Showing posts with label Goa. Show all posts
Showing posts with label Goa. Show all posts

Jul 21, 2017

पर्रिकर ने कहा बीफ तो कांग्रेसियों ने बताया ‘गाय’ बोलने लगे ‘हाय हाय हाय’ भूल गए ‘भैंस का’

पर्रिकर ने कहा बीफ तो कांग्रेसियों ने बताया ‘गाय’ बोलने लगे ‘हाय हाय हाय’ भूल गए ‘भैंस का’

why-manohar-parrikar-call-beef-mantri-on-twitter

देश में बीफ पॉलिटिक्स जोरों पर है, बीफ अपने आप में अजीब चीज है, बीफ में कई तरह के मांस आते हैं, गाय का भी आता है, भैंसे का भी आता है और अन्य बड़े जानवरों का भी आता है. बीजेपी सरकार ने आने के बाद कई राज्यों में गौ-मांस पर बैन लगा दिया गया लेकिन भैंसे पर प्रतिबन्ध नहीं लगाया गया है, भैंसे का मांस लोग आराम से खरीदकर खा सकते हैं. किसी भी राज्य में भैंसे के मांस पर बैन नहीं है.

आपको बता दें कि अभी सिर्फ हिन्दू बहुसंख्यक राज्यों में हिन्दुओं की भावनाओं को ध्यान में रखकर गौमांस पर बैन लगाया गया है, मुस्लिम और इसाई बहुल राज्यों में गौमांस पर बैन नहीं लगाया गया है हालाँकि हिन्दू लोग विरोध जरूर करते हैं.

जब भी बीफ की बात तो कांग्रेस के लोग कहते हैं कि बीफ यानी भैंसा होता है, हम भी गौमांस का विरोध करते हैं लेकिन जब बीजेपी नेताओं के मुंह से बीफ की बात निकलती है तो कांग्रेसी उसे गाय से जोड़ देते हैं और कहते हैं कि बीजेपी वाले गाय काटने और गाय खाने की बात कर रहे हैं.

कल गोवा के मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे राज्य में बीफ खाने वाले अधिक हैं इसलिए हम बीफ की कमी नहीं होने देंगे और आस पास के राज्यों से भी बीफ का इम्पोर्ट करेंगे.

मनोहर पर्रिकर का इतना कहना था कि कांग्रेसियों ने उनके बयान को पकड लिया और गाय से जोड़ दिया, अब कांग्रेसी भैंसे का मांस भूल गए हैं, अब उन्हें सिर्फ गौमांस याद है, अब उनके लिए बीफ का मतलब गौमांस हो गया है क्योंकि किसी बीजेपी नेता के मुंह से बीफ निकला है.

इसमें मनोहर पर्रिकर की भी गलती है क्योंकि वे समझा नहीं पाए कि बीफ खरीदने की बात करके वो गौमांस की बात कर रहे हैं या भैंसे के मांस की, अगर वे गौमांस की बात कर रहे हैं तो बीजेपी को तुरंत ही सभी राज्यों में गौमांस पर बैन हटा देना चाहिए वरना उन्हें दोगली पार्टी कहा जाएगा क्योंकि एक राज्य में आप गौमांस बैन कर रहे हो और दूसरे राज्य में गौमांस खरीदने की बात कर रहे हो तो यह दोगलापन नहीं तो और क्या है. मनोहर पर्रिकर अपने बयान पर सफाई देनी चाहिए क्योंकि ट्विटर पर उन्हें बीफ मंत्री कहा जा रहा है और कांग्रेस लोग बीजेपी की जमकर ऐसी तैसी कर रहे हैं.

Jun 18, 2017

मनोहर पर्रिकर बोले, गोवा में नहीं लागू होगी मोदी सरकार की 'पशु खरीद-विक्री' पॉलिसी: पढ़ें क्यों

मनोहर पर्रिकर बोले, गोवा में नहीं लागू होगी मोदी सरकार की 'पशु खरीद-विक्री' पॉलिसी: पढ़ें क्यों

cm-manohar-parrikar-would-not-implement-cattle-sale-policy-in-goa
पणजी, गोवा: मुख्यमंत्री मनोहर ने मोदी सरकार की पशुओं की खरीद-विक्री पालिसी को गोवा में लागू करने से इनकार कर दिया है, मोदी सरकार ने कुछ ही दिन पहले पूरे देश में पशुओं की हत्या पर लगाम लगाने के लिए मंडियों में 'Cattle Sale Policy' लागू करने का आदेश दिया था जिसके मुताबिक़ मंडियों में बिना प्रमाण पत्र के पशुओं की ना तो खरीद की जा सकती है और ना ही विक्री की जा सकती है, अगर पशुओं को काटने के लिए खरीदा जाएगा तो भी उसका प्रमाण पत्र बनवाना पड़ेगा और सरकार को टैक्स देना पड़ेगा, इसके अलावा हत्या के परपज से ना तो गाय की विक्री की जा सकती है और ना ही खरीद की जा सकती है.

आज मोदी सरकार की इस पालिसी को गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने गोवा में लागू करने से इनकार कर दिया, उन्होने तर्क दिया है कि केंद्र सरकार का यह रूल गोवा में अप्लाई नहीं होता है क्योंकि यहाँ पर पशु मार्केट ही नहीं हैं इसलिए यहाँ पर पशुओं की खरीद विक्री का सवाल ही नहीं पैदा होता.

Apr 15, 2017

कश्मीर में बात नहीं महाराज शिवाजी बनकर देशद्रोहियों को निपटाने की जरूरत है: मनोहर पर्रिकर

कश्मीर में बात नहीं महाराज शिवाजी बनकर देशद्रोहियों को निपटाने की जरूरत है: मनोहर पर्रिकर

manohar-parrikar-reveal-he-return-goa-because-of-kashmir-issue

पणजी, 15 अप्रैल: भारत के पूर्व रक्षा मंत्री और गोवा के वर्तमान मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने खुलासा किया है कि केंद्र में काम करने में उन्हें मजा नहीं आया क्योंकि यहाँ पर कई मुद्दे ऐसे थे जिसके लिए खुलकर एक्शन लेने की जरूरत थी जिसमें कश्मीर भी एक मसला था जो काफी जटिल था, उन्होंने कहा कि कश्मीर मसले को हल करना आसान नहीं है और एक दीर्घकालिक नीति बनाकर ही इस मसले को सुलझाया जा सकता है.

उन्होंने कहा कि मैं शिवाजी महाराज को अपना आदर्श मानता हूँ और उन्हीं के जैसा बनना चाहता हूँ, उनके जैसा बनने का मतलब है उन्हीं के जैसे काम करना, कश्मीर मसले पर भी एक नीति बनाकर उन्हीं के जैसे काम करने की जरूरत थी लेकिन मुझपर इतना दबाव था कि मैं शिवाजी की तरह काम नहीं कर पाया, यही वजह थी कि मुझे वापस गोवा लौटने का विचार आया. उन्होंने इशारों इशारों में कहा कि कश्मीर के देशद्रोहियों को एक नीति बनाकर निपटाने की जरूरत है लेकिन मैं ऐसा नहीं कर पाया.

उन्होंने कहा कि नई दिल्ली में रहना उनकी आदत में नहीं है, दिल्ली मेरी जगह नहीं है। यह ऐसी जगह नहीं है जिसका मुझे आदत हो जाए। वहां मेरे ऊपर बहुत ज्यादा दबाव था।"

पर्रिकर ने कहा कि मीडिया में चर्चा से उद्देश्यों के क्रियान्वयन में गड़बड़ी आती है।

उन्होंने कहा, "मेरा मानना है कि कुछ चीजों में चर्चा कम से कम होनी चाहिए और एक्शन  चाहिए। चर्चा से इसमें गड़बड़ी आ सकती है।"

कश्मीर मुद्दे को हल करने के बारे में कुछ सवाल पूछे जाने पर उन्होंने मीडिया के बारे में कहा, "क्या आप चाहते हैं कि यह चीज घटित हो या आप इस चीज को खबर बनाना चाहते हैं?"

उन्होंने कहा कि चर्चा से बहुत से विचार सामने आते हैं, जो निर्णय लेने में बाधा साबित हो सकते हैं।

पर्रिकर ने कहा, "अगर आप चाहते हैं कि यह काम हो तो आप इस पर खबरों में बहुत ज्यादा चर्चा मत करें। जब चर्चा की जाती है तो एक व्यक्ति एक बात कहता है जबकि कोई दूसरा व्यक्ति दूसरी बात कहता है।"

Mar 31, 2017

गोवा में सरकार बनाने में मदद करने के लिए मनोहर पर्रिकर ने दिग्विजय सिंह को कहा ‘धन्यवाद दिग्गी’

गोवा में सरकार बनाने में मदद करने के लिए मनोहर पर्रिकर ने दिग्विजय सिंह को कहा ‘धन्यवाद दिग्गी’

manoj-parrikar-rajya-sabha-digvijay-singh-thank-you-for-goa
New Delhi, 31 March: राज्य सभा सांसद और गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने आज कांग्रेस को राज्य सभा में शर्मशार कर दिया साथ ही दिग्विजय सिंह को धन्यवाद बोला, उन्होंने कहा कि गोवा में बीजेपी की सरकार बनाने के लिए मैं दिग्विजय सिंह को धन्यवाद बोलता हूँ क्योंकि वे गोवा में आराम से घुमते रहे और हमें वहां पर सरकार बनाने का मौका दे दिया। 

कांग्रेस पिछले कई दिनों से गोवा और मणिपुर में सरकार ना बनाने की खीज में हंगामा कर रही है, दोनों ही जगह पर बीजेपी की सरकार बन गयी है, कांग्रेस इसे लोकतंत्र की हत्या बता रही है, आज मनोहर पर्रीकर बहे राज्य सभा में भाषण देने के लिए खड़े हुए तो कांग्रेस ने हंगामा कर दिया, कांग्रेसी सांसद अपनी सीट से खड़े होगा और नारेबाजी शुरू कर दी। 

नारेबाजी के बीच में गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने दिग्विजय सिंह को धन्यवाद बोलते हुए कहा कि 'आप गोवा में आराम से घूमते रहे और हमने सरकार बना ली इसके लिए आपका धन्यवाद। 

जानकारी के लिए बता दें कि हाल ही में हुए गोवा चुनावों में बीजेपी को सिर्फ 13 सीटें मिली थीं जबकि कांग्रेस को 17 सीटें मिली थीं, कांग्रेस को अधिक सीटें मिलने के बावजूद भी वह दूसरी पार्टियों और निर्दलीय विधायकों का समर्थन नहीं ले पाई जबकि बीजेपी ने तेजी दिखाते हुए गैर कांग्रेस विधायकों को अपने समर्थन में लेकर सरकार बना ली। 

Mar 16, 2017

गोवा विधानसभा में पास हुए मनोहर पर्रिकर, बहुमत से बन गयी BJP सरकार, देखती रह गयी कांग्रेस

गोवा विधानसभा में पास हुए मनोहर पर्रिकर, बहुमत से बन गयी BJP सरकार, देखती रह गयी कांग्रेस

good-news-for-bjp-manohar-parrikar-prove-majority-in-goa-assembly

पणजी, 16 मार्च: गोवा से भारतीय जनता पार्टी के लिए खुशखबरी आयी है, मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर ने विधानसभा में बहुमत साबित कर दिया है और अब बीजेपी सरकार को किसी से कोई खतरा नहीं है, सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार आज 11 बजे मनोहर पर्रिकर को विधानसभा में बहुमत साबित करना था, मनोहर पर्रिकर ने बहुत ही आसानी से बहुमत साबित कर दिया।

मनोहर पर्रिकर के समर्थन में कुल 22 वोट मिले जबकि विरोध में केवल 16 वो मिले, एक कांग्रेसी विधायक विश्वजीत राणे ने वोट नहीं किया जिसकी वजह से बीजेपी को और फायदा हुआ, पर्रिकर को 13 बीजेपी, 3 MGP, 3 GFP और 3 निर्दलीय विधायकों के भी वोट मिले, कांग्रेस ने आज मनोहर पर्रिकर के फेल होने का दावा किया था लेकिन कांग्रेस देखती रह गयी और पर्रिकर ने बहुमत साबित कर दिया। 

इससे पहले 14 मार्च को भाजपा नेता मनोहर पर्रिकर ने मंगलवार को चौथी बार गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली थी। सर्वोच्च न्यायालय के आदेशानुसार उन्हें गुरुवार को विधानसभा में शक्ति परीक्षण के जरिए बहुमत साबित करना था जिसे आज साबित कर दिया गया।

पर्रिकर के साथ ही नौ मंत्रियों को भी शपथ दिलाई गई। इनमें महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के सुदिन धवलीकर और मनोहर अजगांवकर तथा गोवा फॉरवर्ड पार्टी के विजय सरदेसाई, विनोद पलिनकर व जयेश सालगांवकर और भाजपा के फ्रांसिस डिसूजा, पांडुरंग मडकैकर तथा निर्दलीय गोविंद गावडे व रोहन खाउंटे शामिल हैं।

पर्रिकर ने शपथ ग्रहण के बाद पत्रकारों से कहा कि भाजपा को मिला समर्थन गोवा के विकास के लिए है। 

Mar 14, 2017

मनोहर पर्रिकर ने ली गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ तो PM MODI बोले 'बधाई हो'

मनोहर पर्रिकर ने ली गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ तो PM MODI बोले 'बधाई हो'

manohar-parrikar-swears-in-as-new-chief-minister-of-goa-14-march

पणजी, 14 मार्च: भाजपा नेता मनोहर पर्रिकर ने मंगलवार को चौथी बार गोवा के मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। राज्यपाल मृदुला सिन्हा ने राजभवन में आयोजित एक समारोह में उन्हें पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई, एक तरह से कहें तो आज गोवा में 99 फ़ीसदी बीजेपी सरकार बन गयी है अब सिर्फ बहुमत साबित करना है जो कि 99 फ़ीसदी निश्चित है क्योंकि सभी निर्दलीय विधायकों को मंत्री बना दिया गया है साथ ही साथी पार्टियों से भी मंत्री पद की शपथ दिलाई गयी है।

पर्रिकर ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्रियों वेंकैया नायडू, नितिन गडकरी, जे.पी. नड्डा सहित शीर्ष पार्टी नेताओं और अन्य गणमान्यों की उपस्थिति में शपथ ली। पर्रिकर ने इसके पहले सोमवार को रक्षामंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था।

पर्रिकर के साथ ही नौ मंत्रियों को भी शपथ दिलाई गई। इनमें महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के सुदिन धवलीकर और मनोहर अजगांवकर तथा गोवा फॉरवर्ड के विजय सरदेसाई, विनोद पलिनकर व जयेश सालगांवकर और भाजपा के फ्रांसिस डिसूजा, पांडुरंग मडकैकर तथा निर्दलीय गोविंद गावडे व रोहन खाउंटे शामिल हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पर्रिकर को बधाई दी। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, "मनोहर पर्रिकर और उनकी टीम को शपथ ग्रहण करने पर बधाइयां। गोवा को प्रगति की नई ऊंचाइयों पर ले जाने के लिए मेरी शुभकामनाएं।"

इसके पहले सर्वोच्च न्यायालय ने बहुमत साबित करने के लिए गुरुवार को शक्ति परीक्षण कराने का निर्देश दिया।

सर्वोच्च न्यायालय के प्रधान न्यायाधीश न्यायमूर्ति जगदीश सिंह केहर, न्यायमूर्ति रंजन गोगोई तथा न्यायमूर्ति आर. के. अग्रवाल की पीठ ने साथ ही कहा कि इसके लिए सभी आवश्यक औपचारिकताएं 15 मार्च तक पूरी कर ली जाएं, जिसमें निर्वाचन आयोग की तैयारी भी शामिल है।

गोवा विधानसभा में कांग्रेस के नेता चंद्रकांत कावलेकर ने राज्यपाल मृदुला सिन्हा के फैसले को चुनौती दी थी, जिन्होंने सरकार गठन के लिए भाजपा को आमंत्रित किया था।

शीर्ष अदालत ने वरिष्ठ अधिवक्ता अभिषेक मनु सिंघवी की 'संयुक्त शक्ति परीक्षण' कराने की याचिका भी खारिज कर दी।
सुप्रीम कोर्ट ने भी नहीं रोकी मनोहर पर्रिकर की ताजपोशी, आज लेंगे शपथ, कल करेंगे बहुमत साबित

सुप्रीम कोर्ट ने भी नहीं रोकी मनोहर पर्रिकर की ताजपोशी, आज लेंगे शपथ, कल करेंगे बहुमत साबित

supreme-court-order-bjp-to-prove-majority-tomorrow-11-am
नई दिल्ली, 14 मार्च: कांग्रेस को आज सुप्रीम कोर्ट से भी झटका लगा है क्योंकि कांग्रेस चाहती थी सुप्रीम कोर्ट मनोहर पर्रिकर का शपथग्रहण रोक दे लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने ऐसा नहीं किया बल्कि कल 11 बजे बीजेपी को बहुमत साबित करने का आदेश दे दिया जो कि बीजेपी के लिए अच्छा है, आज मनोहर पर्रिकर गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे और कल 11 बजे बहुमत साबित कर देंगे जो कि उनके पास है। 

गोवा की 40 सदस्यीय विधानसभा के लिए हुए चुनाव में 17 सीटों के साथ सबसे बड़ी पार्टी के रूप उभरने वाली कांग्रेस ने भाजपा को सरकार बनाने के लिए आमंत्रित करने के राज्यपाल मृदुला सिन्हा के फैसले को सर्वोच्च न्यायालय में चुनौती दी थी।

गोवा में सरकार बनाने के लिए किसी भी पार्टी को 21 सीटों की जरूरत है। भाजपा को हालांकि 13 सीटें मिली हैं, लेकिन उसने अन्य विधायकों के समर्थन का पत्र राज्यपाल को सौंपकर सरकार बनाने का दावा पेश किया, जबकि कांग्रेस यहां चूक गई।

विधायक दल का नेता नहीं चुने जाने की वजह से कांग्रेस सोमवार को सरकार बनाने का दावा पेश नहीं कर पाई। अब गोवा के कांग्रेस विधायक भी इस चूक के लिए कांग्रेस और कांग्रेस प्रभारी दिग्विजय सिंह को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। 
AAP नेता एल्विस गोम्स बोले, चुनाव आयोग को चुनाव कराने के बजाय सीटों की नीलामी करनी चाहिए

AAP नेता एल्विस गोम्स बोले, चुनाव आयोग को चुनाव कराने के बजाय सीटों की नीलामी करनी चाहिए

aap-leader-elvis-gomes-says-seeton-ki-nilami-honi-chahiye

पणजी, 14 मार्च: आम आदमी पार्टी (आप) की गोवा इकाई के संयोजक एल्विस गोम्स ने सोमवार को कहा कि निर्वाचन आयोग को अब से चाहिए कि वह चुनाव कराने के बदले सीटें नीलाम कर दिया करे। 

गोम्स ने यहां मीडिया को संबोधित करते हुए यह भी कहा कि चुनाव में पार्टी की हार के बाद आप की गोवा इकाई को खत्म करने संबंधित खबरें झूठी हैं और पार्टी की राज्य इकाई गोवा में पार्टी के सिद्धांतों पर लगातार काम करती रहेगी।

गोवा विधानसभा चुनाव में पार्टी की बुरी हार के बाद गोम्स की यह पहली पत्रकार वार्ता थी। आप गोवा में एक भी सीट जीतने में कामयाब नहीं हो पाई। चुनाव परिणाम शनिवार को घोषित किए गए थे।

गोम्स ने मीडियाकर्मियों से कहा, "चूंकि निर्वाचन आयोग विफल हो गया है, इसलिए चुनाव जीतने में पैसे की भूमिका बढ़ गई है। कभी-कभी मुझे आश्चर्य होता है कि आखिर हम चुनाव कराते ही क्यों हैं? बेहतर होगा कि निर्वाचन आयोग सीटों की नीलामी कराए, और जो अधिक बोली लगाए उसे सीटें दे दी जाए। बेवजह इतनी लंबी चुनावी कसरत की क्या जरूरत?"

गोम्स ने कहा, "जनता क्या चाहती है, यह हमारे समझ से परे है।" उन्होंने कहा कि आप ने गोवा के लोगों के सामने एक उचित और सही विकल्प देने की कोशिश की, जिसके तहत राजनीति में नए चेहरों को पेश किया गया, और सांप्रदायिक व जातिगत फार्मूले को दरकिनार कर साफ-सुथरी छवि वालों को टिकट दिया गया।

आप संयोजक ने कहा, "लोग इसके अलावा क्या चाहते हैं, हम नहीं समझ सकते.. हम लोगों को बेहतर तरीके से समझने की कोशिश करेंगे।"
मनोहर पर्रिकर कल लेंगे गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ

मनोहर पर्रिकर कल लेंगे गोवा के मुख्यमंत्री पद की शपथ

manohar-parrikar-will-take-oath-as-goa-chief-minister-tomorrow

नई दिल्ली, 13 मार्च: तकरीबन दो साल पहले मनोहर पर्रिकर ने गोवा के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देकर देश के रक्षा मंत्री का पद संभाला था। अब वह रक्षा मंत्री का पद छोड़कर फिर से गोवा का मुख्यमंत्री बनने जा रहे हैं। वह मंगलवार को मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। पर्रिकर ने गोवा में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सरकार गठित करने के लिए सोमवार को केंद्रीय मंत्रिपरिषद से इस्तीफा दे दिया। राष्ट्रपति ने उनका इस्तीफा मंजूर कर लिया।

राष्ट्रपति कार्यालय द्वारा जारी बयान में कहा गया है, "राष्ट्रपति ने संविधान के अनुच्छेद 75 के खंड (2) के तहत मनोहर पर्रिकर का मंत्रीपरिषद से इस्तीफा स्वीकार कर लिया है।"

इसके अलावा राष्ट्रपति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सिफारिश पर केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली को रक्षा मंत्रालय का अतिरिक्त कार्यभार सौंपा है।

भाजपा ने रविवार को पर्रिकर को गोवा में सरकार का नेतृत्व करने की जिम्मेदारी सौंपी थी। वह मंगलवार शाम 5 बजे राजभवन में शपथ ग्रहण करेंगे। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह शपथ ग्रहण समारोह में मौजूद रहेंगे।

गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा पर्रिकर सहित उनके मंत्रिमंडल के सदस्यों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगी। सिन्हा ने पर्रिकर से शपथ ग्रहण के बाद गोवा विधानसभा में 15 दिनों के अंदर बहुमत साबित करने के लिए कहा है।

पर्रिकर इससे पहले दो बार गोवा के मुख्यमंत्री रह चुके हैं। पहली बार अक्टूबर 2000 से फरवरी 2005 तक और दूसरी बार मार्च 2012 से 8 नवंबर 2014 तक। इसके बाद वह रक्षा मंत्री बने थे।

जेटली भी इससे पहले रक्षा मंत्रालय का कार्यभार संभाल चुके हैं। मोदी सरकार के गठन पर उन्होंने 26 मई 2014 से 9 नवंबर 2014 तक रक्षा मंत्रालय का कार्यभार संभाला था।

पर्रिकर ने 40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में 21 सदस्यों के समर्थन का दावा किया है। विधानसभा चुनाव में भाजपा को 13 सीटों पर जीत मिली है। गोवा फॉरवर्ड पार्टी और महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के 3-3 सदस्यों ने भाजपा के प्रति समर्थन जाहिर किया है। इसके अलावा दो निर्दलीय विधायकों ने भी अपना समर्थन जताया है।

गोवा विधानसभा चुनाव में कांग्रेस 17 सीटों पर जीत हासिल करते हुए सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी, लेकिन यह संख्या सरकार गठन के लिए नाकाफी है।

भाजपा सूत्रों ने बताया कि पार्टी को समर्थन देने वाले अधिकतर विधायकों को मंत्रिमंडल में शामिल किया जा सकता है।

सूत्रों ने कहा, "अभी इस पर विचार-विमर्श चल रहा है। हम वित्त एवं गृह मंत्रालय अपने पास रखेंगे। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी समर्थन देने वाले विधायकों को दिए जाने वाले मंत्री पद पर बात कर रहे हैं। पर्रिकर अन्य पार्टी नेताओं के साथ खुद अंतिम फैसला करेंगे।"

Mar 13, 2017

PM MODI को अब ढूंढना होगा रक्षा मंत्री, मनोहर पर्रिकर बने गोवा के मुख्यमंत्री, बनेगी BJP सरकार

PM MODI को अब ढूंढना होगा रक्षा मंत्री, मनोहर पर्रिकर बने गोवा के मुख्यमंत्री, बनेगी BJP सरकार

manohar-parrikar-appointed-goa-chief-minister-by-governor
पणजी, 13 मार्च: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के लिए एक बुरी खबर है क्योंकि उनके प्यारे और इमानदार रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर गोवा के मुख्यमंत्री बन चुके हैं हालाँकि उन्होंने अभी तक पद की शपथ नहीं ली है लेकिन राज्यपाल ने उन्हें नियुक्ति पत्र सौंप दिया है और उन्हें 15 दिन के अन्दर बहुमत साबित करने के लिए कहा है जो कि उनकी सहयोगी पार्टियों और आजाद उम्मीदवारों के समर्थन से मिल चुका है, अब प्रधानमंत्री मोदी को एक नया रक्षा मंत्री ढूंढना होगा या खुद ही रक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी संभालनी होगी। 

कल गोवा में अचानक बदले घटनाक्रम के तहत भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेताओं ने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में राज्यपाल मृदुला सिन्हा से मुलाकात की और राज्य में नई सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया। पर्रिकर के साथ 21 विधायक भी राज्यपाल के साथ पहुंचे थे इसलिए राज्यपाल ने मनोहर पर्रिकर को मुख्यमंत्री निर्वाचित कर दिया। 

पर्रिकर के नेतृत्व में राज्यपाल से मुलाकात के समय भाजपा के 13 विधायकों के साथ गोवा फारवर्ड पार्टी के 3, महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी के 3 और 3 निर्दलीय विधायक भी थे, जिनकी कुल संख्या 21 होती है। इसके अलावा भाजपा ने बेनौलिम से राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के विधायक चर्चिल अलेमाओ के समर्थन का भी दावा किया और कहा कि उनके समर्थन का पत्र भी जल्द ही राज्यपाल को भेज दिया जाएगा।

जहां एक तरफ पर्रिकर ने राजभवन में राज्यपाल से मुलाकात की, वहीं दूसरी तरफ नवनिर्वाचित कांग्रेस विधायकों और महासचिव दिग्विजय सिंह सहित वरिष्ठ केंद्रीय नेताओं के साथ पार्टी विधायक दल का नेता तय करने के लिए एक होटल में घंटों चर्चा की।

राज्यपाल से मुलाकात के बाद केंद्रीय परिवहन मंत्री गडकरी ने संवाददाताओं से कहा कि भाजपा गोवा में एक स्थिर सरकार बनाएगी। 

गडकरी ने कहा, "हम मनोहर पर्रिकर के नेतृत्व में एक स्थिर सरकार बनाएंगे। हमारे पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने समर्थन के लिए पार्टियों को बधाई दी है।"

Mar 12, 2017

मनोहर पर्रिकर ने दिया रक्षा मंत्री पद से इस्तीफ़ा: पढ़ें क्यों

मनोहर पर्रिकर ने दिया रक्षा मंत्री पद से इस्तीफ़ा: पढ़ें क्यों

manohar-mattikar-resign-from-defense-minister-for-goa-cm
नई दिल्ली, 12 मार्च: एक बड़ी खबर आयी है, रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने केंद्रीय रक्षा मंत्री पद से इस्तीफ़ा देने दे दिया है, अब वे फिर से गोवा के मुख्यमंत्री बनेंगे, सुबह ही खबर आ रही थी कि गोवा के बीजेपी नेता मनोहर पर्रिकर को फिर से मुख्यमंत्री पद पर देखना चाहते हैं और उनके सहयोगी भी उन्हें तभी समर्थन देंगे जब मनोहर पर्रिकर मुख्यमंत्री बनें और हिंदुत्व के मुद्दों पर काम करें, शायद इसीलिए मनोहर पर्रिकर ने इस्तीफ़ा देकर फिर से गोवा का मुख्यमंत्री बनने का फैसला किया है।

पर्रिकर ने इस्तीफ़ा देने के बाद कहा, रक्षा मंत्री बनकर काम करना वाकई में कठिन था क्योंकि यह एक नया विभाग था, मुझे ख़ुशी है कि मुझपर भ्रष्टाचार का कोई दाग नहीं लगा। पर्रिकर ने कहा - हमने अपने विधायकों का समर्थन पत्र राज्यपाल को दे दिया है और उनके आमंत्रण का इन्तजार कर रहे हैं। पर्रीकर ने कहा कि हमें कम सीटें मिली थीं लेकिन हमारे सहयोगियों को मिलाकर हम 21 के आंकड़ों को छू रहे हैं।

आज सुबह ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नवनिर्वाचित विधायकों ने रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर की गोवा के मुख्यमंत्री के रूप में वापसी की मांग को लेकर एक प्रस्ताव पारित किया। यह प्रस्ताव पर्रिकर, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी और कार्यवाहक मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर की मौजूदगी में भाजपा विधायकों की एक बैठक में पारित किया गया।

भाजपा विधायक माइकल लोबो ने संवाददाताओं से कहा कि प्रस्ताव के पारित किए जाने के दौरान पर्रिकर कुछ देर के लिए बैठक से चले गए थे।

लोबो ने संवाददाताओं से कहा, "हम गोवा के मुख्यमंत्री के तौर पर पर्रिकर को चाहते है। हमने अपना प्रस्ताव पार्टी अध्यक्ष अमित शाह को फैक्स से भेज दिया है।" पर्रिकर नवंबर 2014 में रक्षा मंत्री बनने से पहले गोवा के मुख्यमंत्री थे।

लोबो ने कहा कि भाजपा के नेता महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी), गोवा फारवर्ड और निर्दलीय विधायकों से गठबंधन के लिए बात कर रहे हैं। राज्य में दोनों क्षेत्रीय पार्टियों को तीन-तीन सीटें मिली हैं। जबकि तीन निर्दलीय उम्मीदवार जीते हैं।

40 सदस्यीय गोवा विधानसभा में कांग्रेस को सबसे अधिक 17 सीट मिलीं हैं। भाजपा 13 सीट के साथ दूसरे नंबर पर है। भाजपा को सरकार बनाने के लिए 21 के जादुई आंकड़े तक पहुंचने के लिए 8 विधायकों की जरूरत है। लोबो ने कहा, "हमें बहुमत के आंकड़े जुटा लेने का भरोसा है और हम सोमवार को सरकार बनाने का दावा करेंगे।"

मनोहर पर्रिकर का गोवा वापस लौटना इसलिए भी जरूरी है क्योंकि उनके स्थान पर मुख्यमंत्री बनाए गए लक्ष्मीकांत पारसेकर भी चुनाव हार गए हैं, उनका चुनाव हारना साबित करता है कि मनोहर पर्रिकर को केंद्र में ले जाकर बीजेपी ने भूल की थी और लक्ष्मीकान्त पारसेकर गोवा को संभाल नहीं पाए। 

Mar 11, 2017

गोवा और मणिपुर ने BJP को किया हैरान, BJP को मिले सबसे अधिक वोट फिर भी कांग्रेस से हार गयी

गोवा और मणिपुर ने BJP को किया हैरान, BJP को मिले सबसे अधिक वोट फिर भी कांग्रेस से हार गयी

goa-manipur-election-result-bjp-high-vote-share-but-congress-win
New Delhi, 11 March: आज पांच राज्यों के चुनावों के नतीजे आये और उत्तर प्रदेश के साथ साथ उत्तराखंड में भी बीजेपी की प्रचंड जीत हुई लेकिन बीजेपी के लिए सबसे हैरान और निराश कर देने वाले नतीजे मणिपुर और गोवा के रहे, गोवा में भारतीय जनता पार्टी के हाथों से सत्ता निकल गयी जबकि मणिपुर में सत्ता के नजदीक पहुंचकर भी कुछ फासला रह गया। 

बीजेपी के लिए हार तो हुई लेकिन उन्हें सबसे अधिक वोट मिले, गोवा में भी बीजेपी को सबसे अधिक वोट मिले और मणिपुर में भी उन्हें सबसे अधिक वोट मिले, मतलब जनता ने उन्हें बहुमत तो देना चाहा, वोट भी दिया लेकिन वोट सीटों में नहीं बदल पायी और बीजेपी दोनों जगह चुनाव हार गयी। 

मणिपुर में बीजेपी को 36.3 फ़ीसदी वोट मिले जबकि कांग्रेस को 35.1 फ़ीसदी ही वोट मिले उसके बावजूद भी कांग्रेस को 28 सीटें मिलीं और 28 को केवल 21. 

ठीक इसी तरह गोवा के परिणाम रहे, यहाँ पर भी बीजेपी को 32.5 फ़ीसदी वोट मिले जबकि कांग्रेस को केवल 28.4 उसके बाद भी कांग्रेस को 17 सीटें मिलीं जबकि बीजेपी को केवल 13 सीटें। 

Feb 4, 2017

Goa Poll 2017: शाम तक 83 फ़ीसदी मतदान, उसके बाद भी लगी रही लम्बी लाइनें

Goa Poll 2017: शाम तक 83 फ़ीसदी मतदान, उसके बाद भी लगी रही लम्बी लाइनें

goa-poll-2017-83-percent-voting-recorded-till-evening

पणजी, 4 फरवरी: गोवा की 40 विधानसभा सीटों के लिए शनिवार शाम पांच बजे मतदान शांतिपूर्ण तरीके से समाप्त हो गया। इस समय तक 83 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया। निर्वाचन अधिकारियों ने कहा कि कुछ मतदान केंद्रों पर अब भी मतदान जारी है, जहां लोग कतार में खड़े हैं। ऐसे में मतदान प्रतिशत बढ़ने की संभावना है। 

इस बीच मुख्य निर्वाचन अधिकारी की ओर से शाम पांच बजे तक के आंकड़े जारी किए गए हैं, जिसमें 83 फीसदी मतदान की बात कही गई है। 

गोवा में 40 विधानसभा सीटों के लिए 11 लाख मतदाता नई सरकार के गठन में अपनी भागीदारी निभाने के लिए घरों से निकले। निर्वाचन अधिकारियों का कहना है कि दोनों राज्यों में मतदान प्रतिशत बढ़ सकता है, क्योंकि मतदान खत्म होने का समय शाम पांच बजे के बाद भी बड़ी संख्या में मतदाता वोट डालने के लिए कतार में लगे हुए थे। 

शुरुआती घंटों में मतदान करने वालों में देश के रक्षामंत्री और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर रहे। उन्होंने पणजी में वोट डाला। मुख्यमंत्री लक्ष्मीकांत पारसेकर ने मंद्रेम में वोट डाला।

राज्य में आम आदमी पार्टी (आप) की ओर से मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार एल्विस गोम्स ने भी वोट डाला।

गोवा चुनाव में 251 उम्मीदवार आमने-सामने हैं। चुनाव मैदान में सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), कांग्रेस, आम आदमी पार्टी (आप), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी), शिवसेना, महाराष्ट्रवादी गोमांतक पार्टी (एमजीपी) व गोवा सुरक्षा मंच हैं।

मतदान के कारण राज्य में सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे। राज्य पुलिस के अलावा 8,000 से अधिक अतिरिक्त अर्धसैनिक बलों को 1,642 मतदान केंद्रों पर तैनात किया गया था। 

सभी पांच राज्यों में होने वाले चुनाव के लिए मतगणना 11 मार्च को होगी। 
Goa Poll 2017: मुझे दिल्ली से अधिक गोवा का खाना अच्छा लगता है, मतलब आप निकाल लो: मनोहर पर्रिकर

Goa Poll 2017: मुझे दिल्ली से अधिक गोवा का खाना अच्छा लगता है, मतलब आप निकाल लो: मनोहर पर्रिकर

goa-poll-2017-manohar-parrikar-claimed-bjp-two-third-majority
पणजी, 4 फ़रवरी: रक्षा मंत्री मनोहर पर्रिकर ने आज गोवा विधानसभा के लिए मतदान किया, उन्होंने मतदान के बाद संवाददाताओं से बातचीत में दावा किया कि बीजेपी की यहाँ दो-तिहाई बहुमत से सरकार बनने वाली है। 

उन्होंने कहा कि हमारी पहली कोशिश की वोटिंग परसेंटेज बढ़ाना और जिस प्रकार की रिपोर्ट आ रही है उसे देखकर लग रहा है कि हम अपनी कोशिश में कामयाब हुए हैं। पिछली बार 84 फ़ीसदी वोटिंग हुई थी लेकिन इस बार वह आंकड़ा भी पर हो जाएगा। उन्होंने कहा कि जब भी वोटिंग अधिक होती है बीजेपी चुनाव जीत जाती हिअ। 

जब उनसे मुख्यमंत्री पर सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा कि मुझे दिल्ली से अधिक गोवा का खाना अच्छा लगता है, यहाँ की मछली बहुत पसंद है, इसका आप जो भी मतलब निकालना है निकाल लो। 

Jan 28, 2017

गोवा के लोगों को इतना भाया PM MODI का भाषण, लोग बजाते रहे 1 मिनट तक तालियाँ, तड़ातड़, तड़ातड़

गोवा के लोगों को इतना भाया PM MODI का भाषण, लोग बजाते रहे 1 मिनट तक तालियाँ, तड़ातड़, तड़ातड़

pm-narendra-modi-message-to-goa-citizen-in-hindi

Panaji, 28 January: प्रधानमंत्री मोदी ने आज गोवा के पणजी में बड़ी चुनावी रैली को संबोधित किया और शुद्ध हिंदी में बताया कि 4 तारीख को चुनाव होने वाले हैं, इस चुनाव में ऐसे लोग भी हैं जो केवल वोट काटना चाहते हैं, ऐसे लोगों के धोखे में ना आयें और पूर्व बहुमत के साथ बीजेपी की सरकार बनाएं, क्योंकि अगर बहुमत की सरकार होगी तो सरकार मजबूत होगी, अपने फैसले खुद लेगी, केंद्र में बीजेपी की सरकार है इसलिए उसका भी साथ मिलेगा। 

मोदी ने शुद्ध हिंदी में कहा कि पांच साल से गोवा में BJP की सरकार है लेकिन यह सरकार बहुमत के साथ नहीं बनी थी, अभी अभी सरकार के साझीदार अपने स्वार्थ के कारण हमसे अलग भी हो गए, इसके अलवा ढाई साल पहले केंद्र में कांग्रेस की सरकार थी जिसकी वजह से उनका साथ नहीं मिल पाया, इस बार ऐसा नहीं है, केंद्र में मेरी सरकार है, ऐसे में अगर गोवा में भी पूर्व बहुमत से बीजेपी की सरकार बन गयी तो मै अगले पांच वर्षों में गोवा में इतना काम करा दूंगा जितना पिछले 50 वर्षों में भी नहीं हुआ है। 

मोदी ने शुद्ध हिंदी में कहा कि गोवा के लोग मेरे केंद्र में होने का फायदा जरूर उठायें, कहीं ऐसा ना हो कि आप कांग्रेस की सरकार बना दें, अगर ऐसा हुआ तो उनका और मेरा साथ बनेगा नहीं और मेरी मदद भी नहीं मिल पाएगी, ऐसे में पांच साल पछताना पड़ेगा। इसलिए कोई गलती ना करें और बीजेपी की पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनाएं। 

प्रधानमंत्री मोदी का भाषण रैली में आये लोगों को इतना भाया कि भाषण समाप्त होने के बाद लोग खड़े होकर एक मिनट तक जोरों के साथ तालियाँ बजाते रहे, मैदान से केवल तड़ातड़ तड़ातड़ की आवाज आती रही, लोगों को शायद मोदी का सन्देश अच्छी तरह से समझ में आ गया कि विकास चाहिए तो सिर्फ बीजेपी को वोट देना है। 
भ्रष्टाचार पर भाषण देना फैशन बन गया है, एक्शन लिया तो ये कहते हैं ‘हम पर ही हमला कर दिया’: MODI

भ्रष्टाचार पर भाषण देना फैशन बन गया है, एक्शन लिया तो ये कहते हैं ‘हम पर ही हमला कर दिया’: MODI

panaji-rally-modi-told-speaking-about-corruption-become-fashion

Panaji, 28 January: प्रधानमंत्री मोदी ने आज पणजी में एक चुनावी रैली को संबोधित किया और बीजेपी को चुनावों में बहुमत देने की अपील की। मोदी ने कहा कि इस देश में गरीबी हटाने का भाषण देने का एक फैशन बन गया है, भ्रष्टाचार हटाने का भाषण देने का एक फैशन बन गया है, लेकिन अगर भ्रष्टाचार हटाने के लिए कोई कदम उठाया जाए तो उनको पता चलता है कि पहला हमला हमारे ऊपर हो गया।

मोदी ने कहा कि कर्नाटक में कांग्रेस के मंत्री के यहाँ 150 करोड़ की नयी नोटें पकड़ी गयीं। कालाधन और सोना पकड़ा गया। आपने देखा होगा कि कर्नाटक की कांग्रेस सरकार को कोई परेशानी नहीं है, वे कहते हैं कि ऐसा तो होता रहता है, उस मंत्री से अभी तक ना तो इस्तीफ़ा लिया गया है, कोई नोटिस भी नहीं दिया गया है, क्या ऐसी भ्रष्टाचारी सरकार को गोवा में भी लाना चाहते हैं।

मोदी बोले कि भ्रष्टाचार ख़त्म करने के लिए मैंने पूरे देश में एक मुहिम छेड़ा हुआ है, छोटे लोग भ्रष्टाचारी नहीं होते, बड़े बड़े और कद्दावर लोग ही भ्रष्टाचारी होते हैं और मेरे ऊपर जो जुल्म हो रहा है इसलिए हो रहा है क्योंकि उन्हें मुझसे परेशानी हो रही है। उन्हें इसलिए परेशानी हो रही है क्योंकि उन्होंने 70 साल से जो जमा किया था मोदी उसे निकाल रहा है।

मोदी ने कहा कि ये सरकार गरीबों के लिए है, गरीबों की जिन्दगी में बदलाव लाने के लिए है, गरीबों के लिए एक के बाद एक योजनायें शुरू की जा रही है। एक के बाद एक ठोस कदम उठाये जा रहे हैं ताकि गरीब की जिंदगी में बदलाव आए, मोदी न कहा कि हमारे कदम कठोर जरूर होंगे लेकिन देश की भलाई के लिए होंगे, राजनीतिक स्वार्थ के लिए नहीं होंगे, देश को भ्रष्टाचार से मुक्त कराने के ईमानदार प्रयास का हिस्सा होंगे।

मोदी ने कहा कि 4 तारीख को चुनाव है, भारी मतदान करें, पूरे बहुमत के साथ कमल का फूल खिलाएं ताकि कमल के साथ साथ गोवा भी खिले। 
50 वर्षों में जितना काम नहीं हुआ वह मै 5 वर्षों में करूँगा, लेकिन पूर्ण बहुमत दें: PM MODI

50 वर्षों में जितना काम नहीं हुआ वह मै 5 वर्षों में करूँगा, लेकिन पूर्ण बहुमत दें: PM MODI

pm-narendra-modi-appeal-goa-people-to-give-full-majority-to-bjp

Panaji, 28 January: प्रधानमंत्री मोदी ने आज पणजी में एक चुनावी रैली को संबोधित किया और बीजेपी को चुनावों में बहुमत देने की अपील की, उन्होंने कहा कि बहुत वर्षों से गोवा को एक बीमारी रही है, हर चुनाव में सरकार बदल देती है जिसकी वजह से गोवा हमेशा अस्थिर रहता है, पिछली बार आपने बीजेपी की गठबंधन वाली सरकार बनायी थी लेकिन आपने देखा कि निजी स्वार्थ के कारण हमारे साथी हमें छोड़कर चले गए। 

मोदी ने कहा - आप मुझे बताइये हिंदुस्तान की जनता समझदार है कि नहीं है, देश के हर कोने में हो रहे चुनावों में कांग्रेस की पिटाई क्यों हो रही है। इसका मतलब है कि जनता समझदार है, और जो समझदारी हिंदुस्तान की जनता में है उससे अधिक समझदारी गोवा के नागरिकों में है, गोवा का नागरिक कांग्रेस के कुशासन और भ्रष्टाचार की पापलीला को भुगत चुका है, अब कभी भी हम गोवा को ऐसी मुसीबतों में फंसने नहीं देंगे इस चुनाव में आपको निर्णय करना है। 

मोदी ने कहा कि राजनीतिक विचार हो सकते हैं, राजनीतिक मतभेद हो सकते हैं, निर्णयों की आलोचना हो सकती है और लोकतंत्र में ऐसा होगा स्वाभविक है लेकिन पीड़ा तो तब होती है जब राजनीतिक दल विकास के मुद्दे पर चर्चा करने से भागते हैं, देश में चुनाव विकास के मुद्दे पर लडे जाने चाहियें, देश में चुनाव विकास के तराजू से तौले जाने चाहिए, देश की किस्मत में बदलाव तभी हो सकता है। 

मोदी ने कहा कि आज दुनिया देख रही है कि आज हिंदुस्तान में एक ऐसी सरकार आयी है जिसमें कड़े फैसले लेने की हिम्मत है, आप मुझे बताइये, आज पूरी दुनिया में हिंदुस्तान की जय जय कार हो रही है कि नहीं, अमेरिका, जापान, चीन, श्रीलंका और नेपाल हर जगह जय जय कार है हो रहा है, ये जय जय कार इसलिए हो रही है क्योंकि सवा सौ करोड़ करोड देशवासियों ने 30 साल के बाद देश स्थिर सरकार चुनी है, अगर देश में स्थिर सरकार नहीं होती तो विश्व में इतने सम्मान की नजरों से नहीं देखता। इसी तरह से गोवा में स्थिर सरकार बननी चाहिए ताकि पूरे हिंदुस्तान में गोवा का डंका बजे। 

मोदी ने कहा कि इस चुनाव में आप बीजेपी को पूर्ण बहुमत दें ताकि एक मजबूत सरकार बन सके। मै आपसे वादा करता हूँ कि जितना काम 50 वर्षों में नही हुआ उससे भी अधिक काम मै 5 वर्षों में करवाऊंगा क्योंकि गोवा में मुझे दुनिया भर से टूरिस्ट लाने हैं। विश्व भर में जो वातावरण बना है वह मै गोवा की झोली में भरना चाहता हूँ। 
PM MODI ने KEJRIWAL को लगायी फटकार, अंपायर पर भरोसा ही नहीं है तो खेल के मैदान में आते क्यों हो

PM MODI ने KEJRIWAL को लगायी फटकार, अंपायर पर भरोसा ही नहीं है तो खेल के मैदान में आते क्यों हो

pm-narendra-modi-attack-arvind-kejriwal-in-panaji-goa-rally

Panaji, 28 January: प्रधानमंत्री मोदी ने आज पणजी में एक चुनावी रैली को संबोधित किया और बीजेपी को चुनावों में बहुमत देने की अपील की, उन्होंने कहा कि बहुत वर्षों से गोवा को एक बीमारी रही है, हर चुनाव में सरकार बदल देती है जिसकी वजह से गोवा हमेशा अस्थिर रहता है, पिछली बार आपने बीजेपी की गठबंधन वाली सरकार बनायी थी लेकिन आपने देखा कि निजी स्वार्थ के कारण हमारे साथी हमें छोड़कर चले गए। 

प्रधानमंत्री मोदी ने बिना नाम लिए केजरीवाल पर भी निशाना साधा, उन्होंने कहा - कुछ लोग जब पराजय सर पर देखते हैं तो इज्जत बचाने के लिए पहले से ही माहौल बना देते हैं, आपने देखा होगा कि जब कुछ बच्चे परीक्षा में अच्छा प्रदर्शन नही कर पाते तो कहते हैं कि टीचर ने ठीक से पढाया नहीं, माँ-बाप भी कहते हैं स्कूल बेकार है, कुछ कहते हैं कि परीक्षा कॉपी चेक करने वाले ने ठीक से चेक नहीं किया, वे यह नहीं देखते कि उनके बच्चे ने पढ़ाई की थी या नहीं की थी। वे सिर्फ कारण ढूंढते हैं।

उन्होंने केजरीवाल का बगैर ना लिए कहा, इस चुनाव में भी ऐसा हो रहा है, जब मैंने एक पार्टी के नेता का बयान सुना तो मुझे बड़ा आश्चर्य हुआ, वे कह रहे थे कि 'मुझे आश्चर्य हो रहा है कि पंजाब और गोवा का चुनाव के साथ क्यों है', दोनों चुनाव 4 तारीख को ही क्यों हो रहे हैं, दोनों का चुनाव सबसे पहले क्यों हो रहा है, लगता है कि PMO ने इलेक्शन कमीशन पर दबाव डाला है तभी पहले आ गया है, मतलब उनकी पराजय की तैयारियां चल रही हैं, बहाने ढूंढें जा रहे हैं, अब ये लोग हार जाएंगे तो कहेंगे कि इलेक्शन कमीशन ने डेट ऐसी दे दी इसलिए हार गए।

मोदी ने केजरीवाल को फटकार लगाते हुए कहा, क्या चुनावों में लोकतंत्र में लड़ाई ऐसे मुद्दों पर करोगे, ये कहोगे कि चुनाव आयोग ने डेट गलत दे दी, अगर अंपायर पर ही भरोसा नहीं करते तो खेल के मैदान में आते क्यों हो।

मोदी ने कहा कि ये लोकतंत्र है, हमें व्यवस्थाओं को स्वीकार करना होता है, व्यवस्थाओं के प्रति बढानी होती है, अगर व्यावस्था पर आस्था तोड़ देंगे तो सामान्य व्यक्ति का विश्वास ख़त्म हो जाएगा लेकिन आज राजनीति को इतने निचले स्तर पर ले जाने का प्रयास हो रहा है जिसके कारण सार्वजानिक जीवन के मूल्यों को गिराने में कुछ लोगों को गौरव महसूस हो रहा है। 
PM MODI बोले, चुनाव में वोट काटने वाले लोकतंत्र की जेब काट लेते हैं, ऐसे लोगों से बचकर रहें

PM MODI बोले, चुनाव में वोट काटने वाले लोकतंत्र की जेब काट लेते हैं, ऐसे लोगों से बचकर रहें

pm-narendra-modi-speech-in-panaji-rally-goa-election-2017-hindi

Panaji, 28 January: प्रधानमंत्री मोदी ने आज पणजी में एक चुनावी रैली को संबोधित किया और बीजेपी को चुनावों में बहुमत देने की अपील की, उन्होंने कहा कि बहुत वर्षों से गोवा को एक बीमारी रही है, हर चुनाव में सरकार बदल देती है जिसकी वजह से गोवा हमेशा अस्थिर रहता है, पिछली बार आपने बीजेपी की गठबंधन वाली सरकार बनायी थी लेकिन आपने देखा कि निजी स्वार्थ के कारण हमारे साथी हमें छोड़कर चले गए। 

मोदी ने कहा कि इस बार आप लोग कोई गलती मत करना और बीजेपी की पूर्ण बहुमत की सरकार बनाना। मोदी ने कहा कि गोवा वालों का दुर्भाग्य है कि यहाँ पर अच्छा करने की उमंग रखने वाले नेताओं से अधिक बुरा करने वाले नेताओं की संख्या अधिक है, वे लोग गोवा का भला नहीं चाहते, यह भी नहीं चाहते कि मै कुछ अच्छा करूँ,  उनका तो यही है कि मै मरूँगा तो मरूँगा लेकिन तुझे भी नहीं छोडूंगा। 

मोदी ने कहा कि ये जो वोट कटाऊ लोग हैं ये लोग लोकतंत्र की भी जेब काट लेते हैं। ये लोकतंत्र के जेबकतरे हैं इसलिए ये किसी का भी भला नहीं सोच सकते, ये सिर्फ वोट काटकर लोकतंत्र की जेब काट लेते हैं और लोकतंत्र को कमजोर कर देते हैं।

मोदी ने कहा उदाहरण के लिए मान लीजिये, एक तारीख को बजट आने वाला है तो कुछ पार्टियाँ अभी से तैयार बैठी हैं, बड़े बड़े अर्थशास्त्रियों से संपर्क बना रही हैं, कुछ लोगों ने तो ड्राफ्ट भी तैयार कर लिया है कि एक तारीख को बजट आने वाला है, अभी उनको पता नहीं है कि बजट में क्या आने वाला है, लेकिन अभी से ड्राफ्ट बना रहे हैं कि जैसे ही बजट पेश हो हम ऐसा हमला कर दें कि ताकि हमारा सन्देश गोवा में भी चला जाए, पंजाब में भी चला जाए, उत्तर प्रदेश में भी चला जाए, मणिपुर में भी चला जाए और उत्तराखंड में भी चला जाए, ये लोग अभी से ही कागज पर ड्राफ्टिंग कर रहे हैं।

बजट आने के बाद विपक्ष कमियों पर आलोचना करे यह तो हम समझते हैं लेकिन वित्त मंत्री बजट के लिए जितनी मेहनत कर रहे हैं उससे भी अधिक मेहनत इस सरकार को बुरा भला कहने वाले लोग कर रहे हैं ताकि बजट के खिलाफ कुछ बोल सकें। ये लोकतंत्र के लिए अच्छी सोच नहीं है।

Jan 16, 2017

GOA Election 2017: BJP की दूसरी लिस्ट जारी

GOA Election 2017: BJP की दूसरी लिस्ट जारी

goa-election-2017-second-list-of-bjp-candidates-released

नई दिल्ली, 16 जनवरी: गोवा में विधानसभा चुनाव को लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने अपनी दूसरी सूची सोमवार को जारी कर दी। इसमें सात उम्मीदवारों के नाम हैं। भाजपा की केंद्रीय निर्वाचन समिति ने रविवार को बैठक के दौरान पार्टी के उम्मीदवारों के नामों को मंजूरी दी। बैठक की अध्यक्षता पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने की। बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह तथा केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली भी मौजूद थे। 

समिति ने घोषणा की है कि मायेम विधानसभा सीट से प्रवीण जांत्ये, पोरिएम से विश्वजीत के.राणे, वालपोई से सत्यविजय एस.नाईक, पोंदा से सुनील एन.देसाई, करटोरिम से आर्थर डिसिल्वा, वेलिम से विनय तारी तथा कानाकोना से विजय ए.पई उम्मीदवार होंगे।

भाजपा ने 29 उम्मीदवारों की पहली सूची 12 जनवरी को जारी की थी, जिनमें 18 मौजूदा विधायकों के नाम थे।

गोवा विधानसभा में 40 सीटें हैं। भाजपा 36 सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा कर चुकी है। बाकी चार सीटों पर उम्मीदवारों की घोषणा वह जल्द कर सकती है।