Showing posts with label Punjab. Show all posts
Showing posts with label Punjab. Show all posts

Tuesday, January 17, 2017

महत्वहीन हो चुके हैं सिद्धू इसलिए उनके कांग्रेस में जाने से हमें कोई फर्क नहीं पड़ेगा: केजरीवाल

महत्वहीन हो चुके हैं सिद्धू इसलिए उनके कांग्रेस में जाने से हमें कोई फर्क नहीं पड़ेगा: केजरीवाल

kejriwal-said-sidhu-lost-his-credibility-he-does-not-matter-to-us

चंडीगढ़, 17 जनवरी: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को इस आरोप को खारिज किया कि वह मतदाताओं से पंजाब और गोवा में अन्य पार्टियों से पैसा लेने लेकिन वोट आम आदमी पार्टी को देने का आग्रह कर रिश्वतखोरी को बढ़ावा दे रहे हैं। आम आदमी पार्टी (आप) नेता ने चंडीगढ़ में मीडिया से बातचीत में यह भी कहा कि नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होने के फैसले से पंजाब विधानसभा चुनाव पर कोई असर नहीं पड़ेगा।

निर्वाचन आयोग ने केजरीवाल को एक नोटिस भेजकर जवाब देने को कहा है क्योंकि उन्होंने गोवा के मतदाताओं से अन्य राजनीतिक दलों से पैसे लेने, लेकिन वोट आप को देने को कहा था। भाजपा ने इस बारे में शिकायत दर्ज कराई थी।

केजरीवाल ने कहा कि 2015 दिल्ली विधानसभा चुनाव से पहले भी उन पर ऐसे ही आरोप लगाए गए थे, लेकिन अदालत ने उनके पक्ष में यह कहते हुए फैसला दिया था कि वह रिश्वतखोरी को बढ़ावा नहीं दे रहे हैं।

केजरीवाल ने साथ ही कहा कि सिद्धू के कांग्रेस में शामिल होने से पंजाब चुनाव के नतीजों पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा।

कांग्रेस में शामिल होने से पहले सिद्धू के आप में शामिल होने के अनुमान लगाए गए थे।

आप नेता ने कहा, "सिद्धू अपना महत्व खो चुके हैं।"

केजरीवाल ने साथ ही दोहराया कि अकाली विरोधी वोट काटने और पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की मदद के लिए पंजाब कांग्रेस प्रमुख कैप्टन अमरिंदर सिंह ने लांबी से चुनाव लड़ने का फैसला किया है। 

प्रकाश सिंह बादल लांबी से चुनाव लड़ रहे हैं।

उन्होंने कहा, "लांबी में हमारे उम्मीदवार जरनैल सिंह का प्रचार अभियान शानदार चल रहा था। इसलिए बादल ने अमरिंदर से लांबी से चुनाव लड़ने का आग्रह किया ताकि अकाली विरोधी वोट बंट जाएं।"

केजरीवाल ने कहा कि अकाली नेताओं को राजनीतिक रूप से ही हराना जरूरी नहीं है, बल्कि उन्हें उनके अपराधों की सजा देना भी जरूरी है।
इस्तीफ़ा देने की ख़बरों को विजय सांपला ने बताया झूठ, बोले 'पार्टी के लिए मिशन पर लगा हूँ'

इस्तीफ़ा देने की ख़बरों को विजय सांपला ने बताया झूठ, बोले 'पार्टी के लिए मिशन पर लगा हूँ'

panjab-bjp-president-vijay-sampla-not-resigned-fake-news

Amritsar, 17 January: पंजाब के बीजेपी अध्यक्ष विजय सांपला ने इस्तीफ़ा देने की ख़बरों को बेबुनियाद और झूठा बताया है, उन्होंने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि मैंने कभी भी इस्तीफ़ा देने की बात नहीं की, मै तो पार्टी का सिपाही हूँ और पार्टी के ही मिशन में लगा हुआ हूँ, इसलिए मै आज दिल्ली आया था लेकिन खबर आने लगी कि इस्तीफ़ा देने के लिए यहाँ पर आया हूँ। यह ख़बरें निराधार हैं।

इससे पहले खबर आई थी कि विजय सांपला पंजाब की फगवाडा सीट से अपनी पसंद का उम्मीदवार खड़ा करना चाहते थे लकिन उनकी बात को दरकिनार कर दिया गया, इसलिए उन्होंने अध्यक्ष पद छोड़ने का फैसला किया, उन्होने कहा कि पार्टी के स्टेट प्रेसिडेंट होने के बावजूद भी उनकी बात नहीं मानी गयी इसलिए इस पद पर बने रहने में कोई कारण नहीं है।

विजय सांपला पंजाब सरकार में सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण राज्य मंत्री भी हैं, उन्होंने मंत्री पद से भी इस्तीफ़ा देने का मन बनाया है। 

फगवाडा से बीजेपी ने सोम प्रकाश को उम्मीदवार बनाया है, यहाँ से विजय सांपला अपनी पसंद का उम्मीदवार खड़ा करना चाहते थे लकिन उनकी बात मानी ही नहीं गयी। 

जानकारी के लिए बता दें कि पंजाब में बीजेपी और अकाली दल मिलकर चुनाव लड़ते हैं, 117 सीटों में बीजेपी से केवल 23 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं।
विजय सांपला ने छोड़ा पंजाब BJP अध्यक्ष का पद, बोले, मेरी कोई बात ही नहीं मानता, क्या फायदा

विजय सांपला ने छोड़ा पंजाब BJP अध्यक्ष का पद, बोले, मेरी कोई बात ही नहीं मानता, क्या फायदा

panjab-bjp-president-resign-displeased-over-ticket-allocation

Amritsar, 17 January: पंजाब में बीजेपी की वैसे भी सीटें कम हैं अब जो हैं वे भी बीजेपी छोड़कर जा रहे हैं, आज पंजाब के बीजेपी अध्यक्ष विजय सांपला ने भी अध्यक्ष पद से इस्तीफ़ा दे दिया उन्होंने मंत्री पद छोड़ने की भी पेशकश की है हालाँकि अभी तक उनका इस्तीफ़ा मंजूर नहीं किया गया है, अमित शाह ने उन्हें मिलने के लिए बुलाया है, एक बार उन्हें फिर से मनाने की कोशिश की जाएगी। 

खबर है कि विजय सांपला पंजाब की फगवाडा सीट से अपनी पसंद का उम्मीदवार खड़ा करना चाहते थे लकिन उनकी बात को दरकिनार कर दिया गया, इसलिए उन्होंने अध्यक्ष पद छोड़ने का फैसला किया, उन्होने कहा कि पार्टी के स्टेट प्रेसिडेंट होने के बावजूद भी उनकी बात नहीं मानी गयी इसलिए इस पद पर बने रहने में कोई कारण नहीं है।

विजय सांपला पंजाब सरकार में सामाजिक न्याय और सशक्तिकरण राज्य मंत्री भी हैं, उन्होंने मंत्री पद से भी इस्तीफ़ा देने का मन बनाया है। 

फगवाडा से बीजेपी ने सोम प्रकाश को उम्मीदवार बनाया है, यहाँ से विजय सांपला अपनी पसंद का उम्मीदवार खड़ा करना चाहते थे लकिन उनकी बात मानी ही नहीं गयी। 

जानकारी के लिए बता दें कि पंजाब में बीजेपी और अकाली दल मिलकर चुनाव लड़ते हैं, 117 सीटों में बीजेपी से केवल 23 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारे हैं।

Monday, January 16, 2017

आप धन्य हो नवजोत सिद्धू, पहले राहुल गाँधी को पप्पू कहा, आज बना लिया अपना हाई कमान, ठोंको ताली

आप धन्य हो नवजोत सिद्धू, पहले राहुल गाँधी को पप्पू कहा, आज बना लिया अपना हाई कमान, ठोंको ताली

navjot-singh-sidhu-make-indian-politics-suspicion-join-congress

New Delhi, 16 January: नवजोत सिंह सिद्धू ने भारतीय राजनीति में अविश्वास का एक नया माहौल तैयार किया है, उन्होने कांग्रेस में शामिल होकर यह साबित कर दिया है कि राजनीति में कुछ भी असंभव नहीं है और राजनेताओं की बातों का कभी भी विश्वास नहीं करना चाहिए। आपको पता होगा कि दो वर्ष के पहले हमारे देश के युवा राजनीति को इतना गन्दा मानते थे कि सभी नेताओं को एक ही तराजू में तौलते थे लेकिन धीरे धीरे उनका विश्वास राजनीति पर बढ़ गया और हमारे देश के युवा भी राजनीति में इंटरेस्ट लेने लगे लेकिन नवजोत सिंह सिद्धू ने एकाएक कांग्रेस में शामिल होकर अविश्वास के माहौल को फिर से नया कर दिया। 

ये वही सिद्धू हैं जो कुछ समय पहले कहते थे कांग्रेस चोरों की बरात है, आज खुद कांग्रेसी बन गए मतलब चोरों की बारात में खुद शामिल हो गए। 

ये वही सिद्धू हैं जो मनमोहन सिंह को ना तो सरदार और ना ही असरदार कहते थे, मनमोहन सिंह असरदार क्यों हुए यह बात दुनिया जानती है, उनका रिमोट कंट्रोल किसके हाथ में था यह बात सभी जानते हैं, अब नवजोत सिंह सिद्धू खुद उसी पार्टी में शामिल हो गए हैं और हाई कमान के आदेश पर चलने को तैयार हैं। 

ये वही नवजोत सिंह सिद्धू हैं जो कहते थे, मोदी भारत को सोने की चिड़ियाँ बनाना चाहते हैं लेकिन मनमोहन सिंह भारत को सोनिया की चिड़ियाँ बनाना चाहते हैं, अब सिद्धू खुद मनमोहन सिंह के साथ होकर भारत को सोनिया की चिड़ियाँ बनाने के मिशन में लग चुके हैं।

ये वही नवजोत सिंह सिद्धू हैं जो राहुल गाँधी को पप्पू बोलकर उनकी हंसी उड़ाते थे लेकिन आज उन्होंने राहुल गाँधी को अपना हाई कमान बना लिया है और उनके उँगलियों पर नाचने की बात कर रहे हैं, अब वे कहते हैं हाई कमान उन्हें जो आदेश देगा वह एक सिपाही की तरह वही काम करेंगे। 

अब जाहिर होने लगा है कि नवजोत सिंह सिद्धू बादल परिवार से व्यक्तिगत दुश्मनी निकालने के लिए कांग्रेस में शामिल हुए हैं, उनका कहना है कि बादल परिवार ने पंजाब को लूट लिया है लेकिन क्या कांग्रेस ने देश को नहीं लूटा, क्या कांग्रेस के राज में सैकड़ों घोटाले नहीं हुए, क्या कांग्रेस की वजह से देश गरीब नहीं बना। जिस कांग्रेस ने देश का बंटाधार कर दिया वही कांग्रेस पंजाब में कौन सा गुल खिला देगी।

अब लोगो कह रहे हैं कि सिद्धू ऐसे मतलबी खिलाडी हैं जप अपने फायदे के लिए किसी भी टीम से खेल सकते हैं, अगर पाकिस्तान उन्हें बढ़िया ऑफ़र दिया तो वे उसके साथ भी खेल सकते हैं। यही बात आज केंद्रीय मंत्री हरसिमरत बादल ने भी कही है। 
अभी तो सिर्फ कांग्रेस में गए हैं, फायदे के लिए पाकिस्तान से भी मिल सकते हैं सिद्धू: हरसिमरत कौर

अभी तो सिर्फ कांग्रेस में गए हैं, फायदे के लिए पाकिस्तान से भी मिल सकते हैं सिद्धू: हरसिमरत कौर

harsimrat-kaur-badal-slams-navjot-singh-sidhu-selfish-man

New Delhi, 16 January: मोदी सरकार में मंत्री और पंजाब की बड़ी नेता हरसिमरत कौर ने नए नवेले कांग्रेसी नेता नवजोत सिंह सिद्धू को करारा जवाब दिया है, उन्होंने जोरदार हमला बोलते हुए कहा कि सिद्धू को अपने आप पर शर्म आनी चाहिए क्योंकि वे खुद को पंजाबी बताते हैं, कहते हैं कि उन्हें सिख होने पर गर्व है लेकिन वे उस पार्टी में गए हैं जिसने सिखों का कत्लेआम करवाने का जुर्म किया था। इसी पार्टी ने सिखों की शान गोल्डन टेम्पल पर भी हमला करवाया था। 

उन्होंने कहा कि सिद्धू की घर वापसी पर मै बधाई देती हूँ लेकिन उन्हें खुद पर शर्म आनी चाहिए। क्योंकि वे इससे पहले खुद सोनिया गाँधी, कांग्रेस और मनमोहन सिंह की हंसी उड़ाते थे और आज उन्हीं के साथ गले मिल रहे हैं। वह बड़े सेल्फिस आदमी हैं, आज यह भी साबित हो गया है कि वे अपना मतलब निकालने के लिए किसी के साथ भी जा सकते हैं। 

हरसिमरत कौर ने कहा कि सिद्धू केवल अपना मतलब निकालने और राजनीतिक महत्वाकांक्षा के लिए कांग्रेस में गए हैं, कुछ लोगों के पैर तीन नावों में होते हैं, बीजेपी, कभी कांग्रेस हो सकता है कि वह अपने फायदे के लिए पाकिस्तान के साथ भी जा मिलें। 

उन्होंने कहा कि ड्रग का मुद्दा केवल राज्य को बदनाम करने के लिए उठाया जा रहा है। राहुल गाँधी जिसका कहना है कि पंजाब के युवा नशे की चपेट में हैं वे हो सकता है कि खुद ड्रग्स लेते हों। पंजाब के लोगों को ऐसे लोगों से बचकर रहना चाहिए जो हमारे बच्चों को बदनाम कर रहे हैं। 

जानकारी के लिए बता दें कि आज नवजोत सिंह सिद्धू ने कांग्रेस से जुड़ने के बाद पहली प्रेस कांफ्रेंस की और बादल परिवार को धो डाला। उन्होंने सुखबीर सिंह पर पंजाब को बर्बाद करके अपना धंधा धमकाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि बादल परिवार पंजाब को लूट रहा है, इनकी जायदाद बढ़ती जा रही है लेकिन पंजाब के सर पर 2 लाख करोड़ रुपये का कर्ज चढ़ गया है। मै चुनावों में इनकी पोल पट्टी खोलने जा रहा हूँ।  
पहले अकाली दल पवित्र जमात था लेकिन अब धंधा करने लगा है बादल परिवार, पोल खोल कर रख दूंगा: सिद्धू

पहले अकाली दल पवित्र जमात था लेकिन अब धंधा करने लगा है बादल परिवार, पोल खोल कर रख दूंगा: सिद्धू

congress-leader-navjot-singh-sidhu-will-expose-badal-family

New Delhi, 16 January: कांग्रेस के नए नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने आज पहली प्रेस कांफ्रेंस में बादल परिवार पर जमकर हमला बोला, उन्होंने कहा कि कांग्रेस के जरिये उन्हें पंजाब बचाने का मौका मौका मिला है इसलिए वे पंजाब में अलग जगाने आये हैं। 

सिद्धू ने इस प्रेस कांफ्रेंस में सीधे सीधे बीजेपी के लिए कुछ नहीं बोला लेकिन बादल परिवार को जमकर लताड़ा। उन्होंने कहा कि वे चुनावों में पंजाब की जनता के सामने बादल परिवार का कच्चा चिट्ठा खोलकर रख देंगे, वे बताएँगे कि बदल परिवार कैसे अपने धंधे के लिए पंजाब का धंधा चौपट कर रहा है, पंजाब की जनता पर 2 लाख करोड़ रुपये का कर्ज कैसे चढ़ाया और यहाँ के अन्नदाता को भिखारी बनने पर कैसे मजबूर किया। 

उन्होंने कहा कि वे किसी पार्टी के खिलाफ नहीं हैं क्योंकि पहले अकाली दल भी एक पवित्र जमात था लेकिन अब एक परिवार की जायदाद बनकर रह गया है, अब बादल परिवार केवल अपना धंधा कर रहा है, इनकी जायदाद बढ़ती जा रही है लेकिन पंजाब ख़त्म होता जा रहा है।

उन्होंने मुख्यमंत्री बादल को ललकारते हुए कहा कि बाबा जी अब कुर्सी छोड़ दी, पंजाब की जनता आती है। आपने पंजाब को जितना लूटना था लूट लिया।

उन्होंने कहा कि पजाब में ड्रग्स की समस्या है और यह एक हकीकत है लेकिन दाल परिवार के मुंह से कभी भी ड्रग्स के बारे में एक शब्द भी नहीं निकलता, इसका कारण है कि ड्रग्स रैकेट वहीं से चल रहे हैं, जब सरदार ही रैकेट चला रहा है तो कह चोरों को कैसे पकड़ेगा। यहाँ के जवान पहले फ़ौज में जाते थे लेकिन अब किसी काम के नहीं हैं, अगर यहाँ के नौजवानों को दिशा दे दी जाय तो वे फिर से पंजाब को खड़ा कर देंगे लेकिन मौजूदा सरकार केवल अपने धंधे में लगी है। 
सिद्धू के VIDEO ने मचाया तूफ़ान, कांग्रेस के लिए बना बड़ी मुसीबत, अपनी ही बॉल से हो गए क्लीनबोल्ड

सिद्धू के VIDEO ने मचाया तूफ़ान, कांग्रेस के लिए बना बड़ी मुसीबत, अपनी ही बॉल से हो गए क्लीनबोल्ड

navjot-singh-sidhu-video-viral-bharat-sonia-ki-chidiya-manmohan

नई दिल्ली, 15 जनवरी: पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व सांसद नवजोत सिंह सिद्धू रविवार को औपचारिक तौर पर कांग्रेस में शामिल हो गए। सिद्धू ने इसे अपनी 'नई पारी की शुरुआत' कहा। उन्होंने कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ बैठक के बाद पार्टी में शामिल होने की औपचारिक पूरी की। राहुल ने अपने आवास पर पहुंचे पूर्व भाजपा सांसद का गर्मजोशी से स्वागत किया। सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर पहले ही कांग्रेस में शामिल हो चुकी हैं।

मुलाकात और बात के बाद सिद्धू और राहुल ने मुस्कुराते हुए तस्वीरें खिंचवाईं।

बाद में सिद्धू ने ट्वीट किया, "एक नई पारी की शुरुआत। अब फ्रंटफुट पर पंजाब, पंजाबियत और हर पंजाबी की जीत जरूर होगी।"

सिद्धू 4 फरवरी को होने वाले पंजाब विधानसभा चुनाव में अमृतसर (पूर्व) सीट से कांग्रेस प्रत्याशी बनाए जा सकते हैं। यह अमृतसर लोकसभा निर्वाचन क्षेत्र का हिस्सा है। सिद्धू ने इस क्षेत्र का सांसद के रूप में प्रतिनिधित्व 2004 से 2014 तक किया है।

सिद्धू का VIDEO हुआ वायरल, कांग्रेस एक लिए बना मुसीबत


जैसे ही सिद्धू कांग्रेस में शामिल हुए वैसे ही उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया, इस वीडियो में सिद्धू कांग्रेस पर चौकों छक्कों की बरसात कर रहे हैं और कांग्रेस की जमकर धुनाई कर रहे हैं, यही नहीं उन्होने कांग्रेस को चोरों की बरसात कहा, मनमोहन सिंह के बारे में कहा कि वे ना तो सरदार हैं और ना ही असरदार हैं। उन्होंने यह भी कहा कि मोदी भारत को सोनिया की चिड़िया बनाना चाहते हैं लेकिन मनमोहन सिंह भारत को सोनिया की चिड़िया बनाना चाहते हैं। 



यह वीडियो 2014 लोकसभा चुनावों से पहले का है, इसमें सिद्धू मोदी की जमकर तारीफ भी कह रहे हैं, वे कहते हैं - 
हर समय नदी की बाढ़ कि अक्सर सब बह जाया करते हैं,
है समय बड़ा तूफ़ान प्रबल पर्वत भी झुक जाया करते हैं,
अक्सर दुनिया के लोग समय में चक्कर खाया करते हैं लेकिन 
कुछ नरेन्द्र मोदी जैसे भी लोग हैं जो इतिहास बनाया करते हैं।

उन्होंने आगे कहा - सिद्धू सत्य कह रहा है, 1998 में अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर सरकार बनी थी लेकिन 2014 में नरेन्द्र मोदी के किरदार पर सरकार बनेगी।

वे आगे कहते हैं - विजय गोयल से बोले खुराना, हाय राम मोदी का है ज़माना। गुरु हो गया मै शुरू, ठोंको ताली। कांग्रेस सरकार में लोग गिर रहे हैं, रूपया गिर रहा है, लोग कह रहे हैं सरकार भी गिर रही है, मै तो कहता हूँ सरकार कितना गिरेगी। कांग्रेस तो मुन्नी से भी ज्यादा बदनाम हो गयी, हमारे पास दूल्हा भी है और बारात भी है लेकिन दूसरी तरफ आगे आगे मनमोहन सिंह हैं और पीछे पीछे चोरों की बारात है।

एक तरफ गुजरात कंगाल पड़ा था, बहार पड़ा था लेकिन नरेन्द्र मोदी का हाथ लगा तो जैसे पारस का हाथ लग गया, आज खुशहाल पड़ा है, मालामाल पड़ा है,
गुलशन गुलशन फूल खिले हैं, पंख लगे विकास को,
जिसने स्वर्ग ना देखा हो वो देखे जाके गुजरात को।

एक तरफ जानदार शानदार मोदी साहब और दूसरी तरफ ऐसा प्रधानमंत्री है जो ना सरदार है और ना असरदार है। 10 साल नरेन्द्र भाई मोदी के और 60 साल कांग्रेस के तौल लो, दिल की गहराइयों से आवाज निकलेगी चंपा के 10 फूल चमेली की 1 कली, मूरख की सारी रात चतुर की एक घडी।

आपको निर्णय करना है मित्रों, मोदी साहब हिंदुस्तान को सोने की चिड़ियाँ बनाना चाहते हैं लेकिन मनमोहन सिंह इस देश को सोनिया की चिड़िया बनाना चाहते हैं।

आपको निर्णय करना है -

जिस तरह आग के ढेरों को कोई खा नहीं सकता,
पृथ्वी को ऊंचा कोई उठा नहीं सकता
सागर को जैसे कोई सुखा नहीं सकता
पर्वत हिमालय कोई कोई हिला नहीं सकता
उसी तरह ने नरेन्द्र भाई मोदी की ताकत को
हिंदुस्तान में कोई दबा नहीं सकता, कोई मिटा नहीं सकता

कोई साफ़ सुथरा किरदार वाला चाहिए
कोई रसिक वैरागी चाहिए
जो आज इमानदार छवि के साथ खड़ा हो
कांग्रेस की मंडी बड़ी नशीली है,
इस मंडी में सभी ने मदिरा पी ली है
कमरबंद पुख्ता हैं सिर्फ दलालों के
आम आदमी की धोती तो यारों ढीली है।

मै इतना ही कहना चाहता हूँ -
कांग्रेस के पास नेतृत्व की भी कमी है, विश्वास की भी कमी है लेकिन आज मोदी हिंदुस्तान में सबसे अधिक इसलिए अमीर हैं क्योंकि उनके पास हिंदुस्तान के लोगों का प्यार और विश्वास आज भी बरकरार है। कांग्रेस और आप तो आपस में मिले हैं इसकी चिंता मत करना।

मौसम बदल रहा है, हर चीज बदल रही है, गर्मी जा रही है सर्दी आ रही है, कांग्रेस जा रही है बीजेपी आ रही है इसी उम्मीद से आखिर में कहता हूँ -

है अँधेरा बहुत अब सूरज निकलना चाहिए,
जैसे भी हो ये मौसम बदलना चाहिए
जो चेहरे रोज बदलते हैं नकाबों की तरह
अब उनका जनाजा धूम से उनका निकलना चाहिए।
बात ख़त्म, खचाक। 

Sunday, January 15, 2017

चार महीने पहले सिद्धू ने मोदी को बताया था बब्बर शेर, आज झुका लिया राहुल गाँधी के सामने सिर

चार महीने पहले सिद्धू ने मोदी को बताया था बब्बर शेर, आज झुका लिया राहुल गाँधी के सामने सिर

navjot-singh-sidhu-join-congress-in-rahul-gandhi-presence

नई दिल्ली, 15 जनवरी: भारत की राजनीति में नवजोत सिंह सिद्धू जैसा तेजी से अपने विचार बदलने वाला नेता किसी ने नहीं देखा होगा, केवल चार महीने पहले जब उन्हें बीजेपी का राज्यसभा सांसद बनाया गया था तो उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी के समर्थन में बड़ी बड़ी बातें कही थीं, उन्हें भारत का बब्बर शेर बताया था लेकिन केवल चार महीने बाद आज उन्होने राहुल गाँधी के आगे सर झुका लिया और कांग्रेसी हो गए। 

पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व सांसद नवजोत सिंह सिद्धू रविवार को औपचारिक तौर पर कांग्रेस में शामिल हो गए। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी के साथ बैठक के बाद सिद्धू कांग्रेस में शामिल हो गए। सिद्धू की पत्नी पहले ही कांग्रेस में शामिल हो चुकी हैं।

इसके बाद राहुल और सिद्धू ने मुस्कुराते हुए तस्वीरें भी खिंचवाई। नवजोत सिंह सिद्धू  राहुल गाँधी के सामने सर झुकाये हुए दिखे जैसा कि अन्य कांग्रेसी नेता करते हैं। 

सिद्धू पंजाब विधानसभा चुनाव में अमृतसर पूर्व सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार हो सकते हैं। मतदान चार फरवरी को होना है।

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस सिद्धू का स्वागत करती है और पार्टी में खुली विचारधारा के लोगों को लाने के लिए राहुल गांधी का आभार व्यक्त करती है।

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री और पार्टी की राज्य इकाई के अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भटिठा से फोन कर सिद्धू को बधाई दी और कहा कि उनके पार्टी में शामिल होने से पंजाब में कांग्रेस मजबूत होगी।

अमरिंदर सिंह के कार्यालय से जारी बयान के मुताबिक, "चुनाव में अमृतसर पूर्व सीट से पार्टी की पसंद होन के अलावा वह पंजाब विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के स्टार प्रचारक भी होंगे।"

सिद्धू इससे पहले कांग्रेस में शामिल होने पर विचार कर रहे थे। उन्होंने शुक्रवार को पार्टी में अपनी भूमिका को लेकर राहुल गांधी से मुलाकात की।

पंजाब विधानसभा चुनाव में इस बार तीन प्रमुख पार्टियों -सत्तारूढ़ अकाली दल-भारतीय जनता पार्टी गठबंधन, मुख्य विपक्षी पार्टी कांग्रेस और आम आदमी पार्टी- के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है।

Saturday, January 14, 2017

पूर्व कांग्रेस CM बेअंत सिंह की पुत्री गुरकंवल कौर BJP में शामिल, बोली ‘मोदी जैसा कोई नहीं’

पूर्व कांग्रेस CM बेअंत सिंह की पुत्री गुरकंवल कौर BJP में शामिल, बोली ‘मोदी जैसा कोई नहीं’

former-punjab-cm-beant-singh-s-daughter-gurkanwal-kaur-joins bjp

Amritsar, 14 January: पंजाब से एक बड़ी खबर आयी है, पूर्व कांग्रेस मुख्यमंत्री बेअंत सिंह की पुत्री गुरकंवल कौर आज बीजेपी में शामिल हो गयी हैं। वित्त मंत्री अरुण जेटली की उपस्थिति में आज उन्होंने दिल्ली में बीजेपी का दामन थाम लिया। 

गुरकंवल कौर ने कहा कि मैंने कांग्रेस के साथ बहुत काम किया लेकिन उन्होंने मेरे काम का कभी भी इनाम नहीं दिया, उन्होंने मुझे इग्नोर किया। 

गुरकंवल कौर ने कहा कि मै प्रधानमंत्री मोदी की नीतियों ने काफी प्रभावित हूँ, मै उनके काम से खुश हूँ और देश में उनके योगदान से आभारी हूँ, प्रधानमंत्री मोदी जैसा कोई भी नेता मुझे दिखाई नहीं देता इसलिए मैंने बीजो से जुड़ने का फैसला किया। 
आज कांग्रेस में वापस लौट जाएंगे नवजोत सिंह सिद्धू, अब राहुल गाँधी की कप्तानी में खेलने मैच

आज कांग्रेस में वापस लौट जाएंगे नवजोत सिंह सिद्धू, अब राहुल गाँधी की कप्तानी में खेलने मैच

navjot-singh-sidhu-will-join-congress-today-fight-amritser-east

नई दिल्ली, 14 जनवरी: आज नवजोत सिंह सिद्धू अपनी पुरानी पार्टी कांग्रेस में वापस लौट जाएंगे और अब राहुल गाँधी की कप्तानी में नयी पारी की शुरुआत करेंगे। 

सिद्धू ने गुरुवार अपराह्न् कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात की थी और पार्टी में औपचारिक रूप से शामिल होने को लेकर 30 मिनट चर्चा की थी।

जानकार सूत्रों के अनुसार, सिद्धू शनिवार को कांग्रेस में शामिल हो सकते हैं।

कांग्रेस ने पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए शुक्रवार को आठ नए उम्मीदवारों के नाम घोषित किए और और दो उम्मीदवार को बदल दिया। लेकिन पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू का नाम सूची में नहीं है। 

कांग्रेस ने शुक्रवार को जारी 10 उम्मीदवारों की अपनी चौथी सूची में अमृतसर (पूर्व) सीट पर कोई उम्मीदवार घोषित नहीं किया है। सिद्धू इस सीट से चुनाव लड़ सकते हैं। इस सीट से उनकी पत्नी नवजोत कौर सिद्धू विधायक हैं।

पूर्व कांग्रेस विधायक राजकुमार गुप्ता को जालंधर उत्तर सीट से तेजिंदर बिट्टू की जगह उम्मीदवार बनाया गया है, जबकि भदौर (अनुसूचित जाति) सीट से निर्मल सिंह निम्मा के स्थान पर जोगिंदर सिंह पंजग्रैन को टिकट दिया गया है।

कांग्रेस कुल 117 सीटों में से 108 सीटों के लिए उम्मीदवार के नाम घोषित कर चुकी है। मतदान चार फरवरी को होगा।

Wednesday, January 11, 2017

प्रकाश सिंह बादल बोले, विरोधियों को हार दिखने लगी तो मुझपर जूता फेंकवाने लगे

प्रकाश सिंह बादल बोले, विरोधियों को हार दिखने लगी तो मुझपर जूता फेंकवाने लगे

prakash-singh-badal-attack-by-juta-in-lambi-punjab

चंडीगढ़, 11 जनवरी: पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल पर बुधवार को लांबी विधानसभा निर्वाचन क्षेत्र के एक गांव में एक व्यक्ति ने जूता फेंक दिया। यह उनके चश्मे से टकराया। यह घटना चंडीगढ़ से करीब 250 किमी दूर रत्ताखेरा गांव में हुई, जब 89 वर्षीय मुख्यमंत्री अपने निर्वाचन क्षेत्र लांबी में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे।

बादल के सुरक्षा कर्मचारियों ने गुरबचन सिंह नाम के व्यक्ति को पकड़ लिया और पूछताछ के लिए पुलिस के हवाले कर दिया।

पुलिस ने पाया कि जूता फेंकने वाला अबोहर और फाजिल्का के पास के झुर्ड खेड़ा गांव से है। वह कट्टरपंथी सिख नेता अमरीक सिंह अजनाला का करीबी है।

यह पता चला है कि सिंह हाल में गुरु ग्रंथ साहिब के अपवित्र किए जाने के मामले में दोषियों को पंजाब सरकार और पुलिस द्वारा नहीं पकड़े जाने से नाराज था।

जेड प्लस सुरक्षा से लैस बादल ने घटना के बाद भी अपना कार्यक्रम जारी रखा।

इस घटना के बाद बादल ने मीडिया से कहा, "मेरे निर्वाचन क्षेत्र से बाहर के एक व्यक्ति द्वारा जूता फेंकने की घटना से साफ हो गया है कि हमारे विरोधी खेल हार चुके है। वह एक शांतिपूर्ण, निष्पक्ष और स्वतंत्र चुनाव से भागना चाहते हैं। इससे स्पष्ट सबूत मिलता है कि हमारे विरोधियों ने इन चुनावों में हार स्वीकार कर ली है और अब इस तरह की विघटनकारी रणनीति का सहारा ले रहे हैं।"

बादल ने कहा कि जिस व्यक्ति ने उनके ऊपर जूता फेंका वह उनके लांबी निर्वाचन क्षेत्र से नहीं है।

मुख्यमंत्री ने कहा, "अपने लंबे जीवन में मैंने अपने राजनीतिक विरोधियों द्वारा समर्थित बड़ी चुनौतियों का सामना किया है। लेकिन, मेरा अपने लोगों में हमेशा विश्वास रहा है।"
राहुल गांधी ने पंजाब के उम्मीदवारों की सूची को फाइनल किया

राहुल गांधी ने पंजाब के उम्मीदवारों की सूची को फाइनल किया

rahul-gandhi-finalized-list-of-punjab-congress-candidate

नयी दिल्ली, 10 जनवरी: छुट्टियां मनाकर लौटने के बाद कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ एक के बाद एक कई बैठकें कीं और पंजाब विधानसभा चुनाव के लिए शेष बची 40 सीटों के उम्मीदवारों की सूची को अंतिम रूप दिया। मंगलवार को दोपहर बाद कांग्रेस की पंजाब के लिए केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक हुई जिसमें पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी, पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह और अन्य नेता शामिल हुए। 

पार्टी के एक सूत्र ने कहा, "पंजाब के उम्मीदवारों की अंतिम सूची तय कर दी गई है और इसकी घोषणा संभवत: बुधवार को की जाएगी।" 

कांग्रेस अब तक अपने 77 उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है और इसे विधानसभा की 117 सीटों के लिए 40 उम्मीदवारों की घोषणा अभी करनी है। 

सूत्रों के अनुसार, क्रिकेटर से राजनेता बने नवजोत सिंह सिद्धू अमृतसर पूर्वी सीट से कांग्रेस प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ेंगे। वह एक-दो दिन में कांग्रेस में शामिल होंगे। 

पंजाब में एक चरण में ही चार फरवरी को मतदान होना है। 

इससे पहले राहुल गांधी ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ अपने आवास पर बैठक कर पांच राज्यों में होने जा रहे विधानसभा चुनावों की रणनीति पर चर्चा की। 

राहुल के आवास पर हुई बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी एवं प्रियंका गांधी भी शामिल हुईं। अवकाश से लौटने के बाद पार्टी के नेताओं के साथ राहुल गांधी की यह पहली बैठक थी।

Friday, January 6, 2017

अमरिंदर सिंह ने केजरीवाल को बताया पाखंडी, बोले, मेरे खिलाफ लड़कर दिखाएँ 'औकात पता चल जाएगी'

अमरिंदर सिंह ने केजरीवाल को बताया पाखंडी, बोले, मेरे खिलाफ लड़कर दिखाएँ 'औकात पता चल जाएगी'

amarinder-singh-challange-kejriwal-to-fight-election-against-him

चंडीगढ़, 6 जनवरी: कांग्रेस की पंजाब इकाई के अध्यक्ष अमरिंदर सिंह ने शुक्रवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री व आम आदमी पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल को चुनौती देते हुए कहा कि केजरीवाल राज्य की 117 सीटों में जहां से लड़ना चाहें चुनाव लड़ सकते हैं, वह कहीं भी उनसे मुकाबले के लिए तैयार हैं। पंजाब की 117 विधानसभा सीटों पर 4 फरवरी को चुनाव होने हैं।

पूर्व मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि चुनावों के लिए कांग्रेस के उम्मीदवारों की अंतिम सूची 9 जनवरी को घोषित किए जाने की संभावना है।

अमरिंदर ने मीडिया से कहा, "मैं आम आदमी पार्टी के संयोजक केजरीवाल को पंजाब में किसी भी विधानसभा सीट से लड़ने की चुनौती देता हूं। मैं उनके खिलाफ लडूंगा और उन्हें उनकी औकात बता दूंगा। वह पाखंडी हैं। उनकी इच्छा उनकी पार्टी के जीतने के बाद पंजाब का मुख्यमंत्री बनने की है। यदि उनकी मुख्यमंत्री बनने की महत्वाकांक्षा है तो उन्हें खुले तौर पर इसकी घोषणा करनी चाहिए और लड़ना चाहिए।"

शिरोमणि अकाली दल की तरफ से पटियाल विधानसभा सीट पर एक पूर्व सेना जनरल को उनके खिलाफ उतारे जाने के सवाल पर अमरिंदर सिंह ने कहा कि वह पूर्व सेना प्रमुख जनरल जे.जे. सिंह को पटियाला में हराकर इतिहास बनाएंगे।

अमरिंदर ने कहा, "यह सेना के इतिहास में पहली बार होगा कि एक कप्तान (अमरिंदर) एक जनरल (जे.जे. सिंह) को मात देगा।"

अमरिंदर ने कहा, "टिकट में देरी कांग्रेस उम्मीदवारों के प्रचार अभियान को प्रभावित नहीं करेगी। अभी चुनाव में समय है। दुर्भाग्य से पार्टी के जयपुर में हुए सत्र के फैसले के मुताबिक, टिकट चुनावों से छह महीने पहले घोषित नहीं किए जा सकते।"

क्रिकेटर से राजनेता बने नवजोत सिंह सिद्धू के कांग्रेस में दाखिल होने और कांग्रेस के सत्ता में आने पर उप मुख्यमंत्री का पद मांगे जाने के सवाल पर अमरिंदर ने कहा, "सिद्धू को उप मुख्यमंत्री बनाने की किसी भी संभावना पर चर्चा नहीं हुई है। सिद्धू पार्टी के स्टार प्रचारकों में शामिल होंगे।"

Wednesday, January 4, 2017

पंजाब में हम तीन-चौथाई सीटें जीतेंगे, टक्कर में कोई नहीं: बादल

पंजाब में हम तीन-चौथाई सीटें जीतेंगे, टक्कर में कोई नहीं: बादल

prakash-singh-badal-hope-to-win-two-third-seats-punjab-election

पटना, 4 जनवरी: पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल ने यहां बुधवार को कहा कि पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव में हमारा (शिरोमणि अकाली दल और भारतीय जनता पार्टी गठबंधन) किसी के साथ कोई मुकाबला नहीं है। हमलोग तीन-चौथाई सीटें जीतेंगे। सिखों के दसवें गुरु, गुरु गोविंद सिंह के 350 वें प्रकाशोत्सव में भाग लेने बिहार की राजधानी पटना पहुंचे पंजाब के मुख्यमंत्री ने कहा, "पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव में हम तीन-चाथाई सीटें जीतेंगे।" 

इस दौरान उन्होंने प्रकाशोत्सव की तैयारी को लेकर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि तैयारी अच्छी की गई है। 

पंजाब में अगले महीने चार फरवरी के मतदान होना है। 

इसके पूर्व पटना हवाई अड्डा पहुंचने पर उनका बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्वागत किया। 

उल्लेखनीय है कि गुरु गोविंद सिंह के प्रकाश पर्व को लेकर देश-विदेश से श्रद्घालु पटना साहिब आ रहे हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी गुरुवार को पटना पहुंचेंगे। 

इससे पहले पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष कैप्टन अमरिंदर सिंह ने भी मंगलवार को गुरु गोविंद सिंह की जन्मस्थली तख्त श्री हरमंदिर सिंह जी पहुंचकर मत्था टेका था। इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद भी यहां आकर मत्था टेक चुके हैं। 

Thursday, December 29, 2016

केजरीवाल इनको बनाना चाहते हैं पंजाब का CM, VIDEO देखने के बाद पूरा पंजाब इन्हीं को देगा वोट

केजरीवाल इनको बनाना चाहते हैं पंजाब का CM, VIDEO देखने के बाद पूरा पंजाब इन्हीं को देगा वोट

bhagwant-mann-Drink-video-viral-kejriwal-want-to-make-him-cm

New Delhi, 29 December: नोटबंदी से पहले पंजाब की जनता का झुकाव केजरीवाल की तरफ हो रहा था इसका कारण यह था कि उन्होंने चुनाव जीतने के दूसरे दिन से ही नशे को पूरी तरह से ख़त्म करने का वादा किया था, उन्होंने ड्रग माफियाओं को एक महीने में जेल में भेजने का वादा किया था इसलिए पंजाब की जनता उनकी बातों में आ रही थी लेकिन नोटबंदी के बाद पंजाब की जनता उनकी बेईमानी को पहचान चुकी है क्योंकि वे सीना ठोंककर बेईमानों का समर्थन कर रहे हैं, कालेधन पर मोदी की कार्यवाही का विरोध कर रहे हैं। 

अगर सही कहें तो अब पंजाब के इमानदार लोग केजरीवाल को वोट ना देने का मन बना चुके हैं, अगर बचे खुचे कुछ लोग अभी भी केजरीवाल का समर्थन कर रहे होंगे तो वे भी इस VIDEO को देखकर केजरीवाल को वोट देने से पहले 100 बार सोचेंगे। 

इस VIDEO में केजरीवाल के भावी मुख्यमंत्री भगवंत मान नशे में टुन्न होकर भोजन कर रहे हैं, वह इतने टुन्न हैं कि सही तरीके से भोजन भी नहीं कर पा रहे हैं, उनसे चम्मच पकड़ते भी नहीं बन रहा है और वे प्लेट के ऊपर ही गिर पड़ रहे हैं। यह VIDEO देखकर लोग यही कहेंगे कि जब यह आदमी भोजन करते वक्त खुद को ही नहीं संभाल पा रहा है, ये ठीक तरह से चम्मच भी नहीं सभाल पा रहा है तो पंजाब कैसे संभालेगा। 

Sunday, December 25, 2016

पंजाब से बड़ी खबर, सरबजीत सिंह की बहन दलबीर कौर ने अकाली दल छोड़कर थामा BJP का दामन

पंजाब से बड़ी खबर, सरबजीत सिंह की बहन दलबीर कौर ने अकाली दल छोड़कर थामा BJP का दामन

dalbir-kaur-join-bjp

Punjab, 25 December: पाकिस्तान में सर्जिकल स्ट्राइक और नोटबंदी के बड़े फैसले के बाद पंजाब के नेताओं में बीजेपी की तरफ झुकाव बढ़ रहा है इसी का नतीजा है कि पिछले कई दिनों से लोग बीजेपी से जुड़ रहे हैं, आज पंजाब से एक और बड़ी खबर आयी है, खबर है कि पाकिस्तान की जेल में जान गंवाने वाले सरबजीत सिंह की बहन दलबीर सिंह ने भी बीजेपी का दामन थाम लिया है। 

पंजाब में बीजेपी के बड़े नेताओं की उपस्थिति में उन्होने बीजेपी को ज्वाइन किया, इससे पहले वे कांग्रेस और अकाली दल से जुडी थीं लेकिन नोटबंदी के फैसले से प्रभावित होकर उन्होंने बीजेपी ज्वाइन करना अधिक उचित समझा। 

इससे पहले पंजाब के मशहूर गायक हंसराज हंस भी मोदी के गुण गाते हुए और उन्हें बेस्ट नेता बताते हुए बीजेपी से जुड़े थे। पंजाब में इस वक्त बीजेपी की हवा चल रही है। इसका ट्रायल चंडीगढ़ नगर निगम चुनावों में दिख चुका है, चंडीगढ़ में बीजेपी ने 26 में से 21 सीटें जीतकर कांग्रेस को बुरी तरह हरा दिया था। 

Tuesday, December 20, 2016

पठानकोट एयरबेस पर हमले करने वाले आतंकी ने अपनी अम्मी से कहा था 'मेरे दोस्तों को दावत दे देना'

पठानकोट एयरबेस पर हमले करने वाले आतंकी ने अपनी अम्मी से कहा था 'मेरे दोस्तों को दावत दे देना'

pathankot-attack-news-pakistani-terrorists-want-dawat-for-his-friends

नई दिल्ली, 19 दिसम्बर: पंजाब के पठानकोट स्थित वायुसेना अड्डे पर हमला करने वाले एक आतंकवादी ने पाकिस्तान में अपनी मां को मोबाइल फोन पर अपनी अंतिम इच्छा जताते हुए कहा था कि उसकी मौत के बाद उसके दोस्तों को दावत पर बुलाया जाए। राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने सूचनाओं के इंटरसेप्शन के आधार पर यह बात कही है। 

एनआईए द्वारा सोमवार को दाखिल आरोप पत्र में कहा गया है कि भारतीय वायु सेना अड्डे की तरफ जाते समय आतंकवादियों के समूह ने रास्ते में दो स्थानीय लोगों से मोबाइल फोन छीने थे, जिनसे पाकिस्तान के वेहारी के निवासी नासिर हुसैन ने अपने आकाओं तथा परिजनों को कई बार कॉल किया।

आरोप पत्र में कहा गया है कि 18 मिनट की बातचीत के दौरान अम्मा कहकर संबोधित की जाने वाली महिला से उसने मोबाइल में उसकी बातचीत को रिकॉर्ड करने को कहा था।

एजेंसी ने कहा कि उसने महिला से कहा कि उसकी मौत के बाद वह उसके डेरावाला के दोस्तों को दावत दे। 

हुसैन ने अपने परिवार के कुछ सदस्यों व रिश्तेदारों के नाम (मुदस्सिर, मरियम तथा अल्तमाश) भी लिए।

उसने अपनी मां से कहा कि समूह 30 दिसंबर, 2015 को भारतीय सीमा में रात दो बजे घुसपैठ कर दाखिल हो गया। इसके तीन दिन बाद उन्होंने वायुसेना अड्डे पर हमला किया, जिस दौरान हुई मुठभेड़ में सात सैनिक शहीद हो गए। 

आरोप पत्र के मुताबिक, "उसने अपने सहोदर या चचेरे भाई से भी बातचीत की, जिसे वह मुन्ना कहकर बुला रहा था। साथ ही उसने मुन्ना नामक एक अन्य व्यक्ति से मुलाकात की।"

आरोप पत्र में कहा गया, "अपनी मां के साथ हुई बातचीत के दौरान हुसैन ने एक व्यक्ति 'उस्ताद' का जिक्र किया, जो उसके (मां) पास उसकी 'वसीहत' (अंतिम इच्छा) लेकर आने वाला था।"

एनआईए ने अपने आरोप पत्र में पठानकोट हमले के साजिशकर्ता के रूप में पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के प्रमुख मौलाना मसूद अजहर तथा तीन अन्य व्यक्तियों का भी नाम लिया है।

ये टेलीफोन कॉल तब किए गए, जब आतंकवादी वायुसेना अड्डे में छिपे हुए थे, क्योंकि उसने अपनी मां से कहा था कि वह बस हमला करने ही वाले हैं।

ये कॉल एक जनवरी, 2016 को सुबह 9.20 बजे पाकिस्तान के 923000957212 नंबर पर किए गए। एनआईए ने कहा कि यह नंबर खयाम भट्टी नामक व्यक्ति का है, जिसे बाबर भट्टी के नाम से भी जाना जाता है। यह पाकिस्तान के सियालकोट में एक स्थानीय दुकानदार है।

एनआईए ने कहा, "हुसैन ने अपने तीन अन्य साथियों हाफिज अबु बकर, उमर फारूक तथा अब्दुल कयूम का भी नाम लिया।" जांच एजेंसी ने कहा कि हुसैन ने सुबह 8.40 बजे भी उसी नंबर पर कॉल करने का प्रयास किया, लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली।

Saturday, December 3, 2016

मोदी को अपने बीच पाकर ख़ुशी से फूले नहीं समाये लोग, गोल्डन टेम्पल में मोदी ने खुद परोसा लंगर

मोदी को अपने बीच पाकर ख़ुशी से फूले नहीं समाये लोग, गोल्डन टेम्पल में मोदी ने खुद परोसा लंगर

pm-narendra-modi-visited-golden-temple-served-langer

अमृतसर, 3 दिसंबर: आज प्रधानमंत्री मोदी ने गोल्डन टेम्पल में पहुंचकर वहां ना सिर्फ मत्था टेका बल्कि लोगों को अपने हाथों से लंगर भी खिलाया, मोदी को अपने बीच पाकर वहां इकठ्ठे दर्शनार्थी फूले नहीं समाये। मोदी ने लोगों से हाथ मिलकर उन्हें ख़ुशी दी। मोदी ने खुद अपने ट्विटर पर इस यात्रा की फोटो शेयर करते हुए अपने अनुभव बांटे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार शाम यहां पहुंचे, और बाद में उन्होंने यहां अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी से द्विपक्षीय मुद्दों पर बातचीत की।

युद्ध से तबाह अफगानिस्तान में शांति और स्थिरता के प्रयास के तहत आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन 'हार्ट ऑफ एशिया-इस्तानबुल प्रोसेस' से इतर दोनों नेताओं ने मुलाक़ात की। गनी भी देर शाम यहां पहुंचे।

प्रधानमंत्री का यहां पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, उनके बेटे और उप मुख्यमंत्री सुखबीर बादल, उनकी बहू और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर और केंद्रीय मंत्री वी. के. सिंह ने यहां स्वागत किया। 

विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि मोदी और गनी संयुक्त रूप से हार्ट ऑफ एशिया के मंत्रिस्तरीय विचार-विमर्श सत्र का उद्घाटन करेंगे, जिसमें रविवार को 14 देशों के 40 से भी अधिक विदेश मंत्री शामिल होंगे।

मोदी ने एक ट्वीट में कहा, "इस (शनिवार) शाम मुझे अमृतसर में स्वर्ण मंदिर में प्रार्थना करने का मौका मिलेगा। स्वर्ण मंदिर जाना हमेशा बेहद खास होता है।"
मोदी और गनी अमृतसर पहुंचे, गोल्डन टेम्पल में की मुलाक़ात

मोदी और गनी अमृतसर पहुंचे, गोल्डन टेम्पल में की मुलाक़ात

pm-modi-president-asharaf-ghani-meet-in-golden-temple-amritsar

अमृतसर, 3 दिसंबर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार शाम यहां पहुंचे, और बाद में वह यहां अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी से द्विपक्षीय मुद्दों पर बातचीत करेंगे। एक अधिकारी ने यह यह जानकारी दी। 

युद्ध से तबाह अफगानिस्तान में शांति और स्थिरता के प्रयास के तहत आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन 'हार्ट ऑफ एशिया-इस्तानबुल प्रोसेस' से इतर दोनों नेता मुलाकात करेंगे। 

गनी भी देर शाम यहां पहुंचने वाले हैं।

प्रधानमंत्री का यहां पंजाब के मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल, उनके बेटे और उप मुख्यमंत्री सुखबीर बादल, उनकी बहू और केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर और केंद्रीय मंत्री वी. के. सिंह ने यहां स्वागत किया। 

विदेश मंत्रालय के एक अधिकारी ने बताया कि मोदी और गनी संयुक्त रूप से हार्ट ऑफ एशिया के मंत्रिस्तरीय विचार-विमर्श सत्र का उद्घाटन करेंगे, जिसमें रविवार को 14 देशों के 40 से भी अधिक विदेश मंत्री शामिल होंगे।

दोनों नेता और सम्मेलन में भाग लेने आ रहीं अन्य वैश्विक हस्तियां स्वर्ण मंदिर में मत्था टेकने जा सकती हैं।

मोदी ने एक ट्वीट में कहा, "इस (शनिवार) शाम मुझे अमृतसर में स्वर्ण मंदिर में प्रार्थना करने का मौका मिलेगा। स्वर्ण मंदिर जाना हमेशा बेहद खास होता है।"

पाकिस्तान की विदेश नीति पर प्रधानमंत्री के सलाहकार सरताज अजीज के कार्यक्रम में अंतिम क्षणों में बदलाव हुआ है। अब रविवार की जगह शनिवार शाम को ही वह अमृतसर पहुंच रहे हैं। एक अधिकारी ने रविवार के मौसम के अनिश्चित रहने की भविष्यवाणी को उनके कार्यक्रम में बदलाव का कारण बताया है।

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता नफीस जकारिया ने कहा, "अजीज एक विशेष विमान से आज (शनिवार) शाम को यात्रा कर रहे हैं।"

जकारिया ने यह भी कहा कि अजीज पंजाब सरकार द्वारा अमृतसर में आयोजित रात्रिभोज में भी शामिल हो सकते हैं। पंजाब सरकार ही इस वैश्विक कार्यक्रम का इंतजाम कर रही है।

इससे पहले पाकिस्तान के इस शीर्ष राजनयिक का सम्मेलन में भाग लेने के लिए रविवार को अमृतसर पहुंचने का कार्यक्रम था और माना जा रहा था कि वह उसी दिन पाकिस्तान लौट जाएंगे। 

अधिकारी ने कहा कि इस सम्मेलन से इतर भारत और पाकिस्तान के बीच कोई औपचारिक बातचीत होने की संभावना नहीं है।

भारत और पाकिस्तान के बीच बढ़े तनाव के बीच अमृतसर में शनिवार से हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन शुरू हुआ। इसके साथ ही इस सम्मेलन से इतर दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय बातचीत शुरू होगी या नहीं इसके कयास भी लगाए जाने लगे हैं। 

अजीज इस सम्मेलन में पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व कर रहे हैं। यह सम्मेलन अफगानिस्तान और उसके पड़ोसियों के बीच क्षेत्रीय सहयोग पर केंद्रित है। इसका मकसद बेहतर संपर्क बनाना और युद्ध से तबाह देश में सुरक्षा के खतरों से निपटना है। 

पाकिस्तान, अफगानिस्तान, अजरबैजान, चीन, भारत, ईरान, कजाकिस्तान, किर्गिस्तान, रूस, सऊदी अरब, ताजिकिस्तान, तुर्की, तुर्कमेनिस्तान और यूनाइटेड अरब अमीरात (यूएई) हार्ट ऑफ एशिया इनिशिएटिव के हिस्से हैं। इसकी शुरुआत वर्ष 2011 में की गई थी। इसका मकसद अफगानिस्तान और इसके पड़ोसी देशों के बीच आतंकवाद, चरमपंथ और गरीबी जैसी समान समस्याओं से निपटने के लिए आर्थिक एवं सुरक्षा सहयोग को बढ़ावा देना है। 

इस्तानबुल में नवंबर 2011 में स्थापित इस सम्मेलन के आयोजकों ने कहा कि इसका मकसद भरोसा बढ़ाने के उपायों को मजबूत करना और मादक पदार्थो की तस्करी और आतंकवाद के मुकाबले के लिए कदम उठाना और अफगानिस्तान में व्यापार, वाणिज्य और निवेश के अवसरों को विस्तारित करना है। 

भारत पहली बार हार्ट ऑफ एशिया सम्मेलन का आयोजन कर रहा है। इससे पहले पांच बार यह सम्मेलन हो चुका है। 

राज्य सरकार पंजाब की समृद्ध संस्कृति और परंपरा दर्शाने के लिए पाकिस्तान की सीमा से सटे इस शहर के बाहरी इलाके में विरासत गांव 'साडा पिंड' में सम्मानित अतिथियों के लिए रात्रिभोज का आयोजन करेगी।

मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल द्वारा आयोजित भोज में मोदी और गनी भी शामिल होंगे।

अफगानिस्तान हार्ट ऑफ एशिया का स्थायी अध्यक्ष है, जबकि मेजबान देश इसका सह-अध्यक्ष होता है।

Friday, December 2, 2016

लोकसभा अध्यक्ष ने 9 दिसंबर तक AAP सांसद भगवंत मान के संसद में आने पर पाबंदी लगायी

लोकसभा अध्यक्ष ने 9 दिसंबर तक AAP सांसद भगवंत मान के संसद में आने पर पाबंदी लगायी

bhagwant-mann-prevented-to-come-parliament-till-9-decempber

नई दिल्ली, 2 दिसम्बर: लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने शुक्रवार को सदन को बताया कि आम आदमी पार्टी (आप) के सदस्य भगवंत मान सदन की कार्यवाही में नौ दिसंबर तक भाग नहीं लेंगे। महाजन ने मान की सजा बढ़ा दी है।

लोकसभा की नौ सदस्यीय समिति संसद परिसर का वीडियो सोशल मीडिया पर पोस्ट कर इसकी सुरक्षा को खतरे में डालने को लेकर जांच कर रही है।

महाजन ने आम आदमी पार्टी (आप) के नेता द्वारा संसद की सुरक्षा के कथित उल्लंघन को लेकर 25 जुलाई को समिति गठित की थी। आप नेता ने 21 जुलाई को अपने आवास से संसद भवन जाने के दौरान वीडियो बनाई थी और इसे अपने फेसबुक खाते पर पोस्ट किया था।