Showing posts with label Punjab. Show all posts
Showing posts with label Punjab. Show all posts

11 May, 2017

झाडू से इतनी हुई नफरत की घुग्गी ने दे दिया इस्तीफ़ा

झाडू से इतनी हुई नफरत की घुग्गी ने दे दिया इस्तीफ़ा

gurpreet-singh-ghuggi-resign-from-aap-party-in-panjab

अमृतसर: आम आदमी पार्टी के लगभग सभी नेता केजरीवाल की तरह जल्द से जल्द मुख्यमंत्री या प्रधानमंत्री बनना चाहते हैं, किसी को इन्तजार करना पसंद नहीं है, ये लोग चाहते हैं कि पार्टी में आते ही उन्हें बड़ा पद मिल जाए, एक ही चुनाव में विधायक, मंत्री या मुख्यमंत्री बन जाएं ताकि अगले पांच साल में सीधा प्रधानमंत्री बन जाएँ, ये सपना केजरीवाल भी देखते हैं और उन्हीं की तरह आम आदमी पार्टी के सभी नेता देखते हैं इसलिए कोई भी नेता इस पार्टी में अधिक दिनों तक नहीं टिकता और उसे झाडू से इतनी नफरत हो जाती है कि पार्टी छोड़ देता है.

कल पंजाब में भी ऐसा ही देखने को मिला, मशहूर कॉमेडियन और फिल्म कलाकार गुरप्रीत सिंह घुग्गी को पार्टी में आये केवल एक साल हुए थे, स्टारडम की वजह से केजरीवाल ने उन्हें पंजाब का संयोजक बना दिया, वे सीधा मुख्यमंत्री भी बनना चाहते थे लेकिन आम आदमी पार्टी पंजाब में चुनाव हार गयी, पार्टी की हार के बाद उन्हें संयोजक पद से हटाकर उनकी जगह आप सांसद भगवंत मान को पंजाब का संयोजक बना दिया गया.

जैसे ही घुग्गी को भगवंत मान को पंजाब का संयोजक बनाए जाने की खबर मिली उन्हें तुरंत ही झाडू से नफरत हुई और उन्होंने तुरंत ही पार्टी से इस्तीफ़ा दे दिया. उन्होंने कहा कि वे भगवंत मान के संयोजक बनाए जाने से नाराज नहीं हैं लेकिन जिस तरह से उन्हें बिना बताये हटाया गया वह उस तरीके से नाराज हैं. कम से कम एक बार उन्हें सूचना तो दे दी जाती कि उनकी जगह भगवंत मान को राज्य का संयोजक बनाया गया है.

घुग्गी के अलावा आप के एक और बड़े नेता सुखपाल सिंह ने भी भगवंत मान को संयोजक बनाने की वजह से इस्तीफ़ा दे दिया है, उन्होने कहा है कि भगवंत मान तो नशे में डूबे रहते हैं, उनके साथ काम करना मुश्किल है.

13 April, 2017

अगर EVM में खराबी होती तो मै CM थोड़ी बनता, मेरी जगह अकाली-बीजेपी सत्ता में होती: अमरिंदर सिंह

अगर EVM में खराबी होती तो मै CM थोड़ी बनता, मेरी जगह अकाली-बीजेपी सत्ता में होती: अमरिंदर सिंह

amarindar-singh-refused-to-accept-evm-temparing

नई दिल्ली: कांग्रेस के दूसरे बड़े नेता ने अपनी पार्टी से अलग राय देकर EVM में छेड़छाड़ के आरोप को नकारा है, सुबह पूर्व कानून मंत्री वीरप्पा मोइली ने EVM में छेड़छाड़ को गलत बताया था तो शाम को अमरिंदर सिंह ने EVM में छेड़छाड़ को पूरी तरह से गलत बता दिया.

उन्होंने कहा कि EVM में छेड़छाड़ का आरोप पूरी तरह से गलत है, अगर वाकई में EVM से छेड़छाड़ की जा सकती तो अकाली-बीजेपी EVM को छेड़कर सारे वोट अपने पक्ष में कर लेते और फिर से सरकार बना लेते है, अगर EVM में छेड़छाड़ होती तो ना ही पंजाब में कांग्रेस की सरकार बनती और ना ही मैं मुख्यमंत्री बनता बल्कि अकाली दल का कोई नेता मेरी कुर्सी पर बैठा होता.

जानकारी के लिए बता दें कि केजरीवाल और मायावती के बाद कांग्रेस ने भी EVM में छेड़छाड़ को मुद्दा बना लिया है, कांग्रेस EVM के बजाय बैलट पेपर से चुनाव कराने की मांग कर रही है, यह भी सोचने लायक है कि इन्हीं EVM से पंजाब में कांग्रेस को 117 में से 77 सीटें मिली थीं और बहुमत के साथ कांग्रेस की सरकार बनी है.

कुछ भी हो लेकिन अमरिंदर सिंह वीरप्पा मोइली के बाद कांग्रेस के दूसरे नेता हैं जिन्होंने सच को स्वीकार किया है, वीरप्पा मोइली को कांग्रेस पहले ही समन भेज चुकी है अब देखना यह है कि अमरिंदर सिंह को भी समन भेजा जाता है या नहीं, वैसे यह चर्चा पहले भी उड़ चुकी है कि पंजाब के विकास के लिए अमरिंदर सिंह अपने दल बल के साथ बीजेपी में शामिल हो सकते हैं.

01 April, 2017

पंजाब की कांग्रेस सरकार ने भी शुरू किया एक्शन, 500 नशा कारोबारियों को किया गिरफ्तार

पंजाब की कांग्रेस सरकार ने भी शुरू किया एक्शन, 500 नशा कारोबारियों को किया गिरफ्तार

amarinder-singh-sarted-action-against-drug-mafiya-500-arrested

नई दिल्ली, 31 मार्च: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी एक्शन शुरू कर दिया है, उन्होंने नशे के खिलाफ जबरजस्त एक्शन शुरू कर दिया, पुलिस ने ऐसा डंडा घुमाया कि देखते ही देखते 500 नशा कारोबारियों को गिरफ्तार कर लिया गया।

मुख्यमंत्री ने संवाददाताओं से कहा, "सरकार द्वारा शुरू किए गए मादक पदार्थ रोधी अभियान के नतीजे मिल रहे हैं। पंजाब पुलिस के फिर से सक्रिय होने और उसके द्वारा मादक पदार्थो का धंधा करने वालों के खिलाफ 181 हेल्पलाइन के प्रचार के दो दिनों के भीतर ही 240 खुफिया सूचनाएं मिलीं और मादक पदार्थो के मामले में गिरफ्तारियों का आंकड़ा लगभग 500 तक पहुंच गया।"

मुख्यमंत्री कार्यालय के एक प्रवक्ता ने कहा कि 16 मार्च से 29 मार्च के बीच मादक पदार्थो के 497 व्यापारियों व विक्रेताओं के खिलाफ मामला दर्ज किया गया, जिनमें से 449 मामले नारकोटिक ड्रग्स एंड साइकोट्रॉपिक सब्सटेंसेज एक्ट (एनडीपीएस) के तहत दर्ज किए गए।

प्रवक्ता ने कहा कि गिरफ्तार लोगों के पास से 4.034 किलोग्राम हेरोइन तथा 0.605 किलोग्राम स्मैक बरामद किए गए।

इसके अलावा, उनके पास से 2.22 किलोग्राम चरस, 24.46 किलोग्राम अफीम, 715.31 किलोग्राम अफीम भूसी तथा 1.879 किलोग्राम भांग बरामद हुई। पुलिस ने 12.519 किलोग्राम नशीला पाउडर, 1,576 इंजेक्शन, 1,11,893 पिल्स/कैप्सूल, 72.78 किलोग्राम गांजा तथा 133 सीरप बोतलें बरामद की हैं।

कांग्रेस की कैप्टन अमरिंदर सिंह की सरकार ने मादक पदार्थो पर निगरानी रखने के लिए अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक हरप्रीत सिद्धू के मातहत एक विशेष कार्य बल (एसटीएफ) का गठन किया है। 

अमरिंदर सिंह ने कहा कि उन्होंने मादक पदार्थो के धंधे को कुचलने में शामिल पुलिस तथा खुफिया विभागों को निर्देश दिया है कि आने वाले दिनों में वे और आक्रामक ढंग से लोगों तक अपनी पहुंच बनाकर उनका समर्थन हासिल करें और चार सप्ताह के अंदर इस सामाजिक बुराई को खत्म करने के सरकार के उद्देश्यों को पूरा करें।

उन्होंने कहा, "अब तक मिली खुफिया जानकारियों की पुष्टि की जा रही है और पुष्टि होने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। जो भी सूचनाएं मिल रही हैं वे अधिकांशत: मादक पदार्थो के बिकने की जगह और इस धंधे में शामिल लोगों के बारे में हैं। मादक पदार्थो का इस्तेमाल करने वाले लोगों का पुलिस या अन्य एजेंसियों द्वारा उत्पीड़न नहीं किया जाएगा।"

कैप्टन अमरिंदर सिंह ने प्रदेश विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान संकल्प लिया था कि सत्ता में आने के चार सप्ताह के अंदर वह राज्य से मादक पदार्थो की बुराई को पूरी तरह खत्म करके रहेंगे।

23 March, 2017

SAD नेता प्रेम सिंह ने बनाया सिद्धू का मजाक, इन्हें कॉमेडी ही करनी है तो मंत्री क्यों बनाया?

SAD नेता प्रेम सिंह ने बनाया सिद्धू का मजाक, इन्हें कॉमेडी ही करनी है तो मंत्री क्यों बनाया?

sad-leader-prem-singh-citicize-navjot-singh-sidhu-for-comedy-show
चंडीगढ़, 23 मार्च: पंजाब के कैबिनेट मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की कॉमेडी शो में काम करने की जिद ने उनके विरोधियों को भी कहने का मौका दे दिया है, आज शिरोमणि अकाली दल (SAD) के नेता प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने भी सिद्धू का मजाक उड़ाते हुए कहा कि मंत्री जनता के लिए 24 घंटे ड्यूटी पर रहते हैं लेकिन सिद्धू तो कह रहे हैं कि मैं शाम 6 बजे के बाद अपना काम करूँगा, अगर इन्हें 24 घंटे काम नहीं करना था, अगर इन्हें कॉमेडी शो ही करना था तो अमरिंदर सिंह ने इन्हें मंत्री क्यों बनाया। 

प्रेम सिंह चंदूमाजरा ने अमरिंदर सिंह पर भी सवाल खड़े करते हुए कहा कि एक मंत्री कॉमेडी शो में काम करने की जिद कर रहा है और वे कोई कड़ा एक्शन नहीं ले पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज सिद्धू जिस पद पर बैठे हैं, जनता को किसी भी समय ड्यूटी देनी पड़ सकती है, उन्हें 24 घंटे जनता की सेवा में हाजिर रहना होगा, अगर वे कॉमेडी शो करेंगे तो उनका काम कौन करेगा। 

उन्होंने कहा कि अमरिंदर सिंह को सिद्धू पर कठोर एक्शन लेते हुए उन्हें टीवी शो में काम करने से रोकना चाहिए, लेकिन मुझे लगता है कि अमरिंदर सिंह स्वयं कन्फ्यूज हैं। 

जानकारी के लिए बता दें कि कल नवजोत सिंह सिद्धू ने साफ़ साफ़ कहा था कि वे कॉमेडी शो में काम करना नहीं छोड़ेंगे, वे शाम 6 बजे के बाद कुछ भी करें इसके लिए किसी को दिक्कत नहीं होनी चाहिए, अगर मैं पार्टी टाइम बिजनेस नहीं करूँगा तो अपना खर्चा कैसे चलाऊंगा, क्या मैं भी औरों की तरह भ्रष्टाचार करूँ, नहीं, मैं भ्रष्टाचार नहीं करूँगा और पैसे कमाने के लिए कॉमेडी शो में काम करता रहूँगा। 
किसी को समझ में नहीं आ रहा हैं नवजोत सिंह सिद्धू का ये तर्क, करवा रहे हैं अपनी ही बेइज्जती

किसी को समझ में नहीं आ रहा हैं नवजोत सिंह सिद्धू का ये तर्क, करवा रहे हैं अपनी ही बेइज्जती

navjot-singh-sidhu-comedy-show-issue-people-making-fun-of-him
Chandigarh, 23 March: नवजोत सिंह सिद्धू को पंजाब की जनता ने पांच साल अपनी सेवा के लिए चुना है, पंजाब की जनता अपने खून पसीने की कमाई से पांच साल तक सिद्धू का खर्चा चलाएगी, उन्हें बंगला, गाडी, खाना, पीना सब कुछ मिलेगा और उनका हर जगह आना जाना फ्री रहेगा, सिद्धू एक मंत्री होने के नाते पांच साल तक बिना एक पैसा खर्च किये कहीं भी घूम सकते हैं, किसी भी होटल में खा सकते हैं, किसी भी प्लेन में बैठ सकते हैं और यह सब खर्चा पंजाब की जनता उठाएगी। सिद्धू का खर्चा उठाने के अलावा पंजाब की जनता उन्हें हर महीने दो ढाई लाख रुपये की सैलरी भी देगी और पांच साल बाद अगर सिद्धू चुनाव हारकर घर बैठ जाएंगे तो भी उन्हें जीवन भर 80 हजार रुपये हर महीने पेंशन के रूप में मिलेंगे। 

अब आप सोचिये, अगर पंजाब की जनता सिद्धू का पूरा खर्चा उठा रही है और उन्हें जीवनभर 80 हजार रुपये पेंशन भी देगी तो वह सिद्धू से 24 घंटे काम भी तो लेगी लेकिन यह क्या, सिद्धू तो कह रहे हैं कि मैं शाम 6 बजे के बाद जनता की सेवा करूँगा ही नहीं, मतलब शाम 6 से सुबह 9 बजे तक वे जनता के पैसों की रोटी तोड़कर आयेंगे लेकिन शाम 6 बजे के बाद वे जनता के लिए काम नहीं करेंगे बल्कि टीवी पर कॉमेडी शो करके अतिरिक्त पैसा कमाएंगे 

सिद्धू का कहना है कि घर का खर्चा चलाने के लिए अगर मैं साइड बिजनेस नहीं करूँगा तो क्या दिन भर ऑफिस में बैठकर भ्रष्टाचार करूँ, क्या यह सही रहेगा, सिद्धू भाई, आपको भ्रष्टाचार करने की क्या जरूरत है, आपको पांच साल तो एक भी पाई नहीं खर्च करनी है, पांच साल तक आपको हर महीने ढाई लाख रुपये मिलेंगे उसके बाद जीवन भर आपको 80 हजार रुपये पेंशन मिलेगी। पांच साल बाद आप साइड बिजनेस भी करना और 80 हजार की पेंशन भी लेना। 

नवजोत सिंह सिद्धू साइड बिजनेस करने के लिए जो तर्क दे रहे हैं वो किसी को समझ में नहीं आ रहा है, सोशल मीडिया पर उनकी जमकर हंसी उड़ाई जा रही है, आज उनकी सबसे अधिक बेइज्जती उस वक्त हुई जब पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि अगर ये कॉमेडी शो में काम करना चाहते हैं तो मैं इन्हें कोई और मंत्रालय दे देता हूँ, कोई ऐसा मंत्रालय जहाँ पर काम ना हो, मतलब नकारा मंत्रालय हो, सिद्धू वहां नकारों की तरह बैठेंगे और कॉमेडी शो भी करेंगे। 

अमरिंदर सिंह की बात सुनकर लोगों को सिद्धू की हंसी उड़ाने का और मौका मिल गया, इस वक्त ट्विटर पर सिद्धू का साइड शो ट्रेंड कर रहा है, लोग सिद्धू की जमकर खिंचाई कर रहे हैं।