Showing posts with label Haryana. Show all posts
Showing posts with label Haryana. Show all posts

20 May, 2017

घोषणाएं करके चले जाते हैं खट्टर, उन्हें पूरा कराने के लिए आमरण-अनशन पर बैठते हैं लोग

घोषणाएं करके चले जाते हैं खट्टर, उन्हें पूरा कराने के लिए आमरण-अनशन पर बैठते हैं लोग

pawan-sharma-dhanra-anshan-in-hasanpur-village-for-yamuna-bridge
पलवल हरियाणा: करीब एक साल पहले हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने पलवल का दौरा किया था और बड़ी बड़ी घोषणाएं करके जनता को खुश कर दिया था, इन घोषणाओं में हसनपुर गाँव में यमुना नदी पर एक पुल की भी घोषणा की गयी थी लेकिन खट्टर ये घोषणा करके भूल गए, एक साल बाद भी जब काम की शुरुआत नहीं हुई तो हसनपुर के एक युवक पवन शर्मा आमरण अनशन पर बैठ गए हैं.

पवन शर्मा ने धरने पर बैठते समय पत्र में लिखा है कि - मेरे पलवल, होडल और हसनपुर क्षेत्र के निवासियों, हसनपुर में जब तक यमुना पुल का शिलान्याश नहीं होगा, तक तक मैं आमरण अनशन पर बैठूँगा और जल-पान, खाना पीना नहीं करूँगा.

उन्होंने दूसरी मांग बताते हुए कहा - ब्रज 84 कोस परिक्रमा मार्ग में कीचड़ व गन्दगी ना हो और सड़क पक्की होनी चाहिए, मुख्यमंत्री साहब से जो घोषणाएं की हैं उसे पूरी करें.

पवन शर्मा ने कहा है कि अगर मैं आमरण अनशन के बाद मर भी जाऊं तो शरीर को जलाया ना जाए बल्कि ब्रिज मार्ग में दफना दिया जाय ताकि मैं ब्रज भक्तों के चरणों की धुल बनूँ.

14 May, 2017

हरियाणा में जंगलराज है, कुछ नहीं कर पा रही BJP: लालू यादव

हरियाणा में जंगलराज है, कुछ नहीं कर पा रही BJP: लालू यादव

lalu-yadav-says-jangalraaj-in-haryana-bjp-sarkar-fail

Sonipat: हरियाणा के सोनीपत में एक और निर्भया कांड हुआ है, एक महिला को सोनीपत में किडनैप करने के बाद करीब पांच लोगों ने उसके साथ गैंगरेप किया, उसके साथ जानवरों जैसा सुलूक किया और बाद में पत्थरों से उसका सर कुचलकर उसकी हत्या कर दी, उसकी लाश रोहतक से बरामद हुई है, इस गैंगरेप में पूरे देश को हिलाकर रख दिया है क्योंकि अपराधियों ने गैंगरेप करने के बाद बहुत बेरहमी से उसका क़त्ल किया.

आज RJD अध्यक्ष और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव ने इस घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि अगर यही घटना बिहार में होती तो मीडिया के लोग जंगलराज जंगलराज चिल्लाना शुरू कर देते लेकिन यही घटना हरियाणा में हुई है, बीजेपी के राज में हुआ है तो मीडिया खामोश है, मेरी नजर में हरियाणा में सबसे बड़ा जंगलराज है, कानून व्यवस्था नाम की चीज नही है.

पढ़ें घटना की पूरी खबर

रिपोर्ट के अनुसार हरियाणा के सोनीपत में 9 मई को 23 साल की युवती को पहले किडनैप किया गया, उसके साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया और उसके बाद उसका बेरहमी से क़त्ल कर दिया. यह घटना निर्दयता के मामले में निर्भया मामले को भी पीछे छोड़ रही है. युवती का क़त्ल करने के बाद उसे रोहतक में एक खाली प्लाट में फेंक दिया गया.

दो आरोपी पकडे गए, बाकियों की तलाश

हरियाणा के Additional Director General of Police (ADGP) अकिल अहमद के अनुसार अब तक 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि पीड़ित परिवार के शक पर कुछ अन्य आरोपियों की तलाश जारी है, उन्होंने कहा कि जल्द ही सभी आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी और उनके लिए फांसी की सजा की मांग की जाएगी. 
रोहतक निर्भया कांड पर बोले हुड्डा, हरियाणा की BJP सरकार में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं

रोहतक निर्भया कांड पर बोले हुड्डा, हरियाणा की BJP सरकार में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं

bhupinder-singh-hooda-attack-haryana-sarkar-for-sonipat-gangrape

Sonipat: हरियाणा के सोनीपत में एक और निर्भया कांड हुआ है, एक महिला को सोनीपत में किडनैप करने के बाद करीब पांच लोगों ने उसके साथ गैंगरेप किया, उसके साथ जानवरों जैसा सुलूक किया और बाद में पत्थरों से उसका सर कुचलकर उसकी हत्या कर दी, उसकी लाश रोहतक से बरामद हुई है, इस गैंगरेप में पूरे देश को हिलाकर रख दिया है क्योंकि अपराधियों ने गैंगरेप करने के बाद बहुत बेरहमी से उसका क़त्ल किया.

इस घटना ने हरियाणा की राजनीति को भी गर्म कर दिया है क्योंकि कांग्रेस पार्टी को बीजेपी के खिलाफ मुद्दा मिल गया है, आज हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हूडा ने हरियाणा सरकार पर बरसते हुए कहा कि राज्य में कानून व्यवस्था नाम की चीज नहीं है, चोरी, डकैती और रेप विल्कुल नहीं रुक रहे हैं, अपराधियों में डर नाम की चीज नहीं है. सरकार पूरी तरह से फेल है.

हूडा ने इस घटना की कड़ी निंदा करते हुए कहा कि ऐसा घिनौना काम इंसान नहीं शैतानों का होता है इसलिए मैंने अपराधियों के लिए कड़ी सजा की मांग करता हूँ साथ ही पीडिता के परिवारों के प्रति सहानुभूति प्रकट करता हूँ.

पढ़ें घटना की पूरी खबर

रिपोर्ट के अनुसार हरियाणा के सोनीपत में 9 मई को 23 साल की युवती को पहले किडनैप किया गया, उसके साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया और उसके बाद उसका बेरहमी से क़त्ल कर दिया. यह घटना निर्दयता के मामले में निर्भया मामले को भी पीछे छोड़ रही है. युवती का क़त्ल करने के बाद उसे रोहतक में एक खाली प्लाट में फेंक दिया गया.

दो आरोपी पकडे गए, बाकियों की तलाश

हरियाणा के Additional Director General of Police (ADGP) अकिल अहमद के अनुसार अब तक 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है जबकि पीड़ित परिवार के शक पर कुछ अन्य आरोपियों की तलाश जारी है, उन्होंने कहा कि जल्द ही सभी आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी और उनके लिए फांसी की सजा की मांग की जाएगी. 

05 May, 2017

नगर निगम में कमल खिलते ही फरीदाबाद ने स्वच्छता में लगाई सबसे तेज दौड़, मिला IFMC अवार्ड

नगर निगम में कमल खिलते ही फरीदाबाद ने स्वच्छता में लगाई सबसे तेज दौड़, मिला IFMC अवार्ड

faridabad-become-india-fastest-moving-city-swachhsurvekshan2017

Faridabad : फरीदाबाद भले ही हरियाण और भारत की औद्योगिक राजधानी कहा जाता हो लेकिन साफ़ सफाई के मामले में इसे सबसे गन्दा शहर माना जाता था लेकिन जब से हरियाणा में बीजेपी सरकार बनी और फरीदाबाद नगर निगम में भी कमल का फूल खिल गया देखते ही देखते शहर में साफ़ सफाई होने लगी और हाल ही में हुए #SwachhSurvekshan2017 में फरीदाबाद शहर को साफ सफा की रफ़्तार में सबसे तेज रफ़्तार से दौड़ने वाले शहर (India's Fastest Moving City) का अवार्ड मिला है.

खबर के अनुसार कल शहरी विकास मंत्रालय द्वारा जनवरी, फरवरी 2017 में कराए गए स्वच्छता सर्वेक्षण में फरीदाबाद को 434 में से 88वां स्थान मिला है. इस शहर ने पूर्व के मुकाबले सफाई में तेज गति से छलांग लगाई है इसी वजह से इसे India's Fastest Moving City का अवार्ड मिला है, इससे पहले फरीदाबाद को सबसे गन्दा शहर माना जाता था लेकिन जब से फरीदाबाद नगर निगम में बीजेपी की सरकार बनी है, शहर में साफ़ सफाई होने लगी है, इसके अलावा फरीदाबाद को स्मार्ट शहर बनाये जाने की भी घोषणा की जा चुकी है.

 उन्होंने शहरी नागरिकों से आह्वान किया कि वह अपने इलाके में अम्रुत योजना के तहत चलने वाली योजनाओं में सहयोग करें, ताकि भविष्य में हम तेजी से अपने शहरों को स्वच्छ बना सके।

जानकारी के लिए बता दें कि स्वच्छता सर्वे में हरियाणा के कई शहरों ने सुधार किया है, करनाल की रैंकिंग 65, फरीदाबाद की 88, गुरुग्राम की 112, पंचकूला की 211, सोनीपत की 243, थानेसर की 253, जींद की 265, सिरसा की 274, कैथल की 282, हिसार की 291, रोहतक की 295, रेवाड़ी की 303, अम्बाला सदर की 308, पानीपत की 335, भिवानी की 345, यमुनानगर की 346, बहादुरगढ़ की 353 तथा पलवल की 397 दर्ज हुई है। 

30 April, 2017

अटैची पैक करके जेल जाने के लिए तैयार बैठे हैं हुड्डा, खट्टर के आदेश का कर रहे हैं इन्तजार

अटैची पैक करके जेल जाने के लिए तैयार बैठे हैं हुड्डा, खट्टर के आदेश का कर रहे हैं इन्तजार

bhupinder-singh-hooda-ready-for-jail-waiting-cm-khattar-order
Chandigarh 30 April: रॉबर्ट वाड्रा के साथ मिलकर धांधली के आरोप में अब हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपिंदर सिंह हुड्डा को भी लगने लगा है कि उनका जेल जाना तय है, यही सोचकर उन्होंने अपनी अटैची पैक कर ली है और जेल जाने के लिए तैयार बैठे हैं, उन्हें अब केवल मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के आदेश का इन्तजार है, जैसे ही उन्हें पता चलेगा कि कौन सी जेल में जाता है, हुड्डा खुद अपनी अटैची उठाएंगे और खुद ही जेल पहुँच जाएंगे, अब हरियाणा पुलिस को उन्हें गिरफ्तार करने और जेल ले जाने के लिए तामझाम करने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

कल हुड्डा ने कहा कि जब से हरियाणा में बीजेपी की सरकार बनी है, उन्हें जेल भेजने की लगातार धमकी दी जा रही है, अगर इन्होने मुझे जेल भेजने का मन बना ही लिया है तो मुख्यमंत्री खट्टर बता दें मुझे किस जेल में जाना है, मैं खुद ही अपनी अटैची लेकर जेल में पहुँच जाऊँगा.

उन्होंने इसके बाद खट्टर पर निशाना साधते हुए कहा कि बीजेपी वाले खुद ही वकील और खुद ही जज बनकर उन्हें जेल भेजने का मुंगेरी लाल का सपना देख रहे हैं, मुझे जेल भेजने है या नहीं ये कानून तय करेगा, खट्टर नहीं लेकिन अगर ये लोग मुझे जेल भेजना ही चाहते हैं, मुझे जेल में देखने के लिए तड़प रहे हैं तो मैं खुद ही जेल चला जाता हूँ.

हुड्डा कल रोहतक में अपने निवास स्थान पर पत्रकारों के साथ बातचीत कर रहे थे, उन्होंने खट्टर के उस बयान का जवाब दिया जिसमें खट्टर ने कहा था कि आपकी गलत तरीके से जमीन अधिग्रहण करने वाले जेल जाने वाले हैं, उन्होंने हुड्डा पर निशाना साधा था, हुड्डा यह बात समझ गए और उन्होंने खुद ही अटैची पैक कर ली.

24 April, 2017

मेरी सरकार रहे या जाए, भ्रष्टाचार नहीं होने दूंगा: CM खट्टर

मेरी सरकार रहे या जाए, भ्रष्टाचार नहीं होने दूंगा: CM खट्टर

cm-manohar-lal-khattar-faridabad-nit-rally-nagender-bhadana

फरीदाबाद 24 अप्रैल: प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने आज NIT फरीदाबाद में 160 करोड़ के विकास कार्य का उद्घाटन किया. स्थानीय विधायक नगेन्द्र भड़ाना द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री खट्टर जमकर दहाड़े. स्थानीय लोगों को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि सरकार चले या न चले भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जायेगा. उन्होंने कहा फरीदाबाद को पिछली सरकारों ने बर्बाद कर दिया अब हम इसे इसका खोया हुआ गौरव वापस दिलाएंगे. उन्होंने कहा कि जनता बिजली चोरी न करे तो सरकार चौबीसों घंटे बिजली देने के लिए तैयार है. उन्होंने कहा कि अगर कोई भ्रष्टाचार करे तो उसका हाँथ काट देना चाहिए. उन्होंने कहा कि ऊपर नरेंद्र मोदी बैठे हैं और यहाँ मनोहर लाल और हम दोनों भ्रष्टाचार कदापि बर्दाश्त नहीं करेंगे.

उन्होंने कहा कि मैंने दो साल में प्रदेश में लगभग 3500 घोषणाएं की हैं और सब पर काम चल रहा है. उन्होंने कहा विपक्ष तरह तरह के हथकंडे अपना रहा है लेकिन सरकार उनके हथकंडों में फंसने वाली नहीं है. सरकार प्रदेश की ढाई करोड़ की जनता की सरकार है और जनता के लिए काम करती है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को अपनी बेटी का ब्याह नहीं करना है वो और थे जो अपनी दस पीढ़ियों के लिए काम करते थे.

15 April, 2017

पत्थरबाज को गाड़ी में बाँधने पर सेना के समर्थन में आये योगेश्वर दत्त, बोले ‘बहुत बढ़िया किया’

पत्थरबाज को गाड़ी में बाँधने पर सेना के समर्थन में आये योगेश्वर दत्त, बोले ‘बहुत बढ़िया किया’

yogeshwar-dutt-supported-indian-army-for-tied-patharbaaj-in-jeep
New Delhi: आज भारत के ओलिंपिक मेडल विजेता पहलवान योगेश्वर दत्त भी भारतीय सेना के समर्थन में उतर आये हैं, उन्होंने एक पत्थरबाज को जीत के आगे बांधकर घुमाने पर सेना का समर्थन किया है, उन्होंने एक के बाद एक ट्वीट करके सेना का समर्थन किया जबकि सनसनी फैलाने वाले मीडिया चैनलों और गद्दारों को कड़ा सन्देश भी दिया.

उन्होंने पहले ट्वीट में कहा - बाढ़ से बचाओ,फिर पत्थर खाओ तब तक कुछ लोगो को परेशानी नहीं है अब जब सेना ने मारा नहीं बस हाथ-पैर बाँध दिए तो चिंताजनक स्थिति हो गयी, शर्मनाक.

उन्होंने अगले ट्वीट में सनसनी फैलाने और निगेटिव पत्रकारिता करने वाले मीडिया चैनलों पर निशाना साधा, उन्होंने कहा - जो लोग पूछ रहे हैं कि कौन कितनी बार कश्मीर गया है तो बता हूँ, AC Room में बैठकर सनसनी नहीं फैलाते, हरियाण के हर घर से एक बेटा सेना में जाता है.
उन्होंने कहा कि ऐसे स्थिति देखते हैं तो पड़ोस के बचपन के साथियों के लिए मन खराब होता है, देश का सम्मान बचाते हुए अपना मानमर्दन हो रहा है.
जानकारी के लिए बता दें कि कुछ दिनों पहले एक VIDEO जारी हुआ था जिसमें पत्थरबाज युवक सेना के जवानों को थप्पड़ मारते और लात मारते हुए दिख रहे हैं, सेना का जवान शांति से अपने रास्ते पर चल रहा था, यह VIDEO देखकर भारत के करोड़ों लोग गुस्से से आग बबूला हो गए थे, योगेश्वर दत्त भी गुस्सा हुए थे, उसी VIDEO के जवाब में जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने एक और VIDEO जारी किया जिसमें एक पत्थरबाज युवक को सेना ने अपनी गाडी के आगे बांध रखा था, उमर अब्दुल्ला पत्थरबाजों का समर्थन कर रहे हैं जबकि सेना के खिलाफ हैं. 

11 April, 2017

दिल्ली MCD चुनावों में बढ़ी हथियारों की मांग, लेकिन फरीदाबाद में पकड़ लिए गए हथियार तस्कर

दिल्ली MCD चुनावों में बढ़ी हथियारों की मांग, लेकिन फरीदाबाद में पकड़ लिए गए हथियार तस्कर

taja-news-faridabad-cia-arrested-gun-smuggler-linked-mcd-election

फरीदाबाद: दिल्ली नगर निगम चुनावों में दहशत फैलाने के लिये यूपी से लाये जा रहे अवैध हथियारों के साथ फरीदाबाद क्राईम ब्रांच सैक्टर 30 इंचार्ज सतेन्द्र की टीम ने दो तस्करों को गिरफ्तार किया है, जिनसे 6 पिस्टल और 100 कारतूस बरामद किये गये हैं। दोनों हथियार तस्कर यूपी के मथुरा जिले से अपनी ही गाडी में अवैध हथियारों को लेकर दिल्ली जा रहे थे, रात्रि चैंकिंग के दौरान बाईपास रोड से दोनों तस्करों को गिरफ्तार कर लिया गया है।  पुलिस ने आर्म एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है और कोर्ट में पेश करने के बाद रिमांड पर लेकर गिरोह के अन्य सदस्यों के बारे में भी पूछताछ की जायेगी। 

फरीदाबाद क्राईम ब्रांच सैक्टर 30 की टीम को वक्त बडी कामयाबी हाथ लगी जब चैकिंग के दौरान बाईपास से गुजरने वाले दो गाडी सवारों से भारी मात्रा में असला बरामद किया। टेबल पर सजे हुए दिखाई दे रहे ये हथियार वो ही अवैध हथियार है जिन्हें उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले से दिल्ली ले जाया जा रहा था जिनमें 6 पिस्टल और 100 कारतूस है।

क्या कहना है CI सतेन्द्र का

इस बारे में अधिक जानकारी देते हुए क्राईम ब्रांच सैक्टर 30 टीम के इंचार्ज सतेन्द्र ने बताया कि देर रात चैकिंग के दौरान जांच करने पर दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है जिनसे 6 पिस्टल और 100 कारतूस बरामद किये गये हैं जो कि मथुरा से मात्र 15 हजार रूपये प्रति पिस्टल खरीदे गये और 200 रूपये प्रति कारतूस खरीदे गये। जिन्हें दिल्ली ले जाया जा रहा था, सतेन्द्र का मानना है कि इन दिनों में दिल्ली में नगर निगम चुनावों का महौल है जिसे संवेदनशील बनाने के लिये अवैध हथियार ले जाये जा रहे थे। पकडे गये आरोपियों में एक अमीर है जो कि सदर बाजार का रहने वाला है और दूसरा सविनय शर्मा है जो कि पहाडगंज दिल्ली का रहने वाला है। दौनों आरोपी अपना बिजनेस करते हैं, जिन्हें आर्म एक्ट के तहत कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जायेगा उसके बाद अन्य अवैध हथियार सप्लाई करने वाले गिरोह के बारे में जानकारी ली जायेगी।

आरोपियों ने बताया, दिल्ली में मंगाए गए थे हथियार

वहीं आरोपियों की माने तो उनका कहना है कि उनसे दिल्ली में किसी व्यक्ति ने हथियार मंगवाये थे इससे पहले उन्होंने कभी हथियारों की सप्लाई नहीं की है, उन्हें ये भी नहीं पता है कि दिल्ली में ये हथियार क्यों मंगवाये जा रहे थे.

09 April, 2017

CM खट्टर के इलाके में ठोंका गया खूंखार बदमाश, पुलिस पर दोनों हाथों से चला रहा था गोलियां

CM खट्टर के इलाके में ठोंका गया खूंखार बदमाश, पुलिस पर दोनों हाथों से चला रहा था गोलियां

surender-gyong-encounter-by-karnal-police-in-cm-khattar-constituency

करनाल, 9 अप्रैल: अगर किसी बदमाश की इतनी हिम्मत हो कि वह एक मुख्यमंत्री के इलाके में पुलिस पर दोनों हाथों से गोलियां चालाये तो आप समझ सकते हैं कि वह कितना खतरनाक बदमाश हो सकता है, कल मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के विधानसभा क्षेत्र करनाल में ऐसा ही हुआ, खूंखार इनामी बदमाश को करनाल पुलिस ने एनकाउंटर में ठोंक दिया, इस मुठभेड़ में सुरेंदर ग्योंग पुलिस पर दोनों हाथों से गोलियां चला रहा था, फिल्म इंडियन का सनी देओल बनने की कोशिश कर रहा था लेकिन पुलिस ने उसे ठोंककर उसकी कहानी ख़त्म कर दी.

4 राज्यों की पुलिस कर रही थी तलाश, हजारों का इनाम

सुरेंदर ग्योंग को मौत का दूसरा नाम कहा जाता था, उसने कैथल में ग्योंग गैंग बना रखी थी,  सुरेन्द्र ग्योंग पर हत्या, फिरौती, लुटपाट और अपहरण जैसी संदिग्ध धाराओं के तहत कुल 37 मामले दर्ज थे, जिनमें से 26 मामले जिला कैथल, 4 मामले कुरूक्षेत्र, 2 जींद, 1 करनाल, 1 हिसार, 1 नई दिल्ली, 1 पंजाब और 1 साहरनपुर यु.पी. में दर्ज थे। आरोपी हरियाणा पुलिस की मोस्ट वांटेड अपराधीयों की श्रेणी में शामिल था, जिसके सिर पर 50,000 रूपये का ईनाम भी था।

आरोपी ने कैथल में हत्या की वारदात को अंजाम दिया था जिस सम्बन्ध में आरोपी को कोर्ट द्वारा सजा के तौर पर जेल में बंद किया गया था। इसके बाद अदालत द्वारा आरोपी को मकान की रिपेयर करवाने के लिए 21 दिन की पैरोल दी गई थी, लेकिन वह तो चकमा देकर भाग निकला और दुबारा अदालत के सामने कभी पेश ही नहीं हुआ, इसके बाद उसे अदालत द्वारा भगोड़ा घोषित कर दिया गया था।

सुरेंदर ग्योंग के एनकाउंटर की कहानी

कल दिनांक 8 अप्रैल 2017 को करनाल पुलिस की सबसे काबिल टीम कहे जाने वाली क्राइम युनिट CIA-1 के इन्चार्ज उप-निरीक्षक बिजेन्द्र सिंह को दोपहर के समय गुप्त तरीके से सुचना प्राप्त हुई कि कैथल का कुख्यात बदमाष एवं गैंगस्टर सुरेन्द्र ग्योंग को थाना असंध क्षेत्र में देखा गया है। सूचना पाकर उप-निरीक्षक बिजेन्द्र सिंह ने तुरंत अपनी टीम के साथ थाना असंध के कैथल जिला की सीमा से लगते क्षेत्र में खुफीया तरीके से प्रबंधक थाना असंध व उसकी टीम के साथ सर्च अभियान किया और तभी इन्होंने एक सफेद रंग की होण्डा सिटी कार को आते हुए देखा तो पुलिस टीम ने पंघाला मोड़ पर उसे रुकने का इशारा किया, लेकिन आरोपी ने पुलिसकर्मीयों को देखते ही उन पर फायर करना शुरू कर दिया व अपनी गाड़ी को दौड़ाते हुए वहां से गांव राहड़ा की ओर निकल गया। उप-निरीक्षक बिजेन्द्र सिंह ने पहले से ही अपनी तैयारी कर रखी थी, उन्होंने तुरंत अपनी गाड़ी निकालकर आरोपी का पीछा करना शुरू किया। 

आरोपी तेज रफतार से अपनी गाड़ी को चलाते हुए गांव राहड़ा में घुस गया, इसके बाद CIA की टीम से उसे चारो तरफ से घेर लिया। आरोपी को जब कोई बच निकलने का रास्ता नजर नहीं आया तो उसने पुलिस टीम पर दोनों हाथों से अंधाधुध फायरिंग शुरू कर दी, जिस पर उप-निरीक्षक बिजेन्द्र सिंह और उनकी टीम से अपने बचाव के लिए उसपर ताबड़तोड़ फायरिंग कर दी, पुलिस की फायरिंग में खूंखार बदमाश की मौके पर ही मौत हो गयी.

मारे गए खूंखार बदमाश के पास से पुलिस को दो पिस्टल, एक हौंडा सिटी गाडी, 12 राउंड एक पिस्टल से और 5 राउंड दूसरी पिस्टल से गोलियां चलाई गयी थी, उसकी जेब से 38 राउंड गोलियां मिलीं, इसके अलावा उसके पास से पुलिस की वर्दी, बेल्ट और आइडेंटिटी कार्ड भी बारामद हुआ.

बदमाश का एनकाउंटर करने वाली CIA की टीम में उप-निरीक्षक बिजेन्द्र सिंह, ए.एस.आई. रोहताष सिंह, ए.एस.आई. सुल्तान सिंह, ए.एस.आई. रणबीर सिंह, ए.एस.आई. राजकुमार, ए.एस.आई. चंदेश्वर, मुख्य सिपाही सुरेष, मुख्य सिपाही राकेश, सिपाही अंकित, सिपाही तिलकराज और ड्राइवर बलजीत सिंह शामिल रहे.

04 April, 2017

योगी का काम देखकर हरियाण वालों को होता है गर्व, लेकिन खट्टर का काम देखकर आती है शर्म: पढ़ें क्यों

योगी का काम देखकर हरियाण वालों को होता है गर्व, लेकिन खट्टर का काम देखकर आती है शर्म: पढ़ें क्यों

haryana-proud-on-yogi-adityanath-but-shame-on-manohar-lal-khattar

फरीदाबाद 4 अप्रैल: एक तरह हरियाणा है और दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश, हरियाणा और उत्तर प्रदेश दोनों जगह बीजेपी की बहुमत की सरकार है, हरियाणा में बीजेपी की सरकार बने ढाई साल हो रहे हैं, मनोहर लाल खट्टर यहाँ के मुख्यमंत्री हैं लेकिन उनका काम देखकर हरियाणा वालों को शर्म आ रही है जबकि योगी आदित्यनाथ को मुख्यमंत्री बनें केवल 13 दिन हुए हैं और उनका काम देखकर हरियाणा वालों को शर्म आ रही है, पिछले कई दिनों से लोग मोदी के सामने मांग उठा रहे हैं कि हरियाणा में भी योगी जैसे नेता को मुख्यमंत्री बनाया जाय। 

हरियाणा वाले लोग प्राइवेट स्कूल मालिकों की लूट से परेशान हैं, हर चीज में प्राइवेट स्कूल मालिक लूट रहे हैं, खट्टर ना तो सरकारी स्कूलों की स्थिति में सुधार ला पा रहे हैं और ना ही प्राइवेट स्कूल मालिकों की मनमानी को रोक पा रहे हैं, जब तक सरकारी स्कूलों की हालत में सुधार नहीं होगा तबतक प्राइवेट स्कूलों की लूट जारी रहेगी क्योंकि उन्हें पता है कि सरकारी स्कूलों के कबाड़े में कौन पढने जाएगा, मजबूर होकर पढने के लिए लोग हमारे ही यहाँ आएँगे इसलिए इन्हें जमकर लूटो। 

जब अभिभावक प्राइवेट स्कूलों की लूट से तंग आकर खट्टर के पास गए तो उन्होने कहा कि आप स्कूल मालिकों और शिक्षा माफियाओं से समझौता कर लो, यही नहीं, हरियाणा अभिभावक एकता मंच गुरुग्राम में शांतिपूर्वक प्रदर्शन कर रहा था तो खट्टर सरकार ने उनपर लाठीचार्ज करवा दिया। 

खट्टर का यह बयान बहुत ही शर्मनाक था और निर्दोषों पर लाठीचार्ज करवा उससे भी शर्मनाक था, हरियाणा के लोगों ने बहुत उम्मीद से बीजेपी की सरकार बनाई थी लेकिन मुख्यमंत्री का बयान सुनकर लोगों ने शर्म से अपना सर झुका लिया और मोदी से फ़रियाद करने का मन बनाया है। 


खट्टर से बहुत अलग हैं योगी, उनका काम देखकर गर्व कर रहे हैं हरियाणा वाले

एक तरफ खट्टर हैं जिन्होंने आज तक प्राइवेट स्कूलों को कोई चेतावनी भी नहीं दी है वहीं दूसरी तरफ योगी आदित्यनाथ हैं जिन्होंने कल साफ़ साफ़ आदेश दे दिया कि प्राइवेट स्कूलों की मनमानी बर्दास्त नहीं की जाएगी, इसके अलावा योगी आदित्यनाथ ने अधिकारीयों को ऐसे आदेश दिए हैं जिन्हें अगर अमल में लाया जाएगा तो उत्तर प्रदेश की शिक्षा व्यवस्था में परिवर्तन आ जाएगा। पढ़ें क्या कहा योगी ने -
  • नकल करवाने वालों तथा ऐसे केंद्रों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. नकल पर हर हाल में रोक लगाई जाएगी. दागी केंद्रों को चिन्हित कर उन्हें ब्लैक लिस्ट करने के साथ-साथ उनके खिलाफ प्राथमिकी भी दर्ज कराई जाएगी.
  • सरकारी शिक्षकों द्वारा कोचिंग चलाने पर सख्त रवैया. ऐसे शिक्षकों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के निर्देश.
  • विद्यालयों में अधिकतम 200 दिन के अंदर कोर्स पूरा कराने के निर्देश.
  • विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्थिति की लगातार मॉनीटरिंग की जाएगी. सभी विद्यालयों में शिक्षकों तथा छात्रों की नियमित उपस्थिति बायोमीट्रिक्स के माध्यम से मॉनीटर की जाएगी. साथ ही विद्यालयों में नियमित पढ़ाई सुनिश्चित की जाएगी.
  • परीक्षाओं को 15 दिन में पूरा करके अगले 15 दिन के अंदर उनके परिणाम देने की संभावना तलाशने के भी निर्देश
  • उन्होंने उच्च शिक्षा तथा माध्यमिक शिक्षा के तहत अगले 100 दिन के अंदर निर्धारित किए गए लक्ष्यों को हर हाल में पूरा करने के निर्देश
  • राज्य स्तर पर सभी विश्वविद्यालयों में एक समान पाठक्रम लागू करते हुए विश्वविद्यालयों, महाविद्यालयों के सत्रों को नियमित किया जाएगा. उच्च शिक्षण संस्थाओं में शिक्षकों की कमी को दूर करने के निर्देश.
  • निजी स्कूल कॉलेजों द्वारा फीस के संबंध में की जा रही मनमानी वसूली पर रोक लगाने के लिए एक नियमावली बनाने के निर्देश
  • बालिकाओं को आत्मरक्षा के लिए समर्थ बनाने के मकसद से रानी लक्ष्मीबाई आत्मरक्षा कार्यक्रम तथा योग शिक्षा कार्यक्रम को अनिवार्य बनाने के निर्देश.
  • आईटीआई संस्थानों में पुराने ट्रेंडों जैसे-रेडियो मैकेनिक आदि को समाप्त करके आधुनिक जरूरतों के अनुरूप नए ट्रेड शुरू करने के निर्देश
  • बंदी के स्थिति में पहुंचे निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों के संसाधनों का इस्तेमाल व्यावसायिक गतिविधि में करने से रोकने तथा ऐसे निजी इंजीनियरिंग कॉलेजों को अन्य शैक्षिक संस्थाओं यथा डिप्लोमा, फार्मा, नर्सिंग आदि के कोर्स चलाने के लिए संभावनाएं तलाशने के निर्देश.
लोगों को क्यों आती है खट्टर पर शर्म

खट्टर को मुख्यमंत्री बने ढाई साल हो गए हैं, पहले भी आम लोग सरकारी स्कूलों में नहीं जाना चाहते थे और आज भी कोई अपने बच्चों को सरकारी स्कूलों में नहीं पढ़ाना चाहता सिर्फ अति गरीबों के सिवा, मतलब खट्टर ने अपने ढाई साल के कार्यकाल में ना तो सरकारी स्कूलों की स्थिति सुधारी और ना ही प्राइवेट स्कूलों की मनमानी रोक पायी, इसके अलावा लूट रोकने की मांग करने वालों को पुलिस से पिटवा देते हैं, उन्हें दौड़ा दौड़ा कर मरवाते हैं, खट्टर के यही कारनामें देखकर लोगों को शर्म आ रही है.
शर्मनाक खबर! 4000 रुपये उधार के बदले बदमाश ने पति की गैरमौजूदगी में लूटी महिला की इज्जत

शर्मनाक खबर! 4000 रुपये उधार के बदले बदमाश ने पति की गैरमौजूदगी में लूटी महिला की इज्जत

faridabad-latest-news-in-hindi


Faridabad 04 April: फरीदाबाद से एक हैरान कर देने वाली खबर आयी है, खबर के अनुसार के पुरुष ने एक महिला की सिर्फ इसलिए इज्जत लूट ली क्योंकि उस महिला ने उस पुरुष से 4000 रुपये उधार लिए थे, पैसा उधार देने का बाद 4 दिन बाद पुरुष महिला के पति की गैरमौजूदगी में उसके घर पहुंचा और कहा - मेरे 4000 रुपये अभी दे वरना मेरे साथ सेक्स कर, इसके बाद उस पुरुष ने महिला के साथ जबस्जस्ती सेक्स किया। 

25 वर्ष की महिला ने पुलिस में शिकायत की जिसके अनुसार, वह पवन शर्मा को करीब डेढ़ महीने से जानती थी, एक दिन उसनें पवन शर्मा से 4000 रुपये उधार मांग लिए, पवन ने भी उसे उधार दे दिया। पवन शर्मा फरीदाबाद की पर्वतिया कालोनी का निवासी है महिला भी पास में रहती है। 

महिला ने आगे बताया - उधार देने के 4 दिन बाद पवन शर्मा उसके पति की गैर-मौजूदगी में उसके घर पर आ धमका और उसके साथ गलत हरकतें करने लगा, पवन शर्मा ने कहा कि तुमने मेरे से 4000 रुपये लिए हैं, अब मेरे साथ सेक्स करो वरना तेरा बच्चा उठा ले जाऊँगा, इसके अलावा उसनें महिला को गली में बदनाम करने की भी धमकी दी। उसके बाद पवन शर्मा ने महिला के साथ जबरजस्ती सेक्स किया, उसके बाद 2 अप्रैल को भी उसके साथ सेक्स किया। 

महिला ने आरोपी के खिलाफ कानूनी कार्यवाही करने की मांग की है जिसके बाद सेक्टर 16 थाने की पुलिस ने FIR (No 53/17 धारा 376,452,506 IPC) दर्ज कर ली और आरोपी पवन शर्मा की तलाश शुरू कर दी है।
तमंचा लेकर आये थे बैंक लूटने, लोगों ने गिराकर मारा, लात-घूंसों से पटक पटक का मारा: देखें VIDEO

तमंचा लेकर आये थे बैंक लूटने, लोगों ने गिराकर मारा, लात-घूंसों से पटक पटक का मारा: देखें VIDEO

haryana-gurugram-bank-robbery

चंडीगढ़ 4 अप्रैल: हरियाणा की साइबर सिटी गुरुग्राम में दो युवकों को बैंक लूटना मंहगा पड़ गया क्योंकि दोनों युवकों को स्थानीय लोगों ने जमकर पीटा, दोनों लोगों को पटक पटक कर पीटने के बाद पुलिस के हवाले कर दिया है।

दोनों युवक ग्राहक का भेष बनाकर बैंक में घुसे थे, पहले उन्होंने पर्ची भरने का दिखावा किया, उसके बाद दोनों ने बैग में हाथ डालकर तमंचे निकाले और बैंक स्टाफ पर टूट पड़े, उन्होंने पहले तो एक तो कर्मचारियों को पीटा और उसके बाद रुपये निकालने लगे।

खबर के अनुसार बैंक में दो महिलाएं भी काम करती थी, उन्होने हिम्मत दिखाकर दोनों चोरों को पकड़ने की कोशिश की, महिलाओं की बहादुरी देखकर बैंक के अन्य कर्मचारियों में भी जोश आ गया और उन्होंने चोरों को पकड़ लिया, इसके बाद महिलाओं ने बैंक के बाहर निकलकर गुहार लगाना शुरू कर दिया, इसके बाद स्थानीय लोग आ गए तो चोरों को पकड़कर खूब पीटा। इसके बाद पुलिस ने आकर दोनों चोरों को अपने कब्जे में ले लिया। CCTV कैमरे में यह पूरी वारदात रिकॉर्ड हो गयी। देखें वीडियो। 

03 April, 2017

अपनी सहेली और प्रेमी के साथ घर से भागी थी नाबालिक लड़की, दोनों के साथ रात भर हुआ गैंगरेप

अपनी सहेली और प्रेमी के साथ घर से भागी थी नाबालिक लड़की, दोनों के साथ रात भर हुआ गैंगरेप

gangrape-in-faridabad-with-two-minor-girls-police-register-fir

फरीदाबाद: घर से प्रेमी के साथ भागी नाबालिग लडक़ी और उसकी नाबलिग सहेली के साथ ग्रेटर फरीदाबाद के निर्माणाधीन इमारत में 7 युवकों ने गैंगरेप किया। घर से भागने वाली लडक़ी ने सहेली से कुछ दिनों तक छिपने को सुरक्षित जगह मांगी थी। जिसपर सहेली ने अपने जिस दोस्त के जरिए जगह ढूंढी, वहां युवक ने अपने 6 अन्य साथियों के साथ मिलकर दोनों लड़कियों के साथ रातभर गैंगरेप किया और गैंगरेप के बाद जान मारने की धमकी देकर दोंनो नाबालिग लडकियों को किसी को कुछ बताने के लिये मना कर दिया जिस पर भागाी हुई युवती अपने प्रेमी के साथ दिल्ली चली गई और सहेली अपने घर। 

इस मामले अधिक जानकारी देते हुए महिला थाना प्रभारी सुशीला ने बताया कि इस बीच भागी हुई युवती के पिता ने खेडी पुलिस चौकी में शिकायत दी जिसपर पुलिस ने पूछताछ के लिये उसकी सहेली को बुलाया तो पता लगा कि दोनों युवतियों के साथ गैंगरेप की घटना घटित हुई है, जिस पर महिला थाना पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ 366ए और 6 पोस्को एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया और आरोपियों की तलाश शुरू कर दी है जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जायेगा।

01 April, 2017

कांग्रेसियों को टिकट देकर BJP ने बना दिया विधायक, मंत्री, उन लोगों ने खट्टर को बना दिया मनमोहन

कांग्रेसियों को टिकट देकर BJP ने बना दिया विधायक, मंत्री, उन लोगों ने खट्टर को बना दिया मनमोहन

manohar-lal-khattar-become-manmohan-singh-of-haryana

नई दिल्ली, चंडीगढ़ 1 अप्रैल: मनमोहन सिंह 10 साल तक भारत के प्रधानमंत्री रहे और उनकी सरकार में खूब घोटाले हुए, मनमोहन सिंह भी घोटाले होते देखते रहे क्योंकि कांग्रेस की बहुमत की सरकार नहीं थी, अगर वे किसी को रोकने की कोशिश करते तो उनकी सहयोगी पार्टियाँ सरकार से समर्थन वापस ले लेतीं और मनमोहन सिंह की सरकार गिर जाती, तो मनमोहन सिंह अपनी कुर्सी बचाने के लिए ध्रितराष्ट्र बन गए और पाप होते देखते रहे लेकिन उन्होंने खुद से कोई भ्रष्टाचार नहीं किया, उनकी इमानदारी पर आज भी किसी को शक नहीं है और प्रधानमंत्री मोदी ने खुद राज्य सभा में कहा था की 'बाथरूम में रेनकोट पहनकर नहाना तो कोई डॉ मनमोहन सिंह से सीखे। 

मतलब कमी मनमोहन सिंह में नहीं थी बल्कि कमी कांग्रेसी नेताओं में थी, ठीक उसी तरह से आज हरियाणा में हो रहा है, यहाँ पर लगता तो ऐसे है कि बीजेपी की सरकार है लेकिन ऐसा है नहीं, यहाँ नाम की बीजेपी सरकार है और लूट कांग्रेस सरकार के जैसी ही हो रही है, कानून व्यवस्था का वैसा ही हाल है जो कांग्रेस के समय में था। 

बात दरअसल ये है कि चुनाव से पहले जब कांग्रेसी नेताओं ने मोदी लहर देखी तो बीजेपी की तरफ भगदड़ मच गयी, बीजेपी ने भी उन्हें हाथों हाथ लिया और उन्हें टिकट दे दिया, बीजेपी हमेशा बीजेपी नेताओं से अधिक कांग्रेस से भागकर आये नेताओं को इज्जत और मान सम्मान देती है और उसका उदाहरण आपने हाल ही में उत्तर प्रदेश में देखा होगा जब कांग्रेस से भागकर आयीं रीता बहुगुणा जोशी को मंत्री बना दिया गया। 

इसी प्रकार से कांग्रेस से भागकर आये राव इन्द्रजीत सिंह को सांसद बनाकर उन्हें केंद्र में मंत्री बना दिया गया लेकिन वो क्या काम करते हैं अगर किसी आम आदमी से पूछो तो नहीं बता पाएगा, इसी तरह से कांग्रेस से भागकर आये बीरेंद्र सिंह को केंद्र में कैबिनेट मंत्री बना दिया गया लेकिन अगर उनके भी काम के बारे में पूछा जाए तो कोई बता नहीं सकता, उनकी पत्नी को भी बीजेपी ने टिकट देकर विधायक बना दिया है। 

अब हम बता रहे हैं कि मोदी सरकार में मंत्री बने ये दोनों पूर्व कांग्रेसी नेता क्या काम कर रहे हैं, दरअसल इनका मन काम में कम लग रहा है, ये दोनों हरियाणा के मुख्यमंत्री बनना चाहते हैं। हुआ यह था कि बीजेपी ने कुछ कांग्रेसी नेताओं को टिकट देकर विधायक बना दिया, ये विधायक तो बीजेपी पार्टी से हैं लेकिन इनकी लूटने की आदत कांग्रेस सरकार जैसी ही है इसलिए इन्होने बीजेपी के भी कुछ लालची विधायकों को मिलाकर एक ग्रुप बना दिया है, करीब 20 विधायकों का ग्रुप खट्टर की कुर्सी हिला रहा है, ये ग्रुप चाहता है कि खट्टर उन्हें लूटने दें, जितना पैसा मांगे, खट्टर उतना पैसा दे दें जबकि खट्टर कह रहे हैं कि ना खाऊंगा और ना खाने दूंगा। 

अब आप खुद देखिये, हरियाण की खट्टर सरकार पिछले ढाई वर्षों में कुछ नहीं कर पाई, ना तो अवैध शराब पर रोक लग पाई, ना तो गौ तस्करी पर रोक लग पाई, ना नशे के कारोबार पर रोक लग पायी, ना कानून व्यवस्था दुरुस्त हो पाई, ना हत्याएं रुक पायीं, ना बलात्कार जैसी घटनाएं रुक पायीं, ना शिक्षा व्यवस्था में कोई सुधार आ पाया। 

वहीँ आप उत्तर प्रदेश और पंजाब में देख लीजिये, दोनों जगहों पर लग रहा है कि कोई सरकार है, कुछ एक्शन हो रहा है, पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह का भी एक्शन दिखाई दे रहा है और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का भी एक्शन दिखाई दे रहा है लेकिन हरियाण के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर मनमोहन सिंह बनकर अपनी कुर्सी थामकर बैठे हैं। पूर्व कांग्रेसी नेता उनकी कुर्सी हिला रहे हैं, और खट्टर अपनी कुर्सी बचाने के लिए लड़ रहे हैं। 

आपने सुना होगा कि खट्टर कई बार मीडिया के सामने फूट फूट कर रोये हैं, कुछ उनके करीबी भी विद्रोहियों से मिल गए हैं, सबको लूटने की आदत लगी हुई है लेकिन खट्टर किसी को खजाने पर हाथ नहीं मारने दे रहे हैं इसलिए राज्य में कोई एक्शन नहीं हो रहा है, खट्टर भी तेज तर्रार नेता माने जाते हैं लेकिन इस वक्त कुर्सी बचाने के लिए उन्हें मनमोहन सिंह बनने पर मजबूर होना पड़ा है। 

31 March, 2017

जिसका डर था वही हुआ, सत्ता के नशे में चढ़ गयी BJP नेताओं को चर्बी, पीटने लगे गरीबों को

जिसका डर था वही हुआ, सत्ता के नशे में चढ़ गयी BJP नेताओं को चर्बी, पीटने लगे गरीबों को

bjp-leader-binde-bhadana-beaten-poor-in-faridabad

फरीदाबाद 31 मार्च: आपने सुना होगा कि प्रधानमंत्री मोदी उत्तर प्रदेश चुनाव प्रचार में अपनी सभी रैलियों में कहते थे कि उत्तर प्रदेश के थाने समाजवादी पार्टी के गुंडों के कार्यालय बन गए हैं, गरीबों की फ़रियाद सुनने से पहले सपा के गुंडों को फोन किया जाता है और अगर समाजवादी पार्टी का नेता राजी होता है तभी FIR लिखी जाती है, मोदी की इस बात को लोगों ने माना और बीजेपी को वोट दिया।

पिछले ढाई वर्षों से हरियाणा में भी बीजेपी की सरकार है और ऐसा लगता है कि फरीदाबाद के बीजेपी नेताओं ने मोदी की बात को आइडिया के रूप में ले लिया और फरीदाबाद के पुलिस थानों को बीजेपी के गुंडों का कार्यालय बना दिया है, आज फरीदाबाद के सूरजकुंड के पास जैन डेरे की झुग्गियों में बिंदे भड़ाना नाम के बीजेपी नेता ने अपने साथ गुंडों की फ़ौज जाकर बस्ती में रहने वाले गरीबों को बुरी तरह से पिटवा दिया, कई लोगों के सर फूट गए।

इससे भी शर्मनाक है है कि लोगों के घरों में घुसकर उन्हें पीटा गया, महिलाओं के अलावा बुजुर्ग व्यक्तियों को भी पीटा गया। घटना की सूचन देने के काफी देर बाद पुलिस आयी लेकिन पुलिस पहले ही बिंदे भड़ाना के साथ मिली हुई थी इसलिए कोई कार्यवाही नहीं हुई, करीब दर्जन भर गरीबों ने पुलिस कमिश्नर से मिलकर अपनी शिकायत दर्ज करानी चाही लेकिन बिंदे भड़ाना के बीजेपी के बड़े नेताओं से सम्बन्ध हैं इसलिए पुलिस कमिश्नर ने भी गरीबों से मिलने से मना कर दिया।

पुलिस कमिश्नर दफ्तर पहुंचे घायलों ने डीसीपी NIT आस्था मोदी और एसीपी NIT से मुलाक़ात की, उन्होने घयकों को कहा कि आप सब बीके हास्पिटल जाकर मेडिकल करवाएं और वहां थाने का जांच अधिकारी आपके पास पहुँचकर मामला दर्ज करेगा। पुलिस वालों ने केवल आश्वासन देकर उन्हें भगा दिया, चाहिए ये था कि पहले उन्हें मामला दर्ज करना था उसके बाद उन्हें खुद घायलों का मेडिकल कराना चाहिए था लेकिन उन्होंने ऐसा नहीं किया।

इस मामले में घायलों का कहना है कि हमें पुलिस पर भरोसा नहीं है क्योंकि इन लोगों की ही मिलीभगत से बिंदे भडाना हमें परेशान करता है और हमें भगाकर हमारे घरों पर कब्ज़ा करना चाहता है, उन्होंने बताया कि बिंदे भडाना एक भू माफिया है और जमीनों पर कब्ज़ा करना उसका काम है, बीजेपी के बड़े नेताओं की शह पर वो ये काम करता है। 

29 March, 2017

पुलिस ने छापा मार किये 64 काले तेल के ड्रम बरामद

पुलिस ने छापा मार किये 64 काले तेल के ड्रम बरामद

फरीदाबाद 29 मार्च। फरीदाबाद सैक्टर 21 बी स्थित रामनगर में सैक्टर 7 थाना पुलिस टीम ने काले तेल का अवैध रूप से धंधा करने वाले दो युवकों को गिरफ्तार कर लिया है, पुलिस ने रंगे हाथों काले तेल कर सप्लाई करते हुए दोनों युवकों को गिरफ्तार किया और साथ ही 64 काले तेल के ड्रम भी बरामद कर लिये हैं, मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी कुलदीप ने बताया कि उन्होंने सूचना के आधार पर छापा मारा है और मामला आबकारी कराधान से जुडा हुआ होने से चलते विभाग को सूचित कर दिया गया है। 
हरियाणा से उठी आवाज, UP वालों YOGI को सिर्फ 1 हफ्ते के लिए दे दो, खट्टर को 1 साल के लिए ले जाओ

हरियाणा से उठी आवाज, UP वालों YOGI को सिर्फ 1 हफ्ते के लिए दे दो, खट्टर को 1 साल के लिए ले जाओ

yogi-adityanath-in-action-haryana-upset-from-manohar-lal-khattar
फरीदाबाद, 29 मार्च: उत्तर प्रदेश में योगी को मुख्यमंत्री बने सिर्फ 8 दिन ही हुए हैं लेकिन उन्होंने पूरी सरकार, प्रशासन, पुलिस और अपराधियों को हिलाकर रख दिया है, ऐसा लग रहा है कि उत्तर प्रदेश में फिल्म नायक की शूटिंग चल रही है वही हरियाणा में बीजेपी की सरकार बने ढाई साल हो रहे हैं, यहाँ पर भी बीजेपी की बहुमत की सरकार है लेकिन यहाँ पर टेस्ट मैच चल रहा है, यहाँ पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का कोई एक्शन नहीं दिख रहा है, ना तो पुलिस उनके कंट्रोल में है, ना प्रशासन उनके कंट्रोल में है, ना अफसर सरकार की सुनते हैं और ना सरकार अफसरों की सुनती है, यहाँ पर किसी भी हालत में लगती ही नहीं कि बीजेपी की सरकार है। 

योगी का एक्शन देखकर हरियाणा वाले खुश हैं इसलिए अब लोग खट्टर के खिलाफ आवाज उठाने लगे हैं, यहाँ पर बीजेपी समर्थकों ने बीजेपी की सरकार बनाने के लिए जी जान लगा दी थी, बहुत मेहनत के बाद पहली बार यहाँ पर बीजेपी सरकार बनी है लेकिन जिस प्रकार से खट्टर गाय तरह शांत बैठे हैं और ध्रितराष्ट्र की तरह आँखें बंद करके भ्रष्टाचार का तमाशा रहे हैं, लोग निराश हैं, फरीदाबाद हरियाण की औद्योगिक राजधानी माना जाता है लेकिन यहाँ पर बीजेपी विधायक ही भ्रष्टाचार में लिप्त हैं, अवैध कब्जे कर रहे हैं, अपनी संपत्तियां खड़ी कर रहे हैं और उनको देखकर बदमाशों और भ्रष्टाचारी अफसरों के भी हौसले बुलंद हैं क्योंकि जब राजा ही चोर है तो अफसरों की तो मौज ही होगी क्योंकि ऐसे माहौल में ना राजा अफसरों को चोरी करने से रोक सकता है और ना अफसर राजा को कुछ कह सकते हैं, मतलब राजा और अफसर दोनों चोर हैं तो शहर की तो वाट लगनी तय है। 

यही सब देखते हुए हरियाणा से अब आवाज उठने लगी है, लोग UP वालों से कह रहे हैं कि YOGI को सिर्फ एक हप्ते एक लिए हमें दे तो, बदले में खट्टर को एक साल के लिए रख लो। 

जानकारी के लिए बता दें कि उत्तर प्रदेश हरियाणा से करीब पांच 10 गुना बड़ा राज्य है, हरियाणा के लोग सोच रहे हैं कि जब योगी इतने बड़े राज्य को 1 हप्ते में ठीक कर सकते हैं तो हरियाणा को 1 एक हप्ते में पूरा ठीक कर सकते हैं, खट्टर के बस की बात नहीं है हरियाणा को संभालना। ये तो गाय हैं, भ्रष्टाचार होते अपनी आँखों से देखते रहते हैं, ये आज तक रोबर्ट वाड्रा की फाइल नहीं खोल पाए।

खट्टर को मुख्यमंत्री बने ढाई साल हो गए हैं लेकिन उनकी सरकार ने स्कूली शिक्षा और प्रशासन को सुधारने के लिए कोई काम नहीं किया, फरीदाबाद से इमानदार और दबंग पुलिस अफसरों का बीजेपी नेताओं ने ही ट्रांसफर करवा दिया क्योंकि ये अफसर उनकी लूट में बाधा बन रहे थे।

कुछ लोग कहते हैं कि बीजेपी सरकारें स्कूली शिक्षा में सुधार करती हैं लेकिन खट्टर सरकार इस मामले में पूरी तरह से फेल हुई है, इनकी सरकार ने स्कूली शिक्षा को सुधारने और आधुनिक व्यवस्था खड़ी करने के लिए कुछ नहीं किया, और हो सकता है कि अगले तीन साल भी कुछ ना कर पाएं, अगले चुनाव में बीजेपी की हार होनी तय है इसलिए लोग खट्टर को बदलने की मांग कर रहे हैं और किसी तेज तर्रार देना को मुख्यमंत्री बनाने की मांग कर रहे हैं। 

27 March, 2017

सुशासन नहीं कुशासन दे रही है खट्टर सरकार, अरबों रुपये के ESI अस्पताल में गरीब परेशान: VIDEO

सुशासन नहीं कुशासन दे रही है खट्टर सरकार, अरबों रुपये के ESI अस्पताल में गरीब परेशान: VIDEO

khattar-fail-in-esi-hospital-and-medical-collage-faridabad-hindi-news
फरीदाबाद, 27 मार्च: अगर किसी को लगता है कि सभी बीजेपी सरकारें सुशासन देती हैं, बढ़िया प्रशासन देती हैं तो हरियाणा के मामले में यह विल्कुल गलत साबित होता है क्योंकि हरियाणा में बीजेपी की सरकार बने ढाई दाल हो रहे हैं लेकिन अभी तक ना तो व्यवस्थाओं में सुधार नजर आता है और ना ही सुधार आने की संभावना नजर आती है, कांग्रेस की तरह बीजेपी नेता भी सत्ता के मजे ले रहे हैं, सरकार हर मामले में फेल नजर आती है। 

खट्टर के कुशासन का हम एक सबूत देने जा रहे हैं, फरीदाबाद में अरबों रुपये में भव्य ESI अस्पताल बना है, इस अस्पताल को पूर्व कांग्रेस सरकार ने बनवाया था, उद्घाटन भी पूर्व कांग्रेस सरकार करके गयी थी लेकिन ढाई साल बाद भी खट्टर सरकार इस अस्पताल में सभी सुविधाएं देने में नाकाम रही है। 

यह अस्पताल अब तक का सबसे बड़ा ESI अस्पताल माना जा रहा है, अगर खट्टर चाहते तो सुविधाएं लाकर मजदूरों को खुश कर सकते थे लेकिन वे ऐसा कुछ नहीं कर पाए, अगर सुविधाओं के मामले में देखा जाए तो इसे केवल खँडहर कहा जाएगा। 

फरीदाबाद का ESI अस्पताल कहने को तो मेडिकल कॉलेज है लेकिन यहाँ ना तो पढ़ाई होती है, ना ही अच्छे डॉक्टर हैं, ना अच्छा इलाज हो पा रहा है और ना ही अच्छी दवाइयाँ दी जाती हैं, डॉक्टर जो दवाइयां लिखते हैं वे अस्पताल की डिस्पेंसरी में होती ही नहीं, यहाँ तक की Paracetamal और Combiflam जैसी कॉमन दवाइयाँ यहाँ पर नहीं होतीं और इन दवाइयों के लिए मरीजों को वापस डिस्पेंसरी में भेज दिया जाता है, कई दवाइयाँ डिस्पेंसरी में भी नहीं मिलती तो मरीजों को मेडिकल स्टोर से वे दवाइयाँ लेनी पड़ती हैं, बिल बनवाना पड़ता है, अपनी कंपनी में बिल पास कराना पड़ता है और उसके बाद वापस ESI की डिस्पेंसरी में बिल दिखाकर मेडिकल स्टोर पर खरीदी गयी दवा के पैसे लिए जाते हैं।

कुल मिलकर कहें तो ESI वाले मरीजों को इतना परेशान कर लेते हैं कि कई मरीज ESI कार्ड होते हुए भी डिस्पेंसरी और अस्पतालों में जाने से डरते हैं और अपने घर के पास प्राइवेट डॉक्टरों  से दवा लेकर काम चला लेते हैं, लोग सोचते हैं कहाँ जाएं यार, वहां पर 100-200 रुपये किराए में खर्च हो जाएंगे, दौड़ भाग अलग करनी पड़ेगी, समय अलग खर्च होगा, इससे बढ़िया है प्राइवेट डॉक्टरों से इलाज करा लो, समय भी बचेगा और भागदौड़ भी नहीं करनी पड़ेगी। आप यह VIDEO देखिये, पता चल जाएगा कि ESI अस्पताल मरीजों को दवा के लिए कितना परेशान करते हैं और मजदूर मरीज ESI अस्पतालों, प्रशासन और सरकार के बारे में क्या राय रखते हैं। अगर यह VIDEO हरियाणा की खट्टर-बीजेपी सरकार देखेगी तो शर्म से डूब मरेगी। 

शर्म से डूब मरो खट्टर साहब, गरीब मजदूरों को लुटवा रहे हो आप, गालियाँ दिलवा रहे हो MODI को

शर्म से डूब मरो खट्टर साहब, गरीब मजदूरों को लुटवा रहे हो आप, गालियाँ दिलवा रहे हो MODI को

esi-hospital-medical-collage-faridabad-looting-poor-in-parking-charge
फरीदाबाद, 27 मार्च: हरियाणा में 2009 विधानसभा चुनाव में बीजेपी को केवल 4 सीटें मिली थीं लेकिन 2014 चुनाव में मोदी के नाम पर हरियाणा एक लोगों ने वोट दिया और दो तिहाई बहुमत से बीजेपी की सरकार बन गयी, मनोहर लाल खट्टर को इमानदार बताकर उन्हें मुख्यमंत्री बना दिया गया लेकिन मनोहर लाल खट्टर विल्कुल कांग्रेस पार्टी के पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह जैसे ही इमानदार हैं और भ्रष्टाचार और घोटालों पर वैसे ही आँख मूँद कर बैठे हैं जिस तरह से मनमोहन सिंह ने घोटालों पर अपनी आँखें मूँद ली थीं, खट्टर की वजह से हरियाणा में जगह जगह कारनामे हो रहे हैं और गालियाँ मोदी को पड़ रही हैं क्योंकि राज्य के लोगों ने मोदी के नाम पर वोट दिया था। 

आपको बता दें कि फरीदाबाद में ESIC (Employee's State Insurance Corporation) ने बहुत बड़ा अस्पताल बनवाया है, यह अस्पताल दो साल पहले ही बनकर तैयार हो गया था लेकिन अब तक सभी सुविधाएं यहाँ पर नहीं उपलब्ध कराई गयी हैं, दवाइयों के लिए मजदूरों को छोटी डिस्पेंसरी में भेजा जाता है और अगर वहां भी दवाइयाँ नहीं मिलतीं तो उन्हें मेडिकल स्टोर पर भेजा जाता है और वहां से बिल लाकर ESI में जमा कराने के लिए कहा जाता है, मतलब मजदूरों की परेड करा लेते हैं ESI वाले। 

इस अस्पताल में सुविधाएं तो नहीं है लेकिन बीजेपी सरकार ने गरीब मजदूरों को पार्किंग के नाम पर लूटना शुरू कर दिया है, आपको बता दें कि ESI अस्पताल मजदूरों के पैसे से बनते हैं, सरकार एक भी पैसे नहीं लगाती, हर महीने मजदूरों की सैलरी से 400-500 रुपये काट लिए जाते हैं, इन्हीं पैसों से डॉक्टर, नर्सिंग स्टाफ और सरकार को और अन्य कर्मचारियों को सैलरी भी मिलती है लेकिन यह बहुत ही शर्म का विषय है कि हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार गरीब मजदूरों से पार्किंग चार्ज भी लेने लगी है, इससे भी शर्मनाक बात यह है कि साइकिल वाले मजदूरों से भी पार्किंग चार्ज लिया जा रहा है, जैसे ही मजदूरों से पार्किंग चार्ज लिया जाता है उन्हें बहुत दुःख होता है, सरकार से निराश होते हैं और गालियाँ मोदी को देते हैं क्योंकि अस्पताल में हर जगह मोदी की फोटो लगाईं गयी है। देखें VIDEO. मजदूर क्या कह रहा है पार्किंग चार्ज के बारे में। 

कहते हैं कि बीजेपी सरकार आने के बाद रामराज्य आता है लेकिन हरियाणा में तो लूट हो रही है, ESI में केवल मजदूरों का ही इलाज होता है, उनकी सैलरी से पहले ही पैसे काट लिए जाते हैं, मजदूरों के ही अस्पताल में ही मजदूरों से पार्किंग वसूला जा रहा है, यह हरियाणा की मनोहर लाल खट्टर सरकार के लिए शर्म का विषय है, इन्हें चुल्ल्लू भर पानी में डूब मरना चाहिए। 

यहाँ पर कार के लिए पार्किंग चार्ज 40 रुपये है, मोटरसाइकिल के लिए पार्किंग चार्ज 10 रुपये और साइकिल के लिए पार्किंग चार्ज 5 रुपये है, पार्किंग का ठेकेदार देवेन्द्र डागर (पहलवान) है जो तहसील हथीन, जिला पलवल का निवासी है।
कैसे लूटते हैं खट्टर के ठेकेदार

यहाँ पर तीन महीने से पार्किंग चल रही है और अगले दो साल तक के लिए देवेंद्र पहलवान को ठेका दिया गया है, वैसे तो ESI अस्पताल में पार्किंग चार्ज नहीं वसूल जाना चाहिए क्योंकि यहाँ पर गरीब मजदूर इलाज कराते हैं और उनकी सैलरी से ही अस्पताल बनाया जाता है इसके बावजूद भी हरियाण की बीजेपी सरकार मजदूरों को लुटवा रही है और दो साल तक लुटवाएगी। किसी किसी मजदूर से तो एक ही दिन में कई बार पार्किंग चार्ज वसूल लिया जाता है क्योंकि उनको किसी काम के लिए साइकिल या मोटर साइकिल निकालनी होती है, दोबारा आने पर उनकी फिर से पर्ची काट दी जाती है, खट्टर ने उन्हें दो साल तक गरीब मजदूरों को लूटने का ठेका दे दिया है।

अगर ऐसे ही मजदूरों से पार्किंग चार्ज वसूल जाता रहा तो तीन साल में फिर से चुनाव होंगे, उसमें गरीब मजदूर बीजेपी को सबक सिखा देंगे और खट्टर को उखाड़ फेंकेंगे। 

26 March, 2017

वाह मंत्री साहब, गरीब का दर्द सुनते ही दौड़े आये मदद करने

वाह मंत्री साहब, गरीब का दर्द सुनते ही दौड़े आये मदद करने

good-work-of-krishan-pal-gurjar-help-poor-family-in-dabua-faridabad

फरीदाबाद, 26 मार्च: भारत सवा सौ करोड़ का देश है, प्रधानमंत्री मोदी चाहकर भी सबकी आर्थिक मदद नहीं कर सकते लेकिन जिन लोगों को मदद की अत्यधिक जरूरत होती है वह अपनी सैलरी से जरूर मदद करते हैं ठीक इसी तरह से फरीदाबाद भी 20 लाख की जनसँख्या वाला शहर है, यहाँ के सांसद और मोदी सरकार में मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर चाहकर भी सभी लोगों की मदद नहीं कर सकते लेकिन जिन लोगों को मदद की सख्त जरूरत होती है वे उनकी मदद जरूर करते हैं।

आज कृष्ण पाल गुर्जर ने संवेदनशीलता और दयाभाव का अनूठा उदाहरण पेश किया, जानकारी के लिए बता दें कि होली के दिन फरीदाबाद की डबुआ कॉलोनी में रहने वाले एक व्यक्ति की सड़क दुर्घटना में मौत हो गयी, यह व्यक्ति किराए के मकान में रहता था, दो बेटियां भी शादी की उम्र की हो रही हैं, दो छोटे बच्चे और हैं, घर में कमाने वाले कोई नहीं बचा है, जैसे ही इसकी सूचना मोदी सरकार में राज्य मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर को हुई, आज उन्होने मृतक व्यक्ति के घर पर पहुंचकर 50 हजार रुपये की आर्थिक मदद करने के साथ साथ दोनों बेटियों को नौकरी का भरोसा भी दिया। मंत्री कृष्ण पाल गुर्जर को यह खबर सोशल मीडिया के माध्यम से मिली थी। (देखें VIDEO)



सदमे में था मृतक का परिवार, मंत्री की मदद से ख़ुश


आप को बता दें कि होली के दिन फरीदाबाद की डबुआ कालोनी में एक किराए के मकान में रहने वाले रोशन लाल की  सड़क दुर्घटना में मौत  हो गई। रोशन लाल के चार बच्चे हैं जिनमे दो बेटियां और दो बेटे हैं ये चारों बच्चे अभी पढ़ाई कर रहे हैं। अचानक सर से पिता का साया उठने के बाद पत्नी और बच्चों का रो-रोकर बुरा हाल था। इन बच्चों की हालात देख सोशल मीडिया के व्हाट्सएप के हरियाणा अब तक ग्रुप में इस दुर्घटना और परिवार की हालत के बारे में बताया गया। इसकी सूचना मिलते ही केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर मदद का आश्वासन दिया। 

आज शाम पांच बजे केंद्रीय राज्य मंत्री गुर्जर डबुआ कालोनी के उस घर पर पहुंचे, उन्होने अपनी तरफ से व्यकतिगत पचास हजार रूपये की मदद की और वादा किया कि मृतक की एक बेटी की नौकरी लगवाने का प्रयास करेंगे ताकि परिवार का गुजारा होता रहे। पीड़ित परिवार मोदी के मंत्री गुर्जर की दिल से तारीफ़ कर रहा है यहां तक की मृतक की एक बेटी का कहना है केंद्रीय मंत्री गुर्जर खुद मेरे घर आये और आर्थिक मदद की और मैं या  मेरा परिवार इन्हें कभी नहीं भूल पाएंगे। 

मृतक के एक भाई जो सूचना के बाद बिहार आये मोदी के मंत्री के  घर से जाने के बाद उनकी आँखें छलक पड़ीं और कहा कि नेता हो तो फरीदाबाद के सांसद एवं मोदी के मंत्री कृष्णपाल गुर्जर जैसा हो जो गरीबों का ख़याल रखता है। इस मौके पर भाजपा जिला अध्यक्ष गोपाल शर्मा, भाजपा नेता नीरा तोमर, वरिष्ठ भाजपा नेता सतीश फागना, पार्षद पति कविंदर फागना, भाजपा नेता साहिल नम्बरदार, अवतार सिंह, भगवान् सिंह, सुरेश पाठक आदि मौजूद थे।