Showing posts with label International. Show all posts
Showing posts with label International. Show all posts

Oct 18, 2017

चीन के राष्ट्रपति सी जिनपिंग ने दिया 3 घंटे 23 मिनट लगातार भाषण, पढ़ें क्या कहा

चीन के राष्ट्रपति सी जिनपिंग ने दिया 3 घंटे 23 मिनट लगातार भाषण, पढ़ें क्या कहा

xi-jinping-3-hour-23-minute-speech-in-communist-party-congress

भारत में एक डेढ़ घंटे का भाषण ही लोगों को बोर कर देता है, सिर्फ प्रधानमंत्री मोदी ही एक डेढ़ घंटे का भाषण दे पाते हैं जिसे लोग सुनकर बोर नहीं होते, उनके अलावा कोई भी नेता 40-50 मिनट से अधिक भाषण नहीं दे पाता लेकिन चीन के राष्ट्रपति सी जिनपिंग ने कल कम्युनिस्ट पार्टी कांग्रेस के सम्मलेन में 3 घंटे और 43 मिनट का भाषण दे दिया. 

उनके भाषण को लोग कम्युनिस्ट पार्टी के एक नए दौर की शुरुआत मान रहे हैं, जिनपिंग ने भी अपने भाषण में अपने कार्यकाल में हासिल की गयी उपलब्धियों का जिक्र किया साथ ही यह भी बताया कि उन्होंने किस तरह से भ्रष्टाचार कम किया और 10 लाख से अधिक अधिकारियों को सजा दी.

सी जिनपिंग ने 2 हजार से अधिक प्रतिनिधियों को संबोधित किया, उन्होंने कहा कि हम पहले की अपेक्षा अधिक मजबूत हुए हैं, हमारी सैन्य शक्ति भी बढ़ी है, हम लोगों के मूलभूत हितों की रक्षा करने और समाजवाद को मजबूत करने में सफल हुए हैं.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चीन में कम्युनिस्ट पार्टी कांग्रेस की बैठक पांच साल में एक बार होती है, इसके तुरंत बाद चुनाव होते हैं, पिछली बार यह बैठक 2012 में हुई थी जिसके बाद चुनाव हुए थे, इस बैठक के बाद फिर से चुनाव होंगे, सी जिनपिंग के फिर से राष्ट्रपति बनने की संभावना जतायी जा रही है.
UNSC में भारत शामिल हो सकता है लेकिन बिना वीटो के, छठा पॉवरफुल देश बनने के लिए भारत तैयार

UNSC में भारत शामिल हो सकता है लेकिन बिना वीटो के, छठा पॉवरफुल देश बनने के लिए भारत तैयार

india-may-be-injected-in-unsc-without-veto-6th-powerful-country

वॉशिंगटन: पांच देश दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश हैं, ये पाँचों यूनाइटेड नेशन सिक्यूरिटी काउंसिल (UNSC) के सदस्य हैं और पाँचों के पास वीटो पॉवर है. अगर पाँचों देश चाह लें तो किसी भी देश को मिनटों में तबाह कर सकते हैं लेकिन अगर पांच में से एक भी सहमत ना हो तो चार देश कुछ भी नहीं कर सकते. ये पाँचों देश हैं - अमेरिका, चीन, रूस, फ़्रांस और ब्रिटेन.

भारत कई वर्षों से मांग कर रहा है कि UNSC में सुधार किया जाय और अन्य देशों को भी उसमें शामिल किया जाय लेकिन पाँचों देश इसके लिए तैयार नहीं हैं क्योंकि अगर अन्य देशों को इसमें शामिल किया जाएगा तो उनकी ताकत बंट जाएगी और उनकी दादागिरी भी ख़त्म हो जाएगी.

अब इस लिस्ट में भारत को भी शामिल करने की चर्चा चल रही है लेकिन शर्त यह है कि भारत को वीटो नहीं मिलेगा. वीटो पाँचों देश के पास ही रहेंगे. आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत को अमेरिका, ब्रिटेन और फ़्रांस का पक्का समर्थन हासिल है लेकिन रूस और चीन इसके लिए तैयार नहीं हैं. अगर दोनों देश तैयार हो जाँय तो भारत को वीटो भी दिया जा सकता है लेकिन फ़िलहाल ऐसा होता नजर नहीं आ रहा है क्योंकि चीन से भारत की खटपट चल रही है और रूस की अमेरिका से खटपट चल रही है. भारत अमेरिका के जितना करीब जा रहा है रूस को उतनी जलन हो रही है.

कल संयुक्त राष्ट्र में अमेरिका की राजदूत निकी हैली ने कहा कि यदि भारत सुरक्षा परिषद की स्थायी सदस्यता चाहता है तो उसे वीटो पर अपनी रट छोड़नी होगी। यानी भारत को स्थायी सदस्यता मिलेगी भी तो उसके पास किसी प्रस्ताव पर वीटो करने का अधिकार नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि अमेरिका कांग्रेस चाहकर भी भारत को UNSC का सदस्य नहीं बना सकता है क्योंकि वहां पर वीटो वाले देशों की चलती है, भारत को स्थायी सदस्यता के लिए ज्यादा से ज्यादा समर्थन जुटाना होगा. अगर पाँचों देश राजी होते हैं तो भारत को वीटो के साथ UNSC में शामिल किया जा सकता है.
डोनाल्ड ट्रम्प ने चार अमेरिकन मीडिया चैनलों को बता फेक न्यूज़, पत्रकारों को बताया कथा लेखक

डोनाल्ड ट्रम्प ने चार अमेरिकन मीडिया चैनलों को बता फेक न्यूज़, पत्रकारों को बताया कथा लेखक

us-president-donald-trump-told-nbcnews-cbsnews-abc-cnn-fake-news

दुनिया के किसी भी राष्ट्राध्यक्ष ने अब तक किसी भी मीडिया चैनलों को फेक मीडिया कहने की हिम्मत नहीं की क्योंकि वे जानते हैं कि मीडिया कुछ भी कर सकता है और एजेंडे के तहत फेक न्यूज़ चलाकर उनकी दोबारा सत्ता में वापसी मुश्किल कर सकता है लेकिन अमेरिका के राष्ट्रपति खुलेआम चार न्यूज़ चैनलों को फेक बता दिया और उनके पत्रकारों को कथा लेखक बता दिया.

वाकई में या तो डोनाल्ड ट्रम्प बहुत साहसी नेता हैं या उन्हें दोबारा सत्ता में वापसी की इक्षा नहीं है. भारत में तो आज तक कोई भी प्रधानमंत्री किसी मीडिया चैनल को फेक न्यूज़ बताने की हिम्मत नहीं जुटा पाया जबकि सबसे अधिक फेक न्यूज़ भारत में ही चलती हैं.

आज डोनाल्ड ट्रम्प ने एक ट्वीट करके कहा कि मर रही नेवस मैगजीन्स में बहुत सारी फेक न्यूज़ दी जा रही हैं, सबसे अधिक बुरा हाल NBC News, CBS News, ABC और CNN में हैं, इसमें फिक्शन राइटर या कथा, काल्पनिक लेखक हैं.

donald-trump-attack-on-fake-news

Oct 4, 2017

गुरमीत राम रहीम और हनीप्रीत के लिए खुशखबरी, दोनों को भाषण देने के लिए आया अमेरिका से बुलावा

गुरमीत राम रहीम और हनीप्रीत के लिए खुशखबरी, दोनों को भाषण देने के लिए आया अमेरिका से बुलावा

un-invite-ram-rahim-and-honeypreet-for-speech-on-world-toilet-day

ऐसा नहीं है कि गुरमीत राम रहीम और उनकी हनीप्रीत ने सिर्फ पाप ही पाप किये हैं, इन्होने बहुत पुन्य वाले काम भी किये हैं, डेरा सच्चा सौदा ने पानी और सफाई के क्षेत्र में बहुत बढ़िया काम किया था. मोदी सरकार के स्वच्छ भारत अभियान को जन जन तक पहुंचाने में डेरा ने काफी योगदान दिया था, कई मौकों पर प्रधानमंत्री मोदी भी डेरा की प्रशंसा कर चुके हैं हालाँकि रेप के गुनाह में राम रहीम 20 साल की सजा काट रहे हैं, अब उनकी हनीप्रीत को भी गिरफ्तार कर लिया गया है.

जेल में बंद राम रहीम और हनीप्रीत के लिए आज अमेरिका से खुशखबरी आयी है. इनके अच्छे कामों की वजह से अमेरिका ने दोनों को वर्ल्ड टॉयलेट डे (World Toilet Day) पर भाषण देने के लिए बुलाया गया है. यूनाइटेड नेशन वाटर विभाग ने निमंत्रण भेजने के साथ आशा भी व्यक्त की है कि दोनों लोग अमेरिका आयेंगे और भाषण देकर इस अभियान में सहयोग देंगे.
आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अगले महीनें 19 नवंबर को World Toilet Day है. सयुंक्त राष्ट्र के साफ पानी और शौचालय के लिए काम करने वाले संगठन ने ट्वीट के जरिये दोनों को निमंत्रण दिया है, उन्होंने उम्मीद जतायी है कि दोनों लोग उनके निमंत्रण को स्वीकार करेंगे और अमेरिका जरूर आएँगे लेकिन राम रहीम 20 साल के लिए जेल जा चुके हैं जबकि हनीप्रीत के भी असार अच्छे नहीं लग रहे हैं इसलिए अमेरिका को मायुश होना पड़ेगा.

Oct 3, 2017

ED मामले में लंदन में गिरफ्तार किया गया विजय माल्या लेकिन तुरंत ही छूट भी गया

ED मामले में लंदन में गिरफ्तार किया गया विजय माल्या लेकिन तुरंत ही छूट भी गया

vijay-mallya-arrested-in-london-and-get-bail-in-money-pmla-case

मनी लांड्रिंग मामले में विजय माल्या को आज लन्दन में गिरफ्तार कर लिया गया. विजय माल्या की गिरफ्तारी के बाद भारत में ख़ुशी की लहर दौड़ गयी. सभी मीडिया में ब्रेकिंग न्यूज़ बन गयी, ट्विटर पर विजय माल्या ट्रेंड करने लगा लेकिन केवल एक घंटे में विजय माल्या को जमानत मिल गयी. 

आपको बता दें कि विजय माल्या के ऊपर भारतीय बैंकों का करीब 9000 करोड़ रुपये बकाया है. उसे भारत ने भगोड़ा घोषित कर रखा है, हालाँकि वह शान से लंदन में रहता है और अपना बीयर का धंधा करता है. उसके कई और धंधे हैं जिसकी वजह से उसकी अच्छी खासी कमाई हो रही है वहीँ भारत सरकार उसके खिलाफ कार्यवाही की हर संभव कोशिश कर रही है.

आपको बता दें कि लन्दन का कानून ही ऐसा है कि वहां पर कोई भी दूसरे देश का अपराधी नागरिकता हासिल करके रह सकता है, वहां पर दोहरी नागरिकता मान्य है, विजय माल्या के पास भारत के साथ साथ ब्रिटेन की भी नागरिकता है इसलिए वह भारत से पैसा लूटकर लन्दन भाग गया. उसे ब्रिटेन सरकार तब तक अपराधी नहीं मानेगी जब तक वह लन्दन में अपराध नहीं करेगा. जैसे ही वो लन्दन में अपराध करेगा उसे वहां की सरकार द्वारा गिरफ्तार किया जाएगा और उसके बाद ही भारत सरकार उसकी प्रत्यर्पण की अपील कर सकती है, वरना विजय माल्या का कोई कुछ भी नहीं बिगाड़ सकता.
मोदी और आरएसएस से इतना डरता है पाकिस्तान, मोदी को बताया आतंकवादी, आरएसएस को आतंकवाद पार्टी

मोदी और आरएसएस से इतना डरता है पाकिस्तान, मोदी को बताया आतंकवादी, आरएसएस को आतंकवाद पार्टी

pakistan-foreign-minister-khwaja-asif-told-modi-and-rss-terrorist

मोदी और आरएसएस से पाकिस्तान इतना डरता है कि पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा आसिफ ने मोदी को आतंकवादी और आरएसएस को आतंकवादी पार्टी बता दिया. उन्होंने कहा कि मोदी खुद आतंकवादी हैं, उनके हाथ गुजरात के मुसलमानों के खून से रंगे हैं, इसके अलावा आरएसएस जैसी आतंकवादी पार्टी भारत पर राज कर रही है.

बात दरअसल यह थी कि 19 सितम्बर को यूनाइटेड नेशन में भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने पाकिस्तान की जमकर धुनाई की थी. उन्होंने पाकिस्तान को टेररिस्तान बताते हुए कहा था कि भारत डॉक्टर, इंजीनियर, वैज्ञानिक पैदा करता है लेकिन पाकिस्तान अपने यहाँ पर आतंकवादी पैदा करता है, भारत AIIMS, IIT, IIM बनाता है लेकिन पाकिस्तान लश्करे तैयबा, जैश-ऐ-मुहम्मद, हक्कानी नेटवर्क और आतंकवादी कैम्प बनाता है.

सुषमा स्वराज के भाषण से ही पाकिस्तान को मिर्ची लगी हुई थी. पूरे विश्व में पाकिस्तान की हंसी उड़ाई जा रही थी, कल इसी बात पर प्रतिक्रिया देते हुए पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने कहा कि सुषमा स्वराज ने हमपर आतंकवादियों को एक्सपोर्ट करने का इल्जाम लगाया जबकि उनके वजीरे-आजम मोदी खुद आतंकवादी हैं और जिस पार्टी से वे आये हैं, आरएसएस भी आतंकवादी पार्टी है.

Oct 2, 2017

रोहिंग्या घुसपैठियों के लिए खुश खबरी, म्यांमार वापस लेने के लिए तैयार, तुरंत पहुंचें बॉर्डर पर

रोहिंग्या घुसपैठियों के लिए खुश खबरी, म्यांमार वापस लेने के लिए तैयार, तुरंत पहुंचें बॉर्डर पर

myanmar-ready-to-import-rohingya-muslim-once-again-good-news

भारत और बांग्लादेश में रह रहे लाखों रोहिंग्या शरणार्थियों और घुसपैठियों के लिए खुशखबरी है क्योंकि म्यांमार उन्हें एक बार फिर से वापस लेने के लिए तैयार हो गया है. ये लोग तुरंत बॉर्डर पर पहुंचें और अपने देश लौट जाँय. 

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अब तक करीब पांच लाख रोहिंग्या शरणार्थी बांग्लादेश बॉर्डर पर पहुँच चुके हैं, इन लोगों को म्यांमार की सेना वापस इनके घरों पर पहुंचाएगी.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि म्यांमार ने पिछले महीनें रोहिंग्या लोगों पर सैनिक कार्यवाही की थी जिसके बाद इन लोगों में दहशत मच गयी थी. लाखों रोहिंग्या मुसलमान मारे जाने के डर से म्यांमार से भागकर भारत और बांग्लादेश आ गए थे. 

म्यांमार की इस कार्यवाही की पूरे विश्व में आलोचना हुई थी. म्यांमार की काउंसिलर ऑंग सुन सू ची के खिलाफ कई जगह प्रदर्शन हुए थे, उन्हें आतंकियों से भी बड़ा आतंकी बताया गया था, कई देशों में उनके नोबल पुरष्कार को भी छीनने की मांग की गयी थी. 

चौतरफा आलोचना के बाद आख़िरकार म्यांमार एक बार फिर से रोहिंग्या को वापस लेने को तैयार हो गया लेकिन रोहिंग्या लोगों को भी अपनी पुरानी हरकतें छोडनी पड़ेंगी. पूर्व उनके कई आतंकवादी संगठनों के साथ रिश्ते रहे हैं. उनपर दूसरे धर्म के लोगों के कत्लेआम का आरोप लगा था.

Oct 1, 2017

चीन के शिनजियांग प्रांत में कुरान पर बैन, सबको कहा गया, थाने में जमा करो वर्ना भुगतो सजा

चीन के शिनजियांग प्रांत में कुरान पर बैन, सबको कहा गया, थाने में जमा करो वर्ना भुगतो सजा

islam-quran-ban-in-china-north-western-region-of-xinjiang-state

चीन के शिनजियांग प्रांत के उत्तर पश्चिमी भाग में जैसे जैसे मुस्लिमों की जनसँख्या बढती जा रही है वैसे वैसे चाइना की चिंता भी बढ़ती जा रही है, पहले बुरका पर बैन लगाया, फिर दाढ़ी पर बैन लगाया, हाल ही में बकरा-ईद पर बैन लगाया और अब कुरान और हदीस जैसी धार्मिक पुस्तकों पर भी बैन लगा दिया है. प्रशासन ने सभी मुस्लिमों को आदेश दिया है कि कुरान, हदीस सहित सभी इस्लामिक धार्मिक पुस्तकें पुलिस के पास जमा करा दें, अगर किसी के पास भी ऐसी पुस्तकें पायीं गयीं तो उन्हें कड़ी सजा मिलेगी. प्रशासन का मानना है कि कुरान ही सभी तरह के फसाद और जिहाद की जड़ है इसलिए इनपर बैन लगा दिया है.

चीन के अधिकारियों ने मुस्लिम नागरिकों के साथ साथ सभी मस्जिदों और इमामों को भी ऐसा करने का आदेश दिया है, वहां पर उइघुर, कजाख और किर्गीज मुसलमान रहते हैं, तीनों समुदायों से ऐसा करना को कहा गया है वरना सजा भुगतने को तैयार रहने को कहा गया है.

धार्मिक पुस्तकों के अलावा मुस्लिमों द्वारा इस्तेमाल की गयी विशेष चटाई पर भी बैन लगाया गया है, यह नियम लागू कर दिया गया है. पुस्तकों के अलावा इस्लामिक मून और स्टार सिम्बल वाली सभी चीजों पर बैन लगा दिया गया है.

इस मामले पर चाइना के अधिकारियों ने कहा कि हम सिर्फ पांच साल पहले छपी कुरान की पुस्तकों पर बैन लगा रहे हैं क्योंकि इसमें कट्टरपंथ सिखाया गया है जो आतंकवाद फैलने का मुख्य कारण है. यह नियम चीन के 'Three illegal and one item' कानून के तहत लगाया गया है.

इसके अलावा कजाख्स्तान से आने वाले सभी चीजों को बैन कर दिया गया है जिसमें कजाख भाषा में कुछ भी लिखा हो, यही नहीं अगर टी शर्त पर इस्लामिक स्टार भी बना होगा तो उस पर भी बैन है. नियम तोड़ने वाले ऐसे सभी लोगों की चाइना पुलिस जांच करेगी और उन्हें कड़ी सजा देगी.

Sep 28, 2017

रोहिंग्या मुसलमानों ने म्यांमार में मार डाले 45 हिन्दू, भारत का आजादी गैंग मीडिया खामोश

रोहिंग्या मुसलमानों ने म्यांमार में मार डाले 45 हिन्दू, भारत का आजादी गैंग मीडिया खामोश

myanmar-hindu-mass-murder-by-rohingya-muslims-terrorist-arsa

भारत में सभी कथित सेक्युलर पार्टियाँ और आजादी गैंग समर्थक मीडिया के लोग रोहिंग्या मुसलमानों के लिए तो रो रहे हैं, भारत के सभी कट्टर इस्लामिक संगठन और कट्टरपंथी नेता रोहिंग्या मुसलमान शरणार्थियों के समर्थन में आवाज उठा रहे हैं, उन्हें भारत में शरण देने की मांग कर रहे हैं, लेकिन म्यांमार में हिन्दुओं के समर्थन में कोई आवाज नहीं उठा रहे हैं जिन्हें रोहिंग्या मुसलमानों ने मारकर जमीन में दबा दिया था और अब ये शरणार्थी शिविरों में रहें को मजबूर हैं.

आपको बता दें कि म्यांमार के रखाइन स्टेट से लाखों मुसलमानों को म्यांमार सरकार ने भगा दिया था, इन पर आरोप लगा था कि ये रखाइन स्टेट को इस्लामिक स्टेट बनाना चाहते थे इसलिए अन्य धर्मों को लोगों को मार मारकर जमीन में दबा देते थे. इन्होने सबसे अधिक कत्लेआम हिन्दुओं का मचाया, रखाइन स्टेट में हजारों हिन्दू परिवार गायब कर दिए गए थे, अब इनकी एक साथ लाशें जमीन में मिल रही हैं.

पिछले एक हप्ते में रखाइन में 45 हिन्दुओं की लाशें मिल चुकी हैं, इनका नरसंहार रोहिंग्या आतंकी ग्रुप ARSA ने किया है, इन्होने हिन्दुओं को ही नहीं वहां के बौद्ध धर्म के लोगों का भी कत्लेआम किया, इन्होने सोचा था कि जब अन्य धर्म के लोगों को मार मार कर ख़त्म कर देंगे तो रखाइन से अन्य धर्म के लोग ख़त्म हो जाएंगे और यह इस्लामिक स्टेट बन जाएगा लेकिन उनका सपना पूरा नहीं हुआ क्योंकि इससे पहले ही उन्हें भगा दिया गया.

अब यहाँ पर सवाल आजादी गैंग वाले मीडिया का है, ये लोग रोहिंग्या मुस्लिमों की ख़बरें जोर शोर से दिखा रहे हैं लेकिन इन्होने 45 हिन्दुओं की लाश मिलने की खबर को दबा दिया. हिन्दुओं का कत्लेआम इनके लिए कोई खबर नहीं है क्योंकि हिन्दू लोग तो इनके लिए कीड़े मकोड़े हैं.

Sep 26, 2017

म्यांमार में 17 हिन्दुओं के शव निकाले गए, 100 गायब, क़त्ल करके गाड़ देते थे रोहिंग्या आतंकी

म्यांमार में 17 हिन्दुओं के शव निकाले गए, 100 गायब, क़त्ल करके गाड़ देते थे रोहिंग्या आतंकी

myanmar-100-hindus-dead-body-found-killed-by-rohingya-atanki

म्यांमार से बेहद हैरान और परेशान करने वाली खबर आयी है, रोहिंग्या मुसलमान रखाइन स्टेट को इस्लामिक स्टेट बनाना चाहते थे इसीलिए वहां से भगा दिए गए. ये लोग वहां पर अन्य धर्मों के लोगों को क़त्ल कर देते थे, ये लोग पहले अन्य धर्मों के लोगों को परिवार सहित अपहरण कर लेते थे और उसके बाद उनका क़त्ल करके उन्हें जमीन में गाड़ देते थे और उनके घरों पर कब्ज़ा कर लेते थे.

रखाइन स्टेट में 100 हिन्दू भी गायब थे, आज खुदाई में 17 हिन्दुओं के शव मिले हैं, इन्हें रोहिंग्या आतंकी संगठन ARSA ने सामूहिक नरसंहार करके जमीन में दफना दिया था लेकिन कुछ दिनों से वहां पर लगातार हिन्दुओं के शव मिल रहे हैं, ऐसा लगता है कि रोहिंग्या आतंकियों ने सबसे पहले हिन्दुओं को ही क़त्ल करना शुरू किया था क्योंकि म्यांमार बौद्ध देश है इसलिए उन्हें मारना मंहगा पड़ता, इसलिए पहले इन्होने हिन्दुओं को मिटाना शुरू किया होगा.

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि रोहिंग्या आतंकियों और जिहादियों की इसी करतूत की वजह से म्यांमार ने इन्हें रखाइन राज्य से भगा दिया लेकिन अब ये लोग हिंदुस्तान में आना चाहते हैं, लाखों लोग आ गए हैं और हमारे देश के तथाकथित सेक्युलर लोग इन्हें भारत में बसाना भी चाहते हैं, यह जानते हुए भी कि ये लोग म्यांमार में क्या कांड  करके आये हैं. फिलहाल ये मामला सुप्रीम कोर्ट में चल रहा है लेकिन अगर इन्हें भारत में बसाया गया तो यहाँ भी वही कत्लेआम मचा सकते हैं जैसा इन्होने म्यांमार में मचाया है.

Sep 24, 2017

सुषम स्वराज ने यूनाइटेड नेशन में पाकिस्तान को बुरी तरह से धो डाला, पढ़ें धुलाई का पूरा भाषण

सुषम स्वराज ने यूनाइटेड नेशन में पाकिस्तान को बुरी तरह से धो डाला, पढ़ें धुलाई का पूरा भाषण

sushma-swaraj-slams-pakistan-for-jihad-atankwad-terrorism

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज यूनाइटेड नेशन जनरल असेम्बली में भारत की तरफ से भाषण दिया. उनके भाषण की हर तरफ प्रशंसा हो रही है. उन्होने आज भारत की गरीबी मिटाने वाली और विकास के पथ पर ले जाने वाली कई योजनाओं का जिक्र किया साथ ही पाकिस्तान की जमकर धुलाई भी कर दी.

सुषमा स्वराज ने कहा कि हम तो गरीबी से लड़ने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन हमारा पडोसी देश पाकिस्तान हमसे लड़ रहा है, परसों इसी मंच से बोलते हुए पाकिस्तान के वजीरे आजम शाहिद खाकान अब्बासी ने भारत पर तरह तरह के इल्जाम लगाए, उन्होने हमें स्टेट स्पोंसर्ड टेररिज्म फैलाने का गुनाहगार भी ठहराया और मानवाघिकार उल्लंघन का आरोपी भी, जिस समय वह बोल रहे थे तो लोग कह रहे थे 'Look who is talking'.

सुषमा स्वराज ने कहा कि जो मुल्क हैवानियत की हदें पार करके सैकड़ों बेगुनाहों को मौत के घाट उतरवाता है वह यहाँ पर खड़ा होकर हमें इंसानियत का सबक सिखा रहा था और हमें मानवाधिकार का पाठ पढ़ा रहा था, पाकिस्तान के वजीरे आजम ने कहा कि मुहम्मद जिन्ना ने पाकिस्तान को शांति और दोस्ती की नीति विरासत में दी थी, मैं उन्हें याद दिलाना चाहती हूँ कि मुहमम्द अली जिन्ना ने पाकिस्तान को शांति और दोस्ती की नीति विरासत में दी थी या नहीं यह तो इतिहास बहुत अच्छी तरह से जानता है लेकिन यह सच जरूर है कि भारत के प्रधानमंत्री मोदी ने शांति और दोस्ती की नियति जरूर दिखाई थी. उन्होंने सारी रुकावटों को पार करते हुए दोस्ती का हाथ आगे बढाया लेकिन कहानी बदरंग किसने की, अब्बासी साहब इसका जवाब आपको देना है मुझे नहीं.

सुषमा स्वराज ने काह कि - अब्बासी जी यहाँ पर खड़े होकर संयुक्त राष्ट्र के पुराने प्रस्तावों की बात भी कर रहे थे पर क्या उन्हें याद नहीं कि शिमला समझौते और डिक्लेरेशन के अंतर्गत हम दोनों देशों ने यह निर्णय किया है कि हम आपसी मसलों को इकठ्ठे बैठकर हल करेंगे, किसी तीसरे की मध्यस्तता स्वीकार नहीं करेंगे.

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के सियासतदानों को याद तो सब कुछ है लेकिन अपनी सुविधा के कारण ये उसे भूल जाने का नाटक करते हैं, पाकिस्तान के वजीरे आजम से Comprehensive Dialogue  की बात भी की, मैं उन्हें याद दिला दूँ, 9 दिसम्बर 2015 को जब मैं हार्ट ऑफ़ एशिया के सम्मलेन के लिए इस्लामाबाद गयी थी तो उनके नेता और उस समय के वजीरे आजम नवाज शरीफ की सरपरस्ती में नए सिरे से डायलाग शुरू करने का फैसला हुआ था और उसे नया नाम भी दिया गया था Comprehensive Bilateral Dialogue. इसमें Bilateral शब्द सोच समझकर डाला गया था ताकि कोई संदेह ना रहे और यह निश्चित हो जाए कि बातचीत केवल दोनों देशों के बीच होनी है, किसी तीसरे देश की मदद लेकर नहीं, लेकिन वह सिलसिला आगे क्यों नहीं बढ़ा इसके लिए भी अब्बासी साहब जवाबदेह आप हैं.

सुषमा स्वराज ने कहा कि आज मैं इस मंच से पाकिस्तान के सियासतदानों से एक सवाल पूछना चाहती हूँ, क्या कभी आपने इकठ्ठे बैठकर ये सोचा है कि भारत और पाकिस्तान साथ साथ आजाद हुए थे लेकिन आज भारत की पहचान दुनिया भर में एक IT के सुपर पॉवर के रूप में बनी है लेकिन पाकिस्तान की पहचान एक दहशतगर्द मुल्क, एक आतंकवादी देश के रूप में बनी है, क्या आपने कभी सोचा है कि इसकी क्या वजह है, इसकी एक ही वजह है कि भारत ने पाकिस्तान की दी हुई आतंकवाद की चुनौतियों का सामना करते हुए भी अपने घरेलू विकास को कभी थमने नहीं दिया.

सुषमा स्वराज ने कहा की पिछले 70 वर्षों के दौरान अनेकों दलों की सरकारें आयीं लेकिन हर सरकार ने विकास की गति को जारी रखा, हमने IITs बनाये, हमने IIMs बनाये, हमने AIIMS जैसे अस्पताल बनाए, हमने अंतरिक्ष के क्षेत्र में विश्व प्रसिद्द संस्थान बनाए लेकिन पाकिस्तान वालों, आपने क्या बनाया. आपने लश्करे तैयबा बनाया. आपने जैश-ऐ-मुहम्मद बनाये, आपने हक्कानी नेटवर्क बनाया, आपने हिजबुल मुजाहिद्दीन बनाया, आपने आतंकवादी ठिकाने बनाये, आपने आतंकवादी कैम्प बनाये.

सुषमा स्वराज ने कहा की हमने स्कॉलर्स पैदा किये, हमने साइंटिस्ट पैदा किये, हमने इंजीनियर्स पैदा किये, हमने डॉक्टर्स पैदा किये, पाकिस्तान वालों आपने क्या पैदा किया, आपने दहशतगर्द पैदा किये, आपने जिहादी पैदा किये. 

सुषमा स्वराज ने कहा कि आप जानते हैं कि डॉक्टर्स मरने वाले की जिन्दगी बचाते हैं लेकिन जिहादी जिन्दा लोगों को मार डालते हैं, आपका जिहादी संगठन केवल भरत के लोगों को नहीं मार रहा, वो हमारे पड़ोसी देशों अफ़ग़ानिस्तान और बांग्लादेश के लोगों को भी मार रहा है, वो भी उनकी गिरफ्त में हैं, सभापति जी, UNGA के इतिहास में पहली बार हुआ है कि किसी देश ने शाम को राईट तो रिप्लाई माँगा हो और एक साथ उसे तीन तीन लोगों को स्पष्टीकरण देना पड़ा हो, ये अकेला तथ्य पाकिस्तान की करतूत को दर्शाता है.

सुषम स्वराज ने कहा कि मैं कहना चाहती हूँ पाकिस्तान वालों, जो पैसा आप आतंकवादियों की मदद के लिए खर्च कर रहे हो, अगर उसे अपने आवाम की भलाई के लिए खर्च करो, अगर अपने मुल्क की तरक्की के लिए खर्च करो तो दुनिया का आतंकवाद से पीछा छूट जाएगा और साथ ही आपके आवाम का कल्याण हो सकेगा, आपके मुल्क का विकास हो सकेगा.

Sep 23, 2017

सुषमा स्वराज ने UN में सीना ठोंककर गिना दिए मोदी सरकार के काम, सुन लो कांग्रेसियों तुम भी

सुषमा स्वराज ने UN में सीना ठोंककर गिना दिए मोदी सरकार के काम, सुन लो कांग्रेसियों तुम भी

sushma-swaraj-praised-modi-sarkar-top-schemes-to-transform-india

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज यूनाइटेड नेशन जनरल असेम्बली में भारत की तरफ से भाषण दिया. उनके भाषण की हर तरफ प्रशंसा हो रही है. उन्होंने आज भारत में मोदी सरकार द्वारा उठाये जा रहे विकास के क़दमों का बखान किया, उन्होंने मोदी सरकार की उन योजनाओं का नाम बताया जिसकी वजह से भारत तेजी से विकास और आत्मनिर्भरता की तरफ अग्रसर है - जनधन योजना, मुद्रा योजना, उज्ज्वला योजना, स्किल इंडिया, डिजिटल इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया, स्टैंड अप इंडिया.

सुषमा स्वराज ने कहा कि योजनायें तो अनेक हैं लेकिन समय की कमीं के कारण मैं केवल तीन योजनाओं का संक्षेप में वर्णन करना चाहती हूँ. सबसे पहली है जन धन योजना जिसके अंतर्गत हमने विश्व का सबसे बड़ा आर्थिक समावेश किया है. जिन गरीबों ने कभी बैंक का द्वार नहीं देखा था, ऐसे 30 करोड़ लोगों को हमने बैंक के अन्दर पहुँचाया. उनके बैंक खाते खुलवाये हैं, जिनके पास पैसा नहीं था उनका 0 बैलेंस से खाता खुला है, दुनिया में किसी ने सुना नहीं होगा कि एक व्यक्ति के पास पैसा नहीं है लेकिन उसके पास बैंक की पासबुक है. ये जो असंभव जैसी चीज थी ये भारत ने संभव करके दिखायी है.

सुषमा स्वराज ने कहा कि 30 करोड़ लोग, ये छोटा आंकड़ा नहीं है, अमेरिका की समूची आबादी है 30 करोड़, हमने 30 करोड़ लोगों को मिशन मोड में बैंक से जोड़ने का काम किया. कुछ लोग अभी बचे हैं लेकिन कार्य जारी है क्योंकि हमारा लक्ष्य 100 फ़ीसदी लोगों को इससे जोड़ना है. 

सुषमा स्वराज ने मुद्रा योजना की तारीफ करते हुए कहा कि यह योजना उन लोगों के लिए चलायी जा रही है जिसके पास बिजनेस करने के लिए पैसे नहीं हैं, इस योजना के अंतर्गत केवल उसे लोन दिया जाता है जिसे बैंक से कभी भी कर्ज नहीं मिला. मुझे बताते हुए ख़ुशी है कि इस योजना के अंतर्गत 70 फ़ीसदी से ज्यादा ऋण केवल महिलाओं को दिया गया है. 

सुषमा स्वराज ने कहा कि बेरोजगारी गरीबी को जन्म देती है इसलिए स्किल इंडिया योजना के अंतर्गत हम गरीब और माध्यम लोगों के लिए उनकी स्किल के अनुसार पहले उन्हें कौशल दे रहे हैं और उसके बाद मुद्रा योजना, स्टार्ट अप इंडिया, स्टैंड अप इंडिया योजना के अंतर्गत हम उन्हें स्वरोजगार के काबिल बना रहे हैं.

इसके बाद सुषमा स्वराज ने उज्जवल योजना का जिक्र करते हुए कहा कि गरीब महिलाओं के लिए रोज रोज रसोईं का ईंधन जुटाना एक कष्टदायक प्रक्रिया है, उसके बाद उस धुंवे से उनकी ऑंखें रोजाना अंधी होती चली जाती हैं, इन दोनों पीड़ाओं से उन्हें मुक्त करने के लिए हम गरीब महिलाओं को मुफ्त में गैस सिलेंडर दे रहे हैं, ये महिला सशक्तिकरण की दिशा में एक बहुत महत्वपूर्ण कदम है.

इसके बाद सुषमा स्वराज ने कहा कि नोटबंदी जैसे साहसिक फैसले ने भ्रष्टाचार पर करारा प्रहार किया है, GST जैसे महत्वपूर्ण निर्णय ने एक राष्ट्र एक टैक्स के सपने को साकार किया है, बेटी पढाओ बेटी बचाओ योजना के तहत जेंडर इक्वलिटी जैसे विषयों पर जोर देकर और स्वच्छ भारत अभियान चलाकर भारत एक सामाजिक क्रांति की तरफ बढ़ रहा है.  सुषमा स्वराज ने यह भी कहा कि बड़े देश तो अपनी क्षमता पर आगे बढ़ जाएंगे लेकिन हमें छोटे देशों की भी मदद करनी चाहिए और वहां पर गरीबी कम करने में अपना सहयोग देना चाहिए.
अमेरिका की आबादी से भी ज्यादा लोगों के हमने फ्री में बैंक खाते खुलवा दिए: सुषमा स्वराज

अमेरिका की आबादी से भी ज्यादा लोगों के हमने फ्री में बैंक खाते खुलवा दिए: सुषमा स्वराज

sushma-swaraj-said-india-open-free-bank-account-more-than-america-polulation

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने आज यूनाइटेड नेशन जनरल असेम्बली में भारत की तरफ से भाषण दिया. उनके भाषण की हर तरफ प्रशंसा हो रही है. उन्होंने आज भारत में मोदी सरकार द्वारा उठाये जा रहे विकास के क़दमों का बखान किया, उन्होंने कहा कि भारत ने पिछले कुछ समय में बड़े बड़े साहसिक निर्णय लिए हैं और टिकाऊ विकास के लक्ष्य को ध्यान में रखते हुए अनेक योजनायें बनायी हैं.

सुषमा स्वराज ने कहा कि गरीबी को दूर करना टिकाऊ विकास का पहला लक्ष्य है, गरीबी को दूर करने के दो रास्ते होते हैं, एक रास्ता होता है हम उनका सहारा बनें और उन्हें उनका हाथ पकड़कर चलायें, दूसरा रास्ता है कि कि हम उन्हें ही इतना सशक्त कर दें कि उन्हें किसी के सहारे की आवश्यकता ही ना रहे, वो अपना सहारा आप बन जाएं. 

सुषमा स्वराज ने कहा कि हमारे भारत के प्रधानमंत्री मोदीजी ने गरीबी निवारण के लिए दूसरा रास्ता चुना है इसीलिए वे गरीबों का सशक्तिकरण करने के लिए जुटे हैं. हमारी सारी योजनायें गरीबों को शक्तिशाली बनाने के लिए चलायी जा रही हैं जैसे - जनधन योजना, मुद्रा योजना, उज्ज्वला योजना, स्किल इंडिया, डिजिटल इंडिया, स्टार्ट अप इंडिया, स्टैंड अप इंडिया.

सुषमा स्वराज ने कहा कि योजनायें तो अनेक हैं लेकिन समय की कमीं के कारण मैं केवल तीन योजनाओं का संक्षेप में वर्णन करना चाहती हूँ. सबसे पहली है जन धन योजना जिसके अंतर्गत हमने विश्व का सबसे बड़ा आर्थिक समावेश किया है. जिन गरीबों ने कभी बैंक का द्वार नहीं देखा था, ऐसे 30 करोड़ लोगों को हमने बैंक के अन्दर पहुँचाया. उनके बैंक खाते खुलवाये हैं, जिनके पास पैसा नहीं था उनका 0 बैलेंस से खाता खुला है, दुनिया में किसी ने सुना नहीं होगा कि एक व्यक्ति के पास पैसा नहीं है लेकिन उसके पास बैंक की पासबुक है. ये जो असंभव जैसी चीज थी ये भारत ने संभव करके दिखायी है.

सुषमा स्वराज ने कहा कि 30 करोड़ लोग, ये छोटा आंकड़ा नहीं है, अमेरिका की समूची आबादी है 30 करोड़, हमने 30 करोड़ लोगों को मिशन मोड में बैंक से जोड़ने का काम किया. कुछ लोग अभी बचे हैं लेकिन कार्य जारी है क्योंकि हमारा लक्ष्य 100 फ़ीसदी लोगों को इससे जोड़ना है. 

Sep 22, 2017

यूनाइटेड नेशन में बोला भारत, पाकिस्तान अब टेररिस्तान बन चुका है, आतंकियों का जन्नत पाकिस्तान

यूनाइटेड नेशन में बोला भारत, पाकिस्तान अब टेररिस्तान बन चुका है, आतंकियों का जन्नत पाकिस्तान

pakistan-become-terroristan-now-india-said-in-united-nation

भारत ने यूनाइटेड नेशनल जनरल असेम्बली में साफ़ साफ़ कह दिया है कि पाकिस्तान अब पाकिस्तान नहीं रहा बल्कि टेररिस्तान बन चुका है, छोटे से इतिहास में ही पाकिस्तान आतंकियों का गढ़ बन चुका है. अब पाकिस्तान की जमीन पर आतंकवाद की खेती होती है, आतंकियों को ट्रेंड किया जता है और वहां से उन्हें विश्व भर में सप्लाई किया जाता है. 

भारत ने उदाहरण में कहा कि पाकिस्तान ने ही ओसामा बिन लादेन और मुल्ला उमर को संरक्षण दिया था, ऐसा देश खुद को आज विक्टिम के रूप में पेश कर रहा है. टेररिस्तान की वजह से सभी पडोसी देश परेशान हैं.

भारत ने यह भी कहा कि मुहम्मद हाफिज सईद जिसे यूनाइटेड नेशन ने अंतर्राष्ट्रीय आतंकवादी घोषित कर रखा है, जो आतंकवादी संगठन लश्करे तैयबा का चीफ है, अब वह पाकिस्तान में चुनाव लड़ने जा रहा है, उसनें एक राजनीति पार्टी भी बना ली है.

यह ऐसा देश है जिसकी एंटी-टेररिज्म पालिसी के अनुसार वहां पर आतंकवादियों को सेफ हैवन प्रदान किया जाता है और उसके बाद उन्हें चुनाव लड़वाकर नेता बनाया जाता है, इस बात से कोई इनकार नहीं कर सकता कि पाकिस्तान अपने पडोसी देशो में आतंकवादी भेजता है, कश्मीर में पाकिस्तान आतंकवादी भेजता है. उन्हें यह पता होना चाहिए कि जम्मू और कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है, आतंकवाद के जरिये आप उसे नहीं ले सकते. 

भारत ने यह भी कहा कि पाकिस्तान ने विश्व से अरबों डॉलर की मदद ली है और उसके जरिये अपने ही देश में आतंकवादियों के लिए खतरनाक इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया है, अब वही पाकिस्तान कह रहा है कि हम भी आतंकवाद से पीड़ित हैं और हमने भी बहुत कुछ खोया है, इस मामले में प्रदुषण फैलाने वाला ही भरपाई कर रहा है. जब उसनें आतंकवाद को बोया है तो काटेगा भी वही.

भारत ने कहा कि विश्व में पाकिस्तान का योगदान सिर्फ इतना है कि उसनें आतंकवाद फैलाया है, दुनिया भर में उनके आतंकवादियों ने हमला किया है. अब इनके आतंकवादी भारत में मानव अधिकारों की बात कर रहे हैं जो इनके मुंह से अच्छी नहीं लगती.

Sep 21, 2017

राहुल गाँधी ने NRIs से की कांग्रेस से जुड़ने की अपील, मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने में मांगी मदद

राहुल गाँधी ने NRIs से की कांग्रेस से जुड़ने की अपील, मोदी सरकार को उखाड़ फेंकने में मांगी मदद

rahul-gandhi-appeal-nris-to-joint-congress-against-modi-sarkar

राहुल गाँधी ने कल अमेरिका के टाइम्स स्क्वायर में कुछ NRIs के सामने भाषण दिया. उन्होंने NRIs से अपील करते हुए कहा कि आप लोग कांग्रेस पार्टी से जुड़ जाइए और देश को बदलने में मेरा साथ दीजिये. उन्होंने मोदी सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि भारत की विश्व में छवि खराब हो रही है. मैं अमेरिका में डेमोक्रेटिक और रिपब्लिक पार्टी से मिला, उन्होंने मुझसे पूछा - इंडिया में क्या हो रहा है. पहले तो लोग मिल जुलकर रहते थे लेकिन अब क्या हो रहा है. हमारे देश में लोगों को रोजगार नहीं मिल रहा है, मोदी सरकार सिर्फ बड़े बिजनेस को बढाया दे रही है. छोटे और माध्यम उद्योगों पर कोई ध्यान नहीं है. रोजाना 30 हजार लोग जॉब के लिए आते हैं लेकिन उनमें से 450 लोगों को ही जॉब मिल रहा है.

राहुल गाँधी ने NRIs से कहा कि आप लोगों के पास अच्छा ज्ञान और अमझ है इसलिए आप लोगों को भी भारत को बदलने के अभियान में शामिल होना होगा, मैं आप सभी से अपील करता हूँ कि कांग्रेस पार्टी से जुड़ जाइए. हमें आपकी मदद की जरूरत है.

उन्होंने कहा कि NRIs हमारे देश की रीढ़ हैं क्योंकि आप लोग दो दो देशों को संभालते हो. हम आपको बताना चाहते हैं कि भारत की आजादी का आन्दोलन NRIs ने ही शुरू किया था, महात्मा गाँधी NRI थे, जवाहर लाल नेहरु NRI थे, बाबा साहेब अंबेडकर, आजाद, पटेल सब के सब NRI थे. इनमें से हर कोई पहले विदेश गया, बाहर के देशों को देखा, उसके मन में विचार आया, वह भारत वापस आया और भारत को बदलने में सहयोग किया. हमारे देश में दुग्ध क्रांति करने वाले वर्गीज कुरियन भी NRI थे.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी 130 साल पुरानी पार्टी है. हम किसी संस्था का प्रतिनिधि नहीं करते, हम ऐसी विचारधारा का प्रतिनिधि करते हैं जो 1000 साल पुरानी है. हमारे यहाँ कई धर्म के लोग हैं, कई भाषाएँ हैं, सभी लोग मिल जुलकर रहते हैं. यह सिर्फ कांग्रेस की विचारधारा की वजह से होता है.

राहुल गाँधी ने कहा कि अब हमसे लोग सवाल पूछ रहे हैं कि भारत की हार्मोनी को क्या हो रहा है. मैंने अमेरिका में कई जगह भाषण दिया, कई जगह लोगों से बात की, सभी लोगों ने हमसे सिर्फ यही पूछा कि भारत की हार्मोनी को क्या हो रहा है.

Sep 19, 2017

हम किसी के दबाव में नहीं आएँगे, आतंकियों को फिर से म्यांमार में नहीं घुसने देंगे: आंग सान सू की

हम किसी के दबाव में नहीं आएँगे, आतंकियों को फिर से म्यांमार में नहीं घुसने देंगे: आंग सान सू की

aung-san-suu-kye-said-myanmar-will-not-take-rohingya-muslims-back

म्यांमार की राजनेता आंग सान सू की ने खरा खरा बोल दिया है कि यूनाइटेड नेशन और अंतर्राष्ट्रीय देशों के दबाव के आगे म्यांमार नहीं झुकेगा और रोहिंग्या मुसलमानों को वापस म्यांमार में नहीं घुसने देगा क्योंकि रोहिंग्या मुसलमान म्यांमार में आतंकवाद फैला रहे हैं, इनके आतंकवादियों के साथ सम्बन्ध हैं और म्यांमार ने इन्हें आतंकवादी संगठन घोषित किया है.

उन्होंने कहा कि राखिने स्टेट को ये लोग इस्लामिक स्टेट घोषित करने की मांग कर रहे हैं जबकि वहां पर अन्य समुदाय के लोग भी रहते हैं. उन्होंने कहा कि म्यांमार ने रोहिंग्या मुसलमानों को संरक्षण दिया था लेकिन ये लोग म्यांमार पर ही आतंकवादी हमले करने शरू कर दिए, वहां पर इस्लामिक स्टेट की मांग करने लगे, क्या अन्य धर्मों के लोगों को राखिने में रहने का हक नहीं है.

उन्होंने कहा कि उन्होंने रोहिंग्या मामले पर बांग्लादेश के गृह मंत्री को चर्चा का न्योता दिया है. अगर कुछ लोग म्यांमार वापस आना चाहते हैं तो उनके लिए रिफ्यूजी वेरिफिकेशन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी. लेकिन अगर ये लोग चाहते हैं कि हम इन्हें म्यांमार में इस्लामिक स्टेट देंगे तो यह इनकी गलती है.

Sep 18, 2017

पाकिस्तानी आतंकी अशरफ आसिफ जलाली ने निकाली 1 लाख जिहादी आतंकियों की भर्ती, वर्मा से लेंगे बदला

पाकिस्तानी आतंकी अशरफ आसिफ जलाली ने निकाली 1 लाख जिहादी आतंकियों की भर्ती, वर्मा से लेंगे बदला

pakistani-terrorist-ashraf-asif-jalali-recuirts-1-lakh-jihadi-for-burma

रोहिंग्या के मामले में तूल पकड़ लिया है, म्यांमार (बर्मा) से करीब 4 लाख रोहिंग्या मुसलमानों को आतंकी गतिविधियों में शामिल होने की वजह से भगा दिया गया है, ये लोग शरणार्थी शिविरों में रह रहे हैं, कई लोग भारत आना चाहते हैं, करीब 40 हजार रोहिंग्या भारत में गैर-कानूनी तरीके से रह रहे हैं, कई लोग बांग्लादेश में घुसना चाहते हैं, अब पाकिस्तानी आतंकवादी भी इनके समर्थन में आ गए हैं. 

पाकिस्तान के बड़े आतंकवादी अशरफ आसिफ जलाली ने आज एक लाख जिहादी आतंकियों की भर्ती निकाली है, इन्हें भर्ती करने के बाद इनकी लिस्ट पाकिस्तानी सेनाध्यक्ष कमर जावेद बाजवा को भेजी जाएगी और उसके बाद ये जिहादी आतंकी बर्मा पर हमला करके उसे इस्लामिक स्टेट बना देंगे.

आज एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें आतंकी जलाली कह रहा है - ये तलवार हाथ में पकड़कर मैं मोदी और सूची की साजिश को ललकार रहा हूँ, हमने बर्मा के जिहाद के लिए आज से रजाकार भर्ती करने का काम शुरू कर दिया है. इस सिलसिले में जितने भी लोग भर्ती होना चाहते हैं वे अपना नाम, ID कार्ड की फोटो और मुकम्मल एड्रेस ये जमा करवाएं, आज के प्रेस रिलीज में और इस वख्त के प्रोग्राम में मैं ऐलान कर रहा हूँ, इंशा-अल्ला की तरफ से हम पहली बार में 1 लाख रजिस्टर्ड नौजवानों की लिस्ट तैयार करेंगे और पाकिस्तान फ़ौज को देंगे, हम जनरल कमर जावेद बाजवा को यह लिस्ट पेश करेंगे. हम बर्मा से बदला लेंगे.
विदेश में भीड़ जुटाने के लिए राहुल गाँधी करते हैं ऐसा काम, पढ़कर आप हो जाएंगे हैरान

विदेश में भीड़ जुटाने के लिए राहुल गाँधी करते हैं ऐसा काम, पढ़कर आप हो जाएंगे हैरान

congress-offer-free-food-for-public-to-attend-rahul-gandhi-programme

राहुल गाँधी ने खुद को ग्लोबल लीडर के रूप में पेश करने की तैयारी शुरू कर दी है, इस तैयारी के अनुसार राहुल गाँधी ने विदेश दौरा शुरू किया है और विदेश में घूम घूम कर भाषण देने का कार्यक्रम बनाया है. इस वक्त राहुल गाँधी अमेरिका में हैं और वहां पर कई कार्यक्रम कर रहे है, कुछ दिनों पहले उन्होंने सिल्वर सिटी कैलिफोर्निया का दौरा किया था और University of California, Berkeley  में भाषण दिया था. इसके बाद वे कई मल्टी-नेशनल कंपनियों से भी मिले.

आपको बता दें कि भारत में राहुल गाँधी को बहुत ही नासमझ नेता समझा जाता है, कुछ लोग तो उन्हें पप्पू भी कहते हैं, यही हाल विदेश में भी है, विदेश में राहुल गाँधी को सुनने के लिए कोई नहीं आता इसलिए कांग्रेसी नेता लोगों को फ्री खाना और फ्री रजिस्ट्रेशन का लालच देते हैं. 

20 सितम्बर को राहुल गाँधी का अमेरका के न्यूयॉर्क शहर में टाइम स्क्वायर के Hotel Marriott Marquis में एक प्रोग्राम है जिसमें भीड़ जुटाने के लिए लुभावने पोस्टर चिपकाए गए हैं, इसमें लिखा गया है, कृपया राहुल गाँधी को सुनने आइये, आपका रजिस्ट्रेशन फ्री है, यहाँ पर सांस्कृतिक कार्यक्रम देखने को मिलेगा और खाना भी मिलेगा. आप राहुल को भी सुनिए और खाना भी ले जाइए.

rahul-gandhi-offer-free-food

मतलब कांग्रेस सोच रही है कि शायद खाने के लालच में ही कुछ लोग राहुल गाँधी को सुनने के लिये आ जाँय, वरना अगर कुर्सियां खाली रह गयीं तो राहुल गाँधी की बहुत फजीहत हो जाएगी, इसलिए फ्री खाने का लालच दिया जा रहा है. इससे यह भी सबूत मिल गया है कि कांग्रेस के पास पैसा बहुत है क्योंकि 7 स्टार होटल में हजारों लोगों को फ्री में खाना खिलाना सबके बस की बात नहीं है लेकिन ऐसा लगता है कि राहुल गाँधी के पास तो कोई बड़ा खजाना है.
UNGA मीटिंग में भाग लेने न्यूयॉर्क पहुंची सुषमा स्वराज, इन सब मुद्दों पर देंगी जवाब

UNGA मीटिंग में भाग लेने न्यूयॉर्क पहुंची सुषमा स्वराज, इन सब मुद्दों पर देंगी जवाब

sushma-swaraj-to-attend-united-nations-general-assembly-meeting

भारत की विदेश मंत्री सुषमा स्वराज यूनाइट नेशन जनरल असेंबली (UNGA) मीटिंग में भाग लेने के लिए अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर पहुँच गयी हैं. यहाँ पर 19 सितम्बर को सभी नेता मिलेंगे और कई मुद्दों पर अपना अपना पक्ष रखेंगे, इस मीटिंग में कई मुद्दों पर चर्चा होगी जैसे - नार्थ कोरिया की परमाणु धमकी, म्यांमार में रोहिंग्या के साथ अत्याचार, इस्लामिक आतंकवाद और ग्लोबल वार्मिंग. आपको बता दें कि UNGA का 72वां सेशन है. 

इस मीटिंग में 193 देश शामिल होंगे, UNGA के टॉप पालिसी मेकर्स शामिल होंगे, इस मीटिंग में डोनाल्ड ट्रम्प और फ़्रांस के राष्ट्रपति इम्मानुएल मैक्रॉन पहली बार शामिल होंगे, इनके अलावा 100 देशों के मुखिया भी शामिल होंगे.

इस मीटिंग में बांग्लादेश रोहिंग्या का मामला उठाएगा क्योंकि रोहिंग्या रिफ्यूजियों से सबसे अधिक बांग्लादेश परेशान है, बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना भी न्यूयॉर्क पहुँच गयी हैं. वही पाकिस्तान एक बार फिर से कश्मीर मसला उठा सकता है लेकिन सुषमा स्वराज उन्हें करारा जवाब देने वाली हैं. सुषमा स्वराज रोहिंग्या मामले पर भी भारत का पक्ष रख सकती हैं क्योंकि बांग्लादेश के बाद भारत में ही सबसे अधिक रोहिंग्या रिफ्यूजी रहते हैं.

Sep 16, 2017

अगर रोहिंग्या को ना भगाते तो ये म्यांमार के बौद्धों को ऐसे ही दफना देते, खौफनाक खबर

अगर रोहिंग्या को ना भगाते तो ये म्यांमार के बौद्धों को ऐसे ही दफना देते, खौफनाक खबर

why-rogingya-muslims-removed-from-myanmar-rohingya-state-news

म्यांमार बौद्ध धर्म को मानने वाला देश हैं, वहां के लोग शान्ति और भाईचारे को पसंद करते हैं लेकिन जैसे जैसे वहां पर मुसलमानों की आबादी बढ़ती गयी, वहां पर हिंसा, आतंकवाद, मर्डर जैसे घटनाएं शुरू हो गयी. रोहिंग्या राज्य में तो हालत बहुत खराब होती गयी, बौद्धों का क़त्ल होने लगा. धीरे धीरे बौद्धों की संख्या घटती गयी और मुसलमानों की संख्या बढती गयी. धीरे धीरे म्यांमार सरकार को भी समझ में आ गया कि यह सब क्यों हो रहा है. उन्हें पता चल गया कि म्यांमार को इस्लामिक स्टेट बनाने का प्रयास किया जा रहा है, अगर चुप बैठे रहे तो यहाँ के बौद्धों को ख़त्म कर दिया जाएगा, संस्कृति समाप्त कर दी जाएगी. अपने देश से भी हाथ धोना पड़ेगा इसलिए म्यांमार सरकार ने सेना को आदेश दिया और रोहिंग्या राज्य से मुसलमानों को भगा दिया गया, रोहिंग्या राज्य से होने की वजह से इन्हें रोहिंग्या मुसलमान कहा जा रहा है. अब ये लोग भारत और बांग्लादेश में घुसना चाहते हैं लेकिन इन्हें बॉर्डर पर ही रोक दिया गया है.

भारत में अधिकतर लिबरल और कट्टरपंथी मुस्लिम रोहिंग्या मुसलामानों का समर्थन कर रहे हैं, ये चाहते हैं कि रोहिंग्या मुसलमानों को भारत में बसा दिया जाए लेकिन अब रोहिंग्या मुसलमानों की करतूत भी सामने आ रही है, दरअसल ये लोग वहां के बौद्धों का बेरहमी से क़त्ल करके उन्हें जमीन में दबा देते थे ताकि किसी को उनके बारे में पता ही ना चले.

कल म्यांमार की सेना को रोहिंग्या राज्य के पहाड़ी इलाके में कुछ बौद्धों और उनके बच्चों की लाश मिली, जिसे जमीन में दफना दिया गया है. इनकी लाश को खोदकर निकाल लिया गया. अब आप समझ सकते हैं कि रोहिंग्या लोग कितने खतरनाक होते हैं. ऐसे लोग अगर भारत में रहेंगे तो यहाँ पर हिंसा, लूट, मर्डर की घटनाएं अपने आप बढ़ जाएंगी.
rohingya-ko-myanmar-se-kyon-bhagaya