Showing posts with label Sports. Show all posts
Showing posts with label Sports. Show all posts

Wednesday, February 1, 2017

बेंगलुरू टी-20: भारत ने इंग्लैंड को हराकर सीरीज पर किया कब्ज़ा

बेंगलुरू टी-20: भारत ने इंग्लैंड को हराकर सीरीज पर किया कब्ज़ा

banglore-t-20-india-beat-england-win-series-from-2-1-in-hindi

बेंगलुरू, 1 फरवरी: भारत ने युजवेंद्र चहल (25/6) की रिकॉर्ड गेंदबाजी की बदौलत एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में बुधवार को हुए तीसरे निर्णायक टी-20 मुकाबले में इंग्लैंड को 75 रनों से हरा तीन मैचों की श्रृंखला 2-1 से अपने नाम कर ली। भारत से मिले 203 रनों के चुनौतीपूर्ण लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड टीम 16.1 ओवरों में 127 रन बनाकर ढेर हो गई।

चहल को मैन ऑफ द मैच और मैन ऑफ सीरीज दोनों अवार्ड मिले। चहल ने अपने चार ओवरों के कोटे में 25 रन देकर छह विकेट चटकाए। अंतर्राष्ट्रीय टी-20 में युजवेंद्र किसी एक पारी में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले गेंदबाज बन गए। इस मामले में वह दुनिया में तीसरे स्थान पर रहे। उनसे आगे सिर्फ श्रीलंका के अजंता मेंडिस ही हैं।

अंतर्राष्ट्रीय टी-20 में किसी एक पारी में सर्वश्रेष्ठ गेंदबाजी का रिकॉर्ड अजंता मेंडिस के नाम है, जो उन्होंने दो बार किया है। मेंडिस ने सितंबर, 2012 में जिम्बाब्वे के खिलाफ आठ रन देकर छह विकेट लिए थे। इससे पहले अगस्त, 2011 में मेंडिस ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ 16 रन देकर छह विकेट लिए थे।

मैच के बाद चहल ने कहा, "बहुत अच्छा लग रहा है, क्योंकि राष्ट्रीय टीम की ओर से मैं पहली बार बेंगलुरू में खेल रहा था, जो मुझे हमेशा से अपने घर जैसा लगा। आईपीएल में मैं पॉवरप्ले के दौरान गेंदबाजी कर चुका हूं और कोहली ने मुझमें विश्वास दिखाया। लेकिन सोचा भी नहीं था कि छह विकेट मिल जाएंगे।"

उल्लेखनीय है कि चहल आईपीएल में रॉयल चैलेंजर्स बैंग्लोर का हिस्सा रह चुके हैं, जिसके कप्तान कोहली रहे।

इंग्लैंड एक समय 13 ओवरों में दो विकेट पर 117 रन बनाकर मजबूत स्थिति में नजर आ रहा था। लेकिन 14वें ओवर में चहल ने लगातार दो गेंदों पर इयान मोर्गन (40) और जोए रूट (42) के विकेट चटकाकर मैच का रुख ही पलट दिया।

इंग्लैंड को सैम बिलिंग्स के रूप में पहला झटका आठ के कुल स्कोर पर लगा। बिलिंग्स खाता खोले बगैर चहल की गेंद सुरेश रैना को थमा चलते बने। हालांकि इसके बाद जेसन रॉय (32) ने रूट के साथ 9.72 की रन गति से 47 रनों की साझेदारी कर अपनी टीम को पटरी पर ला दिया।

रॉय 55 के कुल योग पर अमित मिश्रा का शिकार हुए। वह विकेट के पीछे धौनी के हाथों लपके गए। हालांकि इंग्लैंड की राह में ये दोनों विकेट रुकावट नहीं बने। रूट ने कप्तान मोर्गन के साथ 8.93 की रन गति से 64 रन जोड़ते हुए अपनी टीम को जीत को मजबूती से बढ़ाना जारी रखा।

लेकिन चहल के हाथों 14वें ओवर में दोनों बल्लेबाज लगातार दो गेंदों पर पवेलियन लौटे और इसके साथ ही इंग्लैंड के हाथों से जीत फिसल गई। रूट ने 37 गेंदों में चार चौके और दो छक्के लगाए, जबकि मोर्गन ने 21 गेंदों की पारी में दो चौके और तीन छक्के जड़े।

इंग्लैंड के आखिरी आठ विकेट मात्र आठ रन जोड़ने में 18 गेंद के भीतर गिर गए।

चहल के अलावा जसप्रीत बुमराह ने तीन विकेट चटकाकर जीत में अहम भूमिका निभाई।

टॉस हारकर बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने महेंद्र सिंह धौनी (56) और सुरेश रैना (63) की बदौलत निर्धारित 20 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 202 रन बनाए।

भारत को कप्तान विराट कोहली (2) के रूप में पहला झटका लगा। उनके बाद आए सुरेश रैना ने 45 गेंदों में पांच छक्के और दो चौकों की मदद से तेज-तर्रार अर्धशतकीय पारी खेली।

पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी ने 36 गेंदों में पांच चौके और दो छक्के लगाए। धौनी का यह अंतर्राष्ट्रीय टी-20 मैच में पहला अर्धशतक है।

युवराज सिंह ने नौ गेंदों में तीन छक्के और एक चौके की मदद से 27 रनों का योगदान दिया। लोकेश राहुल ने 22 रन जुटाए। पदार्पण मैच खेल रहे युवा ऋषभ पंत ने छह रन और हार्दिक पांड्या ने 11 रनों का योगदान देते हुए टीम को 200 के पार पहुंचाया। पंत नाबाद लौटे।

इंग्लैंड के लिए लियाम प्लंकेट, बेन स्टोक्स, टाइमल मिल्स और क्रिस जोर्डन ने एक-एक विकेट लिए। दो बल्लेबाज रन आउट हुए।

Monday, January 30, 2017

दूसरे T20 में भारत ने इंग्लैंड को 5 रन से हराकर हिसाब बराबर किया

दूसरे T20 में भारत ने इंग्लैंड को 5 रन से हराकर हिसाब बराबर किया

team-india-win-second-t-20-match-from-england-in-hindi

नागपुर, 29 जनवरी: भारत ने विदर्भ क्रिकेट संघ स्टेडियम में रविवार को हुए दूसरे टी-20 मैच में इंग्लैंड को रोमांचक मुकाबले में पांच रन से हरा दिया। भारत से मिले 145 रनों के औसत लक्ष्य के जवाब में इंग्लैंड की टीम निर्धारित 20 ओवरों में छह विकेट गंवाकर 139 रन ही बना पाई।

भारत की जीत के नायक आखिरी ओवर लेकर आए तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह रहे। उन्होंने इस ओवर में इंग्लैंड को जीत के लिए जरूरी आठ रन नहीं बनाने दिए और भारत को जीत दिलाई।

इंग्लैंड ठीकठाक शुरुआत करता लग रहा था कि आशीष नेहरा ने लगातार दो गेंदों पर दोनों सलामी बल्लेबाजों सैम बिलिंग्स (12) और जेसन रॉय (10) को पवेलियन की राह दिखा दी।

हालांकि इसके बाद जोए रूट (38) ने कप्तान इयान मोर्गन (17) के साथ 43 रनों की साझेदारी कर टीम को संभाल लिया। हालांकि दोनों बल्लेबाज रनों की गति ज्यादा तेज नहीं रख पाए। यह साझेदारी भारत के लिए खतरनाक होती लग रही थी, तभी अमित मिश्रा ने मोर्गन को हार्दिक पांड्या के हाथों कैच करा भारत को अपेक्षित वापसी दिलाई।

इसी ओवर में अमित, बेन स्टोक्स का विकेट भी चटकाने में सफल रहे थे। लेकिन उनका पैर क्रीज से बाहर निकल गया था और नो बॉल करार दिया गया। स्टोक्स को पहली ही गेंद पर मिला यह जीवनदान भारत के लिए भारी पड़ा।

स्टोक्स ने 27 गेंदों पर दो चौके और दो छक्के की मदद से 38 रन बनाए और रूट के साथ 52 रनों की अहम साझेदारी की।

इंग्लैंड को आखिरी के दो ओवरों में 24 रन चाहिए थे, लेकिन नेहरा ने 19वें ओवर में 16 रन दे दिए। आखिरी ओवर हमेशा की तरह बुमराह लेकर आए और पहली ही गेंद पर उन्होंने रूट का विकेट चटका दिया।

अगली दो गेंदों में एक रन देने के बाद बुमराह ने चौथी गेंद पर जोस बटलर (15) को भी पवेलियन की राह दिखा दी। अब इंग्लैंड को आखिरी के दो गेंदों में सात रन चाहिए थे।

पांचवीं गेंद पर क्रिस जॉडर्न ने बाई से एक रन लिया। आखिरी गेंद पर इंग्लैंड के सामने जीत के लिए छह रनों का लक्ष्य था और स्ट्राइक ले रहे थे मोइन अली। बुमराह की ऑफ स्टंप से बाहर रही गेंद को मोइन छू भी नहीं पाए और गेंद धौनी के सुरक्षित हाथों में समा गई।

भारत के लिए बुमराह ने चार ओवरों में 20 रन देकर दो विकेट चटकाए। आशीष नेहरा को तीन विकेट मिला।

इससे पहले, भारत ने लोकेश राहुल (71), मनीष पांडे (30) और कप्तान विराट कोहली (21) की मदद से निर्धारित 20 ओवरों में आठ विकेट गंवाकर 144 रन बनाए थे।

सुरेश रैना (7), युवराज सिंह (4) और महेंद्र सिंह धौनी (5) एक बार फिर नहीं चले। तीनों ही बल्लेबाज रन बनाने के लिए जूझते नजर आए। भारतीय टीम ने क्रिस जॉर्डन द्वारा लाए आखिरी ओवर में तीन विकेट गंवाए। इसमें दो विकेट रन आउट होकर गिरे।

इंग्लैंड के लिए जार्डन ने तीन विकेट लिए। उन्होंने अपने चार ओवर के कोटे में 22 रन खर्च किए।

इस जीत के साथ भारत ने तीन मैचों की श्रृंखला 1-1 से बराबर कर ली।

Wednesday, January 25, 2017

उसेन बोल्ट से छिन गया एक ओलम्पिक स्वर्ण पदक: पढ़ें क्यों?

उसेन बोल्ट से छिन गया एक ओलम्पिक स्वर्ण पदक: पढ़ें क्यों?

one-gold-medal-stripped-from-usain-bolt

लुसाने (स्विट्जरलैंड), 25 जनवरी: जमैका के फर्राटा धावक उसेन बोल्ट के साथी धावक नेस्टा कार्टर के डोपिंग नमूने का परिणाम सकारात्मक आने के बाद बोल्ट के नौ ओलम्पिक स्वर्ण पदक में एक पदक वापस ले लिया जाएगा। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक, बीजिंग ओलम्पिक 2008 में बोल्ट ने 4 गुणा 100 मीटर की टीम स्पर्धा में स्वर्ण पदक जीता था, जिसमें कार्टर उनके साथी थे। 

बोल्ट ने 2008, 2012 और 2016 ओलम्पिक में 100मीटर, 200मीटर और 4 गुणा 100 मीटर स्पर्धाओं में स्वर्ण पदक जीते हैं। 

अंतर्राष्ट्रीय ओलम्पिक समिति (आईओसी) ने पिछले साल 454 खिलाड़ियों के नमूनों की पुन: जांच की थी जिसमें कार्टर का नाम शामिल था। 

कार्टर लंदन ओलम्पिक 2012 में भी विजेता टीम का हिस्सा थे।

आईओसी ने एक बयान में कहा है, "बीजिंग ओलम्पिक 2008 में फाइनल में जगह बनाने वाली और स्वर्ण पदक जीतने वाली जमैका की पुरुष 4 गुणा 100 मीटर टीम का हिस्सा रहे कार्टर को ओलम्पिक खेलों में अयोग्य घोषित किया जाता है। 2008 बीजिंग ओलम्पिक के डोपिंग नमूनों की दोबारा जांच में उनका परिणाम सकारात्मक रहा है और उन्हें प्रतिबंधित पदार्थ मेथलीहजानेमाइन के सेवन का दोषी पाया गया है।"

बयान में कहा गया है, "उन्हें पुरुषों के 4 गुणा 100 मीटर रिले स्पर्धा में अयोग्य घोषित किया जाता है जिसमें उन्होंने बीजिंग ओलम्पिक-2008 में हिस्सा लिया था। उनसे पदक, पिन और डिप्लोमा वापस लिया जाएगा। साथ ही जमैका की 4 गुणा 100 रिले प्रतिस्पर्धा की टीम को अयोग्य घोषित किया जाता है। टीम के सदस्यों से पदक, पिन व डिप्लोमा वापस लिया जाएगा।"

Sunday, January 22, 2017

अंतिम वनडे मैच हारकर टीम इंडिया ने इंग्लैंड से जीत ली सीरीज

अंतिम वनडे मैच हारकर टीम इंडिया ने इंग्लैंड से जीत ली सीरीज

team-india-lost-kolkata-one-day-win-sereis-from-2-1-in-hindi

कोलकाता, 22 जनवरी: भारत ईडन गार्डन स्टेडियम में रविवार को खेले गए तीसरे एकदिवसीय मैच में इंग्लैंड के हाथों बेहद रोमाचंक मुकाबले में पांच रन से हार गया। हालांकि तीन मैचों की श्रृंखला जरूर 2-1 से भारत के नाम रही।

इंग्लैंड से मिले 321 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारतीय टीम निर्धारित 50 ओवरों में नौ विकेट खोकर 316 रन बना सकी।

बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही। चोटिल शिखर धवन की जगह पारी की शुरुआत करने आए अजिंक्य रहाणे (1) दूसरे ओवर में ही पवेलियन लौट गए।

डेविड विली की गेंद पर रहाणे क्लीन बोल्ड हुए। दूसरे सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल (11) भी ज्यादा देर नहीं टिक सके और 37 के स्कोर पर पवेलियन लौटे। उन्हें जैक बॉल ने विकेट के पीछे जोस बटलर के हाथों कैच कराया।

इसके बाद कप्तान विराट कोहली (55) ने युवराज सिंह (45) के साथ 65 रनों की साझेदारी कर टीम को स्थिरता प्रदान की। लेकिन दोनों बल्लेबाज रनों की गति तेज नहीं रख पाए। यह साझेदारी 4.75 के औसत से हुई।

भारतीय टीम अभी 100 के पार ही पहुंची थी कि कोहली ऊंची उठती गेंद पर बल्ला अड़ाने के चक्कर में विकेट की पीछे बटलर के हाथों लपक लिए गए। कोहली ने 63 गेंदों का सामना किया और आठ चौके लगाए।

युवराज सिंह का साथ देने उतरे महेंद्र सिंह धौनी (45) कुल स्कोर में 31 रन ही जोड़ पाए थे कि युवराज सैम बिलिंग्स के हाथों लपक लिए गए। उनका विकेट लियाम प्लंकेट ने लिया।

इसके बाद धौनी और केदार जाधव (90) ने रनों की गति तेज करनी शुरू ही की थी कि गेंद ने धौनी के बल्ले का बाहरी किनारा ले लिया। ऊंची उठती गेंद पर धौनी ने तेज शॉट खेलने की कोशिश की लेकिन बटलर को कैच थमा बैठे।

भारतीय टीम 173 के कुल योग पर पांच अहम विकेट गंवा चुकी थी और हार की ओर बढ़ती नजर आने लगी थी। लेकिन यहां से जाधव और हार्दिक पांड्या (56) ने 7.51 के तेज औसत से 104 रन जोड़ते हुए फिर से भारतीय क्रिकेट प्रेमियों में जीत की आस जगा दी।

पांड्या ने 43 गेंदों में चार चौके और दो छक्के जड़े। तेज शॉट खेलने के प्रयास में पांड्या गेंद की लाइन समझ नहीं पाए और बेन स्टोक्स की गेंद ने उनकी गिल्लियां बिखेर दीं। रवींद्र जडेजा (10) का शॉट तो तेज लगाया था, लेकिन वह सीमारेखा पर खड़े बेयरस्टो को पार नहीं कर सके।

रविचंद्रन अश्विन (1) भी ऊंचा शॉट खेलने के प्रयास में स्टोक्स के हाथों कैच कर लिए गए। भारत को आखिरी के तीन ओवरों में 27 रनों की दरकार थी, लेकिन 48वें ओवर में भारतीय टीम सिर्फ चार रन जोड़ सकी।

अब सारी उम्मीदें जाधव पर टिकी हुई थीं। आखिरी ओवर में भारत को 16 रनों की दरकार थी और जाधव ने पहली गेंद पर छक्का और दूसरी गेंद पर चौका लगाकर लक्ष्य भारत की जद में ला दिया।

लेकिन अगली लगातार दो गेंदों पर रन बना पाने का दबाव उन पर नजर आने लगा। इस बीच उन्होंने बल्ला बदला और अगली गेंद पर तेज शॉट भी लगाया, लेकिन गेंद सीमारेखा को पार नहीं कर सकी और बिलिंग्स ने कैच थामने में कोई गलती नहीं।

जाधव ने 74 गेंदों की तेज तर्रार पारी में 12 चौके और एक छक्का लगाया।

अब भारत को आखिरी गेंद पर छह रन चाहिए थे और सामने थे भुवनेश्वर कुमार। भुवनेश्वर हालांकि गेंद को छू भी नहीं सके और इंग्लैंड ने मैच पांच रन से अपने नाम कर लिया।

इंग्लैंड के लिए स्टोक्स ने तीन और जैक बॉल तथा क्रिस वोक्स ने दो-दो विकेट लिए। विली और प्लंकेट को एक-एक विकेट मिला।

इससे पहले, इंग्लैंड ने जेसन रॉय (65), बेयरस्टो (56), कप्तान इयान मोर्ग (43) और स्टोक्स (नाबाद 57) के संयुक्त प्रयास से आठ विकेट पर 320 रनों का चुनौतीपूर्ण स्कोर खड़ा किया था।

Friday, January 20, 2017

खेलों में उंचाई तक पहुँचने के लिए संस्थागत व्यवस्था की जरूरत: मोदी

खेलों में उंचाई तक पहुँचने के लिए संस्थागत व्यवस्था की जरूरत: मोदी

institutional-arrangements-needed-to-reach-heights-in-sports-modi

नई दिल्ली, 20 जनवरी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को कहा कि खेल के क्षेत्र में बड़ी उपलब्धि हासिल करने के लिए भारत को संस्थागत व्यवस्था की जरूरत है। कच्छ के रण में मंत्रियों तथा पर्यटन, संस्कृति, युवा मामले तथा खेल विभाग के सचिवों के एक सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, "खेल के क्षेत्र में उत्कृष्टता के लिए हमें एक संस्थागत व्यवस्था की जरूरत है। मैं इस बात से आश्वस्त हूं कि हर सरकार खेलों को लोकप्रिय करना चाहती है।"

प्रधानमंत्री ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से सम्मेलन को संबोधित किया।

तीन दिवसीय कार्यक्रम का आयोजन गुजरात सरकार के सहयोग से पर्यटन, संस्कृति, युवा मामले तथा खेल मंत्रालयों द्वारा किया गया है।

खेलों को लोकप्रिय बनाने को लेकर केंद्र तथा राज्य सरकारों के प्रयासों पर मोदी ने कहा, "सबसे जरूरी है कि हम जिला स्तर पर ध्यान दें, ताकि हम समझ सकें कि हमारी प्रतिभा कहां है, हमारा आधारभूत ढांचा कहां है।"

भारत में पर्यटन की संभावनाओं पर मोदी ने कहा, "भारत में अपार संभावनाएं हैं, जिससे वह दुनिया का ध्यान आकर्षित कर सके।"

प्रधानमंत्री ने सुझाव देते हुए कहा कि प्रत्येक राज्य की सरकार कुछ संभावित पर्यटन गंतव्यों का चयन करे और पूरी दुनिया के लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए विश्वस्तरीय आधारभूत ढांचा मुहैया कराए।

मोदी ने प्रतिनिधियों से विभिन्न पहलों के माध्यम से 'एक भारत, श्रेष्ठ भारत' पहल का क्रियान्वयन करने की अपील की।

सम्मेलन का विषय 'पर्यटन, संस्कृति, युवा मामलों तथा खेल के बीच समन्वय स्थापित करना और एक भारत, श्रेष्ट भारत को मजबूत करने एवं पुनरुत्थानशील युवा भारत के निर्माण की दिशा में राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के साथ सहक्रियता स्थापित करना' है।

इस मौके पर गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी, केंद्रीय मंत्री विजय गोयल तथा महेश शर्मा भी शामिल थे।