Showing posts with label Maharashtra. Show all posts
Showing posts with label Maharashtra. Show all posts

Jan 16, 2018

शादी की पहली रात महिलाओं की वर्जिनिटी जांचने की परंपरा गलत, युवाओं ने शुरू किया जागरूकता अभियान

शादी की पहली रात महिलाओं की वर्जिनिटी जांचने की परंपरा गलत, युवाओं ने शुरू किया जागरूकता अभियान

youth-made-whats-app-group-to-aware-kanjarbhat-community-pune

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र के पुणे के कंजरभात में समाज में होने वाले शोषण के खिलाफ युवाओं ने एक नयी पहल शुरू की है जो बड़ा परिवर्तन ला सकती है. आपको बता दें की महाराष्ट्र का कंजरभात समाज में शादी की पहली रात दुल्हन की वर्जिनिटी को चेक करने की परंपरा है.

इस परंपरा के मुताबिक शादी की पहली रात के बाद यदि चादर पर ब्लड नहीं दिखा तो समुदाय के लोग यह मान लेते हैं कि यह लड़की पहले से शारीरिक रिश्ता बना चुकी है. इसके बाद लड़की को खंभे से बांधकर बेहोश होने तक पीटा जाता है. इसके अलावा फेल होने पर कपड़े उतारना, शरीर के अंगों को दागना, खौलते तेल में से सिक्का निकालना जैसे दंड दिए जाते हैं. 

लेकिन अब इस समाज के शिक्षित युवाओं ने इस गलत परंपरा को ख़त्म करने के लिए  एक व्हाट्सअप ग्रुप बनाया है जो इस विषय पर युवाओं में जागरुकता फैलाने का काम कर रहा है. इन युवाओं ने इस प्रथा के खिलाफ पुलिस में भी शिकायत दर्ज कराई है. ग्रुप के संस्थापक विवेक तमाईचेकर ने बताया कि समाज में हो रहे अत्याचार के लिए हमने सोशल मीडिया का सहारा लिया है.

ग्रुप के सदस्य बताते हैं कि उनके समुदाय में माँ-बाप कम उम्र में ही बच्चियों की शादी कर रहे हैं ताकि उनके बच्चे कोई गलत कदम ना उठा पाएं.

आपको बता दें कि डाक्टरों ने भी इस परंपरा को गलत बताया है. डाक्टरों के अनुसार हाइमेन का होना या गायब होना वर्जिनिटी का पैमाना नहीं है. खेलकूद में ऐक्टिव रहने वाली लड़कियों का हाइमेन कई बार फट चुका होता है और कई बार ऐसा भी होता है कि बच्चे को जन्म देने के बाद भी महिला का हाइमेन यथास्थिति रहता है. 

Jan 12, 2018

करणी सेना के लोग गिरफ्तार, सूरजपाल बोले, हमारे लिए अलग कानून, जिग्नेश-खालिद के लिए अलग कानून

करणी सेना के लोग गिरफ्तार, सूरजपाल बोले, हमारे लिए अलग कानून, जिग्नेश-खालिद के लिए अलग कानून

surajpal-amu-slams-devendra-fadnavis-for-arresting-karni-sena

मुंबई: आपने देखा होगा कि कुछ दिनों पहले जिग्नेश और उमर खालिद ने महाराष्ट्र के भीमा कोरेगांव में भड़काऊ भाषण दिया था जिसके बाद दंगे हुए थे, उस समय जिग्नेश मेवाणी और उमर खालिद के खिलाफ FIR लिखी जाने के बाद भी उन्हें गिरफ्तार नहीं किया है, उसके बाद जिग्नेश ने दिल्ली के जंतर मंतर पर बिना परमिशन के रैली की, वहां भी पुलिस ने उनके खिलाफ कोई कारवाही नहीं की. लेकिन आज जैसे ही करणी सेना के लोग सेंसर बोर्ड के खिलाफ प्रदर्शन करने मुंबई गए, मुंबई पुलिस ने आकर उन्हें गिरफ्तार कर लिया.

करणी सेना के सैकड़ों सदस्यों की गिरफ्तारी के बाद राजपूत नेता सूरजपाल अमू ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस को जमकर फटकार लगाई. उन्होंने कहा कि हमारे लोग शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहे थे उसके बाद भी पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार कर लिया. हम गिरफ्तारी से नहीं डरते लेकिन हम महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री से पूछना चाहते हैं कि हमारे लिए अलग कानून और जिग्नेश मेवानी और उमर खालिद जैसे लोगों के लिए अलग कानून है क्या. हमारे लोगों को को गिरफ्तार कर लिया जाता है लेकिन पुलिस उन जैसे लोगों को गिरफ्तार क्यों नहीं करती.

उन्होंने मुंबई पुलिस से कहा - पुलिस ने मेरी अपील है कि तुरंत हमारे बालकों को छोड़ दे वरना पूरे भारत में ऐसा आन्दोलन होगा जो आज तक नहीं हुआ होगा. हम लोग शान्तिपूर्वक आन्दोलन करना चाहते हैं, हम लोग देशद्रोही नहीं हैं, हम देश के टुकड़े टुकड़े करने की बात नहीं करते, ऐसे लोगों के खिलाफ को आप लोग कोई कार्यवाही नहीं करते लेकिन हमारे खिलाफ तुरंत एक्शन लेते हैं. क्या हमारे लिए अलग कानून बना रखा है.

Jan 4, 2018

महाराष्ट्र में जातिवाद की आग लगाने वाले जिग्नेश मेवाणी को अल्पेश ठाकुर ने जमकर लताड़ा, पढ़ें

महाराष्ट्र में जातिवाद की आग लगाने वाले जिग्नेश मेवाणी को अल्पेश ठाकुर ने जमकर लताड़ा, पढ़ें

alpesh-thakor-slams-jignesh-mevani-for-provoke-speech-in-maharashtra

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र में जातिवाद की आग लग चुकी है, दलित और मराठा के बीच में खूनी संघर्ष शुरू हो चुका है, दो दिन पहले दलितों और मराठा के बीच में हिंसा हुई, कल दलितों ने पूरे महाराष्ट्र को बंद रखा, कई गाड़ियाँ जला दी गयीं, कई जगह तोड़ फोड़ और आगजनी की गयी. यह आग किसी और ने नहीं लगाई, आग लगाने का आरोप कांग्रेस के समर्थक जिग्नेश मेवाणी और JNU में देशद्रोह के आरोपी उमर खालिद पर लग रही है. दोनों ने 5 लाख दलितों की रैली में भड़काऊ भाषण दिया, मोदी के खिलाफ अपशब्दों का इस्तेमाल किया गया, सवर्ण जातियों के खिलाफ अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया गया, दलितों को मोदी और बीजेपी के नाम से भड़काया गया. देखते ही देखते दलित भड़क उठे और महाराष्ट्र में दंगे शुरू हो गए.

गुजरात चुनावों के वक्त अल्पेश ठाकुर कांग्रेस पार्टी में शामिल हुए थे, कांग्रेस पार्टी महाराष्ट्र में हो रहे जातिवादी संघर्ष में दलितों का समर्थन कर रही है लेकिन अल्पेश ठाकुर ने लाइन से हटकर जिग्नेश मेवाणी को फटकार लगाई है. 

अल्पेश ठाकुर ने कहा कि जिग्नेश मेवाणी ने रैली में प्रधानमंत्री मोदी के बारे में बोलकर सही नहीं किया, उन्होने स्ट्रीट वार की तरह बयान दिया, हम लड़ाई नहीं चाहते, हम वैचारिक लड़ाई चाहते हैं, जिग्नेश को प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ ऐसी भाषा नहीं बोलनी चाहिए थे, उन्हें अपनी भाषा पर कंट्रोल रखना चाहिए था. दलितों पर अत्याचार के खिलाफ दूसरी भाषा में भी आवाज उठायी जा सकती है.

उन्होंने महाराष्ट्र पुलिस पर भी सवाल उठाते हुए कहा कि यह संघर्ष होने क्यों दिया गया, पुलिस ने एक्शन क्यों नहीं किया, सिर्फ बयान देने से काम नहीं चलेगा, एक्शन से काम चलेगा, पता करना पड़ेगा कि इसके पीछे किसका दिमाग था.

Jan 3, 2018

गिरिराज सिंह बोले, आजादी गैंग से मिलकर महाराष्ट्र में जातिवादी आग लगाना चाहती है कांग्रेस

गिरिराज सिंह बोले, आजादी गैंग से मिलकर महाराष्ट्र में जातिवादी आग लगाना चाहती है कांग्रेस

giriraj-singh-blame-congress-for-playing-caste-politics-in-maharashtra

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने आज कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष राहुल गाँधी पर बड़ा आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी आजादी गैंग वालों से मिलकर महाराष्ट्र में जातिवाद की आग लगाना चाहती है.

उन्होंने एक ट्वीट में कहा - उमर खालिद JNU में कहता था भारत तेरे टुकड़े होंगे, अब राहुल गाँधी और जिग्नेश समर्थन कर रहे हैं. पहले कांग्रेस की तिकड़ी ने जाती के नाम पर गुजरात के टुकड़े करने की साजिश की और अब वही आग महाराष्ट्र में लगाने की कोशिश कर रहे हैं.

गिरिराज सिंह ने कहा कि अब हिंदुस्तान को जाति से ऊपर उठाना होगा और कांग्रेस के नापाक मंसूबे को रौंदना होगा.
आपकी जानकारी के लिये बता दें कि 1 जनवरी को कांग्रेस पार्टी के दोस्त जिग्नेश मेवाणी और उमर खालिद ने पुणे के भीमा गोरेगांव में दलितों की एक रैली बुलाई थी जिसमें भड़काऊ भाषण दिया गया और देखते ही देखते दलित और मराठी भिड गए. आज दलितों ने महाराष्ट्र बंद बुलाया है. कल से हुई हिंसा में एक दलित युवक की मौत हुई जिसके बाद कांग्रेस ने इसे बीजेपी के खिलाफ मुद्दा बना लिया, यही देखकर गिरिराज सिंह ने कांग्रेस पार्टी के मंसूबे को फेल करने के लिए जातिवाद भूलने की अपील की है.
खतरनाक होता जा रहा जातिवादी संग्राम, दलितों ने बुलाया महाराष्ट्र बंद, अब तक 1000 गिरफ्तार

खतरनाक होता जा रहा जातिवादी संग्राम, दलितों ने बुलाया महाराष्ट्र बंद, अब तक 1000 गिरफ्तार

maharashtra-dalit-demand-action-against-maratha-called-maharashtra-bandh

पुणे: महाराष्ट्र में जातिवादी संग्राम खतरनाक होता जा रहा है, आज दलितों ने महाराष्ट्र बंद बुलाया है, अब तक मुंबई में अलग अलग इलाकों में 9 मामले दर्ज हुए हैं जबकि 1000 से अधिक लोगों को गिरफ्तार किया गया है, बता दें की 1 जनवरी को पुणे जिले के भीमा कोरेगांव में मराठा और दलितों के बीच जातिवादी हिंसा हुई जिसमें 30 साल के एक युवक की मौत हो गयी, कई अन्य घायल हो गए, उपद्रवियों ने कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया. बताया जाता है कि घटना के दिन भीमा कोरेगांव में 5 लाख दलित इकठ्ठे हुए थे.

यह हिंसा और भी बड़ा रूप ले सकती थी अगर पुलिस मौके पर पहुंचकर हालात पर नियंत्रण ना कर पाती, एक समय दोनों समाजों के बीच युद्ध की स्थिति उत्पन्न हो गयी थी लेकिन पुलिस प्रशासन की चौकसी की वजह से हालात पर नियंत्रण कर लिया गया.

जानकारी के अनुसार यह हिंसा भीमा कोरेगांव युद्ध के 200 वर्ष पूरे होने पर आयोजित एक कार्यक्रम की वजह से हुई, दलित समाज ने इस मौके पर एक रैली का आयोजन किया था जिसमें पांच लाख दलित इकठ्ठे हुए थे, जो मराठा समाज के लोगों को रास नहीं आया और देखने ही देखते हिंसक झड़प होने लगी.

क्या है भीमा कोरेगांव युद्ध

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भीमा कोरेगांव युद्ध अंग्रेजों की ईस्ट इंडिया कंपनी और मराठा के पेशवा के बीच हुआ था, यह युद्ध 1 जनवरी 1818 को लड़ा गया था जिसमें अंग्रेजों की विजय हुई थी, अंगेजों ने पेशवा के सामने जनरल जोसेफ के नेतृत्व में बड़ी सेना उतार दी थी जिसे देखकर मराठा लोगों ने अपने पैर पीछे हटा दिए, एक तरह से युद्ध में मराठा लोगों की हार हुई.

अंग्रेजों की सेना में भारत के ही महर दलित शामिल थे इसलिए भारत के दलित समाज के लोग इसे अपनी विजय मानते हैं, मतलब दलित लोग इसे मराठा समाज पर अपनी विजय मानते हैं, कल इस युद्ध के 200 वर्ष पूरे होने पर दलितों ने विजयोत्सव का आयोजन किया था जो मराठा लोगों को पसंद नहीं आया, ऐसा इसलिए क्योंकि वे इसे अपना अपमान समझ रहे थे, इसी बात को लेकर दोनों समुदायों में झड़प और हिंसा हुई जिसमें दलित समाज के एक युवक की मौत हो गयी.

इस घटना को लेकर दलितों ने महाराष्ट्र बंद बुलाया है, मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनावीस ने इसे सरकार के खिलाफ जातीय साजिश बताया है. कांग्रेस ने इसे बीजेपी के खिलाफ मुद्दा बना लिया है और हमेशा की तरह दलित समाज का पक्ष लिया है और आरएसएस-बीजेपी पर उन्हें दबाने का आरोप लगाया है.

Jan 2, 2018

पढ़ें, भीमा कोरेगांव युद्ध में ऐसा क्या हुआ था जिसकी वजह से आज दलित-मराठा भिड गए और बवाल हो गया

पढ़ें, भीमा कोरेगांव युद्ध में ऐसा क्या हुआ था जिसकी वजह से आज दलित-मराठा भिड गए और बवाल हो गया

what-is-bheema-koregaon-battle-violence-in-maratha-and-dalits

पुणे: पुणे जिले के भीमा कोरेगांव में आज मराठा और दलितों के बीच जातिवादी हिंसा हुई जिसमें एक युवक की मौत हो गयी, कई अन्य घायल हो गए और कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया.

यह हिंसा और भी बड़ा रूप ले सकती थी अगर पुलिस मौके पर पहुंचकर हालात पर नियंत्रण ना कर पाती, एक समय दोनों समाजों के बीच युद्ध की स्थिति उत्पन्न हो गयी थी लेकिन पुलिस प्रशासन की चौकसी की वजह से हालात पर नियंत्रण कर लिया गया.

इस हिंसा में मारे गए युवक की जांच करने के लिए मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनावीस ने CID को आदेश दे दिया है. साथ ही पूरी घटना की न्यायिक जांच की मांग की है. इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने मृतक परिवार को 10 लाख रुपये की आर्थिक मदद का ऐलान किया है.

जानकारी के अनुसार यह हिंसा भीमा कोरेगांव युद्ध के 200 वर्ष पूरे होने पर आयोजित एक कार्यक्रम की वजह से हुई, दलित समाज ने इस मौके पर एक रैली का आयोजन किया था, जो मराठा समाज के लोगों को रास नहीं आया और देखने ही देखते इसनें बवाल का रूप ले लिया.

क्या है भीमा कोरेगांव युद्ध

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भीमा कोरेगांव युद्ध अंग्रेजों की ईस्ट इंडिया कंपनी और मराठा के पेशवा के बीच हुआ था, यह युद्ध 1 जनवरी 1818 को लड़ा गया था जिसमें अंग्रेजों की विजय हुई थी, अंगेजों ने पेशवा के सामने जनरल जोसेफ के नेतृत्व में बड़ी सेना उतार दी थी जिसे देखकर मराठा लोगों ने अपने पैर पीछे हटा दिए, एक तरह से युद्ध में मराठा लोगों की हार हुई.

अंग्रेजों की सेना में भारत के ही महर दलित शामिल थे इसलिए भारत के दलित समाज के लोग इसे अपनी विजय मानते हैं, मतलब दलित लोग इसे मराठा समाज पर अपनी विजय मानते हैं, कल इस युद्ध के 200 वर्ष पूरे होने पर दलितों ने विजयोत्सव का आयोजन किया था जो मराठा लोगों को पसंद नहीं आया, ऐसा इसलिए क्योंकि वे इसे अपना अपमान समझ रहे थे, इसी बात को लेकर दोनों समुदायों में झड़प और हिंसा हुई जिसमें दलित समाज के एक युवक की मौत हो गयी.

इस घटना को लेकर दलितों ने महाराष्ट्र बंद बुलाया है, मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनावीस ने इसे सरकार के खिलाफ जातीय साजिश बताया है. कांग्रेस ने इसे बीजेपी के खिलाफ मुद्दा बना लिया है और हमेशा की तरह दलित समाज का पक्ष लिया है और आरएसएस-बीजेपी पर उन्हें दबाने का आरोप लगाया है.

Jan 1, 2018

सलमान, शाहरूख जैसे नकली हीरो सबने देखे, अब असली हीरो भी देख लीजिये, पढ़ें कौन है ये पुलिसवाला

सलमान, शाहरूख जैसे नकली हीरो सबने देखे, अब असली हीरो भी देख लीजिये, पढ़ें कौन है ये पुलिसवाला

constable-sudarshan-shinde-acted-as-real-hero-in-kamla-mills-fire

नई दिल्ली: अधिकतर लोग खाकी वर्दी वालों के बारे में अपशब्द कहते देखे जा सकते हैं जबकि समाज के हर वर्ग में दो तरह के लोग रहते हैं। सोशल मीडिया पर एक तस्वीर वाइरल हो रही है जिसमे खाकी को सलाम ठोंका जा रहा है। हाल में मुंबई में कमला मिल्स बिल्डिंग के एक रेस्टोरेंट में आग लगी थी जिसमे 14 लोग जिन्दा जल गए थे और 100 के आस पास लोग घायल हो गए थे। मृतकों की संख्या बहुत ज्यादा हो सकती थी और खाकी वर्दी वाले न होते।

स्थानीय पुलिस ने दर्जनों लोगों को वहां से निकाला था और कई लोगों की जान बचाई थी। ये तस्वीर वहीं की बताई जा रही है। तस्वीर में एक पुलिस का जवान एक घायल युवती को कंधे पर बिठाकर बाहर ले जा रहा है। सोशल मीडिया इस जवान को रीयल हीरो बता रही है। इस कांस्टेबल का नाम सुदर्शन शिंदे है.

सिपाही सुदर्शन शिंदे के बारे में लोगों का कहना है की शाहरुख़ खान, सलमान खान नहीं बल्कि सुदर्शन शिंदे हैं असली हीरो, असली बाहुबली, कमेंट्स पढ़ें

Dec 29, 2017

नियम तोड़ने वाले होटल-इमारतें तोड़ दी जाँय, इंसानों की जान से खिलवाड़ मंजूर नहीं: देवेंद्र फडनवीस

नियम तोड़ने वाले होटल-इमारतें तोड़ दी जाँय, इंसानों की जान से खिलवाड़ मंजूर नहीं: देवेंद्र फडनवीस

cm-devendra-fadnavis-order-to-demolish-buildings-breaking-law

मुंबई: मुंबई के लोअर परेल इलाके के कमला मिल्‍स कंपाउंड में आग लगने की घटना पर महाराष्ट्र सरकार ने सख्त एक्शन लिया है, महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने ऐसी सभी इमारतों और होटलों को तोड़ने के आदेश दिए हैं जो नियमों को अनदेखा करके इंसानों की जान से खिलवाड़ कर रहे हैं. आज मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने दुर्घटनास्थल का दौरा किया जिसके बाद पांच BMC अधिकारीयों को सस्पेंड कर दिया गया.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कमला मिल्स कंपाउंड में गुरुवार देर रात लगी भीषण आग ने 14 लोगों की जान ले ली जबकी 50 लोग गंभीर रूप से झुलस गए. मरने वालों में 11 महिलाएं तथा 3 पुरुष शामिल हैं

मामले की गंभीरता को देखते हुए घटना स्‍थल पर पहुंचे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने हादसे के लिए जिम्‍मेदार बीएमसी के पांच अधिकारियों को सस्‍पेंड कर दिया जबकि होटल के मालिकों पर मामला दर्ज कराया गया है.

इसी के साथ मुख्‍यमंत्री ने शहर में अन्य सभी जगहों पर फायर ऑडिट करने के भी आदेश जारी किए. उन्‍होंने अधिकारियों को आदेश दिया कि जहां भी नियमों का उलंल्घन पाया जाएगा उसे तुरंत तोड़ने के आदेश दिये जाएंगे.
14 लोग जिन्दा जले, शिवसेना के मुंबई के मेयर साहब बोले, मुझे मुंबई की हर घटना की जानकारी नहीं

14 लोग जिन्दा जले, शिवसेना के मुंबई के मेयर साहब बोले, मुझे मुंबई की हर घटना की जानकारी नहीं

mumbai-mayor-vishwanath-mahadeshwar-statement-kamala-mill-fire

मुंबई: शिवसेना नेता और मुंबई के मेहर विश्वनाथ महादेश्वर ने बेहद ही शर्मनाक बयान देते हुए कहा है कि मुझे मुंबई में घट रही हर घटना की जानकारी नहीं है. उन्होंने कमला मिल हादसे पर पूछे गए एक सवाल पर यह बयान दिया. ट्विटर पर उनके गैरजिम्मेदाराना बयान को लेकर उन्हें बर्खास्त किये जाने की मांग चल रही है लेकिन शिवसेना ने उनकी जगह BMC के पांच जूनियर अधिकारियों को निलंबित कर दिया है.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मुंबई शहर पर BMC का राज है और BMC में शिवसेना की सरकार है जिसे बीजेपी ने समर्थन दे रखा है. होटलों में सुरक्षा की निगरानी करना, होटलों को सर्टिफिकेट देना सब BMC का काम है.

जिस कमला मिल में आग लगने से 14 लोग जिन्दा जले हैं उसमें फायर से बचने का कोई इंतजाम ही नहीं था, एक कोने में फायर एग्जिट डोर था लेकिन वह बंद था, वो तो अच्छा हुआ कि वहीं पर काम करने वाले एक युवक ने गेट को तोड़ दिया वरना कहाँ पर 50-60 और जलकर मर जाते. मतलब यहाँ पर होटल ने भी नियम और कानूनों का उल्लंघन किया और BMC अधिकारियों ने भी होटल को गलत सर्टिफिकेट बांटा.
मुंबई में दर्दनाक हादसा, कमला मिल्स में आग लगने से अब तक 14 लोगों की मौत, कई घायल

मुंबई में दर्दनाक हादसा, कमला मिल्स में आग लगने से अब तक 14 लोगों की मौत, कई घायल

mumbai-kamala-mills-fire-more-than-14-dead-many-injured

मुंबई: मुंबई से एक बेहद दुखद घटना की खबर है, मुंबई के लोअर परेल इलाके में गुरुवार देर रात भीषण आग लग गई. कमला मिल्स कंपाउंड के मोजो बिस्ट्रो लाउंज में लगी आग से 14 लोगों की मौत हो गई जबकि डेढ़ दर्जन से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं. मरने वालों में 12 महिलाएं और 2 पुरुष शामिल हैं.

आग की सूचना मिलते ही फायर ब्रिगेड की आठ गाड़ियां और छह वाटर टैंकर मौके पर पहुंचे. टीम ने कई घंटों की मशक्कत के बाद आग पर काबू पा लिया. फिलहाल कूलिंग का काम चल रहा है. हादसे में घायलों को नजदीकी अस्पताल पहुंचाया गया है.

जानकारी के मुताबिक आपको बता दें की आधी रात के वक़्त सबसे पहले आग तीसरी मंजिल पर स्थित मोजो रेस्टोरेंट में लगी और ये फैलकर दूसरे तीसरे रेस्टोरेंट में लग गई। अब आगू पर काबू पा लिया गया है। पुलिस ने मोजो रेस्टोरेंट के मालिक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। अब तक की जांच के मुताबिक आग लगने की वजह शॉर्ट सर्किट बताई जा रही है। खास बात ये है कि जिस बिल्डिंग में आग लगी है उसमें कई टीवी चैनलों के भी ऑफिस हैं।

Dec 24, 2017

कैब में बैठी युवती, ड्राईवर ने सूनसान जगह पर ले जाकर किया रेप

कैब में बैठी युवती, ड्राईवर ने सूनसान जगह पर ले जाकर किया रेप

mumbai-cab-driver-allegedly-rape-girl-after-looting-her-hindi-news

मुंबई में कैब ड्राइवर द्वारा रेप का मामला सामने आया है। कैब ड्राइवर और उसके एक साथी ने पहले लड़की को सुनसान जगह पर ले जाकर  मोबाइल, पैसे, पर्श, घड़ी आदि लूट लिए। इसके बाद लड़की के साथ जबरन रेप किया। ठाणे में पुलिस ने बलात्कार करने के आरोपी कैब ड्राइवर सुरेश गोसावी को अरेस्ट कर लिया है। 

अपराध के लिए उकसाने के आरोप में पुलिस ने उसके एक साथी उमेश झाला को भी गिरफ्तार किया है। दोनों आरोपियों को 26 दिसंबर तक पुलिस कस्टडी में भेज दिया गया है। ठाणे के पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) महेश पाटिल ने बताया कि घटना 19 दिसंबर की रात की है। उन्होंने बताया कि आरोपी ड्राइवर सुरेश पी गोसावी को रविवार को गिरफ्तार किया गया था।

लड़की ने ठाणे जाने के लिए कैब बुक की थी। इसमें ड्राइवर का एक साथी पहले से ही मौजूद था। पीड़ित लड़की को लगा कि शायद यह शेयरिंग कैब है, इसलिए उसने नजर अंदाज कर दिया। इसके बाद आरोपी कैब को ठाणे की बजाय वज्रेश्वरी की तरफ ले गए। यहां लड़की के साथ कैब ड्राइवर ने रेप किया, जबकि उसके साथी ने उसकी मदद की। घटना के बाद पीड़िता दहशत में आ गई। हालांकि, कुछ समय बाद उसने साहस जुटाया और 21 दिसंबर को पुलिस से घटना की शिकायत की।

इस पूरे मामले पर कैब कंपनी का कहना है कि इस घटना का उससे कोई लेना देना नहीं है। कैब कंपनी के मुताबिक ड्राइवर पिछले 10-15 दिन से ड्यूटी पर ही नहीं था। लड़की की शिकायत के आधार पर आरोपी ड्राइवर और उसके साथी को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया।

Dec 22, 2017

आदर्श घोटाला: अशोक चव्हाण पर मुक़दमे को बॉम्बे हाई कोर्ट ने किया ख़ारिज, लोग उड़ा रहे जजों का मजाक

आदर्श घोटाला: अशोक चव्हाण पर मुक़दमे को बॉम्बे हाई कोर्ट ने किया ख़ारिज, लोग उड़ा रहे जजों का मजाक

people-making-fun-of-judiciary-ashok-chawan-freem-from-adarsh-scam

पिछले कुछ दिनों ने भारत की अदालतें अजीबोगरीब फैसले सुना रही हैं, पहले सलमान खान को हिट एंड रन मामले में बरी कर दिया जबकि पूरी दुनिया जानती है कि उनकी गाडी से कुचलकर ही चार लोगों की मौत हुई थी, उसके बाद अरुषी-हेमराज मर्डर केस में फैसला आया, दुनिया जानती थी कि अरुषी और हेमराज को तलवार दंपत्ति ने मारा है उसके बाद भी कई साल जेल में बिताने के बावजूद भी उन्हें बाईज्जत बरी कर दिया.

कल 2G घोटाले पर फैसला देते हुए CBI कोर्ट ने ऐ राजा और कनिमोझी को बाईज्जत बरी कर दिया जबकि ऐ राजा ने 15 महीनें जेल में बिताये हैं जबकि कनिमोझी ने छह महीनें जेल में बिताये हैं, यही नहीं सुप्रीम कोर्ट ने खुद घोटाले के बाद उनके जारी किये 122 लाइसेंस रद्द कर दिए थे, उसके बाद भी दोनों को बाईज्जत बरी कर दिया गया.

आज बॉम्बे हाई कोर्ट ने चौंकाने वाला फैसला सुनाते हुए आदर्श घोटाले में महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण के खिलाफ मुकदमें को ख़ारिज कर दिया और उन्हें क्लीन चिट दे दी जबकि खुद महाराष्ट्र के राज्यपाल ने CBI को उनपर आपराधिक मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए थे. यही नहीं इस घोटाले की वजह से उन्हें इस्तीफ़ा भी देना पड़ा है.

जजों और अदालतों के ऐसे फैसले सुनकर लोग भारतीय न्यायिक व्यवस्था का मजाक बना रहे हैं, कुछ लोग तो यह भी कह रहे हैं कि भारतीय जनों के फैसले देखकर दाऊद इब्राहीम और विजय माल्या भी भारत आ सकते हैं क्योंकि संदेह के आधार पर वे लोग भी यहाँ पर बाईज्जत बरी हो सकते हैं.

कुछ लोग कह रहे हैं कि, 2G नहीं हुआ, आदर्श घोटाला नहीं हुआ, अरुषी और हेमराज को किसी ने नहीं मारा, जेसिका को किसी ने नहीं मारा, बोफोर्स नहीं हुआ, ये हमारी न्यायिक व्यवस्था को क्या हो गया है.

Dec 19, 2017

शिवसेना ने उड़ाया बीजेपी का मजाक, राहुल गाँधी ने हिला दिया विकास का मॉडल, ये कांग्रेस की जीत है

शिवसेना ने उड़ाया बीजेपी का मजाक, राहुल गाँधी ने हिला दिया विकास का मॉडल, ये कांग्रेस की जीत है

shivsena-make-fun-of-bjp-after-tough-fight-from-congress-party

मुंबई: शिवसेना भले ही बीजेपी के साथ महाराष्ट्र में सरकार में है लेकिन बीजेपी का मजाक उड़ाने में वह कांग्रेस से भी दो कदम आगे हैं, कल गुजरात और हिमाचल प्रदेश के चुनावी नतीजे आये जिसमें कांग्रेस ने गुजरात में बीजेपी को कड़ी टक्कर दी लेकिन अंत में बीजेपी को स्पष्ट बहुमत मिल गया लेकिन कांग्रेस ने 77 सीटें झटक लीं.

कांग्रेस से बीजेपी को कड़ी टक्कर मिलने को शिवसेना ने राहुल गाँधी की जीत और बीजेपी की हार बताया है, सामना में एक लेख में शिवसेना ने बीजेपी का जमकर मजाक उड़ाया है. शिवसेना ने भाजपा पर तंज कसते हुए कहा की आने वाले 2019 लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा को चेतावनी मिल है. शिवसेना ने यह भी कहा कि  गुजरात में बीजेपी की जीत से अधिक राहुल गाँधी की चर्चा हो रही है जो बीजेपी की हार है.

आपको बता दें कि गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को 77 सीटें जबकि बीजेपी को 99 सीटें मिलीं, यहाँ पर कांग्रेस ने तीन जातिवादी नेताओं हार्दिक, अल्पेश और जिग्नेश की मदद ने बीजेपी को कड़ी टक्कर दी.

Dec 15, 2017

दो ऑटो-रिक्शा में जोरदार भिडंत, पत्रकार की दर्दनाक मौत

दो ऑटो-रिक्शा में जोरदार भिडंत, पत्रकार की दर्दनाक मौत

journalist-dies-in-collision-between-two-auto-rickshaws-in-mumbai

मुंबई से एक दर्दनाक खबर आयी है, रिपोर्ट के अनुसार मुंबई के कुर्ला इलाके में दो ऑटो-रिक्शा में जोरदार भिडंत हो गयी जिसमें सवार एक पत्रकार की मौत हो गयी. पत्रकार की पहचान प्रशांत त्रिपाठी के रूप में हुई है. यह एक्सीडेंट रात में हुआ.

एक्सीडेंट के बाद एक ऑटो-रिक्शा का ड्राईवर यासीन शेख फरार हो गया लेकिन बाद में गिरफ्तार कर लिया गया, उसके खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है और जांच जारी है.

Dec 11, 2017

पत्नी बोली, रिश्तेदार की मौत के सदमे में था मेरा पति, छेड़ने का झूठा आरोप लगा रही है जायरा वसीम

पत्नी बोली, रिश्तेदार की मौत के सदमे में था मेरा पति, छेड़ने का झूठा आरोप लगा रही है जायरा वसीम

zaira-wasim-molestation-case-accused-wife-denied-allegation

एक आदमी के पैर के अंगूठे पर छेड़छाड़ का आरोप लगाकर अभिनेत्री जायरा वसीम भले ही मशहूर हो गयी हैं, भले ही अब उन्हें फिल्मों में रोल मिलने लगें लेकिन यह आरोप लगाना उन्हें मंहगा भी पड़ सकता है क्योंकि आरोपी की पत्नी ने सामने आकर अपने पति का बचाव किया है और आरोपों को गलत बताया है.

महिला का कहना है कि मेरे पति ने आजतक किसी औरत पर बुरी नजर नहीं डाली, उनका ऐसा स्वभाव ही नहीं है, उन्होंने यह भी बताया कि मेरे पति घटना के दिन बहुत दुखी थे, हमारे एक रिश्तेदार की मौत हो गयी थी, वह वहीँ से आ रहे थे, सदमे में थे, 24 घंटे सो नहीं पाए थे, इसीलिए उन्होंने हाथ रखने की जगह पर पैर रखा था, उनका छेड़ने का कोई इरादा नहीं था और ना ही उन्होंने कभी ऐसा काम किया है.

उन्होंने यह भी बताया की मेरे पति विल्कुल निर्दोष हैं, मुझे नहीं पता कि जायर वसीम किसी गलतफहमी की वजह से उनपर आरोप लगा रही हैं या पब्लिक स्टंट है लेकिन मुझे पूरा यकीन हैं कि वह झूठ बोल रही हैं और सभी आरोप झूठे हैं.
क्या सच में झूठ बोल रही हैं जायर वसीम 


सोशल मीडिया पर हजारों लोग जयरा वसीम को झूठा बता रहे हैं, ऐसा इसलिए क्योंकि उन्होंने फ्लाइट में तो किसी से शिकायत नहीं की लेकिन सोशल मीडिया पर रो रो कर वीडियों बना दिया, इसके अलावा उन्होने कहा कि अँधेरा होने की वजह से मैं वीडियो नहीं बना सकी लेकिन उन्होंने अंगूठे की हिलते हुए वीडियो बना ली और विल्कुल साफ़ वीडियो बनायी, लोग कह रहे हैं कि जब अंगूठे की एकदम साफ़ वीडियो बना सकती हैं तो अंधेरे का बहाना क्यों बनाया. वैसे भी आजकल सभी मोबाइल फोन में फ़्लैश लाइट होती है, वह तो अभिनेत्री हैं और बढ़िया स्मार्टफोन का इस्तेमाल करती होंगी.

Nov 26, 2017

26-11 मुंबई हमले की आज बरसी, बढ़ाई गयी सुरक्षा

26-11 मुंबई हमले की आज बरसी, बढ़ाई गयी सुरक्षा

mumbai-terrorist-attack-26-11-2008-barsi-today-news-in-hindi

मुंबई: 26 नवंबर 2008 को मुंबई में आज के ही दिन भारतीय इतिहास का सबसे भयानक आतंकवादी हमला हुआ था जिसमें पाकिस्तान के आतंकवादी संगठन लश्कर-ए-तैयबा के सदस्यों ने पूरे शहर में आतंक फैला दिया, इस हमले के सैकड़ों लोग मारे गए थे और हजारों लोग घायल हुए थे.  यह आतंकवादी हमला लोगों के जेहन में आज भी लोग उस हमले के बारे में सोचकर सिहर उठते हैं. आज हमने हमले की नौवीं बरसी है. पाकिस्तानी आतंकी फिर से मुंबई को अपना निशाना बना सकते हैं लेकिन पुलिस ने पूरे शहर में सुरक्षा मजबूत कर दी है.

पुलिस ने सभी क्षेत्रों में नाकेबंदी लगा दी, पुलिस को हर जंक्शन पर तैनात किया गया है। पुलिस के अनुसार यदि कोई संदिग्ध वाहन या व्यक्ति पाए जाते हैं तो वे तत्काल चेक किये जा रहें है.

आपको बता दें कि 26.11.2008 को लश्कर-ए-तैयबा के 10 आतंकवादी पाकिस्तान से समुद्र मार्ग के जरिये मुंबई आए और शहर में तीन जगह बमबारी कर दी, जो मिला उसे गोलियों से भून दिया गया।  इस हमले में 166 लोग मारे गए और 300 से ज्यादा घायल हुए।

Nov 21, 2017

नोटबंदी करके मोदी ने ईश्वर को भी भिखारी बना दिया: शिव सेना

नोटबंदी करके मोदी ने ईश्वर को भी भिखारी बना दिया: शिव सेना

pm-modi-make-god-beggar-by-notbandi-says-udhav-thackeray

शिव सेना ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर फिर से बड़ा हमला बोला है, सामना में एक लेख के जरिये कहा है कि मोदी ने नोटबंदी करके ईश्वर को भी भिखारी बना दिया है, उन्होंने कहा है कि हमारे लिए जनता ही ईश्वर है लेकिन आज जनता को भिखारी बनकर रहना पड़ रहा है, देश की हालत इतनी चिंताजनक हो गयी है कि ना तो लोगों के पास रोजगार है और ना ही व्यापारियों के पास कैश है, उन्हें चिल्लर से काम चलाना पड़ रहा है.

लेख में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के अलावा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस पर भी हमला बोला गया है, इन पर आरोप लगाए गए हैं कि देश चिंताजनक परिस्थितियों से गुजर रहा है और इन लोगों को कोई परवाह नहीं है. ये लोग विज्ञापनबाजी करके पैसे उड़ा रहे हैं लेकिन गरीबों व्यापारियों की इन्हें परवाह ही नहीं है.

आपको बता दें कि इस लेख में शिवसेना ने मोदी सरकार की तुलना अंग्रेजी-हुकूमत से कर दी है, उन्होंने कहा है ब्रिटिश व्यापारियों के रूप में देश में तोड़ो, फोड़ो और राज करो की नीति पर 150 साल तक काम करते रहे, उनपर कभी भी ईश्वर का वरदान नहीं होगा, उनके जरिये लूट ही होती है.

Nov 19, 2017

बीजेपी विधायक राज पुरोहित बोले, भंसाली को पीटना नहीं चाहता लेकिन शशि थरूर को जरूर पीटूँगा

बीजेपी विधायक राज पुरोहित बोले, भंसाली को पीटना नहीं चाहता लेकिन शशि थरूर को जरूर पीटूँगा

bjp-mla-raj-purohit-said-i-will-beat-congress-mp-shashi-tharoor

फ़िल्म पद्मावती में महारानी पद्मावती को नचनियां के रूप में दिखाकर संजय लीला भंसाली ने लोगों को और खासकर राजपूतों को नाराज कर दिया है. करणी सेना फ़िल्म को रिलीज होने से रोकने के लिए देश भर में विरोध प्रदर्शन कर रही हैं. इस बीच कांग्रेसी सांसद शशि थरूर ने भी राजपूतों के घाव पर मिर्ची डालते हुए ऐसा बयान दे दिया जिसकी वजह से लोग और नाराज हो गए.

महाराष्ट्र की मुम्बादेवी से बीजेपी विधायक राज पुरोहित भी फ़िल्म पद्मावती का विरोध कर रहे हैं. आज राज पुरोहित ने एक सभा को संबोधित करते हुआ कहा फ़िल्म पद्मावती को रिलीज नहीं होने दिया जायेगा और जो कांग्रेस नेता इस फ़िल्म को सपोर्ट कर रहे हैं. मैं उन्हें चेतवनी देता हूँ. कि देश के ऐतहास से छेड़छाड़ करने वालो का साथ न दे.

बीजेपी विधायक राज पुरोहित पद्मावती फिल्म के निर्माता भंसाली के साथ साथ कांग्रेसी नेता शशि थरूर से भी नाराज हो गए हैं, उन्होंने के सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस सांसद शशि शरूर को थप्पड़ मारने की धमकी दी. उन्होंने कहा कि मैं भंसाली पर हाथ नहीं उठाना चाहता लेकिन शशि थरूर को जरूर को जरूर पीटूँगा. पुरोहित ने कहा कि मैं जानता हूँ कि एक विधायक होने के नाते मुझे मर्यादा में रहना चाहिए लेकिन शशि थरुर एक संसद होकर जब इतिहास को बदनाम करने वालों का साथ दे सकते हैं तो मैं भी अपनी सीमा लांघकर शशि थरूर की पिटाई कर सकता हूँ और मैं ऐसा करके रहूँगा.

राज पुरोहित ने आगे कहा अगर अंग्रेजों से राजपूत नहीं लड़े तो क्या शशि थरूर का बाप लड़ा था. ये वही शशि थरूर हैं, जिसने अपनी बीवी को मारा और अब ये बकवास कर रहा हैं.

क्या कहा था थरूर ने?

पद्मावती को लेकर मचे हंगामे के बीच पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर ने कहा था कि आज विरोध करने वाले महाराजा लोग एक फिल्मकार के पीछे पड़े हैं और दावा कर रहे हैं कि उनका सम्मान दांव पर लग गया है, यही महाराजा उस समय भाग खड़े हुए थे जब ब्रिटिश शासकों ने उनके मान सम्मान को रौंद दिया था.

Nov 18, 2017

मुस्लिम युवक से शादी करने वाले मॉडल बोली, मैं लव जिहाद को मजाक समझती थी लेकिन अब पता चल गया

मुस्लिम युवक से शादी करने वाले मॉडल बोली, मैं लव जिहाद को मजाक समझती थी लेकिन अब पता चल गया

love-jihad-in-mumbai-model-blame-muslim-husband-forced-conversion

मुंबई में एक लव जिहाद का मामला सामने आया है जिसमें एक हिन्दू मॉडल ने एक मुस्लिम युवक से शादी की, शादी के समय पति ने कहा कि तुम्हें धर्म बदलने की जरूरत नहीं है लेकिन शादी के कुछ समय बाद ही वह पत्नी को धर्म बदलने के लिए फ़ोर्स करने लगा, धीरे धीरे उसका प्रेशर बढ़ने लगा और वह पत्नी को मारने पीटने लगा, इसके बाद उसनें एक और हिन्दू महिला को अपना शिकार बना लिया, हिन्दू महिला ने अपना धर्म बदल लिया और दोनों मिलकर उसका धर्म परिवर्तन की कोशिश करने लगे.

यह घटना रश्मि शाहबेजकर के साथ हुई है जो प्रोफेशन से मॉडल है और पढ़ी लिखी महिला है, रश्मी का कहना है कि 13 साल पहले उसकी शादी आसिफ के साथ हुई थी, उस समय उसनें लव जिहाद को मजाक समझा था और इसपर ध्यान नहीं दिया था, रश्मि ने बताया कि शादी के वक्त आसिफ ने कहा था कि तुम्हें धर्म बदलने की जरूरत नहीं है.

रश्मि ने बताया कि जब उसनें शादी कर ली तो आसिफ ने कुछ साल बाद उसपर धर्म बदलने का दबाव डालना शुरू कर दिया, धर्म परिवर्तन से मना करने पर आसिफ ने उसके साथ मारपीट करनी शुरू कर दी, उसे जान से मारने की कोशिश भी की गयी, जब भी लड़ाई झगडा होता था तो पति उसे कहता था कि मैं तुम्हें मार दूंगा. उसके 7 साल का बच्चा भी है, उसे भी मुस्लिम बनाया जा रहा है.

पुलिस ने रश्मि के पति सहित दो लोगों पर केस दर्ज कर लिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है.

रश्मि ने अपने पति की दूसरी महिला के साथ वीडियो भी शेयर की है जिसमें दोनों को रंगे हाथ पकड़ा है, उसका कहना है कि मुझे तो लव जिहाद का मतलब भी नहीं पता था, लेकिन मेरा पति इस महिला के साथ 2.5 साल से गलत काम कर रहा है, वह भी हिन्दू थी लेकिन उसनें धर्म परिवर्तन करवा लिया है. जब मैं इन दोनों के खिलाफ आवाज उठाती हूँ तो ये मुझे हर बार जान से मारने की धमकी देता है लेकिन अब मेरे सब्र का इम्तिहान टूट गया है. ये लोग मुझे डरा धमकाकर रखते हैं. अब मुझे घर से निकाला जा रहा है.

Nov 15, 2017

बड़े कांड का पर्दाफाश, तीन महिलाओं के साथ 2 गिरफ्तार

बड़े कांड का पर्दाफाश, तीन महिलाओं के साथ 2 गिरफ्तार

mumbai-sex-racket-busted-three-women-rescued-2-arrested-news

नई दिल्ली: बीती रात मुंबई के कुर्ला के नेहरू नगर में पुलिस ने एक मकान में छापा मारा जहाँ सेक्स रैकेट चल रहा था। पुलिस ने यहाँ दो महिलाओं को गिरफ्तार किया जबकि तीन महिलाओं को बचाया गया। कहा जा रहा है कि इस गैंग को महिलाएं ही चला रही थीं और कुछ महिलाओं से जबरजस्त ये धंधा करवा रही थीं, तीनों को उनकी कैद से आजाद करवा दिया गया जबकि आरोपी महिलाओं को गिरफ्तार कर लिया गया.

न्यूज़ एजेंसी एएनआई ने मौके की तस्वीर जारी की है जिसमे लिखा है कि कल रात के कुर्ला के नेहरू नगर इलाके में सेक्स रैकेट का पर्दाफाश हुआ; 3 महिलाओं को बचाया, 2 गिरफ्तार।