Showing posts with label Gujarat. Show all posts
Showing posts with label Gujarat. Show all posts

Wednesday, January 11, 2017

गुजरात में 49,000 करोड़ रुपये निवेश करेगा अडानी समूह

गुजरात में 49,000 करोड़ रुपये निवेश करेगा अडानी समूह

gujarat-hindi-news-adani-group-will-invest-rs-49000-crore

गांधीनगर, 11 जनवरी: अडानी समूह के चेयरमैन गौतम अडानी ने मंगलवार को कहा कि उनकी कंपनी गुजरात में 49,000 करोड़ रुपये निवेश करने का फैसला किया है। अगले पांच वर्षो के दौरान बंदरगाह के प्रसार से लेकर अक्षय ऊर्जा तक विभिन्न क्षेत्रों में अडानी समूह यह निवेश करेगा।

यहां हर वर्ष होने वाले वाइब्रैंट गुजरात ग्लोबल समिटि में अडानी ने कहा, "गुजरात में स्थित अपने सभी बंदरगाहों-मुंद्रा, हजीरा, दाहेज और टूना- के प्रसार में हम 16,700 करोड़ रुपये का निवेश करेंगे। 2021 में सौर ऊर्जा और पवन ऊर्जा के क्षेत्र में हमारा निवेश बढ़कर 23,000 करोड़ रुपये का हो जाएगा।"

अडानी ने कहा कि अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में देश को वैश्विक स्तर पर शीर्ष पर पहुंचाने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के विजन के तहत अडानी समूह ने गुजरात में 1,648 मेगावाट के संयंत्र स्थापित किए हैं।

वाइब्रैंड गुजरात समारोह में मंगलवार को रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा कि देश में नकदी रहित अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देने के लिए कारोबारियों और दुकानदारों को जियो नेटवर्क से जोड़ने की योजना है।

मुकेश अंबानी ने कहा, "आने वाले वर्षो में जियो नेटवर्क के तहत लाखों की संख्या में कारोबारियों और दुकानदारों को जोड़ा जाएगा, जो प्रधानमंत्री के नकदी रहित अर्थव्यवस्था के विजन में मददगार साबित होगा।"

उन्होंने यह भी कहा कि गुजरात देश का पहला राज्य है, जहां जियो ग्राहकों की संख्या 50 लाख को पार कर चुकी है।

Tuesday, January 10, 2017

मोदी गुजरात में अपनी माँ से मिले तो केजरीवाल बोले ‘माँ को अपने पास ही क्यों नहीं रख लेते’

मोदी गुजरात में अपनी माँ से मिले तो केजरीवाल बोले ‘माँ को अपने पास ही क्यों नहीं रख लेते’

modi-meet-his-mother-heeraben-in-gujarat-kejriwal-criticize

गांधीनगर, 10 जनवरी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नियमित रूप से योगाभ्यास करते हैं। लेकिन मंगलवार को उन्होंने अपनी मां हीराबेन से मिलने के लिए अपना यह नियम तोड़ दिया और उनसे मिलने पहुंच गए। मोदी फिलहाल 'वायबेंट्र गुजरात समिट' के लिए गुजरात में हैं।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल को मोदी का माँ ने मिलना अच्छा नहीं लगा, उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए उन पर राजनीतिक लाभ के लिए अपनी मां का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया। केजरीवाल ने साथ ही प्रधानमंत्री से अपनी मां को अपने साथ प्रधानमंत्री आवास में रखने का आग्रह किया।

केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा, "मैं अपनी मां को अपने साथ रखता हूं। हर रोज उनका आशीर्वाद लेता हूं, लेकिन कभी पूरी दुनिया में इसका प्रचार नहीं करता। मैं राजनीतिक लाभ के लिए अपनी मां को लाइन में नहीं खड़ा करता।"

आम आदमी पार्टी नेता की टिप्पणियां मोदी के गांधीनगर जाकर अपनी मां से मिलने और उसके बारे में ट्वीट करने के बाद आई हैं।

मोदी ने ट्वीट किया था, "योग छोड़कर अपनी मां से मिलने गया। सूर्योदय से पहले उनके साथ नाश्ता किया। उनके साथ समय बिताकर अच्छा लगा।"

प्रधानमंत्री की 97 वर्षीय मां हीराबेन उनके भाई के साथ गांधीनगर में रहती हैं। मोदी के दो और भाई हैं इसलिए मोदी अपनी माँ को गुजरात में ही रखते हैं ताकि उनके भाइयों को माँ का साथ मिलता रहे, शायद इसीलिए मोदी अपनी माँ को दिल्ली नहीं लाते हैं, अगर मोदी अपनी माँ को दिल्ली लायेंगे तो उनके दो भाइयों को माँ से मिलने के लिए दिल्ली आना पड़ेगा और काफी पैसे भी खर्च करने पड़ेंगे। मोदी अपने पद का लाभ अपने परिवार के किसी भी सदस्य को देना नहीं चाहते और उनके भाई इतने अमीर नहीं हैं कि माँ ने मिलने के लिए दिल्ली के चक्कर काटते रहें, इसीलिए मोदी अपनी माँ को अपने भाइयों के पास रखते हैं और जब मौका मिलता है उनसे मिलने के लिए खुद गुजरात जाते हैं। 

लेकिन केजरीवाल तो मोदी पर हमला करने का मौका ढूंढते रहते हैं, उन्होंने मोदी के ट्वीट के जवाब में  कहा कि प्रधानमंत्री को अपनी मां को अपने साथ रखना चाहिए क्योंकि उनका घर 'काफी बड़ा है।'

केजरीवाल ने कहा, "हिंदू धर्म और संस्कृति के अनुसार, किसी भी व्यक्ति को अपनी मां और अपनी पत्नी को अपने साथ रखना चाहिए। प्रधानमंत्री का घर काफी बड़ा है। थोड़ा दिल भी बड़ा रखें।"

Monday, January 9, 2017

मोदी ने गुजरात में देश के पहले इंडिया इंटरनेशनल एक्सचेंज का उद्घाटन किया

मोदी ने गुजरात में देश के पहले इंडिया इंटरनेशनल एक्सचेंज का उद्घाटन किया

pm-modi-inaugurated-first-international-exchange-in-gujarat

गांधीनगर, 9 जनवरी: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को गुजरात इंटरनेशनल फाइनेंस टेक सिटी (गिफ्ट) के इंटरनेशनल फाइनेंशियल सर्विसेज सेंटर (आईएफएससी) में देश के पहले इंटरनेशनल एक्सचेंज 'इंडिया इंटरनेशनल एक्सचेंज' (आईएनएक्स) का उद्घाटन किया। इंडिया आईएनएक्स, बीएसई (बांबे स्टाक एक्सचेंज) लिमिटेड के पूर्ण स्वामित्व वाली आनुषंगी कंपनी है। यह विश्व के सबसे आधुनिक प्रौद्योगिकी प्लेटफॉर्म में से एक है और इसका टर्न अराउंड टाइम 4 माइक्रोसेकंड है। यह दिन में 22 घंटे खुला रहेगा, जिससे अंतरराष्ट्रीय निवेशक एवं प्रवासी भारतीय विश्व में कहीं से भी भारत में ट्रेड कर सकें। 

इस मौके पर प्रधानमंत्री ने कहा कि इंडिया इंटरनेशनल एक्सचेंज का उद्घाटन भारत के वित्तीय क्षेत्र के लिए बेहद महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि प्रतिभा और प्रौद्योगिकी के संयोजन के साथ भारतीय कंपनियां विश्व के तमाम वित्तीय केंद्रों से प्रतियोगिता कर सकती हैं।

इस एक्सचेंज के जरिए भारतीय एक्सचेंज के साथ-साथ दुबई, लंदन, सिंगापुर जैसे विश्व के अन्य एक्सचेंज को कम दर पर विविध उत्पादों और प्रौद्योगिकी सेवाओं को उपलब्ध कराया जाएगा।

इस अवसर पर बीएसई के चेयरमैन सुधाकर राव ने कहा, "वित्तीय सेवाओं की दुनिया में बीएसई प्रणेता रही है और इंडिया इंटरनेशनल एक्सचेंज की शुरूआत इसकी नवीनतम उपलब्धि है। हमें पूरा विश्वास है कि यह एक्सचेंज देश के बुनियादी ढांचे और विकास संबंधी जरूरतों के लिए पूंजी जुटाने में महत्वपूर्ण योगदान देगा। यह समानांतर रूप से विश्व में टेक्नोलॉजी के स्तर पर बेहद एडवांस्ड प्लेटफॉर्म पर कम लेनदेन शुल्क के साथ सीमा पार निवेश के अवसर उपलब्ध कराएगा।"

आईएफएससी-गिफ्ट सिटी में स्थित यह एक्सचेंज टैक्स ढांचे और नियामकीय ढांचे के लिहाज से प्रतिस्पर्धात्मक तौर पर फायदेमंद है। इसमें प्रतिभूति लेनदेन कर, कमोडिटी (जिंस) लेनदेन कर, लाभांश वितरण कर और लंबी अवधि में पूंजीगत लाभ पर कर छूट के साथ ही आयकर से छूट जैसे लाभ शामिल हैं।

करीब 250 ट्रेडिंग सदस्य, जिनमें कमोडिटी और विदेशी ब्रोकर शामिल हैं, ने इंडिया आईएनएक्स के संग काम करने में दिलचस्पी दिखाई है। एक्सचेंज को उम्मीद है कि सभी प्रकार के प्रतिभागी एक ऐसी पारस्थितिकी विकसित करेंगे, जो इसे वैश्विक स्तर पर अन्य वित्तीय केंद्रों के मुकाबले ज्यादा प्रतिस्पर्धी बनाएगी।

Monday, December 26, 2016

गुजरातियों ने दिखाया बड़ा दिल, कैश की किल्लत के बावजूद भी भजन गायिका पर नोटों की बारिश कर दी

गुजरातियों ने दिखाया बड़ा दिल, कैश की किल्लत के बावजूद भी भजन गायिका पर नोटों की बारिश कर दी

gujarat-news-rs-40-lakh-showered-on-gujarati-folk-singers

Navasari, 26 December: नवसारी से एक बड़ी खबर आयी है, गुजरातियों ने एक भजन गायिका पर नोटों की बारिश कर दी। भजन गायिका अपनी आवाज का जलवा बिखेरती रही और गुजरातियों ने उसके ऊपर कम से कम 40 लाख रुपये उड़ा दिए, भजन गाने वाले सभी लोगों को नोटों से नहला दिया गया। सभी नोट 10, 20, 50 और 100 के थे। 

ऐसा लगता है कि गुजरात में कैश की किल्लत नहीं है और वहां के बैंक आसानी से कैश दे रहे हैं, अगर वहां भी कैश की किल्लत होती तो इतने नोटों का जुगाड़ करना मुस्किल है, वैसे नोटबंदी के बाद बीजेपी शासित किसी भी राज्य की जनता को समस्या नहीं आयी और ना ही लम्बी लम्बी लाइनें दिखें, गैर बीजेपी शासित राज्यों में लोगों को समस्या हुई, हो सकता है कि वहां की सरकारों ने नोटबंदी का समर्थन ना किया हो और कानून व्यवस्था मेनटेन ना की हो। 

नवसारी में गुर्जर क्षत्रिय कडिया समाज के द्वारा कल रात में भजन का प्रोग्राम आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम में भजन गायिका फरीदा मीर और मायाबाई मीर को बुलाया गया था। दर्शकों ने उनके ऊपर 10 रुपये और 20 रुपये के नोटों की जमकर बारिश की। 

कार्यक्रम के आयोजकों ने कहा कि जितना भी रूपया इकठ्ठा हुआ है वह सामाजिक कार्यों में इस्तेमाल किया जाएगा। 

Saturday, December 24, 2016

मंगलम बिड़ला से मोदी को 25 करोड़ की रिश्वत के बारे में पूछा गया, पढ़ें उन्होंने क्या जवाब दिया?

मंगलम बिड़ला से मोदी को 25 करोड़ की रिश्वत के बारे में पूछा गया, पढ़ें उन्होंने क्या जवाब दिया?

mangalam-birla-said-no-comment-on-modi-25-crore-bribery-case

अहमदाबाद, 23 दिसम्बर: बिड़ला समूह के प्रमुख कुमार मंगलम बिड़ला ने उन आरोपों पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया, जिसमें कहा गया है कि उनके समूह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को 25 करोड़ रुपये की रिश्वत उस वक्त दी थी, जब वह गुजरात के मुख्यमंत्री थे। भारतीय प्रबंधन संस्थान,अहमदाबाद (आईआईएम-ए) में बिड़ला ने संवाददाताओं से कहा, "मुझे नहीं मालूम। मुझे इस बारे में नहीं पता और मैं इस बारे में बात नहीं करना चाहता।"

कुमार मंगलम बिड़ला आईआईएम-ए के चेयरमैन हैं।

इस बारे में उनसे बार-बार पूछे जाने पर उन्होंने कहा, "यह मामला अदालत में विचाराधीन है और मैं इस बारे में कुछ भी नहीं कहना चाहूंगा।"

राहुल गांधी ने बुधवार को उत्तरी गुजरात के मेहसाणा में एक रैली के दौरान आरोप लगाया था कि गुजरात का मुख्यमंत्री रहते हुए मोदी ने बिड़ला से 25 करोड़ रुपये लिए थे।

दो दशकों की समयावधि के बाद आईआईएम-ए पहुंचे बिड़ला परिसर में दो दिनों तक ठहरे। उन्होंने कहा कि वह कॉरपोरेट दुनिया तथा बिजनेस स्कूल के बीच सेतु का काम करेंगे।

उन्होंने कहा, "मेरा ध्यान इस पर होगा कि मैं कॉरपोरेट तथा आईआईएम-ए के बीच के संबंधों को किस प्रकार बढ़ावा दे सकता हूं।"

यह पूछे जाने पर कि आईआईएम-ए की रैंकिंग वैश्विक तौर पर किस प्रकार बढ़ेगी, बिड़ला ने कहा कि उनकी राय में संस्थान को प्रवासियों या विदेशी छात्रों के बजाय अधिक से अधिक भारतीय छात्रों को तैयार करना चाहिए।

आईआईएम की स्वायत्तता के मुद्दे पर बिड़ला ने कहा कि वह पूर्ण स्वायत्तता बरकरार रखने के पक्ष में हैं।

Friday, December 23, 2016

गुजरात में पार्टी में दारू परोसना मंहगा पड़ा, पुलिस ने चिरायु अमीन सहित 200 को हवालात में ठूंसा

गुजरात में पार्टी में दारू परोसना मंहगा पड़ा, पुलिस ने चिरायु अमीन सहित 200 को हवालात में ठूंसा

hindi-news-gujarat-police-detain-200-people-illegal-liquor-in-wedding

Vadodara, 23 December: गुजरात के वड़ोदरा में एक शादी की पार्टी में दारु परोसना मंहगा पड़ा है, पुलिस पुलिस ने छापा मारकर एक फार्महाउस से करीब 200 को गिरफ्तार किया है और सभी का सैंपल लेकर उन्हें हवालात में ठूंस दिया है, सभी लोगों को बसों में भरकर हवालात में लाया गया और उनका सैंपल लिया, कहा जा रहा है कि उस वक्त लगभग सभी लोगों ने दारु पी रखी थी। 

सबसे आश्चर्य की बात तो यह है कि इस पार्टी में पूर्व IPL कमिश्नर चिरायु अमीन भी शामिल थे, पुलिस ने 200 लोगों के साथ उन्हें भी गिरफ्तार किया। 

जानकारी के लिए बता दें कि गुजरात में शराब पर पूर्व रूप से प्रतिबन्ध है। यहाँ पर कुछ ही जगह पर शराब मिल सकती है। शादी पार्टियों में शराब पीने की इजाजत नहीं है और ना ही ठेकों पर शराब मिलती है, जब नरेन्द्र मोदी गुजरात के मुख्यमंत्री थे तभी से शराब पर प्रतिबन्ध लगा दिया गया था। 

Wednesday, December 21, 2016

केजरीवाल के रास्ते पर चले राहुल गाँधी, PM MODI पर लगा दिया 40 करोड़ की रिश्वत का आरोप

केजरीवाल के रास्ते पर चले राहुल गाँधी, PM MODI पर लगा दिया 40 करोड़ की रिश्वत का आरोप

rahul-gandhi-blame-modi-for-taking-rs-40-crore-bribery-gujarat-cm

मेहसाना (गुजरात), 21 दिसम्बर: कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी केजरीवाल के रास्ते पर चल पड़े हैं, आज उन्होंने केजरीवाल के ही आरोपों को दोहराते हुए प्रधानमंत्री मोदी पर भ्रष्टाचार और घूसखोरी का आरोप लगाया। 
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब उन्हें एक कॉरपोरेट घराने से रिश्वत के रूप में 40 करोड़ रुपये की रकम मिली थी। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने हालांकि आरोपों से इनकार किया है। राहुल ने मेहसाना में एक रैली के दौरान कहा, "आपने संसद में मुझे बोलने की अनुमति नहीं दी। आप संसद में हमारे सामने खड़े होने को तैयार नहीं थे। मालूम नहीं, क्या कारण था।"

उन्होंने कहा, "छह महीनों के दौरान नौ किश्तों में उन्हें रिश्वत की यह रकम मिली। 22 नवंबर, 2014 को सहारा कंपनी में छापेमारी हुई थी। यह छापेमारी आयकर विभाग ने की थी और कंपनी के रिकॉर्ड को जब्त किया था।"

गांधी ने कहा कि एंट्री से पता चलता है कि 30 अक्टूबर, 2013 को मोदी को 2.50 करोड़ रुपये, 12 नवंबर को मोदी को पांच करोड़ रुपये, 27 नवंबर को मोदी को 2.5 करोड़ रुपये तथा 29 नवंबर को मोदी को पांच करोड़ रुपये की रकम दी गई।

उन्होंने कहा, "ये सब आयकर विभाग के रिकॉर्ड में हैं।"

कांग्रेस नेता ने कहा कि छह दिसंबर, 2013 तथा 22 फरवरी, 2014 को मोदी को 25 करोड़ रुपये दिए गए।

इन छह महीनों में सहारा की डायरी से मोदी को नौ बार भुगतान करने का खुलासा हुआ है।

उन्होंने कहा, "ये रिकॉर्ड आयकर विभाग के पास बीते ढाई साल से हैं। आयकर विभाग के लोगों ने कहा है कि इसकी जांच होनी चाहिए।"

राहुल ने कहा, "फिर, इतने समय से जांच क्यों नहीं कराई गई।"

वहीं भाजपा ने मोदी पर लगे भ्रष्टाचार के आरोपों से इनकार किया है। पार्टी नेता व कैबिनेट मंत्री रविशंकर प्रसाद ने नई दिल्ली में कहा, "हमारे प्रधानमंत्री गंगा की तरह पवित्र हैं।"

राहुल के आरोपों को इससे पहले वकील प्रशांत भूषण सर्वोच्च न्यायालय में ले गए थे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी सार्वजनिक रैलियों में यही आरोप लगाते रहे हैं।
अरे दादा, राहुल गाँधी ने भरी भीड़ में पूर्व कांग्रेस सरकार को ही कर डाला एक्सपोज: जरूर पढ़ें

अरे दादा, राहुल गाँधी ने भरी भीड़ में पूर्व कांग्रेस सरकार को ही कर डाला एक्सपोज: जरूर पढ़ें

rahul-gandhi-expose-congress-manmohan-sarkar-in-mehsana-rally

Mehsana, 21 December: राहुल गाँधी ने आज कमाल कर दिया, आज उन्होंने मोदी को एक्सपोज करने की कोशिश की थी लेकिन इसी कोशिश में पूर्व कांग्रेस सरकार के सबसे बड़े घोटाले को ही एक्सपोज कर दिया, उन्होंने खुद ही बता दिया कि पूर्व कांग्रेस सरकार ने देश के अमीरों को 8 लाख करोड़ रुपये का लोन बाँट रखा था, कांग्रेस सरकार ने ऐसे लोगों को आठ लाख करोड़ का लोन बाँट रखा था जिन्होंने अब तक लोन वापस नहीं किया और ना ही अब वापस करना चाहते हैं। राहुल गाँधी ने खुद कहा कि इन्हीं लोगों का लोन माफ़ करने के लिए मोदी ने नोटबंदी की है। 

अब सवाल उठता है कि मोदी सरकार को देश में आये केवल ढाई साल हो रहे हैं, उनके समय में तो लोन दिया नहीं गया, आखिर कांग्रेस ने देश के अमीरों को आठ लाख रुपये दिए ही क्यों थे, कहीं उन्हें लोन देकर उनसे मोटा कमीशन तो नहीं लिया गया था, अगर कांग्रेस ने ऐसा किया था तो देश के साथ बहुत बड़ा धोखा किया गया था, यह बहुत बड़ा घोटाला था। आठ लाख करोड़ रुपये का मतलब कांग्रेस ने देश का आधा रुपये 100 अमीर लोगों को लोन में दिया था। अब वही लोग लोन देने से मना कर रहे हैं। राहुल गाँधी ने बहुत बड़ा खुलासा किया है। कांग्रेस ने 8 लाख करोड़ का लोन ऐसे लोगों को देकर देश को बर्बाद करने की कोशिश की थी, लोन लेने वालों में विजय माल्या का भी नाम शामिल था।

अब आप सोचिये, मान लो 10  साल से मेरी सरकार है और मैंने चोरों को आठ लाख करोड़ का लोन दे दिया है, पहला तो ये कि मुझे ऐसे लोगों को लोन देना ही नहीं चाहिए जो लोन वापस ही ना दें, अब मैंने चोरों को लोन दिया, चोर लोग पैसा लेकर भाग गए, सरकार बदल गयी और मैं आरोप दूसरी सरकार पर लगा रहा हूँ, अब बताओं राहुल गाँधी सही हैं जिन्होंने चोरों को 8 लाख करोड़ का लोन दे दिया या नयी नवेली मोदी सरकार।  

आज राहुल गाँधी ने कहा कि मोदी जी उन अमीरों का लोन माफ़ करना चाहते हैं क्योंकि अब वे लोग लोन वापस नहीं करना चाहते। इसीलिए मोदी ने नोटबंदी कर दी ताकि देश के खजाने में रूपया आ जाए और वे आठ लाख करोड़ रुपये माफ़ कर सकें। 

आज राहुल गाँधी ने मोदी पर भ्रष्टाचार के आरोप भी लगाए। उन्होने इससे पहले मोदी के भ्रष्टाचार को उजागर करके भूकंप लाने का दावा किया था लेकिन आज उन्होंने जब मोदी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाया तो कोई भूकंप नहीं आया, यहाँ तक कि पत्ता भी नहीं हिला, ऐसा इसलिए क्योंकि यही आरोप इससे पहले दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल भी लगाते रहे हैं और उन्होने अब तक कई बार इस बात का जिक्र किया था। इस समय देश की जनता केजरीवाल की बातों पर भरोसा नहीं करती इसलिए ना तो उनके आरोप लगाने के बाद भूकंप आया था और ना ही आज राहुल गाँधी के आरोप लगाने के वक्त भूकंप आया।

Tuesday, December 20, 2016

चाय-नाश्ता बेचने वाले ने खड़ी कर ली 650 करोड़ की संपत्ति, टैक्स चोरी करके सरकार को लगाया चूना

चाय-नाश्ता बेचने वाले ने खड़ी कर ली 650 करोड़ की संपत्ति, टैक्स चोरी करके सरकार को लगाया चूना

surat-news-kishore-bhujiawala-650-crore-property-tax-chori

सूरत, 19 दिसंबर: आयकर विभाग ने सूरत स्थित चाय-नाश्ता बेचकर फाइनेंसर बने किशोर भजियावाला के पास से कुल 650 करोड़ रुपये की संपत्ति का पता लगाया है। इस धनकुबेर के साथ आनंदीबेन पटेल सहित कई भाजपा नेताओं की तस्वीरें मीडिया में आई हैं। इस मामले के जानकार आयकर के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, किशोर भजियावाला की संपत्ति की अब तक मिली जानकारी के अनुसार उसके परिवार के सदस्यों और सहयोगियों की 650 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति होने का पता चला है। 

50 किलो से अधिक चांदी, 1.32 करोड़ रुपये के हीरे, 6.5 करोड़ रुपये से अधिक नकद और कई किलो सोना बहुत सारे लॉकरों से पाया गया है। 

नोटबंदी के बाद जब भजियावाला ने एक करोड़ रुपये से अधिक अपने खाते में जमा किए तो विभाग ने उसके बैंक खातों, लॉकरों और अन्य संपत्तियों की पिछले हफ्ते जांच शुरू की थी। 

भजियावाला और उसके परिवार के सदस्यों के पास 40 से अधिक बैंक खाते मिले। 

सूत्रों ने कहा कि आने वाले दिनों में उसके और उसके परिवार के सदस्यों के पास से और भी अघोषित धन मिलने की उम्मीद है।

विवादों में आए चाय-नाश्ता विक्रेता की सूरत शहर के उपनगरीय इलाके उधना में उसकी तीन दशकों से दुकान है और करीब 10 वर्ष पहले वह फाइनेंसर बन गया था। 

इसी बीच उसके साथ भारतीय जनता पार्टी के कई नेताओं, जिनमें केंद्रीय मंत्री पुरुषोत्तम रुपाला, पूर्व मुख्यमंत्री आनंदी बेन पटेल, भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम माथुर, विश्व हिंदू परिषद के अध्यक्ष प्रवीण तोगड़िया और गुजरात के राज्यपाल ओ.पी. कोहली के साथ भी सोशल मीडिया पर तस्वीरें सामने आई हैं। 

कई तस्वीरों में भजियावाला और उसका बेटा जीतेंद्र के गले में भाजपा का दुपट्टा बंधा दिखता है। हालांकि रुपाला ने उसके साथ किसी भी तरह का संबंध होने से इनकार किया है। 

Saturday, December 10, 2016

नोटबंदी से बेईमानों का जीना हराम होगा लेकिन 100 रुपये के नोट की तरह गरीबों की ताकत बढ़ेगी: मोदी

नोटबंदी से बेईमानों का जीना हराम होगा लेकिन 100 रुपये के नोट की तरह गरीबों की ताकत बढ़ेगी: मोदी

why-narendra-modi-order-notbandi-demonetisation-in-india-read

Deesa (Gujarat) 10 December: प्रधानमंत्री मोदी ने आज नोटबंदी पर विरोधियों को एक बार फिर से करारा जवाब दिया। उन्होंने कहा कि विपक्ष उन्हें संसद में बोलने नहीं दे रहा है इसलिए उन्होंने रैलियों के माध्यम से जनता तक अपनी बात पहुंचाने के फैसला लिया है। 

मोदी ने कहा कि इन दिनों पूरे देश में इस बात की चर्चा चल रही है कि अब नोटों का क्या होगा। आप मुझे बताइये, 8 तारीख से पहले 100 रुपये के नोटों की कोई कीमत थी क्या? 50 रुपये, 20 रुपये की कोई कीमत थी क्या? छोटे को कोई पूछता था क्या? हर कई 1000, 500 वाले बड़ों को ही पूछता था। 8 तारीख के बाद 100 रुपये के मूल्य बढ़ गया और उसमें जान आ गयी। भाइयों और बहनों, जिस तरह से 8 तारीख से पहले बड़े बड़ों की पूछ होती थी, हजार और पांच सौ की ही गिनती होती थी, 20, 50, 100 को कोई पूछता नहीं था, छोटे की तरफ कोई देखता नहीं था, 8 तारीख के बाद बड़ों को कोई पूछने को तैयार नहीं है, सब छोटों को पूछने के लिए तैयार हो गए हैं। 

मोदी ने कहा कि जिस प्रकार से बड़ी नोट के बजाय छोटी नोट की ताकत बढ़ी है उसी तरह से बड़े लोगों के बजाय छोटे लोगों की ताकत बढाने के लिए ये बहुत बड़ा फैसला मैंने लिया है। देश का गरीब, देश का सामान्य मानवी, जैसे 100 रुपये की ताकत बढ़ गयी, वैसे ही गरीब की ताकत बढाने के लिए मैंने ये महत्वपूर्ण निर्णय किया है। 
मोदी ने कहा कि आप कल्पना कर सकते हैं, आपने देखा होगा, कुछ भी खरीदने जाओ, कुछ भी खरीदने जाओ, लोग पूछते हैं कि कच्चा बिल दें या पक्का बिल दें। अगर आप बिल मांगते हैं तो छोटा व्यापारी कहता है कि बिल लेना है तो किसी और दुकान पर जाओ, कैश देना है तो ले आओ। ऐसा ही चल रहा है। 
मोदी ने कहा कि अगर आपको मकान चाहिए तो मकान वाला कहता है - चेक में इतना, कैश में इतना। अब आप बताओ, गरीब आदमी वो रूपया कहाँ से लाएगा। 
मोदी ने कहा कि पूर्व सरकार ने इसी प्रकार से नोट छापते गए और देश और उसका अर्थ तंत्र नोटों के ढेर के नीचे ही दबने लग गया। 
मोदी ने कहा कि मेरी लड़ाई है आतंकवाद के खिलाफ, आतंकवादियों को जाली नोटों से ताकत मिलती है, हम तो सीमा पार पर ही रहते हैं इसलिए हम लोगों को कैसी मुसीबतें झेलनी पड़ती हैं हम गुजराती और बनासकांठा ले लोग अधिक जानते हैं। 
मोदी ने कहा हिन्दुस्तान में जितना हो हल्ला है, उससे भी अधिक हो हल्ला बाहर है, जाली नोटों के कारोबारियों में बाहर है, अब नक्सलवादी नौजवान सरेंडर करके वापस मुख्य धारा में आ रहे हैं। आतंकवादियों को जहाँ से ताकत मिलती थी उन रास्तों को रोकने में सफल हुए हैं। हमने एक निर्णय से जाली नोटों के कारोबारियों को मृत्युदंड दे दिया है। 
मोदी ने कहा कि भ्रस्टाचार और कालेधन से पीड़ा किसको होती थी। किसी भी बेईमान को ना तो भ्रष्टाचार से परेशानी थी और ना ही कालेधन से परेशानी थी। अगर एक भ्रष्टाचारी को दूसरे भ्रष्टाचारी को कुछ देना भी पड़ता था तो देने वाला भ्रष्टाचारी दुखी नहीं होता था। अगर कोई दुखी था तो इस देश का ईमानदार नागरिक दुखी था। अगर कोई परेशान था तो इस देश का ईमानदार नागरिक परेशान था। 70 साल तक इन ईमानदार लोगों को बेईमानों से लूटा, उन्हें परेशान किया, उसका जीना मुश्किल कर दिया। आज मै जब इमानदारों के साथ खड़ा हूँ तो ईमानदारों को भड़काया जा रहा है लेकिन मुझे ख़ुशी है कि मेरे देश के ईमानदार नागरिकों ने लाख भड़काने के बावजूद भी सरकार के इस निर्णय का साथ दिया है मै सौ करोड़ देशवासियों को शत शत नमन करना हूँ क्योंकि इतने बड़े काम में उन्होंने मेरा साथ दिया है। 

मोदी ने कहा कि आज कल बड़े बुद्धिमान लोग भाषण देते हैं कि 'मोदी जी आपने इतना बड़ा निर्णय किया लेकिन हमारे जीते जी तो हमें लाभ नहीं मिलेगा, मरने के बाद मिलेगा। मोदी ने चारबाग ऋषि का उदाहरण देते हुए कहा कि चारबाग जी कहते थे, अरे मृत्यु के बाद क्या मिलेगा, कौन जानता है, जो खाना है अभी खा लो, जो आनंद करना है अभी कर लो, जो घी पीना है अभी पी लो। उन चारबाग की फिलोसोफी को हमारे देश ने कभी भी स्वीकार नहीं किया। 

मोदी ने कहा कि हमारा तो देश ऐसा है कि बूढ़े माँ बाप कहते हैं कि शाम को सब्जी मत बनाना, कुछ पैसे बाख जाएंगे तो हमारे बच्चों के काम आएँगे। हमारा देश स्वार्थी लोगों का देश नहीं है बल्कि अपनी पीढ़ियों का भला सोचने वाला देश है।  भले भी एक समय सब्जी ना खाएं लेकिन अपनों बच्चों के लिए कुछ पैसा बचाने की जरूर सोचते हैं। चारबाग़ जैसे लोगों का देश नहीं है ये। 
चोर-लुटेरे बैंक मैनेजरों के लिए बुरी खबर, मोदी बोले, ये सभी पापी पकडे जाएंगे, कोई भी नहीं बचेगा

चोर-लुटेरे बैंक मैनेजरों के लिए बुरी खबर, मोदी बोले, ये सभी पापी पकडे जाएंगे, कोई भी नहीं बचेगा

pm-modi-deesa-rally-said-corrupt-bank-officer-will-be-arrested-axis

Deesa (Gujarat) 10, Dec: चोर और लुटेरे बैंक मैनेजरों के लिए बुरी खबर है क्योंकि आज प्रधानमंत्री मोदी ने दीसा-गुजरात के एक रैली के दौरान कहा कि जिसनें भी 8 नवम्बर के बाद पाप किया है और जनता को कष्ट पहुँचाया है ये सभी पकडे जाएंगे, एक महीने, दो महीने या तीन महीने के अन्दर ये सभी पकड़ लिए जाएंगे। इन लोगों ने चोरों के लिए चोर दरवाजा खोल दिया है लेकिन इन लोगों को पता नहीं है कि मोदी ने चोर दरवाजे के पीछे भी कैमरा लगा रखा है। 

मोदी ने कहा की आपने देखा होगा कि बैंक वाले जेल में जा रहे हैं, नोटों के बड़े बड़े गड्डे लेकर भागे लोग जेल जा रहे हैं। उन्होंने सोचा था कि मोदी ने 1000 और 500 रुपये के नोटों को बंद किया है तो हम पिछले दरवाजे से कुछ कर लेंगे लेकिन उन्हें यह नहीं पता था कि मोदी ने पिछले दरवाजे पर भी कैमरे लगा रखे हैं, ये सबके सब पकडे जाने वाले हैं, कोई भी बचने वाला नहीं है, एक महीना, दो महीना, तीन महीना, 6 महीना, जिन्होंने भी 8 नवम्बर के बाद नया पाप किया है कोई बचने वाला नहीं है। 

मोदी ने कहा कि उनको सजा भुगतनी पड़ेगी, उन्होंने सवा सौ करोड़ देशवासियों के सपनों को चूर चूर करने का पाप किया है ये बचने वाले नहीं हैं ये देशवासियों को मै विश्वास दिलाता हूँ।

जानकारी के लिए बता दें कि इस वक्त देश की जनता को कैश की जरूरत है लेकिन देश के हजारों लाखों बैंक मैनेजर जनता को कैश देने के बजाय कमीशन लेकर नोटों की कालाबाजारी में व्यस्त हैं, जनता लाईन में ही कड़ी रह जाती है और अन्दर ही अन्दर नोटों की कालाबाजारी हो जाती है और कैश ख़त्म होने का बोर्ड लग जाता है। सबसे अधिक कालाबाजारी करने में एक्सिस बैंक का नम्बर है। एक्सिस बैंक कई कई बैंक मैनेजर पकडे जा चुके हैं। ये लोग फर्जी खाता खोलकर उसमें कालाधन जमा करते हैं और उनसे मोटा कमीशन लेकर उन्हें नए नोट दे देते हैं। एक्सिस बैंक वाले तो अपने ATM में कैश डालते ही नहीं। अगर ये ATM में कैश डालते रहते तो जनता को इतनी परेशानी ना होती।

खैर मोदी ने अब कह दिया है कि ये लोग पकडे जाएंगे। जनता के साथ धोखा करने वालों को, पाप करने वालों को बख्सा नहीं जाएगा। #NarendraModi हमारी गुजारिश है कि फरीदाबाद एक जितने भी एक्सिस बैंक हैं उसमें छपे जरूर मारे जाँय, यहाँ के सभी एक्सिस बैंक नोटों की कालाबाजारी करने में व्यस्त हैं। खासकर 1 नम्बर मार्किट वाली ब्राँच ने तो गंद मचा रखी है।

Sunday, December 4, 2016

केजरीवाल की सुपरफास्ट अदालत ने सुनाया फैसला, महेश शाह का 13860 करोड़ रुपये का कालाधन अमित शाह का

केजरीवाल की सुपरफास्ट अदालत ने सुनाया फैसला, महेश शाह का 13860 करोड़ रुपये का कालाधन अमित शाह का

kejriwal-blame-mahesh-shah-black-money-is-of-amit-shah-bjp

नई दिल्ली, 4 दिसंबर: विश्व के सबसे सुपरफास्ट अदालत ने पुलिस, इनकम टैक्स और अदालत से पहले ही अप्ला फैसला सुना दिया है, उन्होंने कहा है कि गुजरात के प्रॉपर्टी डीलर महेश शाह का 13860 करोड़ रुपये का घोषित कालाधन असल में अमित शाह का है और इसकी जांच होनी चाहिए। केजरीवाल के आरोपों को देखकर ऐसा लग रहा है कि उन्होंने महेश शाह के नाम में 'शाह' लगा देखकर उनसे अमित शाह की रिश्तेदारी फिट कर दी है और महेश शाह के धन को अमित शाह का बता दिया है। वैसे अगर यह बात सच होती तो इनकम टैक्स छापेमारकर महेश शाह को क्यों गिरफ्तार करते, केजरीवाल तो खुद कहते हैं कि अमित शाह के हाथों में ही सीबीआई, पुलिस और इनकम टैक्स है। 

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के अध्यक्ष अमित शाह के छिपे धन की जांच कराने की मांग की। आम आदमी पार्टी के नेता ने कहा कि शाह ने अपने धन को छिपाने के लिए गुजरात के एक प्रॉपर्टी डीलर को कर माफी योजना के तहत 13,860 करोड़ रुपये की घोषणा करने के लिए आगे किया होगा।

केजरीवाल ने ट्वीट किया, "अमित शाह को हार्दिक पटेल के आरोपों का जवाब देना चाहिए। बहुत गंभीर! इसकी जांच होनी चाहिए।"

यह ट्वीट पटेल के आरोपों के बाद आया है। पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने शनिवार को आरोप लगाया था कि आय घोषण योजना के तहत रिकार्ड राशि घोषित करने वाले महेश शाह के पीछे 'जनरल डायर' हैं। हार्दिक ने यह उपमा भाजपा अध्यक्ष के लिए गढ़ी है।

गुजरात के व्यापारी महेश शाह ने दो महीने पहले छिपे हुए धन के रूप में 13,860 करोड़ रुपये की घोषणा कर सभी को चौंका दिया था। छिपे धन पर कर की राशि की पहली किस्त जमा करने से एक दिन पहले वह 29 नवंबर को फरार हो गया था।

गुजरात का व्यापारी शनिवार को ईटीवी के स्टूडियो में प्रकट हुआ और उसने कहा कि धन की घोषणा करने के लिए कुछ व्यापारी और राजनेताओं ने मुखौटे के रूप में उसका इस्तेमाल किया है। लेकिन उसने किसी का नाम नहीं लिया।

सूरत में सितंबर में अमित शाह के एक कार्यक्रम के आयोजन से कुछ घंटे पहले एक पोस्टर में भाजपा अध्यक्ष को 'जनरल डायर' के रूप में दिखाया गया था।

पाटीदार अमानत आंदोलन समिति के संस्थापक और सरकारी नौकरियों और शिक्षण संस्थानों में पटेल समुदाय के लोगों को आरक्षण देने की मांग को लेकर आंदोलन का नेतृत्व कर रहे हार्दिक पटेल अक्सर अमित शाह को 'जनरल डायर' कहकर ही संबोधित करते हैं।

Tuesday, November 29, 2016

नोटबंदी का विरोध करने वाली कांग्रेस के लिए बुरी खबर, गुजरात स्थानीय चुनावों में सूपड़ा साफ़

नोटबंदी का विरोध करने वाली कांग्रेस के लिए बुरी खबर, गुजरात स्थानीय चुनावों में सूपड़ा साफ़

gujarat-poll-result-2016-surat-vapi-nagarpalika-bjp-congress

Surat, 29 November: महाराष्ट्र के बाद आज गुजरात नगर पंचायतों में हुए चुनावों के नतीजे आ रहे हैं, अभी तक प्राप्त नतीजों में कांग्रेस को भारी नुकसान हुआ है और बीजेपी की आंधी में कांग्रेस कई जगह से उड़ गयी है। ऐसा लगता है कि नोटबंदी के बाद पूरे देश में मोदी की आंधी चल रही है और कांग्रेस उस आंधी में उड़कर साफ़ होती जा रही है, नोटबंदी का विरोध करना कांग्रेस को मंहगा पड़ रहा है।

अभी तक जिला पंचायत, तालुका पंचायत और नगर पालिका चुनावों की 31 सीटों के नतीजे आये हैं जिसमें 23 सीटों पर बीजेपी की जीत हुई है जबकि केवल 8 सीटों पर कांग्रेस की जीत हुई है।

सूरत में तो कांग्रेस का सूपड़ा साफ़ हो गया है, यहाँ पर कनकपुर-कंसद नगरपालिका पोल की 28 सीटों में से केवल एक पर कांग्रेस की जीत हुई है, 27 सीटों पर बीजेपी की जीत हुई है।

ऐसे ही नतीजे वापी नगरपालिका पोल में आये हैं, 44 सीटों में से 41 सीटों पर बीजेपी की जीत हुई है जबकि 3 सीटों पर कांग्रेस की जीत हुई है।

इन नतीजों को देखकर केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा है कि गुजरात और महाराष्ट्र स्थानीय चुनावों के नतीजों से साबित हो गया है कि जनता कालेधन के खिलाफ कार्यवाही में मोदीजी के साथ है। 

Friday, November 25, 2016

नोटबंदी ने बचाए लाखों रुपये, चाय-पानी पिलाकर सिर्फ 500 रुपये में इन दोनों ने निपटा दी शादी

नोटबंदी ने बचाए लाखों रुपये, चाय-पानी पिलाकर सिर्फ 500 रुपये में इन दोनों ने निपटा दी शादी

gujarat-surat-news-notbandi-make-mind-change-500-spend-in-shadi

Surat, 25 November: नोटबंदी ने लोगों की सोच बदलने का काम शुरू कर दिया है, पहले जहाँ लाखों करोड़ों में शादियाँ होती थीं अब लोग सस्ते में शादियाँ निपटा रहे हैं ऐसी ही एक मिशाल गुजरात के सूरत में देखने को मिली है। एक नवविवाहित जोड़े ने शादी समारोह में आये रिश्तेदारों और दोस्तों को केवल चाय-पानी मिलकर 500 रुपये में काम निपटा लिया। 

पूछने पर नवविवाहित जोड़े ने बताया कि मोदीजी ने अचानक 1000 और 500 के नोटों अचानक बंद करने का निर्णय ले लिया, पहले तो हम दुखी थे और चिंतित भी थे कि अब शादी कैसे करेंगे, उसके बाद हमने सोचा कि हम सिर्फ चाय और पानी में शादी कर लेते हैं। 

Wednesday, November 23, 2016

मोदी ने मुख्यमंत्री रहते 'भ्रष्ट' मंत्री को दिया था संरक्षण: कांग्रेस

मोदी ने मुख्यमंत्री रहते 'भ्रष्ट' मंत्री को दिया था संरक्षण: कांग्रेस

congress-blamed-modi-for-compromising-with-corrupt-minister-guj

नई दिल्ली, 22 नवंबर: कांग्रेस ने मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर आरोप लगाया कि गुजरात का मुख्यमंत्री रहने के दौरान उन्होंने 12 वर्षो तक एक 'भ्रष्ट' मंत्री को संरक्षण दिया। एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया है कि सौरभ पटेल 14 साल तक गुजरात के ऊर्जा राज्य मंत्री रहे और इस दौरान गैस व पेट्रोरसायन का कारोबार करने वाली कंपनियों में उनके परिवार ने निवेश किया हुआ था। इस रिपोर्ट का संदर्भ देते हुए कांग्रेस प्रवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि मोदी को इस मुद्दे पर स्पष्टीकरण देना चाहिए।

सिंघवी ने कहा, "इस बात का पर्दाफाश हुआ है कि किस प्रकार सौरभ पटेल और उनके परिवार की कंपनी ने ऊर्जा व पेट्रोरसायन में कारोबार करने वाली बहामास की कंपनी में निवेश किया था।"

उन्होंने कहा, "सौरभ पटेल 14 साल मंत्री रहे। इनमें से 12 साल वह तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यकाल में मंत्री रहे।"

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के टिकट पर चार बार विधायक रहे सौरभ पटेल 14 वर्षो तक पेट्रोरसायन मंत्री रहे। नए मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने इस साल सात अगस्त को उन्हें मंत्रिमंडल से हटा दिया।

सिंघवी ने कहा कि पटेल ने इन कंपनियों की सहायता से सरकारी कंपनी गुजरात स्टेट पेट्रोलियम कॉर्प (जीएसपीसी) में ऑयल ब्लॉक भी लिया।

उन्होंने कहा, "क्या यह केवल हितों का टकराव है? मुझे लगता है कि इस मामले में हितों का टकराव हलका शब्द है। यह भ्रष्टाचार है। देश व संसद अब प्रधानमंत्री तथा गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री से जवाब मांग रहे हैं।"

कांग्रेस प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि देश के सबसे प्रभावशाली औद्योगिक परिवार की पैरवी पर पटेल को मोदी ने यह महत्वपूर्ण व बड़ा मंत्रालय दिया था।

सिंघवी ने कहा, "यह मामला दाल में काले का नहीं है, बल्कि यहां पूरी दाल ही काली है। हर तरफ भ्रष्टाचार पसरा है। प्रधानमंत्री नोटबंदी पर बोलने से भाग रहे हैं। क्या वह इस मुद्दे पर भी भागेंगे?"

Tuesday, November 15, 2016

केजरीवाल आज फिर बौखलाकर बोले 'मोदीजी ने अपनी माँ को लाइन में लगाकर ठीक नहीं किया’

केजरीवाल आज फिर बौखलाकर बोले 'मोदीजी ने अपनी माँ को लाइन में लगाकर ठीक नहीं किया’

hiraben-in-bank-queue

New Delhi, 15 November: कालेधन की महा सर्जिकल स्ट्राइक से बौखलाये केजरीवाल ने आज फिर से मोदी पर हमला बोला है, आज प्रधानमंत्री मोदी की माँ हीराबेन ने भी बैंक की लाइन में लगकर अपने पुराने नोटों को बदलवाया। पूरे देश में मोदी की माँ की तारीफ हुई क्योंकि उन्होंने देश के लिए कष्ट सहकर देशवासियों के सामने एक अनूठा उदाहरण पेश किया था लेकिन केजरीवाल को इसमें भी कमी दिख गयी और उन्होंने झट से ट्वीट करते हुए कहा 'मोदीजी ने राजनीति के लिए माँ को लाइन में लगा कर ठीक नहीं किया, कभी लाइन में लगना हुआ तो मै खुद लगूंगा, माँ को लाइन में नहीं लगाऊंगा'
केजरीवाल मोदी पर लगातार हमला बोल रहे हैं जिसे देखकर लोगों ने उनका विरोध भी करना शुरू कर दिया है, आज भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की दिल्ली इकाई ने सचिवालय के बाहर काला धन रखने वालों का समर्थन करने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के खिलाफ प्रदर्शन किया। आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक केजरीवाल के खिलाफ नारेबाजी कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

यह विरोध प्रदर्शन तक आयोजित हुआ है, तब केजरीवाल ने एक दिन पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 500 और 1000 रुपये के नोट बंद किए जाने के के निर्णय पर सवाल उठाया था।

उन्होंने मोदी पर निशाना साधते हुए कहा था कि इसके चलते आम आदमी दुखी है।

केजरीवाल ने आठ नवंबर के नोटबंदी को सबसे खराब योजना करार दिया। उन्होंने इस फैसले को तुरंत वापस लेने का आग्रह किया।
मोदी की माँ हीराबेन ने भी लाइन में लगकर बदलवाए नोट, लोगों के सामने पेश किया उदाहरण

मोदी की माँ हीराबेन ने भी लाइन में लगकर बदलवाए नोट, लोगों के सामने पेश किया उदाहरण

modi-mother-hiraben-exchanged-old-notes-in-gandhinagar-branch

Gandhinagar, 15 November: आज मोदी ने माताजी हीराबेन ने महानता का उदाहरण पेश करते हुए आम आदमी की तरह लाइन में लगकर अपने पुराने नोट बदलवाए। हीराबेन ने गांधीनगर की कारपोरेशन बैंक में सीनियर सिटीजन की लाइन में खड़े होकर अपने नोट बदलवाए हालाँकि उस लाइन में अधिक भीड़ नहीं थी लेकिन हीराबेन ने लोगों के सामने एक उदाहरण जरूर पेश किया। 

जानकारी के अनुसार हीराबेन के पास 4500 रुपये के पुराने नोट थे जिसे उन्होंने बैंक में जमा कराया और नए नोट लिए। उन्हें 2000 रुपये का एक नया नोट और 100 और 10 रुपये के पुराने नोट मिले। 

हीराबेन अपने बेटे और मोदी के भाई पंकज मोदी के साथ बैंक में आयी थी, जब बैंक कर्मचारियों ने हीराबेन को देखा तो अपनी सीट से खड़े हो गए और बहुत ही मान सम्मान दिखाकर उनका नोट बदला। 

Tuesday, November 8, 2016

गुजरात में सड़क हादसा, 9 मरे

गुजरात में सड़क हादसा, 9 मरे

gujarat-road-accident-9-people-dead

वडोदरा, 7 नवंबर: करजण में राष्ट्रीय राजमार्ग-8 के पास सड़क दुर्घटना में नौ लोग मारे गए और तीन गंभीर रूप से घायल हो गए। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी। 

मारे गए लोगों में सूरत के एक ही परिवार के लोग थे। वह प्रसिद्ध मंदिर पावागढ़ से पूजा कर सूरत लौट रहे थे। यह घटना यहां से 40 किलोमीटर दूर देर रात रविवार को हुई।

करजन के उपपुलिस निरीक्षक जे. वाई. चौहान ने कहा, "बस चालक ने टक्कर से बचने के लिए बस को मोड़ा, लेकिन यह पलट गया और सामने से आ रही खेल के वाहन से टकरा गई, जिसमें आठ लोग मारे गए।"

वहीं बस के पिछे आ रही दो कारों के चालकों ने अपना नियंत्रण खो दिया और क्षतिग्रस्त वाहन को टक्कर मार दिया, जिसमें एक महिला की मौत हो गई और तीन गंभीर रूप से घायल हो गए।

दुर्घटना के कारण एक घंटे से अधिक समय तक यातायात बाधित रहा।

चौहान ने कहा कि घायल हुए लोगों को करजन के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

Friday, October 28, 2016

वड़ोदरा में पटाखा दुकान में आग से 8 मरे

वड़ोदरा में पटाखा दुकान में आग से 8 मरे

vadodara-hindi-news-fire-in-cracker-shop-8-burnt-alive

वड़ोदरा, 28 अक्टूबर: गुजरात के वड़ोदरा में शुक्रवार को एक पटाखा दुकान में आग लग जाने से आठ लोगों की मौत हो गई और तीन अन्य घायल हो गए। वड़ोदरा के वाघोडिया इलाके के रूस्तमपुरा में आग की यह घटना हुई। आग लगने के कारणों का पता नहीं चल पाया है।

अधिकारियों ने कहा कि चूंकि पटाखा दुकान घर में था, इस वजह से आग दूसरी मंजिल तक जा पहुंची। आग की वजह से एक एलपीजी सिलेंडर में भी विस्फोट हो गया।

दमकल कर्मियों ने बताया कि आग बुझाने की कोशिश की जा रही है। 

Sunday, October 23, 2016

PM MODI बोले, बिना सर्जिकल स्ट्राइक के ही हमने 1 लाख करोड़ रुपये का कालाधन जब्त किया

PM MODI बोले, बिना सर्जिकल स्ट्राइक के ही हमने 1 लाख करोड़ रुपये का कालाधन जब्त किया

modi-sarkar-save-1-lakh-crore-rs-black-money-without-surgical-strike

वडोदरा, 22 अक्टूबर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को आय घोषणा योजना (आईडीएस) के तहत 30 सितंबर की समय सीमा के भीतर काले धन की घोषणा करने में नाकाम रहने वाले लोगों के खिलाफ 'सर्जिकल स्ट्राइक' का संकेत दिया। वडोदरा में एक सार्वजनिक कार्यक्रम के दौरान मोदी ने कहा, "आईडीएस के तहत 65,000 करोड़ रुपये से अधिक की बेहिसाब संपत्ति की घोषणा हुई है, वह भी बिना किसी सर्जिकल स्ट्राइक के। सोचिए, अगर हम सर्जिकल स्ट्राइक करें, तो क्या होगा।"

उन्होंने कहा कि उनकी सरकार ने आईडीएस के तहत धन एकत्रित करने के अलावा, जन धन योजना के तहत आधार नंबर को सीधे लिंक कराकर बिचौलियों को हटाते हुए पैसे का स्थानांतरण सीधे तौर पर करके 36,000 करोड़ रुपये बचाए हैं।

मोदी ने कहा, "तो, हम लगभग एक लाख करोड़ रुपये एकत्रित करने में सक्षम हुए हैं।"

यहां 1 लाख से अधिक दिव्यांगों के बीच कृत्रिम पैर, हाथ रिक्शा तथा अन्य सहायक उपकरणों के वितरण को लेकर एक कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री ने ये बातें कहीं। 

उन्होंने कहा कि मई 2014 से लेकर अब तक देश भर में इस तरह के 4,500 से भी अधिक कार्यक्रम हो चुके हैं, जबकि सन् 1992 से लेकर 2014 के बीच ऐसे केवल 56 कार्यक्रम हुए थे।

बीते तीन महीनों के दौरान मोदी का गुजरात का यह चौथा दौरा है, लेकिन प्रधानमंत्री बनने के बाद बडोदरा का यह पहला दौरा है। उन्होंने वडोदरा तथा वाराणसी दोनों जगहों से लोकसभा चुनाव जीता था। गुजरात में दिसंबर 2017 में विधानसभा चुनाव होने हैं।

एक दिवसीय दौरे के दौरान मोदी ने वडोदरा के हारनी हवाईअड्डे पर 160 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित एक इंटीग्रेटेड टर्मिनल इमारत का उद्घाटन किया।

प्रधानमंत्री ने घोषणा की कि देश की पहली रेलवे यूनिवर्सिटी वडोदरा में स्थापित होगी, जिससे रेलवे क्षेत्र को बड़ा प्रौद्योगिकी सहयोग मिलेगा।

उन्होंने कहा, "हमारी रेलवे लगातार पुरानी संरचनाओं के आधार पर संचालित हो रही है। प्रौद्योगिकी तथा नवाचार के साथ हम भारत में रेलवे की तस्वीर बदल सकते हैं। नवाचार को उत्साहित करने में यह यूनिवर्सिटी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।"

हवाईअड्डे के बाहर विरोध कर रहे कुछ दलित स्वयंसेवकों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।

कुछ दलित नेताओं ने मांग की है कि हवाईअड्डे का नाम बाबा साहेब अंबेडकर हवाईअड्डा रखा जाए।

एक तर्क यह भी है कि चूंकि वडोदरा शहर का विकास दिवंगत राजा सायाजीराव गायकवाड़ ने किया था, इसलिए हवाईअड्डे का नाम उनके ही नाम पर रखा जाए। वहीं कांग्रेस के एक धड़े ने दावा किया कि सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) हवाईअड्डे का नाम पंडित दीन दयाल उपाध्याय के नाम पर रखने का प्रयास करेगी।