Showing posts with label Society. Show all posts
Showing posts with label Society. Show all posts

Feb 25, 2018

अभी भी जिन्दा है संस्कार, बुफे सिस्टम में भोजन लेते वक्त ताउजी ने उतर दिए जूते, पढ़ें

अभी भी जिन्दा है संस्कार, बुफे सिस्टम में भोजन लेते वक्त ताउजी ने उतर दिए जूते, पढ़ें

buffet-system-old-man-shoes-off-during-food-in-party-image

नई दिल्ली: पिछले एक दो दशकों से देश में बुफे सिस्टम का चलन बढ़ गया है, अब शादी पार्टियों में बफेट सिस्टम से खाना दिया जाता है जिसमें लोग अपने हाथों से खाना लेकर खाते हैं, पहले के जमाने में जमीन पर बैठकर भोजन दिया जाता था इसलिए लोग अपने जूते चप्पल उतारकर भोजन करने बैठते थे.

इसके अलावा पहले के समय में लोग अपने घर पर भी भोजन करते वक्त जूता चप्पल उतार देते थे लेकिन अब लोग मजबूरीवश संस्कृति भूल रहे हैं, अब शादी पार्टियों में लोग चप्पल जूता पहनकर ही खाना खाते हैं.

एक फोटो सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिसमे बुफे सिस्टम में खाना खाते वक्त एक ताउजी से अपने जूते उतार दिए और नंगे पैर ही भोजन ग्रहण किया. यह फोटो लोग खूब शेयर कर रहे हैं.

Feb 24, 2018

मथुरा पहुँच गए योगी के दोस्त मनोहर लाल, बरसाना में दोनों मिलकर खेलेंगे लठ्ठमार होली

मथुरा पहुँच गए योगी के दोस्त मनोहर लाल, बरसाना में दोनों मिलकर खेलेंगे लठ्ठमार होली

holi-with-yogi-haryana-cm-manohar-lal-khattar-reached-mathura

मथुरा, 24 फ़रवरी: हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर आज मथुरा के बरसाना में लठ्ठमार होली खेलने के लिए पहुँच गए हैं, मथुरा पहुंचने पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उनका स्वागत किया, दोनों नेता बहुत ही गर्मजोशी से मिले.

आपको बता दें कि फरीदाबाद के सूरजकुंड मेले में योगी आदित्यनाथ और मनोहर लाल खट्टर के बीच मुलाक़ात हुई थी और दोनों में दोस्ती गहरा गयी थी, इसी दोस्ती को और मजबूत करने के लिए योगी ने मुख्यमंत्री खट्टर को मथुरा के बरसाना में होली खेलने का निमंत्रण दिया जिसे खट्टर ने स्वीकार कर लिया.

आज बरसाना में लठ्ठमार गोली का प्रोग्राम है, इस प्रोग्राम में भाग लेने और योगी के साथ होली खेलने के लिए खट्टर मथुरा पहुँच चुके हैं, उनके साथ हरियाणा के बीजेपी प्रभारी अनिल जैन और कुछ अन्य ख़ास लोग भी गए हैं. यह अपने आप में अनोखी शुरुआत है.

आपको बता दें कि हरियाणा और उत्तर प्रदेश के बीच हाल ही में परिवहन समझौता हुआ है जिसके अंतर्गत दोनों राज्यों की बसें एक दूसरे राज्यों में जाएंगी और राज्य वासियों को एक दूसरे के पर्यटन स्थलों और धार्मिक स्थानों का दर्शन कराएंगी, इससे दोनों राज्यों की आमदनी भी बढ़ेगी और दोनों राज्यों की जनता के बीच प्यार भी बढेगा.

Feb 23, 2018

अकेले नहीं हैं हार्दिक पटेल, बना रखी है गर्लफ्रेंड, पढ़ें

अकेले नहीं हैं हार्दिक पटेल, बना रखी है गर्लफ्रेंड, पढ़ें

patidar-leader-hardik-patel-have-girl-friend-and-he-married-with-her

नई दिल्ली: पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने आज बहुत बड़ा खुलासा किया है. आपको बता दें कि गुजरात चुनाव में पाटीदार नेता हार्दिक पटेल की लगभग हर दूसरे दिन कोई न कोई सेक्स सीडी आती थी, और हार्दिक पटेल इसे जुमला साबित करके गलत साबित कर देते थे. लेकिन आज राष्ट्रिय मीडिया चैनल NEWS18 इण्डिया के शो चौपाल कार्यक्रम में बोलते हुए हार्दिक पटेल ने सारा सच उगल दिया।

चौपाल शो में एंकरिंग कर रहे न्यूज़ 18 इण्डिया के एंकर सुमित अवस्थी ने हार्दिक पटेल से सवाल पूछा की क्या हार्दिक पटेल के गर्लफ्रेंड हैं तो हार्दिक ने तुरंत YES लिखा हुआ स्लोगन बता दिया कि उनकी गर्लफ्रेंड है.

हार्दिक ने कहा - मेरी गर्लफ्रेंड है, मैं उससे मिलता हूँ जुलता हूँ और शादी भी उससे करूँगा, और इसमें दुःख की क्या बात है, अगर किसी को लगता है कि बेड में जाकर झांकना चाहिए कि प्रियांशी या कोई बाहर से लड़की लाया है. तो ये सत्य है मेरी गर्लफ्रेंड है, मैं दोस्तों के साथ सब कुछ करता हूँ. लेकिन फिर भी मैं पब्लिक लाइफ की बात करता हूँ और मुझे पब्लिक सपोर्ट करती है तो अच्छा लगता है. 
बड़ा खुलासा, मुख्य सचिव को पिटवाने के लिए केजरीवाल ने लगा दिया इंजीनियरिंग का दिमाग, पढ़ें

बड़ा खुलासा, मुख्य सचिव को पिटवाने के लिए केजरीवाल ने लगा दिया इंजीनियरिंग का दिमाग, पढ़ें

kejriwal-prepare-plan-to-beat-delhi-chief-secretary-anshu-prakash

नई दिल्ली, 23 फ़रवरी: अब तो यह बात साबित हो चुकी है कि दिल्ली के मुख्य सचिव अंशु प्रकाश की केजरीवाल के घर पर पिटाई हुई थी क्योंकि केजरीवाल के मुख्य सचिव वीके जैन ने खुद इसकी गवाही दी है, अब यह भी खुलासा हुआ है कि केजरीवाल ने मुख्य सचिव को अपने घर पर पिटवाने के लिए बहुत बड़ा प्लान बनाया था.

केजरीवाल के घर में CCTV कैमरे लगे थे लेकिन जहाँ पर मुख्य सचिव के साथ मीटिंग हुई थी वहां पर 7 कैमरे ऑफ थे, 21 कैमरे चल रहे थे लेकिन उनका समय पीछे कर दिया गया ताकि कैमरे में पता ही ना चले कि यहाँ पर कोई मीटिंग हुई है.

दिल्ली के विधायक कपिल मिश्रा का कहना है कि केजरीवाल के घर में एक गुफा है जहाँ पर कोई कैमरा नहीं है, उसी गुफा में गैरकानूनी काम किये जाते हैं और हर तरह की डीलिंग की जाती है, इस गुफा में बहुत कम लोग जाते हैं, गुफा के सामने का दरवाजा साधारण लकड़ी का है लेकिन पीछे की तरफ ऑटोमैटिक इलेक्ट्रॉनिक दरवाजे हैं.
सख्त हुई मोदी सरकार, देश को लूटने वाला विक्रम कोठारी अपने बेटे राहुल कोठारी सहित हुआ गिरफ्तार

सख्त हुई मोदी सरकार, देश को लूटने वाला विक्रम कोठारी अपने बेटे राहुल कोठारी सहित हुआ गिरफ्तार

vikram-kothari-and-rahul-kothari-arrested-by-cbi-in-rotomac-fraud-case

नई दिल्ली: देश को लूटकर मौज करने वालों की अब खैर नहीं है, जिन्हें भागना था देश छोड़कर भाग लिए लेकिन जो देश के अन्दर बैठकर मौज कर रहे हैं उन्हें अब जेल भेजने का काम शुरू हो गया है, आज रोटोमैक पेन कंपनी के मालिक विक्रम कोठारी और उनके बेटे राहुल कोठारी को CBI ने गिरफ्तार कर लिया, इससे पहले उनके कई घंटों तक पूछताछ की गयी.

आपको बता दें कि विक्रम कोठारी पर कई बैंकों से गलत तरीके से लोन लेकर उसे ना चुकाने का आरोप है, वह देश छोड़कर भी भागने वाले थे लेकिन उनके भागने से पहले जांच एजेंसियां सतर्क हो गयीं, दिल्ली में विक्रम कोठारी से 4 दिन तक पूछताछ की गयी, सबूत मिलने के बाद CBI ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया साथ ही उनके बेटे राहुल कोठारी को भी गिरफ्तार कर लिया गया। 

विक्रम कोठारी पर 3700 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोप है। इसके पहले प्रवर्तन निदेशालय ने कोठारी और उनके परिजनों के जमीन, समुद्र और हवाई मार्ग से भारत छोड़ने पर रोक लगा दी थी। उसकी कई संपत्तियों को सील कर दिया गया है, सभी बैंक खातों को भी सील कर दिया गया है.

Feb 21, 2018

फूलन देवी को गोली मारने वाले शेर सिंह राणा ने बसाया घर

फूलन देवी को गोली मारने वाले शेर सिंह राणा ने बसाया घर

phoolan-devi-murder-convict-sher-singh-rana-married-with-pratima-singh

नई दिल्ली: सांसद फूलन देवी की हत्या में आरोपी शेर सिंह राणा ने आज मध्य प्रदेश के पूर्व विधायक की बेटी के साथ दिल्ली में शादी रचाई,  आपको बता दें राणा ने शादी ही नहीं बल्कि दहेज़ प्रथा के प्रति एक मिशाल पेश की है. शेर सिंह राणा को लड़की के परिवार वालों ने 10 करोड़ की खदान और 31 लाख रुपये कैश दहेज में देना चाहा लेकिन  राणा ने दहेज़ के रूप में सिर्फ एक चांदी का सिक्का लिया।

शेर सिंह राणा और प्रतिमा सिंह की शादी समारोह में महज सौ करीबी लोग ही शामिल रहे। जिसमें ज्यादातर लोग वर-वधू पक्ष के रिश्तेदार थे.

बता दें कि 25 जुलाई 2001 को सपा की तत्कालीन सांसद फूलन देवी की हत्या हो गई थी. वह दिल्ली स्थित सरकारी आवास से निकल रहीं थीं, उसी समय उन पर गोलियां बरसाकर हत्या कर दी गई थी। इस घटना के मुख्य आरोपी के रूप में शेर सिंह राणा का नाम सामने आया, 

दिल्ली की एक अदालत ने 2014 में राणा को फूलन देवी हत्याकांड का दोषी मानते हुए आजीवन कैद की सजा सुनाई। अन्य तीन लोग इस केस में बरी हो गए थे. दिल्ली की अदालत से पिछले साल जमानत पर शेर सिंह राणा को रिहा कर दिया गया था, आज अपनी आजादी का फायदा उठाते हुए शेर सिंह राणा ने अपना घर बसा लिया.

Feb 18, 2018

दिलेर था बॉबी कटारिया जो हरियाणा पुलिस की 6 दिन की रिमांड में बच गया, हरिया 3 दिन में मर गया

दिलेर था बॉबी कटारिया जो हरियाणा पुलिस की 6 दिन की रिमांड में बच गया, हरिया 3 दिन में मर गया

bobby-kataria-alive-in-6-day-police-remand-but-hariya-dead-in-6-day

गुरुग्राम: आज हरियाणा के पलवल से सनसनीखेज खबर आयी है, पुलिस और प्रशासन की नाक में दम करने वाले बदमाश हरिया की पुलिस रिमांड में मौत हो गयी. कहा जा रहा है कि उसकी मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई है. हालाँकि कुछ लोग कह रहे हैं कि यह मौत पुलिस की थर्ड डिग्री से हुई होगी, खैर हरिया के लिए कोई दुखी होने वाला नहीं है क्योंकि वह बदमाश था, इसलिए शायद उसके लिए कोई खड़ा नहीं होगा.

हरिया की मौत से इतना तो साफ़ है हरियाणा पुलिस की रिमांड बहुत खतरनाक होती है, इनके टॉर्चर से किसी का बचना मुश्किल है लेकिन गुरुग्राम के समाजसेवक बॉबी कटारिया गुरुग्राम पुलिस की 6 दिन की रिमांड से बचकर जिन्दा निकल आये, उन्हें भी पुलिस ने चोरी का आरोप लगाकर 6 दिन के रिमांड में लिया था.

बॉबी कटारिया के पत्र के अनुसार 6 दिन में उन्हें इस कदर से टॉर्चर किया गया कि उनके मन में कई बार सुसाइड का ख्याल आया लेकिन उन्होने ऑंखें बंद करके पुलिस का हर जुल्म सह लिया. उनके पीछे दो बच्चे, बीवी, पिता, माँ और भाई भी थे, इसके अलावा उनके लाखों समर्थक भी थे, सुसाइड का विचार आते ही उनके मन में इन लोगों का ख्याल आ जाता था इसलिए उन्होंने जान देने का ख्याल निकाल दिया और इसी का नतीजा है कि आज वह जिन्दा हैं और अपने साथ हुए टॉर्चर को दुनिया के सामने ला रहे हैं.

लेकिन हरिया अपनी जान नहीं बचा पाया, वह बदमाश था, उसनें फरीदाबाद-पलवल में आतंक मचा रखा था, उसनें तीन दिन पहले ही सरेंडर किया था, पलवल पुलिस ने उसे 6 दिन की पुलिस रिमांड में लिया था लेकिन तीसरे दिन ही उसकी मौत की खबर आ गयी.

कहने का मतलब ये है बॉबी कटारिया बहुत हिम्मत वाला था जो हरियाणा पुलिस की 6 दिन की रिमांड से बचकर वापस आ गया जबकि हरिया की तीन दिन में ही मौत हो गयी.

बॉबी कटारिया बताते हैं कि पुलिस रिमांड में उन्हें रात भर निर्वस्त्र रखकर मारा जाता था, उनकी टांगे फाड़ दी जाती थीं, उनके जाँघों पर एक एक क्विंटल का रोलर रखकर पैरों पर चलाया जाता था और उसपर एक दो पुलिस वाले बैठ जाते थे, उसके चेहरे पर पुलिस वाले थूकते थे और उसे चाटने के लिए बोलते थे, ऐसा ना करने पर पूरे परिवार को ख़त्म करने की धमकी देते थे, उसे लेडीज कपडे पहनकर नाचने के लिए बोला जाता था, उसे दूर दूर से पुलिस वाले आकर पीटते थे और उसके शरीर पर थूक-कर चले जाते थे. उसके साथ हर तरह का टॉर्चर किया गया, जिसे उसनें सह लिया.

इतने खतरनाक टॉर्चर से बॉबी कटारिया के दिल में कई बार सुसाइड करने का विचार आया लेकिन उसके समर्थक और परिवार वाले उसकी आँखों में घूमने लगते थे इसलिए वह अपनी जान नहीं दे पाया. 

Feb 15, 2018

प्रेमी जोड़े को रोककर खुद छेड़ने लगे शैतान, वीडियो वायरल, पुलिस से कार्यवाही की मांग

प्रेमी जोड़े को रोककर खुद छेड़ने लगे शैतान, वीडियो वायरल, पुलिस से कार्यवाही की मांग

valentine-day-video-viral-girl-molestation-by-some-unkown-goons

नई दिल्ली: कल वैलेंटाइन डे था इसलिए कल प्रेमी जोड़े अपने अपने घरों से बाहर निकले थे लेकिन उनको रोकने के लिए गुंडे भी निकले थे, एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें कुछ गुंडों ने एक प्रेमी जोड़े को रोककर उनके साथ शैतानी की है.

इस वीडियो का सोर्स नहीं पता चल पाया है क्योंकि शैतान लोग जिस तरह से शैतानी कर रहे हैं पता नहीं इन्होने उनके साथ क्या किया होगा.

शैतानों की शैतानी तो देखिये, प्रेमी जोड़े को रोककर कुछ लोग खुद ही लड़की के साथ छेड़छाड़ करने लगे साथ ही लड़के की पिटाई करने लगे. अभी तक यह नहीं पता चल पाया है कि लड़की के साथ क्या हुआ होगा लेकिन वीडियो में लड़की के साथ कुछ लड़कों को छेड़छाड़ करते साफ़ देखा जा सकता है. इस वीडियो में सभी आरोपी भी दिखाई दे रहे हैं इसलिए पुलिस को इन्हें गिरफ्तार करके कार्यवाही करनी चाहिए.

Feb 12, 2018

प्रवीण तोगड़िया ने किया Valentine Day का समर्थन, दिया युवाओं को प्रेम करने का अधिकार, पढ़ें

प्रवीण तोगड़िया ने किया Valentine Day का समर्थन, दिया युवाओं को प्रेम करने का अधिकार, पढ़ें

praveen-togadia-support-valentine-day-and-love-between-boy-girl

नई दिल्ली: विश्‍व हिंदू परिषद के अंतरराष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष प्रवीण तोगड़िया ने वैलेंटाइन डे का समर्थन किया है। उन्‍होंने कहा क‍ि अगर युवक और युवती प्रेम नहीं करेंगे तो सृष्टि नहीं चलेगी, विहिप नेता ने स्‍पष्‍ट तौर पर कहा कि युवाओं को प्रेम करने का अधिकार है और वैलेंटाइन डे पर किसी तरह का विरोध या हिंसा नहीं होगी। 

आपकी जानकारी के लिए बता दें पिछले कुछ वर्षों से विहिप नेता और कार्यकर्ता प्रेम के प्रतीक वैलेंटाइन डे का विरोध करते रहे हैं। संगठन इसके खिलाफ फरमान जारी कर लोगों को आगाह भी करता रहा है। ऐसे में वैलेंटाइन डे से ठीक पहले प्रवीण तोगड़िया का यह बयान चौकाने वाला है.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, प्रवीण तोगड़िया 11 फरवरी को चंडीगढ़ में विहिप और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, प्रेम नहीं करेंगे तो विवाह नहीं होगा विवाह नहीं होगा तो सृष्टि कैसे चलेगी युवा और युवतियों को प्रेम करने का पूरा अधिकार है.

विहिप और बजरंग दल भारत में वैलेंटाइन डे को प्रतिबंधित करने का वर्षों से मांग करते रहे हैं। दोनों संगठन इसे हिंदू-विरोधी के साथ भारत विरोधी भी मानते हैं. आपको बता दें  क‍ि हर साल 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे के तौर पर मनाया जाता है।

Feb 4, 2018

चाहता तो भागकर सलीमा से शादी कर लेता अंकित, अंतिम समय में उसके अब्बा से हाथ मांगने गया और..

चाहता तो भागकर सलीमा से शादी कर लेता अंकित, अंतिम समय में उसके अब्बा से हाथ मांगने गया और..

ankit-saxena-murder-case-want-marriege-with-saleema-but-killed

नई दिल्ली: अंकित सक्सेना और सलीमा के प्यार की कई ख़बरें आ रही हैं. दोनों आपस में काफी समय से प्यार करते थे और शादी करना चाहते थे लेकिन दोनों का मिलन नहीं हो पाया, इससे कि दोनों शादी कर पाते, सलीमा के अब्बा और मामा ने मिलकर अंकित को मार डाला.

सलीमा के अब्बा पर भरोसा करके मारा गया अंकित

सलीमा ने बताया कि वह और अंकित काफी समय से एक दूसरे से प्रेम करते थे, अंकित एक फोटोग्राफर था और उसके घर के पास ही उसका स्टूडियो था, वहीं पर दोनों की मुलाक़ात हुई थी, अब वे शादी करना चाहते थे, यह भी पता चला है कि सलीमा के घर वाले पहले अंकित के ही घर पर किराए पर रहते थे लेकिन दो तीन साल पहले उन्होने कमरा खाली कर दिया और तीन मकान छोड़कर रहने लगे.

कुछ दिन पहले सलीमा और अंकित ने शादी का फैसला किया और चुपचाप शादी करने का प्लान बनाया, दोनों के प्यार की भनक उनके घर वालों को भी लग चुकी थी. वे दोनों की शादी के लिए राजी नहीं थे, दोनों ने भागकर शादी का प्लान बनाया, सलीमा मेट्रो स्टेशन पर अंकित का इन्तजार कर रही थी, उसके साथ भागने से पहले अंकित ने सोचा कि एक बार उसके अब्बा से बात करता हूँ और उसका हाथ मांगने की कोशिश करता हूँ.

अंकित का यही भरोसा भारी पर गया, वह सलीमा के अब्बा से बात करने गया तो उन्होंने अंकित को रोक लिया और सलीमा के मामा चाचा और अन्य कुछ लोगों को बुला लिया और अंकित को घेरकर उसे पीटने लगे, उसके बाद अंकित के घर वाले आये तो उन्हें भी मारा गया, हत्यारे उसकी हत्या का प्लान बनाकर आये थे, उन्होंने अंकित को पकड़कर उसके गले को चाकू से काट दिया.

जैसे ही सलीमा को इस घटना की खबर लगी, वह भागती हुई आयी, उसे बताया गया कि उसके अब्बा और मामा ने मिलकर अंकित को मार दिया है.  

सलीम ने पुलिस को सारी घटना बताई है, उसनें अपने पापा, मामा और चाचा के खिलाफ गवाही दी है. सलीमा और अंकित का मिलन भले ही ना हो पाया हो लेकिन सलीमा का अंकित के प्रति प्यार बहुत गहरा था, शायद यही कारण है कि अपने प्रेमी अंकित की हत्या करने वाले अपने ही अब्बा और चाचा को सिर्फ 24 घंटे में तिहाड़ भिजवा दिया.

मुस्लिम लड़की से प्रेम में मारे गए अंकित सक्सेना को न्याय दिलाने के लिए घर पहुंचे मनोज तिवारी

मुस्लिम लड़की से प्रेम में मारे गए अंकित सक्सेना को न्याय दिलाने के लिए घर पहुंचे मनोज तिवारी

delhi-bjp-president-manoj-tiwari-demand-justice-for-ankit-saxena

नई दिल्ली: अंकित सक्सेना का मुद्दा भारत का मीडिया इसलिए नहीं उठा रहा है क्योंकि वो हिन्दू है और मारने वाले मुस्लिम हैं, अगर अंकित की जगह कोई दलित या मुस्लिम मारा गया होता तो मीडिया उसके घर के ही बाहर टेंट लगा देता. खैर आज बीजेपी दिल्ली अध्यक्ष मनोज तिवारी उसके लिए न्याय मांगने के लिए उसके घर पहुंचे और परिवार से मिलकर उन्हें सांत्वना दी.

मनोज तिवारी ने अंकित सक्सेना की हत्या को दिल दहला देने वाली घटना बताया। उन्होंने हत्यारों के खिलाफ कड़े कदम उठाने की मांग की। उन्होंने अंकित के कत्ल को पूर्वनियोजित तरीके से की गई पेशेवर हत्या करार दिया है। मनोज तिवारी ने ट्वीट किया, ” अंकित सक्सेना के पिता और परिवार के दूसरे सदस्यों से मिला, परिवार ने अंकित की मां के लिए तुरंत मेडिकल सहायत मांगी, जिसे मुहैया करा दिया गया है, यह पूर्वनियोजित तरीके से की गई पेशेवर हत्या थी। दिल्ली पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और फास्टट्रैक बेसिस पर चार्जशीट फाइल करने का भरोसा दिया है।” 

उन्होंने यह भी कहा कि चूंकि अंकित के परिवार ने अपने घर के कमाने वाले एकमात्र सदस्य को खो दिया है इसलिए उनके परिवार को एक करोड़ मुआवजा दिया जाना चाहिए।

वहीं अंकित के पिता ने मनोज तिवारी से कहा कि उन्हें इंसाफ चाहिए। किसी धर्म से उन्हें नफरत नहीं है। यहां कुछ लोग हमसे बात करते हैं लेकिन उसे मज़हब से जोड़कर दिखा रहे हैं। उन्होंने कहा मेरा इकलौता बेटा चला गया। अब मैं किसी से पैसे वगैरा लेकर क्या करूंगा। मालुम हो कि अंकित के पिता 15 साल पहले ह्रदय की बीमारी से जूझ रहे थे और उन्होंने दुकान बंद कर दी थी जिसके बाद अंकित जब बड़ा हुआ तो फोटोग्राफी का काम कर परिवार को पालता है। अंकित की हत्या के बाद परिवार में कोई कमाने वाला नहीं रहा।

Feb 3, 2018

अंकित सक्सेना को मिली मुस्लिम लड़की से मोहब्बत की सजा, उसके अब्बा ने काट दिया गला, मीडिया खामोश

अंकित सक्सेना को मिली मुस्लिम लड़की से मोहब्बत की सजा, उसके अब्बा ने काट दिया गला, मीडिया खामोश

ankit-saxena-killed-by-father-of-muslim-premika-in-delhi-hindi-news

नई दिल्ली: दिल्ली से एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आयी है. 23 साल के अंकित सक्सेना की वीरवार छूरे से गर्दन काट दी गई, उसका कसूर ये था कि वो दूसरे मजहब (मुस्लिम) की लड़की से मुहब्बत करता था, लड़की के पिता ने उसे मुहब्बत करने की सजा दी और उसकी गर्दन ही काट दी.

अंकित की हत्या के बाद लड़की ने पुलिस को दिए बयान में बताया कि अंकित का इंतजार टैगोर गार्डन मेट्रो स्टेशन पर कर रही थी. वह अपने घर से बाइक लेने गया था. मुझे किसे ने बताया कि उसकी हत्या कर दी गई है. मेरे पापा और अंकल ने ये सब किया है।

अगर यही घटना किसी मुस्लिम के साथ हुयी होती तो अब तक मीडिया वाले तहलका मचा देते लेकिन जिस अंकित को मोहब्बत के चलते मार दिया गया, मीडिया ने उसका नाम तक नही बताया यह घटना गुरुवार शाम की वेस्ट दिल्ली के रघुबीर नगर की है.

अपने बयान में अंकित कि माँ ने बताया की वह काम से लौट रहा था तो लड़की के पिता का फोन आया. उन्होंने अंकित के स्टुडियो में आने के लिए कहा. कुछ देर बाद पड़ोस का एक बच्चा भागते हुए आया और उसने बताया कि अंकित को चौक पर कुछ लोगों ने पीटा है. जब मैं वहां पहुंची तो मेरे पिता और अंकल अंकित को लात से मार रहे थे और वह जमीन पर पड़ा था।

अंकित की हत्या के पहले लड़की के घरवालों ने अंकित के माता-पिता को भी बुरी तरह पीटा था। अंकित की माँ को गंभीर चोटें आई थी. पेट में भी चोटें लगी थी लेकिन शुक्रवार सुबह उन्होंने अस्पताल से जबर्दस्ती छुट्टी ले ली. अब अंकित की मौत के बाद परिवार वालों का बुरा हाल हो गया है. 

Jan 22, 2018

भारत का लादेन बनना चाहता था आतंकी अब्दुल कुरैशी, धमाका करने से पहले दिल्ली पुलिस ने दबोचा

भारत का लादेन बनना चाहता था आतंकी अब्दुल कुरैशी, धमाका करने से पहले दिल्ली पुलिस ने दबोचा

indian-laden-atanki-abdulan-shubham-qureshi-arrested-by-delhi-police

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली से आतंकी संगठन इंडियन मुजाहिद्दीन के कुख्यात आतंकी को गिरफ्तार किया गया है। दिल्ली पुलिस और एनआईए की टीम ने एक मुठभेड़ के बाद इसे गाजीपुर से गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए इस आतंकी का नाम अब्दुल सुभान कुरैशी बताया जा रहा है। 

अब्दुल सुभान कुरैशी को भारत का ओसामा बिन लादेन कहा जाता है यह इंडियन मुजाहिद्दीन और सिमी से जुड़ा है. यह मोस्ट वांटेड आतंकी देश में दहशत फैलाने की कई बड़ी वारदातों में शामिल रहा है। यह लादेन की तरह भारत में कोई बड़ा धमाका करना चाहता था लेकिन इससे पहले कि यह लादेन बन पाता, दिल्ली पुलिस ने इसे धर दबोचा.

आतंकी अब्दुल कुरैशी दिल्ली, अहमदाबाद और बेंगलुरु में हुए ब्लास्ट में शामिल था। कुरैशी साल 2006 में मुंबई में ट्रेन में हुए ब्लास्ट का भी संदिग्ध माना जाता है. अब्दुल सुभान कुरैशी साल 2008 में गुजरात में हुए सीरियल धमाकों का मास्टर माइंड बताया जा रहा है। गणतंत्र दिवस से चार दिन पहले दिल्ली पुलिस ने इसे दबोच कर बहुत बड़ा काम किया है। ये आतंकी कई खुलासे कर सकता है।

Jan 20, 2018

रेप के बाद I Love You बोली थी महिला, इसलिए सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया रेप का आरोप, पढ़ें

रेप के बाद I Love You बोली थी महिला, इसलिए सुप्रीम कोर्ट ने खारिज किया रेप का आरोप, पढ़ें

mahmood-farooqui-get-relief-from-supreme-court-in-rapa-case

नई दिल्ली: देश में ऐसा भी होता है कि कुछ महिलाएं पहले किसी पुरुष के साथ मर्जी से रहती हैं और जब उनके साथ अनबन होती है तो उनपर रेप का आरोप लगाकर उन्हें फंसा देती हैं. ऐसा ही एक मामले में पीपली लाइव फिल्म के सह-निर्देशक महमूद फारूकी भी फंसे हुए थे.

महमूद फारूकी को रेप केस में सुप्रीम कोर्ट से बड़ी राहत मिली है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि अगर फारूकी ने रेप किया होता तो अगले दिन लड़की उन्हें आई लव यू न बोलती। पीड़िता ने मामले के अगले दिन फारूकी को मेल किया था और लव यू बोला था। कोर्ट ने पीड़ित पक्ष के वकील से पूंछा कि आपने कितने मामले ऐसे देखें हैं जिनमे पीड़िता रेप के बाद लव यू बोलती है। फारूकी पर रेप का आरोप लगाने वाली महिला ने हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील की थी।

शुक्रवार को जस्टिस एसए बोबडे और जस्टिस एल नागेश्वर राव की बेंच ने पहली ही सुनवाई में हाई कोर्ट के आदेश को चुनौती देने वाली याचिका खारिज कर दी। बेंच ने कहा कि ‘इस मामले में फैसला बहुत अच्छी तरह से दिया गया है और इसमें हस्तक्षेप की कोई आवश्यकता नहीं है।

मालुम हो कि हाईकोर्ट ने इस मामले में फारूकी को राहत दी थी और फैसला सुनाते हुए कहा था कि हर बार नो का मतलब नो नहीं होता है। कोर्ट ने कहा कि ऐसे भी कई उदाहरण हैं, जब महिला द्वारा एक कमजोर ‘नो’ का मतलब ‘यस’ भी हो सकता है। कोर्ट ने इस मामले में टिप्पणी करते हुए कहा, ‘यह बात अब भी संदेह के दायरे में है कि महिला द्वारा बताया गया वाकया हुआ भी था या नहीं। और यदि हुआ भी था तो इस पर भी संदेह है कि ऐसा महिला की मर्जी के बगैर हुआ था।’

Jan 12, 2018

खतरनाक चक्रव्यूह में फंस गए हैं बॉबी कटारिया, कैसे निकलेंगे बाहर, क्या है कानूनी तरीका, पढ़ें

खतरनाक चक्रव्यूह में फंस गए हैं बॉबी कटारिया, कैसे निकलेंगे बाहर, क्या है कानूनी तरीका, पढ़ें

how-bobby-kataria-trapped-by-gurugram-and-faridabad-police-image

गुरुग्राम: गुरुग्राम के समाजसेवक बॉबी कटारिया बहुत बड़े चक्रव्यूह में फंस चुके हैं. पुलिस ने कम से कम उन्हें 5 साल तक जेल में रखने की तैयारी कर ली है लेकिन अगर बॉबी कटारिया के वकीलों ने सही ढंग से हाई कोर्ट और सेशन कोर्ट में केस की पैरवी की तो 3-6 महीनें में वह जेल से बाहर आ सकते हैं.

गुरुग्राम पुलिस ने काफी समय पहले से ही बॉबी कटारिया के लिए चक्रव्यूह तैयार कर लिया था. अगर बॉबी कटारिया ने इस चक्रव्यूह को समझ लिया होता तो वह जाल में ना फंसते लेकिन उन्होंने पुलिस को हलके में ले लिया. पुलिस ने उनके खिलाफ 29.8.2012 को ही धारा 379B के तहत FIR लिखकर रख ली थी जिसमें उनपर एक बुजुर्ग के कार की चाबी छीनने का आरोप लगाया था. मतलब यहाँ पर पुलिस भी फूंक फूंक कर कदम रख रही है.

टॉर्चर से बच सकता था बॉबी कटारिया, हुई चूक

बॉबी कटारिया को 24 दिसम्बर को रात 11 बजे गिरफ्तार किया गया था. उसके बाद उसे 6 दिन पर रिमांड में लेकर कथित तौर पर थर्ड डिग्री दी गयी. यहीं पर बॉबी का घर वालों से गलती हो गयी. उन्हें तुरंत हाई कोर्ट पहुंचकर Writ Petition (आर्टिकल - 226 के अंतर्गत) दाखिल करनी चाहिए थी. अगर Writ Petition दाखिल हो गयी होती तो हाई कोर्ट की टीम आकर पुलिस थाने पर छापा मार देती और बॉबी कटारिया का टॉर्चर नहीं हो पाता लेकिन ऐसा नहीं किया गया.

बॉबी कटारिया के खिलाफ क्या है चक्रव्यूह

बॉबी कटारिया को लम्बे समय तक अन्दर रखने के लिए उसपर गुरुग्राम और फरीदाबाद पुलिस ने मिलकर 8 धाराएं लगाई हैं. इस वक्त वह फरीदाबाद जेल में धारा 386 (जबरन वसूली) तोड़ने के लिए जेल की सजा काट रहा है लेकिन अगर उसकी बेल ली गयी तो पुलिस उसे फिर से गिरफ्तार करके दूसरी धाराओं में जेल में भेज देगी.

बॉबी कटारिया पर ये हैं धाराएं

धारा 186: सरकारी काम में बाधा पहुंचाने की धारा है. इसमें तीन महीनें की सजा है लेकिन बैलेबल है, मतलब जमानत मिल सकती है.
धारा 323: पर्स चोरी का केस, इसमें एक साल की सजा है और यह भी बेलेबल है, जमानत मिल सकती है.
धारा 332: सरकारी मुलाजिम को दुःख पहुंचाने पर दर्ज होती है, इसमें तीन साल की सजा है और नॉन-बेलेबल है, मतलब तुरंत जमानत नहीं मिल सकती है.
धारा 353: ये भी सरकारी काम में बाधा डालने पर दर्ज होती है, जैसे किताब फाड़ देना, जन बूझकर तोड़ फोड़ करना. इसमें दो साल की सजा है और नॉन-बेलेबल है, मतलब तुरंत जमानत नहीं मिलती है.
धारा 379B: यह बहुत बड़ी धारा है, इसमें बॉबी कटारिया पर इल्जाम है कि वह एक बुजुर्ग की गाड़ी की चाभी छीनकर भाग गया था. पुलिस इस केस में खुद ही कहानी गढ़ लेती है, यह धारा पुलिस तब लगाती है जब आरोपी को लम्बे समय तक जेल में रखना होता है. इसमें 10 साल की सजा है और 25 हजार रुपये जुर्माना है. इसमें सेशन ट्रायल होता है. मतलब निचली कोर्ट में ही चलता है. हाई कोर्ट में इसकी पैरवी नहीं की जा सकती. इस केस में बॉबी को ज्यादा से ज्यादा समय तक रखा जा सकता है.
धारा 506: यह अपराध करने की कोशिश करने पर दर्ज होता है, इसमें 2 साल की सजा है लेकिन बेलेबल है, जमानत मिल सकती है.
हरिजन एक्ट (SC-ST): किसी दलित के खिलाफ जातिसूचक शब्द बोलकर गाली-गलौज करना, (6 महीनें से 10 साल की सजा), यह नॉन-बेलेबल है, मतलब तुरंत जमानत नहीं मिलती है.

चक्रव्यूह से कैसे निकलेंगे बॉबी कटारिया

बॉबी कटारिया के पैरोकारों को हाई कोर्ट में जाकर यह अपील करनी चाहिए कि उन्हें यह बताया जाय कि बॉबी कटारिया पर कितनी FIR दर्ज हैं, क्योंकि पुलिस उस पर केस पर केस दर्ज कर रही है, अगर उसे जमानत दिलाई जाएगी तो पुलिस दूसरे मामले में गिरफ्तार कर लेगी. ऐसे में सबसे पहले सभी दर्ज FIR की जानकारी मांगनी चाहिए. हाई कोर्ट में पुलिस को पूरी जानकारी देनी पड़ेगी.

उसके बाद यह पता करना चाहिए कि पुलिस ने उसे किस मामले में अरेस्ट किया है. अगर पुलिस ने 379B में अरेस्ट किया है और उसे छोड़कर अन्य मामलों को खारिज कराने के लिए हाई कोर्ट में क्वेशिंग (Quash Application) डालनी चाहिए ताकि जो फर्जी FIR हैं उन्हें एक के बाद एक करके रद्द किया जा सके. उसके बाद जिस धारा में बॉबी कटारिया को अन्दर किया गया है उसके खिलाफ भी Quash Application डालकर या तो उसे खारिज करवानी चाहिए या हाई कोर्ट से बेल ले लेनी चाहिए. 

मतलब पहले FIR की लिस्ट निकलवाओ ताकि पुलिस आगे कोई FIR दर्ज ना कर सके. उसके बाद यह पता करो कि पुलिस ने किस मामले में जेल में डाला है, उसके बाद उस FIR को छोड़कर पहले अन्य FIR को हाई कोर्ट से Quash Application के जरिये खारिज करानी चाहिए. उसके बाद सभी फर्जी FIR खारिज करने के बाद जिस मामले में जेल में बंद हैं उसके खिलाफ हाई कोर्ट से बेल लेनी चाहिए.

Jan 8, 2018

भारत की जनसँख्या में हुआ विस्फोट, मोदीजी कहते रहे सवा सौ करोड़, 4 साल में बढ़ गए 10 करोड़ और

भारत की जनसँख्या में हुआ विस्फोट, मोदीजी कहते रहे सवा सौ करोड़, 4 साल में बढ़ गए 10 करोड़ और

india-population-increase-134-crore-from-125-crore-in-2014-image

नई दिल्ली: भारत की जनसँख्या में बहुत बड़ा विस्फोट हुआ है. सिर्फ चार वर्षों में भारत की जनसँख्या करीब 10 करोड़ बढ़ गयी है. अगर ऐसा ही रहा तो आने वाले पांच-दस वर्षों में भारत चीन को पीछे छोड़कर सबसे अधिक जनसँख्या वाला देश बन जाएगा.

आपने सुना होगा कि भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अपनी हर रैलियों में भारत के सवा सौ करोड़ देशवासियों की बात करते हैं. वह 2014 लोकसभा चुनाव से पहले से ही यह बात बोलते आ रहे हैं लेकिन अब अगले लोकसभा चुनाव (2019) में उन्हें भारत के 135 करोड़ देशवासियों वाला डायलाग बोलना पड़ेगा. भारत ने सिर्फ पांच वर्षों में 10 करोड़ लोगों की तरक्की कर ली है.

भारत की बढ़ती जनसँख्या पर केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने चिंता प्रकट की है. उन्होंने कहा कि सिर्फ सात दिनों में भारत की संख्या 2.5 लाख बढ़ गयी. बढती जनसँख्या विकास और सामजिक समरसता के लिए खतरा है.

Jan 7, 2018

मुस्लिम महिला की सुबह आँख खुली और मोबाइल खोला तो शौहर ने लिखा - तलाक तलाक तलाक, तुम आजाद हो

मुस्लिम महिला की सुबह आँख खुली और मोबाइल खोला तो शौहर ने लिखा - तलाक तलाक तलाक, तुम आजाद हो

muslim-women-rubi-get-triple-talaq-from-her-husband-news-hindi

उत्तर प्रदेश:  एक मुस्लिम महिला ने सुबह जैसे ही ऑंखें खोलीं और मोबाइल खोला और देखा की एक सन्देश आया हुआ था जो उसके शौहर ने भेजा था, मैसेज में तीन बार तलाक तलाक तलाक देखते ही महिला के होश उड़ गए.

यह मामला उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले का है. रूबी नाम की महिला को उसके शौहर ने मैसेज भेजा - रूबी, मैं हफीज, तुझे आजाद करता हूँ, तू जहाँ चाहे जा, रूबी तलाक, रूबी तलाक, रूबी तलाक.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि तीन तलाक मुस्लिम महिलाओं के लिए बहुत दुखदायी साबित हो रहा है। मोदी सरकार ने लोकसभा में तो तीन तलाक का बिल पास करवा दिया लेकिन  कांग्रेस ने राज्य सभा में इसे लटका दिया.

अब मुस्लिम महिलाओं को इस बीमारी से मुक्ति पाने के लिए या तो राज्य सभा में मोदी सरकार की बहुमत का इन्तजार करना पड़ेगा या कांग्रेस पर आस लगानी होगी.
पुलिस हो तो इटावा जैसी, पिता ने घुमाने से इनकार किया तो पुलिस ने खुद घुमाया मेला, पूरी की इक्षा

पुलिस हो तो इटावा जैसी, पिता ने घुमाने से इनकार किया तो पुलिस ने खुद घुमाया मेला, पूरी की इक्षा

up-etawah-police-praised-for-taking-children-to-mela-numaish-news

उत्तर प्रदेश: पुलिस हो तो उत्तर प्रदेश की इटावा जैसी, दरोगा हों तो इटावा जैसे, सिपाही हों तो इटावा जैसे, यह खबर पढ़कर आप यही कहेंगे. सूचना के अनुसार कल इटावा जिले के एक थाने में एक बच्चा अपने पिता की शिकायत लेकर पंहुचा कि मेरे पिताजी मुझे नुमाइश (मेला) दिखाने नहीं ले जा रहे हैं, आप उन्हें समझाओ या थाने में लाकर कूट दो. बच्चा पूरे कांफिडेंस में लग रहा था.

इसके बाद पुलिस ने खुद निर्णय लिया कि वह बच्चे को नुमाइश में ले जाएंगे, उसके बाद पुलिस ने बच्चे और उनके सभी दोस्तों को इकठ्ठा किया और नुमाइश में ले गए, सभी बच्चों को झूला झुलाया और IceCream भी खिलाई. सोशल मीडिया पर आज इटावा पुलिस की जमकर तारीफ हो रही है. लोग कह रहे हैं कि पुलिस को तो यूपी जैसी, इटावा जैसी. यह घटना 31 दिसम्बर की है.

पढ़ें क्या है पूरा मामला 

आपकी जानकारी के लिए बता दें यूपी पुलिस ने एक वीडियो शेयर किया था जिसमें एक छोटा सा बच्चा ओमनारायण गुट अपने पिता की शिकायत कर रहा है, बच्चे ने कहा कि मेरे पिताजी मुझे नुमाइश दिखाने नहीं ले जा रहे हैं. उनका ध्यान घूमने पर अधिक लगता है, जब मम्मी उन्हें बोलती हैं तो वे घर में कलेश करते हैं जिसे देखकर मम्मी खिसियाती रहती हैं.

जब पुलिस ने कहा की पापा का क्या नाम है तो बच्चे ने बताया - अमरनाथ गप्ता. पुलिस ने पूछा - क्या दिक्कत है तो कहा कि पापा मुझे नुमाइश दिखाने नहीं ले जा रहे हैं, आज मैंने कहा तो उन्होंने मुझे मारा. बच्चे ने कहा कि मेरे दोस्त माधव, सलोनी, तनु नुमाइश घूमने जा रहे रहे रहे हैं, मुझे भी ले जाओ तो बोले नहीं ले जाऊँगा.

पुलिस वाले ने पूछा कि यहाँ किसलिए आये हो तो बच्चे ने कहा कि मेरे पिता ने कहा कि - जो करना है कर लो, नुमाइश दिखाने नहीं ले जाऊँगा तो मैं यहाँ पर शिकायत लेकर आ गया. आप अगर एक बार कह दो तो शायद ले जाएं और अगर उसके बाद भी ना मानें तो यहाँ लाकर उन्हें पीट दो.

पुलिस वाले ने पूछा कि क्या पापा आपको मारते हैं तो बच्चे ने कहा कि जब गुस्सा आता है तो मारते हैं. पुलिस वाले ने कहा कि शिकायत तो आप गुस्से में करने आये हैं तो बच्चे ने कहा कि गुस्से में मेरा पारा गरम हो गया है इसलिए मैं यहाँ आ गया.

पुलिस वाले ने कहा कि अगर आपके पिता को समझा दें तो मान जाओगे तो बच्चे ने कहा की समझा दो, और उनसे कह दो कि शनिवार और रविवार को दुकान बंद करके घर पर ही रहा करें, वे दोनों दिन शटर बंद करके घूमने निकल जाते हैं और घूम घूमते हैं. कहते हैं आ रहे हैं, आ रहे हैं लेकिन दो दो घंटे लगा देते हैं. मम्मी खिसियाती रहती हैं और कहती हैं कि तुम लोगों की वजह से मैं जी रही हूँ. देखें वीडियो.

Dec 28, 2017

राष्ट्रपति की कुर्सी से उतरते ही जाम में फंसने लगे ओबामा

राष्ट्रपति की कुर्सी से उतरते ही जाम में फंसने लगे ओबामा

president-barack-obama-interview-prince-harry-bbc-latest-news

नई दिल्ली: एक समय था जब बराक ओबामा अमेरिका के राष्ट्रपति थे, उस समय वह दुनिया के सबसे ताकतवर नेता माने जाते थे, उनकी सुरक्षा इतनी मजबूत होती थी कि कोई परिंदा भी पर नहीं मार सकता था, जब भारत आते थे तो यहाँ पर उनकी सुरक्षा के लिए 15000 CCTV कैमरे लगाने पड़ते थे. अमेरिका में उनकी वजह से बड़े बड़े ट्रैफिक जाम लगते थे लेकिन अब वही बराक ओबामा खुद जाम में फंसने लगे हैं.

बराक ओबामा ने हाल ही में BBC रेडियो के लिए ब्रिटेन के प्रिंस हैरी को इंटरव्यू दिया, उन्होंने बताया कि राष्ट्रपति पद से जाने के बाद उनकी जिन्दगी में क्या क्या बदलाव आये. उन्होंने कहा कि जब मैं राष्ट्रपति था तो मेरी वजह से जाम लगता था लेकिन अब मैं खुद ही जाम में फंसता हूँ.
सोनू पंजाबन का बड़ा खुलासा, उसके सेक्स रैकेट में शामिल थीं कॉलेज की लडकियां, एक रात के 6000

सोनू पंजाबन का बड़ा खुलासा, उसके सेक्स रैकेट में शामिल थीं कॉलेज की लडकियां, एक रात के 6000

sonu-punjaban-revealed-her-sex-racket-college-girls-take-rs-6000

नई दिल्ली: हाल में गिरफ्तार सेक्स रैकेट क्वीन सोनू पंजाबन ने पुलिस पूंछतांछ में बड़ा खुलासा किया है कि उसके सेक्स रैकेट में अधिकतर कॉलेज की लडकियां शामिल होतीं थीं। ये लडकियां 6000 रूपये लेतीं थीं बाकी सोनू पंजाबन अपने पास रखती थी। 

ये लडकियां दिल्ली एवं आसपास के कॉलेजों में पढ़ने वाली होती थीं जो कुछ दिन उसके साथ रहकर पैसे कमाने के लिए देह व्यापर करती थीं। सोनू पंजाबन ने पुलिस को बताया कि कॉलेज की लडकियां सोशल मीडिया के माध्यम से उसके साथ सेक्स रैकेट के धंधे से अपने आप जुड़तीं थीं। पुलिस सोनू पंजाबन पर मकोका लगाने पर विचार कर रही है। मकोका लगने के बाद सोनू पंजाबन को आसानी से जमानत नहीं मिल सकेगी।

मालुम हो कि कई साल से देह व्यापार का रैकेट चला रही सोनू पंजाबन पर पुलिस ने साल 2011 में मकोका लगाया था। कई साल तक चले ट्रायल के बाद वह मकोका केस में बरी हो गई। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मामले की गंभीरता को देखते हुए सोनू पर दोबारा मकोका लगाया जा सकता है, क्योंकि वह लगातार अपना रैकेट चला रही है। 

आपको एक बात और बता दें कि आपने जहां भी सेक्स रैकेट में गिरफ्तार लडकियां एवं महिलाओं को देखा होगा अधिकतर उनका चेहरा ढंका हुआ देखा होगा लेकिन सोनू पंजाबन का चेहरा कभी भी ढंका हुआ नहीं देखा होगा। सोनू पंजाबन जानबूझकर अपना चेहरा नहीं ढंकती क्योंकि उसे अपनी खबर अपना चेहरा टीवी पर अखबारों में देखना अच्छा लगता है।