Showing posts with label Punjab. Show all posts
Showing posts with label Punjab. Show all posts

Tuesday, January 17, 2017

महत्वहीन हो चुके हैं सिद्धू इसलिए उनके कांग्रेस में जाने से हमें कोई फर्क नहीं पड़ेगा: केजरीवाल

महत्वहीन हो चुके हैं सिद्धू इसलिए उनके कांग्रेस में जाने से हमें कोई फर्क नहीं पड़ेगा: केजरीवाल

kejriwal-said-sidhu-lost-his-credibility-he-does-not-matter-to-us

चंडीगढ़, 17 जनवरी: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को इस आरोप को खारिज किया कि वह मतदाताओं से पंजाब और गोवा में अन्य पार्टियों से पैसा लेने लेकिन वोट आम आदमी पार्टी को देने का आग्रह कर रिश्वतखोरी को बढ़ावा दे रहे हैं। आम आदमी पार्टी (आप) नेता ने चंडीगढ़ में मीडिया से बातचीत में यह भी कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होने के फैसले से पंजाब विधानसभा चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

निर्वाचन आयोग ने केजरीवाल को एक नोटिस भेजकर जवाब देने को कहा है क्योंकि उन्होंने गोवा के मतदाताओं से अन्य राजनीतिक दलों से पैसे लेने, लेकिन वोट आप को देने को कहा था। भाजपा ने इस बारे में शिकायत दर्ज कराई थी।

केजरीवाल ने कहा कि 2015 दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले भी उन पर ऐसे ही आरोप लगाए गए थे, लेकिन अदालत ने उनके पक्ष में यह कहते हुए फैसला दिया था कि वह रिश्वतखोरी को बढ़ावा नहीं दे रहे हैं।

केजरीवाल ने साथ ही कहा कि सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होने से पंजाब चुनाव के नतीजों पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

कांग्रेस में शामिल होने से पहले सिद्धू के आप में शामिल होने के अनुमान लगाए गए थे।

आप नेता ने कहा, "सिद्धू अपना महत्व खो चुके हैं।"

केजरीवाल ने साथ ही दोहराया कि अकाली विरोधी वोट काटने और पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की मदद के लिए पंजाब कांग्रेस प्रमुख कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लांबी से चुनाव लड़ने का फैसला किया है। 

प्रकाश सिंह बादल लांबी से चुनाव लड़ रहे हैं।

उन्होंने कहा, "लांबी में हमारे उम्मीदवार जरनैल सिंह का प्रचार अभियान शानदार चल रहा था। इसलिए बादल ने अमरिंदर से लांबी से चुनाव लड़ने का आग्रह किया ताकि अकाली विरोधी वोट बंट जाएं।"

केजरीवाल ने कहा कि अकाली नेताओं को राजनीतिक रूप से ही हराना जरूरी नहीं है, बल्कि उन्हें उनके अपराधों की सजा देना भी जरूरी है।
इस्तीफ़ा देने की ख़बरों को विजय सांपला ने बताया झूठ, बोले 'पार्टी के लिए मिशन पर लगा हूँ'

इस्तीफ़ा देने की ख़बरों को विजय सांपला ने बताया झूठ, बोले 'पार्टी के लिए मिशन पर लगा हूँ'

panjab-bjp-president-vijay-sampla-not-resigned-fake-news

Amritsar, 17 January: पंजाब के बीजेपी अध्यक्ष विजय सांपला ने इस्तीफ़ा देने की ख़बरों को बेबुनियाद और झूठा बताया है, उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि मैंने कभी भी इस्तीफ़ा देने की बात नहीं की, मै तो पार्टी का सिपाही हूँ और पार्टी के ही मिशन में लगा हुआ हूँ, इसलिए मै आज दिल्ली आया था लेकिन खबर आने लगी कि इस्तीफ़ा देने के लिए यहाँ पर आया हूँ। यह ख़बरें निराधार हैं।

इससे पहले खबर आई थी कि विजय सांपला पंजाब की फगवाडा सीट से अपनी पसंद का उम्मीदवार खड़ा करना चाहते थे लकिन उनकी बात को दरकिनार कर दिया गया, इसलिए उन्होंने अध्यक्ष पद छोड़ने का फैसला किया, उन्होने कहा कि पार्टी के स्टेट प्रेसिडेंट होने के बावजूद भी उनकी बात नहीं मानी गयी इसलिए इस पद पर बने रहने में कोई कारण नहीं है।

विजय सांपला पंजाब सरकार में सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण राज्य मंत्री भी हैं, उन्होंने मंत्री पद से भी इस्तीफ़ा देने का मन बनाया है। 

फगवाडा से बीजेपी ने सोम प्रकाश को उम्मीदवार बनाया है, यहाँ से विजय सांपला अपनी पसंद का उम्मीदवार खड़ा करना चाहते थे लकिन उनकी बात मानी ही नहीं गयी। 

जानकारी के लिए बता दें कि पंजाब में बीजेपी और अकाली दल मिलकर चुनाव लड़ते हैं, 117 सीटों में बीजेपी से केवल 23 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं।
विजय सांपला ने छोड़ा पंजाब BJP अध्यक्ष का पद, बोले, मेरी कोई बात ही नहीं मानता, क्या फायदा

विजय सांपला ने छोड़ा पंजाब BJP अध्यक्ष का पद, बोले, मेरी कोई बात ही नहीं मानता, क्या फायदा

panjab-bjp-president-resign-displeased-over-ticket-allocation

Amritsar, 17 January: पंजाब में बीजेपी की वैसे भी सीटें कम हैं अब जो हैं वे भी बीजेपी छोड़कर जा रहे हैं, आज पंजाब के बीजेपी अध्यक्ष विजय सांपला ने भी अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दे दिया उन्होंने मंत्री पद छोड़ने की भी पेशकश की है हालाँकि अभी तक उनका इस्तीफ़ा मंजूर नहीं किया गया है, अमित शाह ने उन्हें मिलने के लिए बुलाया है, एक बार उन्हें फिर से मनाने की कोशिश की जाएगी। 

खबर है कि विजय सांपला पंजाब की फगवाडा सीट से अपनी पसंद का उम्मीदवार खड़ा करना चाहते थे लकिन उनकी बात को दरकिनार कर दिया गया, इसलिए उन्होंने अध्यक्ष पद छोड़ने का फैसला किया, उन्होने कहा कि पार्टी के स्टेट प्रेसिडेंट होने के बावजूद भी उनकी बात नहीं मानी गयी इसलिए इस पद पर बने रहने में कोई कारण नहीं है।

विजय सांपला पंजाब सरकार में सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण राज्य मंत्री भी हैं, उन्होंने मंत्री पद से भी इस्तीफ़ा देने का मन बनाया है। 

फगवाडा से बीजेपी ने सोम प्रकाश को उम्मीदवार बनाया है, यहाँ से विजय सांपला अपनी पसंद का उम्मीदवार खड़ा करना चाहते थे लकिन उनकी बात मानी ही नहीं गयी। 

जानकारी के लिए बता दें कि पंजाब में बीजेपी और अकाली दल मिलकर चुनाव लड़ते हैं, 117 सीटों में बीजेपी से केवल 23 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं।

Monday, January 16, 2017

आप धन्य हो नवजोत सिद्धू, पहले राहुल गाँधी को पप्पू कहा, आज बना लिया अपना हाई कमान, ठोंको ताली

आप धन्य हो नवजोत सिद्धू, पहले राहुल गाँधी को पप्पू कहा, आज बना लिया अपना हाई कमान, ठोंको ताली

navjot-singh-sidhu-make-indian-politics-suspicion-join-congress

New Delhi, 16 January: नवजोत सिंह सिद्धू ने भारतीय राजनीति में अविश्वास का एक नया माहौल तैयार किया है, उन्होने कांग्रेस में शामिल होकर यह साबित कर दिया है कि राजनीति में कुछ भी असंभव नहीं है और राजनेताओं की बातों का कभी भी विश्वास नहीं करना चाहिए। आपको पता होगा कि दो वर्ष के पहले हमारे देश के युवा राजनीति को इतना गन्दा मानते थे कि सभी नेताओं को एक ही तराजू में तौलते थे लेकिन धीरे धीरे उनका विश्वास राजनीति पर बढ़ गया और हमारे देश के युवा भी राजनीति में इंटरेस्ट लेने लगे लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू ने एकाएक कांग्रेस में शामिल होकर अविश्वास के माहौल को फिर से नया कर दिया। 

ये वही सिद्धू हैं जो कुछ समय पहले कहते थे कांग्रेस चोरों की बरात है, आज खुद कांग्रेसी बन गए मतलब चोरों की बारात में खुद शामिल हो गए। 

ये वही सिद्धू हैं जो मनमोहन सिंह को ना तो सरदार और ना ही असरदार कहते थे, मनमोहन सिंह असरदार क्यों हुए यह बात दुनिया जानती है, उनका रिमोट कंट्रोल किसके हाथ में था यह बात सभी जानते हैं, अब नवजोत सिंह सिद्धू खुद उसी पार्टी में शामिल हो गए हैं और हाई कमान के आदेश पर चलने को तैयार हैं। 

ये वही नवजोत सिंह सिद्धू हैं जो कहते थे, मोदी भारत को सोने की चिड़ियाँ बनाना चाहते हैं लेकिन मनमोहन सिंह भारत को सोनिया की चिड़ियाँ बनाना चाहते हैं, अब सिद्धू खुद मनमोहन सिंह के साथ होकर भारत को सोनिया की चिड़ियाँ बनाने के मिशन में लग चुके हैं।

ये वही नवजोत सिंह सिद्धू हैं जो राहुल गाँधी को पप्पू बोलकर उनकी हंसी उड़ाते थे लेकिन आज उन्होंने राहुल गाँधी को अपना हाई कमान बना लिया है और उनके उँगलियों पर नाचने की बात कर रहे हैं, अब वे कहते हैं हाई कमान उन्हें जो आदेश देगा वह एक सिपाही की तरह वही काम करेंगे। 

अब जाहिर होने लगा है कि नवजोत सिंह सिद्धू बादल परिवार से व्यक्तिगत दुश्मनी निकालने के लिए कांग्रेस में शामिल हुए हैं, उनका कहना है कि बादल परिवार ने पंजाब को लूट लिया है लेकिन क्या कांग्रेस ने देश को नहीं लूटा, क्या कांग्रेस के राज में सैकड़ों घोटाले नहीं हुए, क्या कांग्रेस की वजह से देश गरीब नहीं बना। जिस कांग्रेस ने देश का बंटाधार कर दिया वही कांग्रेस पंजाब में कौन सा गुल खिला देगी।

अब लोगो कह रहे हैं कि सिद्धू ऐसे मतलबी खिलाडी हैं जप अपने फायदे के लिए किसी भी टीम से खेल सकते हैं, अगर पाकिस्तान उन्हें बढ़िया ऑफ़र दिया तो वे उसके साथ भी खेल सकते हैं। यही बात आज केंद्रीय मंत्री हरसिमरत बादल ने भी कही है। 
अभी तो सिर्फ कांग्रेस में गए हैं, फायदे के लिए पाकिस्तान से भी मिल सकते हैं सिद्धू: हरसिमरत कौर

अभी तो सिर्फ कांग्रेस में गए हैं, फायदे के लिए पाकिस्तान से भी मिल सकते हैं सिद्धू: हरसिमरत कौर

harsimrat-kaur-badal-slams-navjot-singh-sidhu-selfish-man

New Delhi, 16 January: मोदी सरकार में मंत्री और पंजाब की बड़ी नेता हरसिमरत कौर ने नए नवेले कांग्रेसी नेता नवजोत सिंह सिद्धू को करारा जवाब दिया है, उन्होंने जोरदार हमला बोलते हुए कहा कि सिद्धू को अपने आप पर शर्म आनी चाहिए क्योंकि वे खुद को पंजाबी बताते हैं, कहते हैं कि उन्हें सिख होने पर गर्व है लेकिन वे उस पार्टी में गए हैं जिसने सिखों का कत्लेआम करवाने का जुर्म किया था। इसी पार्टी ने सिखों की शान गोल्डन टेम्पल पर भी हमला करवाया था। 

उन्होंने कहा कि सिद्धू की घर वापसी पर मै बधाई देती हूँ लेकिन उन्हें खुद पर शर्म आनी चाहिए। क्योंकि वे इससे पहले खुद सोनिया गाँधी, कांग्रेस और मनमोहन सिंह की हंसी उड़ाते थे और आज उन्हीं के साथ गले मिल रहे हैं। वह बड़े सेल्फिस आदमी हैं, आज यह भी साबित हो गया है कि वे अपना मतलब निकालने के लिए किसी के साथ भी जा सकते हैं। 

हरसिमरत कौर ने कहा कि सिद्धू केवल अपना मतलब निकालने और राजनीतिक महत्वाकांक्षा के लिए कांग्रेस में गए हैं, कुछ लोगों के पैर तीन नावों में होते हैं, बीजेपी, कभी कांग्रेस हो सकता है कि वह अपने फायदे के लिए पाकिस्तान के साथ भी जा मिलें। 

उन्होंने कहा कि ड्रग का मुद्दा केवल राज्य को बदनाम करने के लिए उठाया जा रहा है। राहुल गाँधी जिसका कहना है कि पंजाब के युवा नशे की चपेट में हैं वे हो सकता है कि खुद ड्रग्स लेते हों। पंजाब के लोगों को ऐसे लोगों से बचकर रहना चाहिए जो हमारे बच्चों को बदनाम कर रहे हैं। 

जानकारी के लिए बता दें कि आज नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस से जुड़ने के बाद पहली प्रेस कांफ्रेंस की और बादल परिवार को धो डाला। उन्होंने सुखबीर सिंह पर पंजाब को बर्बाद करके अपना धंधा धमकाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि बादल परिवार पंजाब को लूट रहा है, इनकी जायदाद बढ़ती जा रही है लेकिन पंजाब के सर पर 2 लाख करोड़ रुपये का कर्ज चढ़ गया है। मै चुनावों में इनकी पोल पट्टी खोलने जा रहा हूँ।