, अब फरीदाबाद नगर निगम चुनावों में भी कांग्रेस को अपनी हार नहीं पच रही है।

वार्ड 22 से बीजेपी उम्मीदवार बिल्लू पहलवान उर्फ़ जीतेन्द्र यादव ने कांग्रेसी नेता अवनेश शर्मा को 553 वोटों से हरा दिया, अवनेश शर्मा को अपनी हार नहीं पची तो उन्होंने कहा कि पंडितों के साथ अन्याय किया गया है, जान बूझकर उन्हें हराया गया है। चुनावों में धांधली हुए है, वैसे अगर चुनावों में धांधली हुई होती तो उन्हें 6000 के करीब वोट भी ना मिलते। 

अब अवनेश शर्मा ने फरीदाबाद के पंडितों को बीजेपी के खिलाफ भड़काना शुरू कर दिया है, हाल ही में ब्राह्मण महापंचायत बुलाई गयी, बीजेपी पार्षद बिल्लू ने आरोप लगाया कि अवनेश शर्मा के आदमियों ने उनके कई आदमियों की पिटाई भी कर दी है, खेडी पुल पार करते ही उनके आदमियों को पीटा जाता है, उनकी गाड़ियों पर पत्थर बरसाए जाते हैं। वे सभी पंडितों को बीजेपी के खिलाफ भड़का रहे हैं। हिंसा का रास्ता अपनाया जा रहा है, क्षेत्र में अशांति हो रही है। 

इस अशांति के खिलाफ आज बीजेपी और निर्दलीय पार्षद इकठ्ठे हुए और मीडिया से क्षेत्र में शान्ति बनाए रखने और सच दिखाने की अपील की।

बीजेपी पार्षद धनेश अधलखा ने कहा कि चुनाव हो गया, जिसे जीतना था वह जीत गया और जिसे हारना था वह हार गया, बीजेपी भी 11 वार्डों में हारी है लेकिन हमने कहीं भी ना तो फिर से काउंटिंग कराई और ना ही बवाल किया, लेकिन कांग्रेसी नेता अपनी हार को पचा नहीं पाया और कहा कि पंडितों के साथ अन्याय किया गया है, अब वह जातिवादी राजनीति खेल रहा है।

उन्होंने यह भी कहा कि चुनाव में हार के बाद उम्मीदवार को समझना चाहिए कि जनता ने उसे नकार दिया जबकि जीतने वाले को जनता की सेवा करनी चाहिए, बीजेपी इसी फ़ॉर्मूले पर चलती है, हम क्षेत्र में शांति चाहते हैं लेकिन अवनेश शर्मा कांग्रेस पार्टी की शह पर इसे जातिवाद का रंग दे रहे हैं जो कि पूरी तरह से गलत है।

इस अवसर पर वार्ड 26 से पार्षद अजय बैसला ने कहा कि बीजेपी सरकार में सुशासन होता है, अवनेश शर्मा ने कानून अपने हाथ में लिया है, उन्होंने तोड़ फोड़ की है और पुलिस वालों के साथ भी हाथापाई की है इसलिए उनपर कानूनी कार्यवाही होनी तय है, उन्हें कानून से बचाने के लिए ही इसे जातिवाद का रंग दिया गया है।


बीजेपी की आंधी से इतना डर गए हैं कि लालू यादव ने ‘UP चुनाव’ को बताया ‘देश का चुनाव’

बीजेपी की आंधी से इतना डर गए हैं कि लालू यादव ने ‘UP चुनाव’ को बताया ‘देश का चुनाव’

up-election-2017-lalu-yadav-told-its-country-election-not-up

Patna, 17 January: वैसे तो सभी विरोधी नेता उत्तर प्रदेश में मोदी और बीजेपी लहर से इनकार करते हैं लेकिन वे अन्दर ही अन्दर घबराएं हुए हैं, उनके अन्दर खलबली मची हुई है, लालू प्रसाद भले ही बिहार के नेता हैं लेकिन मुलायम सिंह के समधी होने के नाते वे भी उत्तर प्रदेश के चुनावों में नजर रखे हुए हैं, वे बीजेपी लहर से इस कदर घबरा गए हैं कि अनाप शनाप बयान दे रहे हैं। 

कल उन्होने कहा कि अखिलेश को साइकिल मिल गयी और बीजेपी वाले हाथ मलते रह गए, सच्चाई यह थी कि मुलायम सिंह को साइकल नहीं मिली और हाथ भी वही मल रहे हैं, अखिलेश सिंह के खिलाफ मुलायम सिंह चुनाव आयोग गए थे ना कि बीजेपी वाले। 

लालू यादव यहीं पर नहीं रुके, उन्होंने मुलायम सिंह यादव से अपील करते हुए कहा कि वे अखिलेश यादव को अपने आशीर्वाद दें क्योंकि यह देश का चुनाव हो रहा है ना कि सिर्फ यूपी का। अब आप ही बताइये क्या यह देश का चुनाव है, चुनाव तो उत्तर प्रदेश में सरकार बनाने के लिए हो रहा है। 

लालू यादव को धरती खिसकती दिख रही है, इस वक्त उत्तर प्रदेश में लोकसभा चुनावों से भी तेज मोदी लहर है, देश में कहीं भी चुनाव हों, बीजेपी की जीत हो रही है, नोटबंदी के कदम के समर्थन के रूप में जनता बीजेपी को वोट दे रही है। लालू को पता है कि अगर बीजेपी ने उत्तर प्रदेश जीत लिया तो समझो पूरा देश जीत लिया। इसीलिए वे कह रहे हैं यह यूपी का नहीं देश का चुनाव है। 
BJP से पराजय के डर से आपस में गठबंधन बनायेंगे समाजवादी पार्टी और कांग्रेस

BJP से पराजय के डर से आपस में गठबंधन बनायेंगे समाजवादी पार्टी और कांग्रेस


नई दिल्ली, 17 जनवरी: ऐसा लगता है कि समाजवादी पार्टी के मालिक अखिलेश यादव को यूपी चुनावों में अपने हार दिख रही है इसलिए उन्होंने अपनी कुर्सी बचाने के लिए कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव लड़ने का फैसला किया है, गठबंधन की प्रक्रिया पूरी हो चुकी है और अब केवल सीटों के बंटवारे पर बात चल रही है।

कांग्रेस पार्टी ने मंगलवार को कहा कि वह उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में अखिलेश यादव के नेतृत्व वाली समाजवादी पार्टी (सपा) के साथ गठबंधन करेगी। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने संवाददाताओं से कहा, "उत्तर प्रदेश में अगली सरकार कांग्रेस, समाजवादी पार्टी का गठबंधन ही बनाएगा।"

आजाद ने कहा कि गठबंधन के महत्वपूर्ण पहुलओं विशेष रूप से सीटों के बंटवारे को लेकर विचार चल रहा है।

हालांकि, उन्होंने बिहार की तरह महागठबंधन के गठन की संभावना पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया।
इस्तीफ़ा देने की ख़बरों को विजय सांपला ने बताया झूठ, बोले 'पार्टी के लिए मिशन पर लगा हूँ'

इस्तीफ़ा देने की ख़बरों को विजय सांपला ने बताया झूठ, बोले 'पार्टी के लिए मिशन पर लगा हूँ'

panjab-bjp-president-vijay-sampla-not-resigned-fake-news

Amritsar, 17 January: पंजाब के बीजेपी अध्यक्ष विजय सांपला ने इस्तीफ़ा देने की ख़बरों को बेबुनियाद और झूठा बताया है, उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि मैंने कभी भी इस्तीफ़ा देने की बात नहीं की, मै तो पार्टी का सिपाही हूँ और पार्टी के ही मिशन में लगा हुआ हूँ, इसलिए मै आज दिल्ली आया था लेकिन खबर आने लगी कि इस्तीफ़ा देने के लिए यहाँ पर आया हूँ। यह ख़बरें निराधार हैं।

इससे पहले खबर आई थी कि विजय सांपला पंजाब की फगवाडा सीट से अपनी पसंद का उम्मीदवार खड़ा करना चाहते थे लकिन उनकी बात को दरकिनार कर दिया गया, इसलिए उन्होंने अध्यक्ष पद छोड़ने का फैसला किया, उन्होने कहा कि पार्टी के स्टेट प्रेसिडेंट होने के बावजूद भी उनकी बात नहीं मानी गयी इसलिए इस पद पर बने रहने में कोई कारण नहीं है।

विजय सांपला पंजाब सरकार में सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण राज्य मंत्री भी हैं, उन्होंने मंत्री पद से भी इस्तीफ़ा देने का मन बनाया है। 

फगवाडा से बीजेपी ने सोम प्रकाश को उम्मीदवार बनाया है, यहाँ से विजय सांपला अपनी पसंद का उम्मीदवार खड़ा करना चाहते थे लकिन उनकी बात मानी ही नहीं गयी। 

जानकारी के लिए बता दें कि पंजाब में बीजेपी और अकाली दल मिलकर चुनाव लड़ते हैं, 117 सीटों में बीजेपी से केवल 23 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं।
लालू यादव ने मुलायम को भी बता दिया भाजपाई: पढ़ें

लालू यादव ने मुलायम को भी बता दिया भाजपाई: पढ़ें

lalu-yadav-told-mulayam-singh-bjp-man-after-akhilesh-win-cycle

Patna, 17 January: लालू यादव ने कल मुलायम सिंह को भी भाजपाई बता दिया। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग ने साइकिल चुनाव निशान अखिलेश को दे दिया और भाजपाई हाथ मलते रह गए। अब आप ही सोचिये, अखिलेश के खिलाफ चुनाव आयोग बीजेपी वाले गए थे या मुलायम सिंह गए थे। आपका उत्तर होगा - मुलायम सिंह गए थे। अगर अखिलेश के खिलाफ मुलायम सिंह चुनाव आयोग गए थे तो हार किसे मिली। अगर हार मुलायम सिंह को मिली तो बीजेपी वाले कैसे हाथ मलते रह गए। हाथ मलते रह गए मुलायम सिंह। 

जाहिर है कि लालू यादव जैसे नेता बीजेपी की हवा से इस कदर बौखलाये हुए हैं कि कुछ भी बोल देते हैं, झगडा हो रहा है पिता और पुत्र में लेकिन लालू यादव इसे बीजेपी की हार बता रहे हैं। 

अगर लालू यादव की बात पर भरोसा करें तो मुलायम सिंह, शिवपाल यादव और अमर सिंह भाजपाई हैं क्योंकि यही लोग अखिलेश के खिलाफ चुनाव आयोग गए थे, इन्हीं लोगों को साइकिल से हाथ धोना पड़ा और यही लोग हाथ मलते रह गए। 
विजय सांपला ने छोड़ा पंजाब BJP अध्यक्ष का पद, बोले, मेरी कोई बात ही नहीं मानता, क्या फायदा

विजय सांपला ने छोड़ा पंजाब BJP अध्यक्ष का पद, बोले, मेरी कोई बात ही नहीं मानता, क्या फायदा

panjab-bjp-president-resign-displeased-over-ticket-allocation

Amritsar, 17 January: पंजाब में बीजेपी की वैसे भी सीटें कम हैं अब जो हैं वे भी बीजेपी छोड़कर जा रहे हैं, आज पंजाब के बीजेपी अध्यक्ष विजय सांपला ने भी अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दे दिया उन्होंने मंत्री पद छोड़ने की भी पेशकश की है हालाँकि अभी तक उनका इस्तीफ़ा मंजूर नहीं किया गया है, अमित शाह ने उन्हें मिलने के लिए बुलाया है, एक बार उन्हें फिर से मनाने की कोशिश की जाएगी। 

खबर है कि विजय सांपला पंजाब की फगवाडा सीट से अपनी पसंद का उम्मीदवार खड़ा करना चाहते थे लकिन उनकी बात को दरकिनार कर दिया गया, इसलिए उन्होंने अध्यक्ष पद छोड़ने का फैसला किया, उन्होने कहा कि पार्टी के स्टेट प्रेसिडेंट होने के बावजूद भी उनकी बात नहीं मानी गयी इसलिए इस पद पर बने रहने में कोई कारण नहीं है।

विजय सांपला पंजाब सरकार में सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण राज्य मंत्री भी हैं, उन्होंने मंत्री पद से भी इस्तीफ़ा देने का मन बनाया है। 

फगवाडा से बीजेपी ने सोम प्रकाश को उम्मीदवार बनाया है, यहाँ से विजय सांपला अपनी पसंद का उम्मीदवार खड़ा करना चाहते थे लकिन उनकी बात मानी ही नहीं गयी। 

जानकारी के लिए बता दें कि पंजाब में बीजेपी और अकाली दल मिलकर चुनाव लड़ते हैं, 117 सीटों में बीजेपी से केवल 23 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं।
मुलायम हुए बेकार, अखिलेश साईकिल के असली हकदार: ममता बनर्जी

मुलायम हुए बेकार, अखिलेश साईकिल के असली हकदार: ममता बनर्जी

mamata-banerjee-akhilesh-yadav-deserve-cycle-symbol

कोलकाता, 17 जनवरी: अब सभी नेताओं के लिए मुलायम सिंह बेकार हो चुके हैं, एक समय था कि समाजवादी पार्टी में मुलायम सिंह की तूती बोलती थी लेकिन अब वे किसी के लिए भी मायने नहीं रखते, उन्होंने अपने बेटे अखिलेश यादव के खिलाफ चुनाव आयोग में साइकिल चुनाव चिन्ह के लिए याचिका डाली थी लेकिन उन्हें हार मिली, साइकिल अखिलेश झटक ले गए। 

मुलायम की हार के बाद उनके साथ भारत का कोई भी नेता खड़ा नहीं हुआ है, सभी लोग अखिलेश को ही साइकिल का असली हकदार बता रहे हैं जबकि असलियत यह है कि उन्होंने अपने पिता से जबरन राष्ट्रीय अध्यक्ष का पद छीना है। 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव को बधाई दी और कहा कि वह समाजवादी पार्टी के चुनाव चिह्न 'साइकिल' के वास्तविक हकदार थे। गौरतलब है कि प्रत्याशियों के चयन को लेकर चल रहे अंतर्कलह के चलते सपा में दो गुट बंट चुके हैं। एक गुट मुख्यमंत्री अखिलेश के पक्ष में है तो दूसरा गुट उनके पिता और पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव के पक्ष में।

दोनों गुटों के बीच पार्टी के चुनाव चिह्न 'साइकिल' को लेकर भी विवाद खड़ा हो गया था, जिसे निर्वाचन आयोग ने सोमवार को खत्म कर दिया।

निर्वाचन आयोग ने अखिलेश को सपा का राष्ट्रीय अध्यक्ष स्वीकार किया और चुनाव चिह्न 'साइकिल' पर भी अखिलेश गुट का अधिकार स्वीकार किया।

ममता ने इसी घटनाक्रम पर सोमवार को ट्वीट किया, "सपा का चुनाव चिह्न पाने पर अखिलेश को बधाई। आप इसके हकदार थे।"

उल्लेखनीय है कि उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव में एक महीने से भी कम समय रह गया है। 11 फरवरी से शुरू होने वाला आगामी विधानसभा चुनाव सात चरणों में आठ मार्च को खत्म होगा।
UP में तलाशी के दौरान पुलिस ने पकडे 5 करोड़ रुपये

UP में तलाशी के दौरान पुलिस ने पकडे 5 करोड़ रुपये

up-police-find-5-crore-rs-new-note-during-search-operation

हमीरपुर, 17 जनवरी: उत्तर प्रदेश के हमीरपुर जिले में वाहनों की चेकिंग के दौरान पुलिस ने 4 करोड़ 97 लाख रुपये बरामद किए है। पुलिस ने नए नोटों की गड्डियों को कब्जे में लेकर जांच-पड़ताल शुरू कर दी है और मामले की जानकारी आयकर विभाग को दी है। बताया जा रहा है कि करोड़ों की नकदी इलाहाबाद बैंक के मंडलीय कार्यालय की है, जिसे मौदहा, बांदा व महोबा में बैंक के ब्रांचों में भेजा जा रहा था। इस कार्रवाई से बैंक के अधिकारियों में हड़कंप मचा हुआ है।

इलाहाबाद बैंक हमीरपुर की मेन ब्रांच से 2.73 करोड़ रुपये महिंद्रा जीप नंबर यूपी.78डीयू-7983 में बक्सों में रखा गया था। इस जीप में चालक के अलावा बैंककर्मी व एक सुरक्षा गार्ड भी बैठा था। गाड़ी हमीरपुर स्थित रानी लक्ष्मीबाई तिराहे की ओर चली थी, तभी सदर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक पीके सिंह टीम के साथ इस जीप की चेकिंग की तो करोड़ों रुपये देखकर उनके होश उड़ गए। 

कैश सहित जीप को कोतवाली लाया गया और कैश से भरे दोनों बक्से कब्जे में लेकर छानबीन शुरू कर दी है। सीओ सदर योगेश कुमार भी मौके पर पहुंच गए हैं। 

उन्होंने आयकर विभाग को मामले की जानकारी देकर उनके अफसर को बुलाया है। उधर, सुमेरपुर पुलिस ने कानपुर से सुमेरपुर जा रही इलाहाबाद यूपी ग्रामीण बैंक की गाड़ी क्रमांक यूपी.32जीडी-9777 की चेकिंग की। चेकिंग में 2.24 करोड़ की नकदी बरामद कर इसकी जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

बैंक मैनेजर पी.के. सिंह ने कहा कि कैश बैंक का है। विधानसभा चुनाव को लेकर पुलिस व स्टेटिक मैजिस्ट्रेट की चेकिंग में पांच सौ व दो हजार रुपये की नई करेंसी बरामद हुई है। 

हमीरपुर के सीओ योगेश कुमार ने बताया कि स्टेटिक मैजिस्ट्रेट ने पुलिस के साथ चेकिंग में नई करेंसी के 2.73 करोड़ कैश बरामद किया है। सुमेरपुर कस्बे में भी 2.24 करोड़ रुपये कैश चेकिंग के दौरान गाड़ी से बरामद किए गए हैं। दोनों मामले की जांच कराई जा रही है। 

सीओ ने कहा कि दोनों स्थानों पर बरामद कैश की जांच के लिए आयकर विभाग को जानकारी दे दी गई है। 

इलाहाबाद बैंक के एजीएम एसएस गुप्ता ने कहा, "यह पैसा पुलिस के पिता का नहीं है जिसे कब्जे में ले लिया है। बंैक का कैश है।"

उनका कहना है कि बैंकों को यह पैसा भिजवाया जा रहा था। यदि इसी तरह से पुलिस और टीम परेशान करेगी तो कल से महोबा, बांदा व हमीरपुर की ब्रांच बंद हो जाएंगी।

Monday, January 16, 2017

आप धन्य हो नवजोत सिद्धू, पहले राहुल गाँधी को पप्पू कहा, आज बना लिया अपना हाई कमान, ठोंको ताली

आप धन्य हो नवजोत सिद्धू, पहले राहुल गाँधी को पप्पू कहा, आज बना लिया अपना हाई कमान, ठोंको ताली

navjot-singh-sidhu-make-indian-politics-suspicion-join-congress

New Delhi, 16 January: नवजोत सिंह सिद्धू ने भारतीय राजनीति में अविश्वास का एक नया माहौल तैयार किया है, उन्होने कांग्रेस में शामिल होकर यह साबित कर दिया है कि राजनीति में कुछ भी असंभव नहीं है और राजनेताओं की बातों का कभी भी विश्वास नहीं करना चाहिए। आपको पता होगा कि दो वर्ष के पहले हमारे देश के युवा राजनीति को इतना गन्दा मानते थे कि सभी नेताओं को एक ही तराजू में तौलते थे लेकिन धीरे धीरे उनका विश्वास राजनीति पर बढ़ गया और हमारे देश के युवा भी राजनीति में इंटरेस्ट लेने लगे लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू ने एकाएक कांग्रेस में शामिल होकर अविश्वास के माहौल को फिर से नया कर दिया। 

ये वही सिद्धू हैं जो कुछ समय पहले कहते थे कांग्रेस चोरों की बरात है, आज खुद कांग्रेसी बन गए मतलब चोरों की बारात में खुद शामिल हो गए। 

ये वही सिद्धू हैं जो मनमोहन सिंह को ना तो सरदार और ना ही असरदार कहते थे, मनमोहन सिंह असरदार क्यों हुए यह बात दुनिया जानती है, उनका रिमोट कंट्रोल किसके हाथ में था यह बात सभी जानते हैं, अब नवजोत सिंह सिद्धू खुद उसी पार्टी में शामिल हो गए हैं और हाई कमान के आदेश पर चलने को तैयार हैं। 

ये वही नवजोत सिंह सिद्धू हैं जो कहते थे, मोदी भारत को सोने की चिड़ियाँ बनाना चाहते हैं लेकिन मनमोहन सिंह भारत को सोनिया की चिड़ियाँ बनाना चाहते हैं, अब सिद्धू खुद मनमोहन सिंह के साथ होकर भारत को सोनिया की चिड़ियाँ बनाने के मिशन में लग चुके हैं।

ये वही नवजोत सिंह सिद्धू हैं जो राहुल गाँधी को पप्पू बोलकर उनकी हंसी उड़ाते थे लेकिन आज उन्होंने राहुल गाँधी को अपना हाई कमान बना लिया है और उनके उँगलियों पर नाचने की बात कर रहे हैं, अब वे कहते हैं हाई कमान उन्हें जो आदेश देगा वह एक सिपाही की तरह वही काम करेंगे। 

अब जाहिर होने लगा है कि नवजोत सिंह सिद्धू बादल परिवार से व्यक्तिगत दुश्मनी निकालने के लिए कांग्रेस में शामिल हुए हैं, उनका कहना है कि बादल परिवार ने पंजाब को लूट लिया है लेकिन क्या कांग्रेस ने देश को नहीं लूटा, क्या कांग्रेस के राज में सैकड़ों घोटाले नहीं हुए, क्या कांग्रेस की वजह से देश गरीब नहीं बना। जिस कांग्रेस ने देश का बंटाधार कर दिया वही कांग्रेस पंजाब में कौन सा गुल खिला देगी।

अब लोगो कह रहे हैं कि सिद्धू ऐसे मतलबी खिलाडी हैं जप अपने फायदे के लिए किसी भी टीम से खेल सकते हैं, अगर पाकिस्तान उन्हें बढ़िया ऑफ़र दिया तो वे उसके साथ भी खेल सकते हैं। यही बात आज केंद्रीय मंत्री हरसिमरत बादल ने भी कही है। 
अखिलेश को साइकिल मिल गयी, भाजपा हाथ मलती रह गई: लालू यादव

अखिलेश को साइकिल मिल गयी, भाजपा हाथ मलती रह गई: लालू यादव

akhilesh-yadav-got-cycle-symbol-lalu-yadav-make-fun-of-bjp

पटना, 16 जनवरी: उत्तर प्रदेश में सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी (सपा) में चल रही अंदरूनी कलह के बीच सोमवार को निर्वाचन आयोग द्वारा चुनाव चिह्न् 'साइकिल' का फैसला मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पक्ष में फैसला सुनाए जाने के बाद राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद बहुत खुश नजर आए, उन्होंने अखिलेश को बधाई देते हुए कहा कि 'भाजपाई हाथ मलते रह गए।' पूर्व केंद्रीय मंत्री लालू ने भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर तंज कसते हुए ट्वीट किया, "नेता जी की बनाई हुई पार्टी है। नेता जी अपना आशीर्वाद अखिलेश को देंगे। भाजपाई हाथ मलते रह गए।"

एक अन्य ट्वीट में उन्होंने सपा को एकजुट बताते हुए लिखा, "ये उत्तर प्रदेश का नहीं, देश का चुनाव है। अब उत्तर प्रदेश में फासीवादी और फिरकापरस्त ताकतों की हार पूर्णत: निश्चित है। बधाई! समाजवादी पार्टी एकजुट है, सब पहले जैसा है।"

लालू ने इशारों-इशारों में उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में सपा की ओर से अखिलेश को मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार बताते हुए एक और ट्वीट किया, "अखिलेश के नेतृत्व में विकासशील, प्रगतिशील, धर्मनिरपेक्ष एवं न्यायप्रिय सरकार बननी तय है। सब एकजुट हैं। हमसब मिलकर सांप्रदायिक ताकतों को हराएंगे।"

उल्लेखनीय है कि लालू सपा में पिता-पुत्र के बीच चल रहे कलह को खत्म कराने के लिए लगातार प्रयासरत रहे हैं। लालू और मुलायम रिश्तेदार भी हैं। 
मुलायम सिंह के लिए बुरी खबर, साइकिल की जंग में अखिलेश ने जीती बाजी, पिता से छीनी साइकिल

मुलायम सिंह के लिए बुरी खबर, साइकिल की जंग में अखिलेश ने जीती बाजी, पिता से छीनी साइकिल

akhilesh-yadav-win-cycle-symbol-from-mulayam-singh-up-election

Lucknow, 16 January: अखिलेश यादव के लिए खुशखबरी है जबकि मुलायम सिंह को चुनाव आयोग ने झटका दिया है। साइकिल की जंग में अखिलेश ने बारी मारते हुए समाजवादी पार्टी का चुनाव चिन्ह अपने नाम कर लिया है। मुलायम सिंह अपने बेटे से हार गए हैं।

साइकिल चुनाव चिन्ह मिलने से विधानसभा चुनावों में अखिलेश को फायदा होगा क्योंकि अब वे अपना रास्ता खुद तय करेंगे और उन्हें अपने पिता या चाचा का कोई डर नहीं रहेगा, उन्होंने अपने पिता को पहले से ही राष्ट्रीय अध्यक्ष के पद से हटा दिया है, अब उनके सामने शिवपाल सिंह की कोई औकात नहीं है।

अखिलेश को साइकिल चुनाव चिन्ह मिलने के बाद राम गोपाल यादव ने चुनाव आयोग का शुक्रिया अदा किया, उन्होने साथ खड़े रहने के लिए समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का भी धन्यवाद अदा किया। 
अब रामलीला में भी भगवान राम की जगह मोदीजी ले लेंगे, रामलीला बन जाएगी मोदीलीला: राहुल गाँधी

अब रामलीला में भी भगवान राम की जगह मोदीजी ले लेंगे, रामलीला बन जाएगी मोदीलीला: राहुल गाँधी

rahul-gandhi-said-next-year-modiji-will-replace-ram-in-ramleela

Rishikesh, 16 January: इसे चुनावों का जादू कहिये या कांग्रेस की मिटती आज कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गाँधी ने अपने जीवन में पहली बार राम का नाम लिया, यही नहीं उन्होंने भगवान राम कहा जिससे यह भी साबित हो गया कि आने वाले समय में वे भी राम-राम की माला जपने वाले हैं जिसे अब तक वे साम्प्रदाईक समझते थे। 

राहुल गाँधी गाँधी के कैलेंडर में मोदी की फोटो के मुद्दे पर बोल रहे थे, उन्होंने कहा कि अब महात्मा गाँधी की जगह प्रधानमंत्री मोदी ने ली है, वे 15 लाख रुपये का सूट पहनते हैं और चरखा पर बैठते हैं। चरखा गरीबों की पहचान है। 

उन्होंने हरियाणा के स्वास्थय मंत्री अनिल विज के बयान पर भी निशाना साधा, उन्होंने कहा कि मोदी को गाँधीजी से भी बड़ा ब्रांड बताया जा रहा है, अब मोदी को भगवान राम से भी बड़ा ब्रांड बताया जाएगा, अब रामलीला में राम की जगह मोदी का मास्क पहना जाएगा। उन्होंने कहा कि अगली बार देखना, रामलीला में मोदीजी राम की जगह ले लेंगे, रामलीला का नाम मोदीलीला हो जाएगा। 
अभी तो सिर्फ कांग्रेस में गए हैं, फायदे के लिए पाकिस्तान से भी मिल सकते हैं सिद्धू: हरसिमरत कौर

अभी तो सिर्फ कांग्रेस में गए हैं, फायदे के लिए पाकिस्तान से भी मिल सकते हैं सिद्धू: हरसिमरत कौर

harsimrat-kaur-badal-slams-navjot-singh-sidhu-selfish-man

New Delhi, 16 January: मोदी सरकार में मंत्री और पंजाब की बड़ी नेता हरसिमरत कौर ने नए नवेले कांग्रेसी नेता नवजोत सिंह सिद्धू को करारा जवाब दिया है, उन्होंने जोरदार हमला बोलते हुए कहा कि सिद्धू को अपने आप पर शर्म आनी चाहिए क्योंकि वे खुद को पंजाबी बताते हैं, कहते हैं कि उन्हें सिख होने पर गर्व है लेकिन वे उस पार्टी में गए हैं जिसने सिखों का कत्लेआम करवाने का जुर्म किया था। इसी पार्टी ने सिखों की शान गोल्डन टेम्पल पर भी हमला करवाया था। 

उन्होंने कहा कि सिद्धू की घर वापसी पर मै बधाई देती हूँ लेकिन उन्हें खुद पर शर्म आनी चाहिए। क्योंकि वे इससे पहले खुद सोनिया गाँधी, कांग्रेस और मनमोहन सिंह की हंसी उड़ाते थे और आज उन्हीं के साथ गले मिल रहे हैं। वह बड़े सेल्फिस आदमी हैं, आज यह भी साबित हो गया है कि वे अपना मतलब निकालने के लिए किसी के साथ भी जा सकते हैं। 

हरसिमरत कौर ने कहा कि सिद्धू केवल अपना मतलब निकालने और राजनीतिक महत्वाकांक्षा के लिए कांग्रेस में गए हैं, कुछ लोगों के पैर तीन नावों में होते हैं, बीजेपी, कभी कांग्रेस हो सकता है कि वह अपने फायदे के लिए पाकिस्तान के साथ भी जा मिलें। 

उन्होंने कहा कि ड्रग का मुद्दा केवल राज्य को बदनाम करने के लिए उठाया जा रहा है। राहुल गाँधी जिसका कहना है कि पंजाब के युवा नशे की चपेट में हैं वे हो सकता है कि खुद ड्रग्स लेते हों। पंजाब के लोगों को ऐसे लोगों से बचकर रहना चाहिए जो हमारे बच्चों को बदनाम कर रहे हैं। 

जानकारी के लिए बता दें कि आज नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस से जुड़ने के बाद पहली प्रेस कांफ्रेंस की और बादल परिवार को धो डाला। उन्होंने सुखबीर सिंह पर पंजाब को बर्बाद करके अपना धंधा धमकाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि बादल परिवार पंजाब को लूट रहा है, इनकी जायदाद बढ़ती जा रही है लेकिन पंजाब के सर पर 2 लाख करोड़ रुपये का कर्ज चढ़ गया है। मै चुनावों में इनकी पोल पट्टी खोलने जा रहा हूँ।  
GOA Election 2017: BJP की दूसरी लिस्ट जारी

GOA Election 2017: BJP की दूसरी लिस्ट जारी

goa-election-2017-second-list-of-bjp-candidates-released

नई दिल्ली, 16 जनवरी: गोवा में विधानसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपनी दूसरी सूची सोमवार को जारी कर दी। इसमें सात उम्मीदवारों के नाम हैं। भाजपा की केंद्रीय निर्वाचन समिति ने रविवार को बैठक के दौरान पार्टी के उम्मीदवारों के नामों को मंजूरी दी। बैठक की अध्यक्षता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने की। बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह तथा केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली भी मौजूद थे। 

समिति ने घोषणा की है कि मायेम विधानसभा सीट से प्रवीण जांत्ये, पोरिएम से विश्वजीत के.राणे, वालपोई से सत्यविजय एस.नाईक, पोंदा से सुनील एन.देसाई, करटोरिम से आर्थर डिसिल्वा, वेलिम से विनय तारी तथा कानाकोना से विजय ए.पई उम्मीदवार होंगे।

भाजपा ने 29 उम्मीदवारों की पहली सूची 12 जनवरी को जारी की थी, जिनमें 18 मौजूदा विधायकों के नाम थे।

गोवा विधानसभा में 40 सीटें हैं। भाजपा 36 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है। बाकी चार सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा वह जल्द कर सकती है।
पहले अकाली दल पवित्र जमात था लेकिन अब धंधा करने लगा है बादल परिवार, पोल खोल कर रख दूंगा: सिद्धू

पहले अकाली दल पवित्र जमात था लेकिन अब धंधा करने लगा है बादल परिवार, पोल खोल कर रख दूंगा: सिद्धू

congress-leader-navjot-singh-sidhu-will-expose-badal-family

New Delhi, 16 January: कांग्रेस के नए नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने आज पहली प्रेस कांफ्रेंस में बादल परिवार पर जमकर हमला बोला, उन्होंने कहा कि कांग्रेस के जरिये उन्हें पंजाब बचाने का मौका मौका मिला है इसलिए वे पंजाब में अलग जगाने आये हैं। 

सिद्धू ने इस प्रेस कांफ्रेंस में सीधे सीधे बीजेपी के लिए कुछ नहीं बोला लेकिन बादल परिवार को जमकर लताड़ा। उन्होंने कहा कि वे चुनावों में पंजाब की जनता के सामने बादल परिवार का कच्चा चिट्ठा खोलकर रख देंगे, वे बताएँगे कि बदल परिवार कैसे अपने धंधे के लिए पंजाब का धंधा चौपट कर रहा है, पंजाब की जनता पर 2 लाख करोड़ रुपये का कर्ज कैसे चढ़ाया और यहाँ के अन्नदाता को भिखारी बनने पर कैसे मजबूर किया। 

उन्होंने कहा कि वे किसी पार्टी के खिलाफ नहीं हैं क्योंकि पहले अकाली दल भी एक पवित्र जमात था लेकिन अब एक परिवार की जायदाद बनकर रह गया है, अब बादल परिवार केवल अपना धंधा कर रहा है, इनकी जायदाद बढ़ती जा रही है लेकिन पंजाब ख़त्म होता जा रहा है।

उन्होंने मुख्यमंत्री बादल को ललकारते हुए कहा कि बाबा जी अब कुर्सी छोड़ दी, पंजाब की जनता आती है। आपने पंजाब को जितना लूटना था लूट लिया।

उन्होंने कहा कि पजाब में ड्रग्स की समस्या है और यह एक हकीकत है लेकिन दाल परिवार के मुंह से कभी भी ड्रग्स के बारे में एक शब्द भी नहीं निकलता, इसका कारण है कि ड्रग्स रैकेट वहीं से चल रहे हैं, जब सरदार ही रैकेट चला रहा है तो कह चोरों को कैसे पकड़ेगा। यहाँ के जवान पहले फ़ौज में जाते थे लेकिन अब किसी काम के नहीं हैं, अगर यहाँ के नौजवानों को दिशा दे दी जाय तो वे फिर से पंजाब को खड़ा कर देंगे लेकिन मौजूदा सरकार केवल अपने धंधे में लगी है। 
पुलिस अधिकारी ने कर डाला विकलांग महिला का रेप, गिरफ्तार

पुलिस अधिकारी ने कर डाला विकलांग महिला का रेप, गिरफ्तार

bengaluru-hindi-news-police-officer-arrested-for-rape-women

बेंगलुरु, 16 जनवरी: कर्नाटक के तुमाकुरु शहर में एक मानसिक रूप से विकलांग महिला के साथ कथित रूप से दुष्कर्म करने के आरोप में एक पुलिस अधिकारी को गिरफ्तार किया गया है। अधिकारियों ने यह जानकारी सोमवार को दी। तुमाकुरु की पुलिस अधीक्षक इशा पंत ने आईएएनएस से कहा, "पीड़िता की मां द्वारा एक शिकायत दर्ज कराए जाने के बाद उप निरीक्षक उमेश (54) को निलंबित कर गिरफ्तार किया गया है।"

जीप के चालक ईश्चरप्पा (32) को भी अपराध के लिए उसकाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

पंत ने कहा, "दोनों आरोपियों को सोमवार को न्यायिक हिरासत के लिए स्थानीय अदालत में पेश किया जाएगा, ताकि शीघ्र आरोप पत्र दाखिल करने के लिए पूछताछ पूरी की जा सके।"

यह घटना शनिवार रात 11 बजे उस समय हुई, जब 30 वर्षीया पीड़िता सुनसान सड़क पर अकेली थी। एक होम गार्ड के साथ गश्त करने के दौरान उमेश ने उसे देखा। 

पीड़िता को अभिरक्षा में घर पहुंचाने के बहाने उमेश ने होम गार्ड को पुलिस स्टेशन भेज दिया और उसे घर पहुंचाने के लिए ईश्वरप्पा से मदद मांगी।

पंत ने कहा, "पीड़िता को घर ले जाने के दौरान रास्ते में उमेश ने कथित रूप से उसका यौन शोषण किया। "

उन्होंने कहा, "यद्यपि पीड़िता विवाहित है। वह मां के घर पर ही रह रही हैें, क्योंकि वह मानसिक रूप से स्वस्थ्य नहीं है और बेवक्त टहलने के लिए अक्सर घर से बाहर निकल जाती हैं।"
सिद्धू के VIDEO ने मचाया तूफ़ान, कांग्रेस के लिए बना बड़ी मुसीबत, अपनी ही बॉल से हो गए क्लीनबोल्ड

सिद्धू के VIDEO ने मचाया तूफ़ान, कांग्रेस के लिए बना बड़ी मुसीबत, अपनी ही बॉल से हो गए क्लीनबोल्ड

navjot-singh-sidhu-video-viral-bharat-sonia-ki-chidiya-manmohan

नई दिल्ली, 15 जनवरी: पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व सांसद नवजोत सिंह सिद्धू रविवार को औपचारिक तौर पर कांग्रेस में शामिल हो गए। सिद्धू ने इसे अपनी 'नई पारी की शुरुआत' कहा। उन्होंने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ बैठक के बाद पार्टी में शामिल होने की औपचारिक पूरी की। राहुल ने अपने आवास पर पहुंचे पूर्व भाजपा सांसद का गर्मजोशी से स्वागत किया। सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर पहले ही कांग्रेस में शामिल हो चुकी हैं।

मुलाकात और बात के बाद सिद्धू और राहुल ने मुस्कुराते हुए तस्वीरें खिंचवाईं।

बाद में सिद्धू ने ट्वीट किया, "एक नई पारी की शुरुआत। अब फ्रंटफुट पर पंजाब, पंजाबियत और हर पंजाबी की जीत जरूर होगी।"

सिद्धू 4 फरवरी को होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में अमृतसर (पूर्व) सीट से कांग्रेस प्रत्याशी बनाए जा सकते हैं। यह अमृतसर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र का हिस्सा है। सिद्धू ने इस क्षेत्र का सांसद के रूप में प्रतिनिधित्व 2004 से 2014 तक किया है।

सिद्धू का VIDEO हुआ वायरल, कांग्रेस एक लिए बना मुसीबत


जैसे ही सिद्धू कांग्रेस में शामिल हुए वैसे ही उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, इस वीडियो में सिद्धू कांग्रेस पर चौकों छक्कों की बरसात कर रहे हैं और कांग्रेस की जमकर धुनाई कर रहे हैं, यही नहीं उन्होने कांग्रेस को चोरों की बरसात कहा, मनमोहन सिंह के बारे में कहा कि वे ना तो सरदार हैं और ना ही असरदार हैं। उन्होंने यह भी कहा कि मोदी भारत को सोनिया की चिड़िया बनाना चाहते हैं लेकिन मनमोहन सिंह भारत को सोनिया की चिड़िया बनाना चाहते हैं। 



यह वीडियो 2014 लोकसभा चुनावों से पहले का है, इसमें सिद्धू मोदी की जमकर तारीफ भी कह रहे हैं, वे कहते हैं - 
हर समय नदी की बाढ़ कि अक्सर सब बह जाया करते हैं,
है समय बड़ा तूफ़ान प्रबल पर्वत भी झुक जाया करते हैं,
अक्सर दुनिया के लोग समय में चक्कर खाया करते हैं लेकिन 
कुछ नरेन्द्र मोदी जैसे भी लोग हैं जो इतिहास बनाया करते हैं।

उन्होंने आगे कहा - सिद्धू सत्य कह रहा है, 1998 में अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर सरकार बनी थी लेकिन 2014 में नरेन्द्र मोदी के किरदार पर सरकार बनेगी।

वे आगे कहते हैं - विजय गोयल से बोले खुराना, हाय राम मोदी का है ज़माना। गुरु हो गया मै शुरू, ठोंको ताली। कांग्रेस सरकार में लोग गिर रहे हैं, रूपया गिर रहा है, लोग कह रहे हैं सरकार भी गिर रही है, मै तो कहता हूँ सरकार कितना गिरेगी। कांग्रेस तो मुन्नी से भी ज्यादा बदनाम हो गयी, हमारे पास दूल्हा भी है और बारात भी है लेकिन दूसरी तरफ आगे आगे मनमोहन सिंह हैं और पीछे पीछे चोरों की बारात है।

एक तरफ गुजरात कंगाल पड़ा था, बहार पड़ा था लेकिन नरेन्द्र मोदी का हाथ लगा तो जैसे पारस का हाथ लग गया, आज खुशहाल पड़ा है, मालामाल पड़ा है,
गुलशन गुलशन फूल खिले हैं, पंख लगे विकास को,
जिसने स्वर्ग ना देखा हो वो देखे जाके गुजरात को।

एक तरफ जानदार शानदार मोदी साहब और दूसरी तरफ ऐसा प्रधानमंत्री है जो ना सरदार है और ना असरदार है। 10 साल नरेन्द्र भाई मोदी के और 60 साल कांग्रेस के तौल लो, दिल की गहराइयों से आवाज निकलेगी चंपा के 10 फूल चमेली की 1 कली, मूरख की सारी रात चतुर की एक घडी।

आपको निर्णय करना है मित्रों, मोदी साहब हिंदुस्तान को सोने की चिड़ियाँ बनाना चाहते हैं लेकिन मनमोहन सिंह इस देश को सोनिया की चिड़िया बनाना चाहते हैं।

आपको निर्णय करना है -

जिस तरह आग के ढेरों को कोई खा नहीं सकता,
पृथ्वी को ऊंचा कोई उठा नहीं सकता
सागर को जैसे कोई सुखा नहीं सकता
पर्वत हिमालय कोई कोई हिला नहीं सकता
उसी तरह ने नरेन्द्र भाई मोदी की ताकत को
हिंदुस्तान में कोई दबा नहीं सकता, कोई मिटा नहीं सकता

कोई साफ़ सुथरा किरदार वाला चाहिए
कोई रसिक वैरागी चाहिए
जो आज इमानदार छवि के साथ खड़ा हो
कांग्रेस की मंडी बड़ी नशीली है,
इस मंडी में सभी ने मदिरा पी ली है
कमरबंद पुख्ता हैं सिर्फ दलालों के
आम आदमी की धोती तो यारों ढीली है।

मै इतना ही कहना चाहता हूँ -
कांग्रेस के पास नेतृत्व की भी कमी है, विश्वास की भी कमी है लेकिन आज मोदी हिंदुस्तान में सबसे अधिक इसलिए अमीर हैं क्योंकि उनके पास हिंदुस्तान के लोगों का प्यार और विश्वास आज भी बरकरार है। कांग्रेस और आप तो आपस में मिले हैं इसकी चिंता मत करना।

मौसम बदल रहा है, हर चीज बदल रही है, गर्मी जा रही है सर्दी आ रही है, कांग्रेस जा रही है बीजेपी आ रही है इसी उम्मीद से आखिर में कहता हूँ -

है अँधेरा बहुत अब सूरज निकलना चाहिए,
जैसे भी हो ये मौसम बदलना चाहिए
जो चेहरे रोज बदलते हैं नकाबों की तरह
अब उनका जनाजा धूम से उनका निकलना चाहिए।
बात ख़त्म, खचाक।