Showing posts with label Maharashtra. Show all posts
Showing posts with label Maharashtra. Show all posts

Oct 18, 2017

महाराष्ट्र ग्राम पंचायर चुनाव, दूसरे चरण में भी BJP ने सबको धोया, मोदी के हौसले हुए बुलंद

महाराष्ट्र ग्राम पंचायर चुनाव, दूसरे चरण में भी BJP ने सबको धोया, मोदी के हौसले हुए बुलंद

maharashtra-gram-panchayat-election-bjp-win-in-2-phase-1311-seats

महाराष्ट्र से आज बीजेपी के लिए फिर से खुशखबरी आयी है, दूसरे चरण में भी बीजेपी ने अकेले ही सभी पार्टियों को धूल चटा दी है, बीजेपी को 1311 सीटों पर जीत मिली जबकि कांग्रेस को 312, शिवसेना को 295, NCP को 297 और अन्य को 453 सीटों पर जीत मिली.

बीजेपी की बम्पर जीत की वजह से मोदी के हौसले फिर से मुलंद हो गए हैं. उन्होंने महाराष्ट्र की जनता को फिर से बधाई दी है. उन्होंने कहा कि आपके प्यार और आशीर्वाद से हमारे अन्दर काम करने की और ताकत आएगी.



आपको बता दें कि 7 अक्टूबर को 3884 ग्राम पंचायतों के चुनाव हुई थे, पिछले हप्ते 2974 ग्राम पंचायतों के चुनावी नतीजे घोषित किये गए थे जिसमें बीजेपी को 1457, कांग्रेस को 301, शिवसेना को 222 और एनसीपी को सिर्फ 194 जगह जीत मिली. कुछ निर्दलीय सरपंचों की भी जीत हुई थी. पहले चरण में भी बीजेपी की बम्पर जीत हुई और दूसरे चरण में भी बीजेपी ने सबको धूल चटा दी.

Oct 12, 2017

पटेलों ने BJP को जिता दिया, मुंबई से बीजेपी के लिए खुशखबरी, शिवसेना और हार्दिक पटेल की उडी नींद

पटेलों ने BJP को जिता दिया, मुंबई से बीजेपी के लिए खुशखबरी, शिवसेना और हार्दिक पटेल की उडी नींद

bmc-bi-election-bjp-jagruti-patel-win-from-bhandup-from-shivsena

गुजरात में बीजेपी के लिए सिर्फ यही खतरा है कि कहीं पटेल बिरादरी उनसे दूर ना हो जाए लेकिन आज मुंबई से बीजेपी के लिए खुशखबरी आयी है तो दूसरी तरफ शिवसेना और हार्दिक पटेल की नींद उड़ गयी है. शिवसेना ने पिछले साल हार्दिक पटेल के साथ गठबंधन किया था, यह सोचते हुए कि अब महाराष्ट्र में पटेल बिरादरी शिवसेना को वोट देगी लेकिन आज उनका गठबंधन काम नहीं आया.

आज बृहन्मुंबई महानगर पालिका (BMC) के भांडुप में उप-चुनाव हुए जिसमें बीजेपी उम्मीदवार जागृति पटेल की शानदार जीत हुई जबकि शिवसेना उम्मीदवार मिनाक्षी पाटिल को भारी वोटों से हार हुई.

बीजेपी की उम्मीदवार जागृति पटेल को वार्ड संख्या 116 में 11 हजार 129 वोट मिले वहीँ शिवसेना की उम्मीदवार मीनाक्षी पाटिल को कुल 6 हजार 337 वोट ही मिले. मतलब साफ़ है कि पटेल बिरादरी ने बीजेपी को जमकर वोट दिए हैं, इस वार्ड में पटेलों के वोट अधिक थे इसलिए शिवसेना को उनका वोट मिलने की उम्मीद थी लेकिन उन्हें करारी हार मिली.

गुजरात में भी पटेल कर सकते हैं Vote4BJP

बीजेपी उम्मीद्वार जाग्रति पटेल की शानदार जीत से हार्दिक पटेल की नींद उड़ गयी होगी क्योंकि जीत का यह सन्देश गुजरात के पटेलों तक जरूर जाएगा और हो सकता है कि वे हार्दिक पटेल के बहकावे में आने से बच जाएं. अगर ऐसा हुआ तो बीजेपी की शानदार जीत को कोई रोक नहीं सकता.

क्यों हुआ था उप-चुनाव

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि पहले यह सीट कांग्रेस के पास थी लेकिन कांग्रेस पार्षद प्रतिमा पाटिल का 25 अप्रैल को निधन होने से यह सीट खाली हो गयी थी. उप-चुनाव में कांग्रेस की तरफ से प्रमिला पाटिल मैदान में थी लेकिन क्षेत्र वासियों ने बीजेपी की जागृति पटेल पर भरोसा जताया और उन्हें भारी वोटों से जिता दिया.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि BMC में इस वक्त शिवसेना के 84 पार्षद हैं जबकि बीजेपी के एक और बढ़कर 82 हो चुके हैं.

Oct 11, 2017

महाराष्ट्र ग्राम पंचायत चुनावों में BJP से करारी हार के बाद बोली शिवसेना 'विजय पागल हो गया है'

महाराष्ट्र ग्राम पंचायत चुनावों में BJP से करारी हार के बाद बोली शिवसेना 'विजय पागल हो गया है'


प्रधानमंत्री मोदी और भारतीय जनता पार्टी से कांग्रेस ही नहीं शिवसेना भी परेशान हो गयी है, कांग्रेसी कह रहे हैं कि विकास पागल हो गया है तो शिवसेना कह रही है कि विजय पागल हो गया है. कल महाराष्ट्र ग्राम पंचायत चुनावों के पहले चरण में बीजेपी की बम्पर जीत हुई जबकि कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना की करारी हार हुई है. बीजेपी अकेले ही सभी पार्टियों से पर भारी पड़ गयी और से (50 फ़ीसदी से अधिक) स्थानों पर जीत मिली.

आपको बता दें कि 7 अक्टूबर को 3884 ग्राम पंचायतों के चुनाव हुई थे, आज 2974 ग्राम पंचायतों के चुनावी नतीजे घोषित किये गए जिसमें बीजेपी को 1457, कांग्रेस को 301, शिवसेना को 222 और एनसीपी को सिर्फ 194 जगह जीत मिली. कुछ निर्दलीय सरपंचों की भी जीत हुई है.

इन चुनावों में शिवसेना की बुरी हालत हुई है, उसे तीसरा स्थान हासिल हुआ है. बीजेपी की इतनी बड़ी जीत और अपनी करारी हार की बौखलाहट आज शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में दिखायी. उन्होंने कहा कि विजय पागल हो गया है.

सामना में लेख के जरिये शिवसेना वालों ने कहा कि विजय पागल हो गया है और लोगों ने विजय की पिटाई की है. किसानों की हालत आज भी खराब है, आत्महत्या जारी है और बीजेपी वाले जीत की खुशियाँ मना रहे हैं, विजय पागल हो गया है इसलिए खुशियाँ मनायी जा रही हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दूसरे चरण में 16 जिलों में 3692 ग्राम पंचायतों के चुनाव 14 अक्टूबर को होंगे और 16 अक्टूबर को नतीजे घोषित कर दिए जाएंगे.

Oct 10, 2017

महाराष्ट्र ग्राम पंचायत चुनावों में BJP की बम्पर जीत की खबर सुनकर खुश हो गए PM MODI, पढ़ें

महाराष्ट्र ग्राम पंचायत चुनावों में BJP की बम्पर जीत की खबर सुनकर खुश हो गए PM MODI, पढ़ें

modi-happy-bjp-great-victory-in-maharashtra-gram-panchayat-poll

भारतीय जनता पार्टी के लिए आज महाराष्ट्र से बहुत बड़ी खुशखबरी आयी है. महाराष्ट्र ग्राम पंचायत चुनावों के पहले चरण में बीजेपी की बम्पर जीत हुई है जबकि कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना की करारी हार हुई है. लेकिन बीजेपी को अकेले की सभी पार्टियों से अधिक स्थानों पर (50 फ़ीसदी से अधिक) जीत मिली है.

आपको बता दें कि 7 अक्टूबर को 3884 ग्राम पंचायतों के चुनाव हुई थे, आज 2974 ग्राम पंचायतों के चुनावी नतीजे घोषित किये गए जिसमें बीजेपी को 1457, कांग्रेस को 301, शिवसेना को 222 और एनसीपी को सिर्फ 194 जगह जीत मिली. कुछ निर्दलीय सरपंचों की भी जीत हुई है. 

इतनी विशाल जीत की खबर सुनकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी खुश हो गए. उन्होंने महाराष्ट्र की जनता का बीजेपी सरकार में भरोसा जताने के लिए धन्यवाद दिया. उन्होंने कहा कि ग्रामीण इलाकों में भी बीजेपी की विशाल जीत से साबित हो गया है कि किसान, गरीब, युवा सिर्फ विकास करने वाली पार्टी को पसंद करते हैं. मैं इतनी बड़ी जीत के लिए महाराष्ट्र के बीजेपी कार्यकर्ताओं, मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस और रावसाहिब पाटिल दानवे को बधाई देता हूँ.

pm-narendra-modi-congratulae-maharashtrat-bjp-win

इस विशाल जीत पर मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस ने कहा कि महाराष्ट्र की जनता ने प्रधानमंत्री मोदी और राज्य सरकार की विकास की नीतियों पर भरोसा कायम रखा है, हमने हर जगह अच्छा प्रदर्शन किया है, जहाँ तक विदर्भ और मराठवाड़ा की बात है तो हमें पहले की अपेक्षा अधिक वोट मिले हैं क्योंकि ये पहले से ही कांग्रेस और एनसीपी के गढ़ रहे हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दूसरे चरण में 16 जिलों में 3692 ग्राम पंचायतों के चुनाव 14 अक्टूबर को होंगे और 16 अक्टूबर को नतीजे घोषित कर दिए जाएंगे.

Sep 30, 2017

महाराष्ट्र में नहीं चलने दूंगा बुलेट ट्रेन, अपने गुजरात में ही चलायें मोदी: राज ठाकरे

महाराष्ट्र में नहीं चलने दूंगा बुलेट ट्रेन, अपने गुजरात में ही चलायें मोदी: राज ठाकरे

raj-thackeray-threaten-pm-modi-to-stop-bulet-train-in-maharashtra

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेवा (MNS) के अध्यक्ष राज ठाकरे ने आज विजय दशमी के दिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बड़ी धमकी दी है. उन्होंने कहा कि मैं मोदी की बुलेट ट्रेन को महाराष्ट्र में घुसने भी नहीं दूंगा, मोदी अपनी बुलेट ट्रेन अपने गुजरात में ही चलायें.

राज ठाकरे ने मुंबई एल्फिंस्टन रेलवे स्टेशन पर मची भगदड़ का जिक्र करते हुए कहा कि मोदी बिना रेलवे के इंफ्रास्ट्रक्चर में सुधार किये ही बुलेट ट्रेन चलाने का सपना देख रहे हैं, अगर उन्होंने रेलवे की दशा और दिशा नहीं सुधारी तो वे महाराष्ट्र में बुलेट ट्रेन का काम शुरू ही नहीं होंगे देंगे.

राज ठाकरे ने इस अवसर पर दशहरा की बधाई दी साथ ही यह भी कहा कि टीवी में ख़बरें देखकर दुःख हो रहा है, आज दशहरा का त्यौहार है लेकिन इतने लोगों की अकारण मौत हो गयी. कुछ लोगों ने मुझे वहां जाने को कहा लेकिन मैं नहीं गया क्योंकि मेरे जाने से राहत का काम प्रभावित होता.

उन्होंने कहा कि हम मोदी को बुलेट ट्रेन नहीं चलाने देंगे, अगर ये फ़ोर्स का इस्तेमाल करेंगे तो हमें भी कुछ सोचना पड़ेगा, हम 5 अक्टूबर को अपने अंदाज में चर्चगेट पर रेलवे अधिकारियों से पूछेंगे कि ऐसे हादसे क्यों हो रहे हैं. जहाँ तक बुलेट ट्रेन का सवाल है हम मुंबई में इसकी एक ईंट भी नहीं रखने देंगे.

राज ठाकरे ने कहा कि हमें पाकिस्तान, चीन और आतंकवादियों से डरने की जरूरत नहीं है क्योंकि आतंकियों से भी खतरनाक तो भारतीय रेलवे है. हम 5 अक्टूबर से इसके खिलाफ मार्च निकालेंगे. अब हम इन्हें अपने अंदाज से जवाब देंगे.
मुंबई के रेलवे कर्मचारी आज नहीं मनाएंगे दशहरा, रेल मंत्री पियूष गोयल ने दी जानकारी

मुंबई के रेलवे कर्मचारी आज नहीं मनाएंगे दशहरा, रेल मंत्री पियूष गोयल ने दी जानकारी

piyush-goyal-informed-mumbai-railway-staff-not-celebrate-dussehra

रेलवे मंत्री पियूष गोयल ने बताया कि आज मुंबई के रेलवे कर्मचारी दशहरा का त्यौहार नहीं मनाएंगे. उन्होंने बताया कि आज एल्फिंस्टन रेलवे स्टेशन पर मची भगदड़ में 22 लोगों की मौत से हम सभी बहुत दुखी हैं, मैंने ही उनसे अपील की थी कि वे दशहरा ना मनाएं, मेरी बात को लोगों ने माना है और दशहरा नहीं मनाने का निर्णय किया है.

रेल मंत्री ने यह भी भरोसा दिया कि अगले 7 दिनों में मुंबई में ऐसी सभी खतरनाक जगहों की पहचान की जाएगी और उनकी मरम्मत, नवीनीकरण किया जाएगा. हम जितना जल्दी हो सकेगा, रेलवे स्टेशनों को दुरुस्त करेंगे ताकि ऐसी घटना दोबारा ना घटे.

आपको बता दें कि एल्फिंस्टन रेलवे स्टेशन पर मची भगदड़ में आज 22 लोगों की मौत हो गयी जबकि 20 से अधिक लोग घायल हो गए, पियूष गोयल ने खुद जाकर KEM अस्पताल में घायलों और मृतक परिवारों से मुलाक़ात की.

Sep 29, 2017

पुल पर भगदड़ मचने से 22 लोगों की मौत के लिए मोदी जिम्मेदार: शिवसेना विधायक अजय चौधरी

पुल पर भगदड़ मचने से 22 लोगों की मौत के लिए मोदी जिम्मेदार: शिवसेना विधायक अजय चौधरी

shivsena-blame-modi-for-stampede-on-enfinstrone-railway-station

मुंबई के एल्फिंस्टन रेलवे स्टेशन पर भगदड़ मचने से 22 लोगों की मौत के लिए शिवसेना विधायक अजय चौधरी ने मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है, उन्होंने कहा कि सरकार लोगों की बुनियादी जरूरतें भी पूरी नहीं कर पा रही है, जरूरी सेवायें मुहैय्या नहीं करवा पा रही है और सपने बुलेट ट्रेन के देख रही है, अगर इन मौतों के लिए कोई जिम्मेदार है तो मोदी सरकार जिम्मेदार है, रेलवे विभाग जिम्मेदार है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मुंबई में एल्फिंस्टन रेलवे स्टेशन पर भगदड़ मचने से 22 लोगों की मौत हो गया है जबकि 20 लोग गंभीर रूप से घायल हैं. कहा जा रहा है कि बारिश से बचने के लिए कई लोग पुल पर खड़े थे, अचानक पुल टूटने की अफवाह फैलने से लोग भागने लगे और एक दूसरे के ऊपर गिरने लगे, देखते ही देखते वहां पर लोग एक दूसरे को कुचलते हुए भागने लगे और कई लोग घायल हो गये.

घायलों को तुरंत ही पास के KEM अस्पताल में भेजा गया लेकिन अस्पताल ने 22 लोगों की मौत की पुष्टि कर दी. अभी भी दर्जनों लोग गंभीर रूप से घायल हैं इसलिए मरने वालों का आंकड़ा बढ़ सकता है. घायलों को कई अन्य अस्पतालों में भी भेजा गया है.

पुलिस का कहना है कि घायलों को अच्छा ट्रीटमेंट दिया जा रहा है और घटना की जांच शुरू कर दी गयी है, प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बारिश की वजह से लोग पुल पर खड़े हो गए थे जिसकी वजह से आने का रास्ता ब्लाक हो गया था, जब दूसरी तरफ से लोगों पर दबाव पड़ा तो लोग जल्दबाजी में नीचे उतरने लगे और भगदड़ मच गयी.

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और रेल मंत्री पियूष गोयल ने इस घटना पर दुःख जताया है, मोदी ने कहा कि भगदड़ में जान गंवाने वालों लोगों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना करता हूँ और घायलों के जल्दी स्वस्थ होने की कामना करता हूँ, रेल मंत्री पियूष गोयल भी KEM अस्पताल जाकर घायलों और मृतक परिवार वालों से मिले और घटना की हाई लेवल जांच के आदेश दिए.
दुखद हादसा, मुंबई में एल्फिंस्टन रेलवे स्टेशन पर भगदड़, 15 की मौत की पुष्टि, दर्जनों घायल

दुखद हादसा, मुंबई में एल्फिंस्टन रेलवे स्टेशन पर भगदड़, 15 की मौत की पुष्टि, दर्जनों घायल

mumbai-elfinstan-railway-station-bhagdad-more-than-15-dead

मुंबई से एक बहुत ही दुखद खबर आयी है. मुंबई में एल्फिंस्टन रेलवे स्टेशन पर भगदड़ मचने से 15 लोगों की मौत हो गया है जबकि 20-30 लोग अभी भी गंभीर रूप से घायल हैं. कहा जा रहा है कि बारिश से बचने के लिए कई लोग पुल पर खड़े थे, अचानक पुल टूटने की अफवाह फैलने से लोग भागने लगे और एक दूसरे के ऊपर गिरने लगे, देखते ही देखते वहां पर लोग एक दूसरे को कुचलते हुए भागने लगे और कई लोग घायल हो गये.

घायलों को तुरंत ही पास के KEM अस्पताल में भेजा गया लेकिन अस्पताल ने 15 लोगों की मौत की पुष्टि कर दी. अभी भी दर्जनों लोग गंभीर रूप से घायल हैं इसलिए मरने वालों का आंकड़ा बढ़ सकता है. घायलों को कई अन्य अस्पतालों में भी भेजा गया है.

पुलिस का कहना है कि घायलों को अच्छा ट्रीटमेंट दिया जा रहा है और घटना की जांच शुरू कर दी गयी है, प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार बारिश की वजह से लोग पुल पर खड़े हो गए थे जिसकी वजह से आने का रास्ता ब्लाक हो गया था, जब दूसरी तरफ से लोगों पर दबाव पड़ा तो लोग जल्दबाजी में नीचे उतरने लगे और भगदड़ मच गयी.

Sep 22, 2017

नारायण राणे ने कांग्रेस से नाराज होकर दिया इस्तीफ़ा, रणदीप सुरजेवाला ने बताया BJP का हाथ

नारायण राणे ने कांग्रेस से नाराज होकर दिया इस्तीफ़ा, रणदीप सुरजेवाला ने बताया BJP का हाथ

narayan-rane-resign-from-congress-surjewala-told-bjp-hand
आज महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के बड़े नेता नारायण राणे ने कांग्रेस पार्टी पर कई आरोप लगाकर इस्तीफ़ा दे दिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी उन्हें मान सम्मान नहीं दे रही है और ना ही उन्हें इस्तेमाल कर रही है, उन्हें नजरअंदाज करने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस पार्टी ने मुझे महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री उम्मीदवार बनाने का वादा किया था लेकिन उन्होने वो भी नहीं निभाया. नारायण राणे के साथ सिंधुदुर्ग के सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने भी इस्तीफ़ा दे दिया.
आपको बता दें कि नारायण राणे 1999 में शिवसेना-बीजेपी सरकार में 9 महीनें तक मुख्यमंत्री रह चुके हैं, 2005 में वे उद्धव ठाकरे से मनमुटाव की वजह से शिवसेना पार्टी छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए थे. अब वे कांग्रेस से नाराज हो गए हैं और उनके बीजेपी में शामिल होनी की चर्चा है हालाँकि कांग्रेस ने आज उनके साथ बहुत बड़ी पॉलिटिक्स खेल दी है.
कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि नारायण राणे ने बीजेपी की वजह से इस्तीफ़ा दिया है, ऐसा इसलिए क्योंकि बीजेपी ने उनपर अंडरवर्ड डॉन दाऊद इब्राहीम के साथ रिश्ती का आरोप लगाया था. कांग्रेस ने ऐसा इसलिए कहा है ताकि अगर नारायण राणे बीजेपी ज्वाइन करें तो कांग्रेस कह सके कि पहले बीजेपी वाले नारायण राणे पर दाऊद से सम्बन्ध होने के आरोप लगा रहे थे लेकिन अब बीजेपी ने नारायण राणे को अपनी पार्टी में शामिल कर लिया, इससे यह भी साबित हो गया है कि बीजेपी के भी दाऊद से सम्बन्ध हैं.
सुरजेवाला ने कहा कि अब बीजेपी ने नारायण राणे पर दाऊद से रिश्ते होने का आरोप लगाए हैं तो उन्हें सबूत भी देना चाहिए, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और गृह मंत्री राजनाथ सिंह को नारायण राणे और दाऊद के रिश्ते के सबूतों को पब्लिक डोमेन में रखना चाहिए. हम चाहते हैं कि दाऊद से जितने भी नेताओं के सम्बन्ध हैं उनका खुलासा होना चाहिए और उन्हें सजा मिलनी चाहिए.

Sep 21, 2017

हमें ढोकला खाना होगा तो मुंबई में खा लेंगे, बुलेट ट्रेन से क्यों जाएंगे अहमदाबाद: राज ठाकरे

हमें ढोकला खाना होगा तो मुंबई में खा लेंगे, बुलेट ट्रेन से क्यों जाएंगे अहमदाबाद: राज ठाकरे

raj-thackeray-criticize-modi-sarkar-bullet-train-project-news-in-hindi

आज मनसे चीफ राज ठाकरे फेसबुक पर लाइव हुए और मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला. उन्होंने कहा कि मोदी सरकार के साढ़े तीन साल में कोई बदलाव नहीं आया, जो हालत कांग्रेस के समय में थी वही हालत मोदी सरकार के समय है, सिर्फ नोटों के रंग में बदलाव आया है लेकिन उससे कोई लाभ नहीं मिला क्योंकि एक भी पैसे का कालाधन जब्त नहीं हुआ.

राज ठाकरे ने कहा कि मोदी ने फ़ालतू का बुलेट ट्रेन चला दिया। उन्होंने सिर्फ मुंबई से अहमदाबाद के लिए बुलेट ट्रेन क्यों चलाई, क्या मुंबई में ढोकला नहीं मिलता है, हमें अगर ढोकला खाना होगा तो मुंबई में ही खा लेंगे, बुलेट ट्रेन में बैठकर अहमदाबाद क्यों जाएंगे।

राज ठाकरे ने कहा कि मोदी ने सिर्फ अपने राज्य के लोगों के लिए बुलेट ट्रेन चलायी हैं, अधिकतर फ्लाइट मुंबई से दिल्ली के लिए चलती हैं तो बुलेट ट्रेन भी मुंबई से दिल्ली के लिए चलाते, मुंबई से कलकत्ता, मुंबई से चेन्नई, मुंबई से कन्याकुमार तक चलाते, उन्होंने गुजरात तक ही बुलेट ट्रेन क्यों चलवायी।

कालेधन मामले पर मोदी पर हमला बोलते हुए राज ठाकरे ने कहा कि मोदी सरकार कालाधन नहीं ला सकी, उन्होंने 15 लाख रुपये देने का वादा किया था वो भी नहीं दिए. ये योग की बात करते हैं, स्वच्छ भारत की बात करते हैं लेकिन सिर्फ फोटो खिंचवाकर काम हो जाता है. ऐसे नहीं होगा स्वच्छ भारत. हर नगर निगम में भ्रष्टाचार है, महानगर निगम में भ्रष्टाचार है, पहले भ्रष्टाचार दूर करो, उसके बाद भारत अपने आप स्वच्छ होने लगेगा। अगर नगर निगम वाले काम करेंगे तो किसी को झाडू लेकर सड़कों पर निकलना ही नहीं पड़ेगा।

Sep 19, 2017

102 बदमाशों को ठोंकने वाले प्रदीप शर्मा को कांग्रेस सरकार ने किया था 9 साल के लिए सस्पेंड

102 बदमाशों को ठोंकने वाले प्रदीप शर्मा को कांग्रेस सरकार ने किया था 9 साल के लिए सस्पेंड

congress-sarkar-suspend-pradeep-sharma-encounter-specialist-9-year

मुंबई: कल दाऊद इब्राहीम के छोटे भाई इकबाल कासकर को मुंबई में गिरफ्तार कर लिया गया. उनपर धमकी देने और फिरौती मांगने का आरोप था. उनको मुंबई पुलिस के सुपर कॉप कहे जाने वाले प्रदीप शर्मा ने गिरफ्तार किया. इकबाल कासकर को गिरफ्तार करने के बाद प्रदीप मिश्रा के बारे में भी कई बातें पता चली हैं. ये अब तक 102 बदमाशों का एनकाउंटर कर चुके हैं, इन्हें मुंबई का एनकाउंटर स्पेशलिस्ट कहा जाता है लेकिन इनके साथ महाराष्ट्र की पूर्व कांग्रेस सरकार ने बहुत गलत किया था. इन्हें 9 साल के लिए सस्पेंड किया गया था. पिछले महीनें ही इनकी पद पर बहाली हुई थी. वर्दी पहनते ही इन्होने दाऊद के भाई को अपना पहला शिकार बनाया.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि प्रदीप शर्मा महाराष्ट्र पुलिस में पिछले 25 वर्षों से सेवा कर रहे हैं, इन्हें बदमाशों का यमराज बताया जाता है, इन्होने शिवसेना-बीजेपी सरकार में करीब 102 बदमाशों को ठोंका, इन्होने मुंबई से दाऊद गैंग का सफाया करना शुरू कर दिया लेकिन 2003 में महाराष्ट्र में फिर से कांग्रेस सरकार आ गयी जिसके बाद इनपर फेक एनकाउंटर के केस चलाये जाने लगे. अगर 2003 में बीजेपी-शिवसेना की वापसी होती तो शायद ये दाऊद इब्राहीम को भी ठोंक देते लेकिन दाऊद की किस्मत अच्छी थी जो 2003 में कांग्रेस सरकार आ गयी. 

कांग्रेस की सरकार आने के बाद एनकाउंटर स्पेशलिस्ट पुलिस अधिकारी प्रदीप शर्मा को कई तरह की विभागीय जांच और कार्रवाई का सामना करना पड़ा। उन्हें लंबे समय तक निलंबित रहना पड़ा। उनका ट्रांसफर महाराष्ट्र के दूर-दराज क्षेत्र में किया गया, जिसे उन्होंने स्वास्थ्य का हवाला देते नामंजूर कर दिया। शर्मा का नाम साल 2006 में लखन भैया फेक एनकाउंटर केस में उछला था। साल 2010 में इसी केस को लेकर शर्मा को गिरफ्तार भी किया गया, लेकिन मुंबई कोर्ट ने उन्हें जुलाई 2013 में सभी आरोपों से बरी कर दिया। पिछले महीने उन्होंने फिर खाकी वर्दी पहनी थी और अब उनकी जांबाजी फिर दिखने लगी है।

Sep 18, 2017

शिवसेना ने कर लिया मोदी सरकार का साथ छोड़ने का निर्णय, बतायी कई वजह

शिवसेना ने कर लिया मोदी सरकार का साथ छोड़ने का निर्णय, बतायी कई वजह

shivsena-hint-to-break-alliance-with-nda-will-leave-modi-sarkar

शिवसेना ने मोदी सरकार को बड़ा झटका देना का मन बना लिया है, आज शिवसेना पार्टी के कार्यकर्ताओं, सासदों और विधायकों की मीटिंग हुई जिसमें मोदी सरकार पर कई आरोप लगाए गए, शिवसेना ने इशारा किया है कि वह जल्द ही NDA से अलग होने और मोदी सरकार का साथ छोड़ने का फैसला ले सकते हैं. 

शिवसेना के प्रवक्ता संजय राउत ने मोदी सरकार से अलग होने की कई वजहें बतायी हैं जैसे - मंहगाई बढ़ना, किसानों की समस्या. शिवसेना ने कहा है कि मोदी सरकार में मंहगाई बेतहाशा बढ़ी है, किसानों की समस्या का कोई समाधान नहीं हो रहा है, हम इसके लिए जिम्मेदार नहीं हैं इसलिए हम इसका आरोप भी नहीं लेना चाहते.

संजय राउत ने कहा कि हम सरकार में रहेंगे या नहीं, जल्द ही निर्णय लेंगे. आज हमारी मीटिंग हुई है और सभी ने मोदी सरकार के प्रति निराशा जतायी है. हम किसानों को परेशान नहीं देख सकते. मोदी सरकार में किसानों का कोई भी काम नहीं हुआ है.

Sep 9, 2017

देख लो मेरी ताकत, मैंने महाराष्ट्र में BJP से माफ़ करवा दिया किसानों का लोन: राहुल गाँधी

देख लो मेरी ताकत, मैंने महाराष्ट्र में BJP से माफ़ करवा दिया किसानों का लोन: राहुल गाँधी

rahul-gandhi-said-congress-pressure-let-bjp-karja-maaf-kisan

राहुल गाँधी कल महाराष्ट्र गए थे. उन्होंने नांदेड़ के परभनी में एक जनसभा को भी संबोधित किया. अपने संबोधन में उन्होंने हमेशा की तरह मोदी, बीजेपी और आरएसएस पर हमला किया जबकि कांग्रेस पार्टी की तारीफ की. कर्जा माफी पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि मुझे ख़ुशी है, कांग्रेस पार्टी के दबाव के बाद महाराष्ट्र की भाजपा सरकार ने किसानों का कर्जा माफ़ किया.

इसके बाद वाले ट्वीट में उन्होंने बीजेपी सरकार की आलोचना करते हुए कहा कि यहाँ कर्जा तो माफ़ हुआ है लेकिन BJP/RSS की स्टाइल में कर्जा माफी हुई है, मार्केटिंग 35000 करोड़ की हुई है जबकि सच्चाई है कि सिर्फ 5000 करोड़ रुपये की कर्जा माफी हुई है.

rahul-gandhi-on-karja-mafee

Sep 7, 2017

हो गया इन्साफ, 1993 मुंबई धमाके में फिरोज और ताहिर को फांसी, अबू सलेम को मिली उम्रकैद

हो गया इन्साफ, 1993 मुंबई धमाके में फिरोज और ताहिर को फांसी, अबू सलेम को मिली उम्रकैद

mumbai-1993-bomb-blast-case-tahir-and-feroz-fansi-abu-salem-jail

मुंबई बम धमाके में आज मुंबई की विशेष टाडा कोर्ट ने महत्वपूर्ण फैसला सुनाया है. इस मामले में दो लोगों ताहिर मर्चंट और फिरोज अब्दुल राशिद खान को फांसी हुई है, अबू सलेम और करीमुल्ला खान को उम्र कैद की सजा मिली है जबकि उसके एक साथी रियाज सिद्दीकी को 10 साल की सजा मिली है.

आपकी कानकारी के लिए बता दें कि इन लोगों ने 12 मार्च 1993 में मुंबई में सीरियल ब्लास्ट किया था जिसमें करीब 300 लोगों की मौत हो गयी थी जबकि 700 लोग घायल हो गए थे. कोर्ट ने इस मामले में अबू सलेम को मुख्य साजिशकर्ता माना था लेकिन उन्हें थोडा राहत दी गयी है. पूर्व में इस मामले में 6 लोगों को भी दोषी करार दिया गया था लेकिन बाद में मुस्तफा डोसा की मौत हो गयी. एक अन्य आरोपी अब्दुल कयूम को बरी कर दिया गया था.

CBI ने अपनी जाँच में कहा था कि मुस्तफा डोसा याकूब मेनन से भी अधिक खतरनाक आतंकी था, उसनें मर्चांट और फिरोज के साथ मिलकर पूरी साजिश रची थी. यह हमला अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद के इशारे पर किया गया था.
मुंबई में सिलेंडर में जोरदार धमाका, बिछ कई लाशें

मुंबई में सिलेंडर में जोरदार धमाका, बिछ कई लाशें

mumbai-cylinder-blast-9-killed-11-injured-in-under-construction-home

मुंबई से एक दिल दहला देने वाली खबर आयी है. मुंबई में जुहू के नजदीक एक 13 मंजिला निर्माणाधीन इमारत में एक सिलेंडर में जोरदार धमाका हो गया, देखते ही देखते 9 मजदूरों की मौत हो गयी जबकि 11 घायल हो गए है. धमाका होने के बाद लोगों के शरीर के चीथड़े चीथड़े हो गए. 

घायलों को नजदीक के कूपर अस्पताल में भर्ती करा दिया गया है. हादसे के बाद वहां पर आग लग गयी. हादसे के शिकार अधिकतर लोग पश्चिम बंगाल के हैं. आग लगने के बाद दमकल गाड़ियों को बुला लिया गया. अब हालात काबू में हैं.

Sep 4, 2017

शिवसेना भी समझ गयी, मोदी और अमित शाह ने क्यों किया मंत्रिमंडल में फेर-बदल, तभी तो..?

शिवसेना भी समझ गयी, मोदी और अमित शाह ने क्यों किया मंत्रिमंडल में फेर-बदल, तभी तो..?

shiv-sena-told-cabinet-reshuffle-is-pm-modi-amit-shah-dirty-politics

मोदी सरकार के मंत्रिमंडल में फेरबदल के फैसले से कांग्रेस से अधिक शिवसेना सुलग रही है. जितना विरोधी बयान शिवसेना के नेता दे रहे हैं उतना कांग्रेसी नेता भी नहीं दे रहे हैं. ऐसा लगता है कि शिवसेना समझ गयी है कि मोदी सरकार में मंत्रिमंडल का फेरबदल किस मकसद से किया गया है और इससे शिवसेना का क्या नुकसान है, इसीलिए शिवसेना ने इस फेर-बदल को मोदी और अमित शाह की डर्टी पॉलिटिक्स बताया है.

आज सामना में एक लेख के जरिये शिवसेना ने फेर-बदल की आलोचना करते हुए कहा कि जब मोदी BRICS मीटिंग में भाग लेने के लिए चाइना जा रहे थे तो मंत्रिमंडल में फेर-बदल की इतनी जल्दी क्या था, उनके जाने से कुछ घंटे पहले इतना मेगा-इवेंट आयोजित करने की क्या जल्दी थी, अगर मोदी जी ऐसा ना करते तो क्या चीन के प्रधानमंत्री उनसे मिलने से इनकार कर देते.

शिवसेना ने यह भी लिखा है कि मंत्रिमंडल में फेर-बदल मोदी और अमित शाह की डर्टी पॉलिटिक्स है. इसकी प्लानिंग मोदी ने नहीं बल्कि अमित शाह ने की थी और यह सब 2019 लोकसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए किया गया है. मंत्रिमंडल में अधिक संख्या में लोग रह सकते हैं लेकिन हम प्रदर्शन के आधार पर कैबिनेट का आकलन करते हैं. अब मंत्रिमंडल में नौकरशाहों को लाने का ट्रेंड शुरू किया गया है जो सही नहीं है.

Sep 3, 2017

शिवसेना मोदी सरकार से बहुत नाराज, मंत्रिमंडल विस्तार में मिला ठन ठन गोपाल

शिवसेना मोदी सरकार से बहुत नाराज, मंत्रिमंडल विस्तार में मिला ठन ठन गोपाल

shivsena-angry-with-modi-sarkar-cabinet-expansion-september2017

वैसे तो शिवसेना हमेशा ही मोदी सरकार से नाराज रहती है और उनके खिलाफ आग उगलती रहती है. आज शिवसेना मोदी से और नाराज हो गयी क्योंकि उन्होंने इस बार के मंत्रिमंडल विस्तार में शिव सेना को ठन ठन गोपाल दे दिया. शिवसेना को उम्मीद थी कि उनकी पार्टी से भी किसी को केंद्रीय मत्रिमंडल में जगह दी जाएगी लेकिन उनकी इक्षा पूरी नहीं की गयी तो उन्होंने शपथग्रहण समारोह का बहिष्कार कर दिया.

शिवसेना ने कहा कि हम इस मंत्रिमंडल विस्तार से कत्तई खुश नहीं हैं क्योंकि हमें एक भी जगह नहीं मिली. जब ये लोग अपने ही लोगों को मंत्री बना रहे हैं तो हमारे जाने का मतलब ही नहीं है. शिवसेना के अलावा हाल ही में NDA में शामिल हुई JDU को भी मंत्रिमंडल में जगह नहीं दी गयी.

Sep 2, 2017

मोदी के बारे में अपने बयान से पलटे पूर्व कांग्रेसी नेता और मौजूदा BJP सांसद नाना पटोले: पढ़े

मोदी के बारे में अपने बयान से पलटे पूर्व कांग्रेसी नेता और मौजूदा BJP सांसद नाना पटोले: पढ़े

bjp-mp-nana-patole-take-u-turn-from-his-statement-on-pm-modi

महाराष्ट्र के भंडारा-गोंडिया से मौजूदा BJP सांसद और पूर्व कांग्रेसी नेता नाना पटोले मोदी पर दिए गए अपने बयान से पलट गए हैं.  उन्होंने कहा था कि मोदी सांसदों से लगातार मीटिंग करते रहते हैं लेकिन जब उनसे कोई सवाल पूछता है या कोई मुद्दा उठाता है तो वे नाराज हो जाते हैं और डांट कर चुप करा देते हैं. पटोले का यह बयान देखते ही देखते मीडिया की सुर्खियाँ बन गया. नाना पटोले ने तुरंत बाहर आकर ख़बरों को झूठा बताया और कहा कि यह केवल मुझे बदनाम करने का प्रयास है.

नाना पटोले ने कहा कि जिस कार्यक्रम में मैं बोल रहा था यह राजनीतिक कार्यक्रम नहीं था. मैंने वहां पर ना तो मोदीजी का नाम लिया था और ना ही देवेन्द्र फडनवीस का. मुझे किसानों की दशा पर अपना भाषण देना था. मुझे लगता है कि यह कार्यक्रम मुझे बदनाम करने के लिए आयोजित किया गया था..
इस BJP सांसद ने मोदी के बारे में बोल दिया बहुत बुरा: पढ़ें

इस BJP सांसद ने मोदी के बारे में बोल दिया बहुत बुरा: पढ़ें

bhandara-gondiya-pm-patole-said-pm-modi-dont-like-ask-questions

अब मोदी सरकार के सिर्फ डेढ़ साल का कार्यकाल बचा है इसलिए कुछ सांसद बगावत का बिगुल बजाने लगे हैं ऐसा इसलिए भी क्योंकि अब उन्हें पार्टी से निकाले जाने कर डर नहीं है क्योंकि अगर उन्हें पार्टी से निकाला जाएगा तो उन्हें अन्य पार्टियाँ हाथों हाथ लेंगी और टिकट दे देंगी.

महाराष्ट्र के भंडारा-गोंडिया के सांसद पटोले ने भी मोदी सरकार के खिलाफ अनाप शनाप बयान दिया है. उन्होंने कहा है कि मोदी सांसदों से लगातार मीटिंग करते रहते हैं लेकिन जब उनसे कोई सवाल पूछता है या कोई मुद्दा उठाता है तो वे नाराज हो जाते हैं और डांट कर चुप करा देते हैं.

पटोले किसानों की आत्महत्या पर आयोजित एक कार्यक्रम में बोल रहे थे, उन्होंने बताया कि हाल ही में BJP सांसदों की मीटिंग में जब मैंने मोदीजी के सामने OBC मिनिस्ट्री और किसानों की आत्महत्या का मुद्दा उठाया तो वे नाराज हो गए और मुझे चुप करा दिया. जब उनसे कोई प्रश्न पूछता है तो वे कहते हैं कि क्या आपने बीजेपी का मैनिफेस्टो पढ़ा है, क्या आप सरकारी योजनाओं से परिचित हैं.

पटोले ने कहा कि मैंने मीटिंग में कई सुझाव दिए जैसे - ग्रीन टैक्स को बढ़ावा देना, केंद्र को कृषि में अधिक निवेश करना और OBC मिनिस्ट्री के बारे में कुछ पूछा तो वे नाराज हो गए. पटोले ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस की भी आलोचना करते हुए कहा कि वह केंद्र से राज्य के लिए अधिक फंड नहीं ला पा रहे हैं. केंद्र सरकार महाराष्ट्र को बहुत कम पैसा दे रही है जबकि मुंबई से उन्हें काफी पैसा मिलता है.

अंत में पटोले ने यह भी कहा कि मैं किसी से डरता नहीं हूँ और ना ही कोई मंत्रालय चाहता हूँ क्योंकि राज्य में जितने भी केंद्रीय मंत्री हैं सब परेशान हैं.

Sep 1, 2017

शिवसेना ने उगली मोदी के खिलाफ आग, मोदी ने 21000 करोड़ रुपये बर्बाद कर दिए, नोटबंदी फेल हो गयी

शिवसेना ने उगली मोदी के खिलाफ आग, मोदी ने 21000 करोड़ रुपये बर्बाद कर दिए, नोटबंदी फेल हो गयी

shivsena-wrote-in-saamna-notbandi-fail-modi-wasted-21000-crore

शिवसेना ने आज मोदी सरकार पर सामना में एक लेख के जरिये करारा प्रहार किया है. शिवसेना ने मोदी सरकार के खिलाफ आग उगलते हुए कहा कि मोदी सरकार की नोटबंदी पूरी तरह से फेल हुई है क्योंकि एक भी पैसे का कालाधन नहीं आया है. 99 फ़ीसदी वोट वापस आ गए हैं. सिर्फ एक फ़ीसदी नोट वापस नहीं आये हैं इसका कारण यह हो सकता है कि अमीर लोगों ने लाइन में खड़े होने के कारण नोट जमा ही ना किये हों.

सामना में लिखा गया है कि मोदी सरकार ने नोटों की छपाई में बिना वजह 21000 करोड़ रुपये खर्च कर दिए. अच्छा होता पुराने नोटों को ही चलने दिया जाता, इससे ना तो लोगों की लाइन में खड़े होकर मौत होती और ना ही देश को इतना बड़ा झटका मिलता. सामना ने कहा है कि मोदी ने नए नोटों की छपाई में सरकारी पैसा बर्बाद किया है.

सामना में कहा गया है कि सिर्फ 26000 करोड रुपये बैंकों में वापस नहीं लौटे और इसके चक्कर में नोटों की छपाई पर 21000 करोड़ रुपये खर्च कर दिए गए. यह तो सरासर पैसे की बर्बादी है. मोदी सरकार कालाधन नहीं निकाल सकी, सारे दावे गलत हो गए. 

मोदी सरकार के टेरर फंडिंग पर लगाम लगाने के दावे पर सवाल उठाते हुए सामना में लिखा गया है कि आतंकी घटनाओं में कोई कमीं नहीं आयी उल्टा हमारे सैनिकों की शाहदत बढ़ गयी है. पाकिस्तान अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है. मोदी सरकार का यह दावा गलत है. मोदी सरकार नकली नोटों पर रोक लगाने का दावा कर रही है लेकिन 2000 के फेक नोट फिर से आने लगे हैं.

यह भी कहा गया है कि नोटबंदी के दौरान पता नहीं कितने लोगों की लाइन में खड़े खड़े मौत हो गयी, पता नही कितने लोगों की पैसे ना मिलने और खाना ना मिलने से मौत हो गयी, इस सब के जिम्मेदार भी मोदी सरकार है.