Showing posts with label Life Style. Show all posts
Showing posts with label Life Style. Show all posts

24 February, 2017

अब आप भी UC News पर लिखकर कमा सकते हैं लाखों रूपया महीना, आज ही ज्वाइन करें: ये है तरीका

अब आप भी UC News पर लिखकर कमा सकते हैं लाखों रूपया महीना, आज ही ज्वाइन करें: ये है तरीका

how-to-join-uc-news-we-media-programme

नई दिल्ली, 24 फरवरी: अक्सर देखने में आता है कि फेसबुक या अन्य सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म पर कुछ लोग बहुत ही अच्छी तरह से अपने विचार रखते हैं, बहुत ही अच्छा लेख लिखते हैं लेकिन वे कितना भी अच्छा लिखें फेसबुक पर एक भी रूपया नहीं मिलता, बस कुछ लाईक मिल जाते हैं और कुछ लोग शेयर कर देते हैं लेकिन अगर यही बातें कोई UC News पर लिखे तो उसे पैसे भी मिल सकते हैं और कुछ लोग तो हर महीना लाखों रुपये कमाते हैं जिसमें से ब्लॉगर ज्योति चाहर भी हैं। 

अगर आपके अंदर प्रतिभा है तो UC News न्यूज के प्लेटफार्म वी मीडिया के जरिए सपना पूरा कर सकते हैं। यह किस तरह कर सकते हैं, इसका सबसे बेहतर उदाहरण ज्योति चाहर हैं। ज्योति ने अपने लिखने (ब्लॉगिंग) के शौक को इस प्लेटफार्म के जरिए एक नए मुकाम तक पहुंचाया है और पैसा भी कमाया है। ब्लॉगर ज्योति चाहर ने बहुत कम समय में कितना नाम कमाया है इसका अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हैं कि प्रीटी जिंटा, दीया मिर्जा, युवराज सिंह, सोनू सूद, चेतन भगत, आर. माधवन, बोमन ईरानी और नेहा धूपिया जैसी कई सेलिब्रिटीज ने उनके बारे में सोशल मीडिया में पोस्टिंग की है।

यूसी न्यूज एक बड़ा कंटेंट डिस्ट्रीब्यूटर है। इसके पास ट्रेंडिंग के अलावा दूसरे भी बहुत से ऐसे कंटेंट हैं, जिसे भारतीय पसंद करते हैं। इसके फीचर्स चैनलों में न्यूज, क्रिकेट, टेक्नोलॉजी, एंटरटेनमेंट, मूवीज, लाइफस्टाइल, हेल्थ, ह्यूमर शामिल हैं। यूसी न्यूज ट्रेंडिंग कंटेंट्स को सोशल मीडिया और सेल्फ पब्लिशर्स से लेकर कंपाइल कर देता है। यूसी न्यूज हिंदी, इंडोनेशियाई और अंग्रेजी भाषा में उपलब्ध है।

ज्वाइन करने के लिए लिंक पर क्लिक करें: http://tz.ucweb.com/2_1jFGc

लिंक पर क्लिक करने के बाद एक ऐसा पेज खुलेगा - Join Now बटन पर क्लिक करके ज्वाइन कर लें। 
ज्वाइन करने के बाद अपना Email, पासवर्ड और अन्य जानकारियां डालें, इसके बाद आपके ईमेल पर Verification Link जाएगा, लिंक पर क्लिक करें, इसके बाद एक पेज खुलेगा जिसमें आप अपना नाम और अन्य जानकारियां डालें, अपना PAN Card नंबर भी डालें, अगर  वेबसाइट है तो उसका URL डालें, आरएसएस फीड है तो वह डालें, अगर वेबसाइट नहीं है तो आप खुद ना डालें। 

इसके बाद आपका अकाउंट रिव्यु के लिए जाएगा और एक दो घंटे में वेरीफाई हो जाएगा, जब आपका अकाउंट वेरीफाई हो जाएगा तो आप पोस्ट कर सकेंगे। पोस्ट करने के लिए New Post पर क्लिक करें, टाइटल वाली जगह पर पोस्ट का टाइटल डालें, नीचे पोस्ट लिखें, फीचर इमेज में इमेज डाले, अगर इमेज नहीं है रहने दें, Category सेलेक्ट करें और इसके बाद Save पर क्लिक करें। इसके बाद Publice पर क्लिक कर दें। आपकी पोस्ट को पहले चेक किया जाएगा और उसके बाद Publice कर दिया जाएगा।

इन बातों पर जरूर ध्यान दें -
कॉपीराईट मैटेरियल ना डालें, कहीं से न्यूज़ कॉपी ना करें, सिर्फ अपनी विचार, अपनी खबर, खुद के द्वारा इकट्ठी की गयी खबर अपनी भाषा में लिखें। अगर आप किसी की खबर को कॉपी करेंगे तो आपके ऊपर कानूनी कार्यवाही हो सकती है। 

05 February, 2017

जिसके पास गाय होती है उसके साथ जीवन होता है क्योंकि ऑक्सीजन लेकर ऑक्सीजन ही छोडती है गाय

जिसके पास गाय होती है उसके साथ जीवन होता है क्योंकि ऑक्सीजन लेकर ऑक्सीजन ही छोडती है गाय

cow-breath-oxygen-and-leave-o2-too-in-hindi
गाय को माँ तो सभी कहते हैं लेकिन इस माँ के फायदे कम लोग ही जानते हैं, अगर सही हैं तो गाय को माँ ही इसलिए कहते हैं क्योंकि यह अमृत की भण्डार है। गाय के शरीर के कण कण में अमृत होता है, जीवन से भरपूर होती है गाय। 

अब आप सोचिये, लाइफ क्या है, ऑक्सीजन जिसे हम सांस के रूप में अपने फेफडों के अंदर खींचते हैं वही लाइफ है, जिस दिन हमने सांस लेना बंद कर दिया उसी दिन हमारी जिंदगी ख़त्म हो जाती है। कभी कभी हमारी जिंदगी बचाने के लिए हमें अप्राकृतिक ऑक्सीजन दी जाती है।  

अब आप सोचिये, ऑक्सीजन यानी जिंदगी हमें कहाँ से मिलती है। जवाब है पेड़ पौधों से मिलती है क्योंकि पेड़ पौधे ऑक्सीजन छोड़ते हैं जिसे हम अपने फेफड़ों में खींचते हैं। बदले में हम कार्बन डाई ऑक्साइड (CO2) यानी अपने शरीर का प्रदुषण छोड़ते हैं और पेड़ पौधे उस प्रदुषण को पचा लेते हैं। 

वैसे तो सभी जानवर हमारी तरह ऑक्सीजन लेते हैं और कार्बन डाई ऑक्साइड छोड़ते हैं लेकिन गाय ऑक्सीजन लेती है और ऑक्सीजन ही छोड़ती है। मतलब हमारे शरीर से पॉल्युशन निकलता है लेकिन गाय के शरीर से जीवन जिकलता है। 

अब आप सोचिये, अगर कोई व्यक्ति गाय पालता है तो उसके पास ऑक्सीजन यानी जीवन भी मौजूद रहेगा क्योंकि जितनी ऑक्सीजन हमें चाहिए वह गाय हमें देती रहेगी। अगर ज्यादा से ज्यादा लोग गाय पालें तो उस जगह शुद्ध ऑक्सीजन का भण्डार पैदा हो जाएगा। वहां पर प्रदुषण काम हो जाएगा, लोगों की सांस की बीमारियां ख़त्म होने लगेंगी। 

गाय हमें ऑक्सीजन के साथ साथ दूध भी देती है, गाय का दूध माँ के दूध के समान होता है, यह हड्डियों और दिमाग के लिए बहुत फायदेमंद होता है इसलिए डॉक्टर नवजात शिशु को केवल माँ का या गाय का दूध ही पीने की सलाह देते हैं। 
सबको करें नमस्ते लेकिन हिंदी में मतलब भी समझ लें: पढ़ें

सबको करें नमस्ते लेकिन हिंदी में मतलब भी समझ लें: पढ़ें

meaning-of-namaste-in-hindi
भारत में नमस्ते तो सभी करते हैं लेकिन इसका मतलब कम लोग ही जानते हैं, नमस्ते दुनिया के सभी बड़े बड़े नेता बोते हैं, बराक ओबामा, पुतिन, आबे, फ्रांसुआ ओलांद सभी नेताओं के मुंह से आपने नमस्ते शब्द सुना होगा, भारत में ज्यादातर लोग नमस्ते या नमस्कार से दूसरों का अभिवादन करते हैं, वैसे दोनों का मतलब लगभग एक ही है, हम आज आपको नमस्ते का हिंदी में मतलब बता रहे हैं। 

अगर हम नमस्ते का संस्कृति में विच्छेद करें तो दो शब्द निकलेंगे नमः+असते। 
नमः का मतलब होता है - झुक गया 
असते का मतलब होता है  - सर 
दोनों का मतलब है - सर आपके सामने मेरा सर झुक गया

नमस्ते करने से हम अपने अहंकार का त्याग करते दूसरों के सामने अपना सर झुका देते हैं, नमस्ते हमें यह भी याद दिलाता रहता है कि कभी भी अहंकार नहीं करना चाहिए। हमेशा जमीन पर रहना चाहिए। 

नमस्ते हमेशा दोनों हाथ जोड़कर करना चाहिए क्योंकि यह समानता का भी सूचक है। जिसे हम नमस्ते करते हैं उसे भी दोनों हाथ जोड़कर नमस्ते का जवाब नमस्ते से ही देना चाहिए अगर वह ऐसा नहीं करता तो समझ लीजिये उसके अन्दर अहंकार है और वह आपको अपने से छोटा समझता है। 

कुछ लोग होते हैं तो नमस्ते का मतलब नहीं समझते इसलिए जब उन्हें कोई नमस्ते करता है तो केवल सर झुककर इशारा कर देते हैं कि आपका नमस्ते मैंने ले लिया है लेकिन संस्कृति रूप से यह गलत है इसलिए अगर आपको कोई दोनों हाथ जोड़कर नमस्ते करे तो आप भी दोनों हाथ जोड़कर उससे नमस्ते करें। 

मतलब - उसने नमस्ते करके कहा - आपके सामने मेरा सर झुक गया सर, मेरे अन्दर कोई अहंकार नहीं है
तो आप भी दोनों हाथ जोड़कर उसके नमस्ते का जवाब दें - और कहें - मेरा भी सर आपने सामने झुक गया सर, मेरे अन्दर भी कोई अहंकार नहीं है। 

नमस्ते करते समय, दोनों के हाथ, दोनों के दिल और दोनों के दिमाग मिलने चाहिए, सिर्फ यह याद रखना चाहिए कि दोनों ही इंसान हैं, उस समय अहंकार का त्याग कर देना चाहिए।