Showing posts with label Chhatisgarh. Show all posts
Showing posts with label Chhatisgarh. Show all posts

Wednesday, January 18, 2017

संपत्ति बेचकर बेटों ने माँ का सपना किया पूरा, बेघरों के लिए बनाया घर: पढ़ें कहाँ की है ये खबर

संपत्ति बेचकर बेटों ने माँ का सपना किया पूरा, बेघरों के लिए बनाया घर: पढ़ें कहाँ की है ये खबर

chhatisgarh-mahasumund-news-dr-vimal-chopra-good-work

रायपुर/महासमुंद, 18 जनवरी: छत्तीसगढ़ के महासमुंद जिले में छह बेटों ने मां का सपना पूरा करने के लिए संपत्ति की परवाह न करते हुए बेघर आदिवासियों के लिए कॉलोनी बसा दी। महासमुंद के चोपड़ा परिवार में मां छोटीबाई चोपड़ा ने कहा था, "मेरी मृत्यु के बाद मेरे जेवर को आपस में मत बांटना, इसका उपयोग उन लोगों के हित में करना, जिनकी कोई नहीं सुन रहा हो।" 

महासमुंद के चोपड़ा बंधुओं ने सोलह साल तक ऐसे परिवारों की तलाश की जो वाकई बेघर हैं। उनकी तलाश अब पूरी होती दिख रही है। उन्होंने परसाहीदादर के जंगल से बेदखल किए गए कमार परिवारों के लिए घर बनवाने का निर्णय लिया है। चोपड़ा बंधुओं ने मां के आधे जेवर 25 लाख में बेचे और उस पैसे से गौरखेड़ा के जंगल में छह एकड़ जमीन खरीदी। 

महासमुंद विधायक डॉ. विमल चोपड़ा ने बताया कि फरवरी, 2014 में जब उन्हें पता चला कि वन विभाग द्वारा आदिवासियों को उनकी जमीन से बेदखल कर दिया गया, तो उन्होंने उन गरीब आदिवासियों के हित के लिए काम करना शुरू किया। 

विधायक ने बताया कि शासन-प्रशासन से भी गरीब आदिवासियों को किसी तरह की सहायता नहीं मिल पा रही थी। उनका सामान वन विभाग ने जब्त कर लिया था। इतना ही नहीं बेघर आदिवासी परिवारों के पुरुष महासमुंद जेल में, महिलाएं रायपुर में तथा बच्चों में लड़कियां राजनांदगांव में और लड़के रायपुर के माना स्थित बाल संप्रेक्षण गृह में भेज दिए गए थे। इस दौरान लगातार दो साल तक आदिवासियों ने अपनी हक की लड़ाई जारी रखी। ये लोग महासमुंद जिलाधीश कार्यालय के सामने खुले गगन तले धरने पर बैठे रहे। 

बकौल चोपड़ा, कई आदिवासी महिलाओं ने यहां अपने बच्चों तक को जन्म दिया। चोपड़ा परिवार ने ना केवल इन्हें छुड़वाया, बल्कि इनके आवास एवं रोजगार के लिए भी प्रयास जारी रखा। 

विधायक चोपड़ा के अनुसार शहीद वीर नारायण सिंह सर्व आदिवासी समाज ट्रस्ट बनाया गया है। इस ट्रस्ट के माध्यम से ही इन पीड़ित परिवारों का व्यवस्थापन हो रहा है। इस वर्ष बारिश से पूर्व इन परिवारों को अपना आवास मुहैया करा दिया जाएगा। 

उन्होंने बताया कि एक एकड़ जमीन में आवास का निर्माण तथा चार एकड़ जमीन में रोजगार के अवसर तैयार कराए जा रहे हैं। आदिवासियों के लिए बन रही यह कालोनी महासमुंद से सात किलोमीटर दूर गौरखेड़ा गांव में निमार्णाधीन है। 

विधायक ने बताया कि इस योजना के लिए उन्हें समाज के लोगों सहित समाजिक संस्थाओं का भी साथ मिल रहा है। उन्होंने बताया कि रायपुर के मोतीलाल झाबक ने 25 लाख रुपये का दान किया है। इस तरह परिवार के और भी सदस्यों ने इस योजना के लिए दान किया है, जिससे एक करोड़ से अधिक की लागत से कॉलोनी तैयार हो रही है। उन्होंने बताया कि यह कार्य बगैर किसी शासकीय सहयोग के किया जा रहा है। 

विधायक डॉ. विमल चोपड़ा का कहना है, "मां की सीख को पूरा करते हुए मुझे और मेरे अग्रज भंवरलाल, संपतलाल, मोहन, कानमल, किशोर और बहन ज्योति को बेहद संतुष्टि मिल रही है।"

कॉलोनी का नाम हरिसिंह ध्रुव नगर रखा गया है। हरिसिंह उन आदिवासियों के नेता थे, जो बेघर हो गए थे।

Monday, January 16, 2017

हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट का पर्दाफाश, WhatsApp पर फोटो देखकर लगती थी लड़कियों की बोली

हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट का पर्दाफाश, WhatsApp पर फोटो देखकर लगती थी लड़कियों की बोली

sex-racket-exposed-in-chhag-chhatisgarh-whatsapp-used-for-photos

रायपुर, 15 जनवरी: छत्तीसगढ़ पुलिस ने एक हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट का पर्दाफाश किया है। इस रैकेट की सबसे कड़ी बात यह है कि लड़कियों की आपत्तिजनक तस्वीरों को व्हाट्स एप के माध्यम से देखकर लोग बोली लगाते और फिर लड़कियों को दूसरे राज्यों से बुलाया जाता था। पुलिस ने आरोपी दलाल और कोलकाता की दो लड़कियों को गिरफ्तार किया है। राजेंद्र नगर पुलिस ने बताया कि अशोका रतन में रहने वाला आदित्य सिंह ठाकुर उर्फ पोषण एजेंट का काम करता है। वह दूसरे राज्यों से लड़कियां बुलाकर लोगों को उपलब्ध कराता है। आरोपी पीटा एक्ट में दो बार जेल भी जा चुका है। 

राजेंद्र नगर थाना टीआई संध्या द्विवेदी ने बताया कि आरोपी युवक आदित्य सिंह को हिरासत में लिया गया है। 

सूत्रों ने बताया कि पुलिस को सूचना मिली थी कि आरोपी जेल से छूटने के बाद फिर से सेक्स रैकेट चला रहा है। पुलिस ने अपना एक प्वाइंटर उसके पीछे लगाया, जिसने एजेंट आदित्य से संपर्क किया। प्वाइंटर ने कहा कि एक जन्मदिन की पार्टी है। उसके लिए दो लड़कियां चाहिए। आदित्य ने बताया कि लड़कियां बाहर से बुलानी पड़ती है। उसकी कीमत ज्यादा है। दोनों के बीच सौदा तय हो गया। 

एजेंट ने कोलकाता से 20 और 21 साल की दो युवतियों को बुलाया। दोनों युवतियां शुक्रवार को ट्रेन से रायपुर पहुंचीं। उन्हें स्टेशन रोड के होटल में ठहराया गया था। प्वाइंटर ने एजेंट को युवतियों को लेकर शनिवार शाम राजेंद्र नगर बुलाया जहां उन्हें गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने बताया कि एजेंट ने पुलिस के प्वाइंटर को वाट्स एप पर कई युवती की फोटो भेजी थी। इसमें अलग-अलग उम्र की युवतियां थीं। सभी आपत्तिजनक फोटो थी। फोटो के आधार पर प्वाइंटर ने दो युवतियां का चयन किया। उस आधार पर दोनों को बुलाया गया। पुलिस ने बताया कि दोनों युवतियां इसी पेशे से जुड़ी हैं। इसमें एक महिला का नाम सामने आया है जिसने एजेंट का युवतियों से परिचय कराया, तब युवतियां रायपुर पहुंचीं।

पुलिस के अनुसार, यह बड़ा रैकेट है। आरोपी के आधा दर्जन से ज्यादा साथी पिछली बार गिरफ्तार हुए थे। जो प्रदेश के अलग-अलग शहर में काम करते हैं। पुलिस को आशंका है कि बाकी आरोपी भी जेल से छूटने के बाद इसी काम में लग गए होंगे। पुलिस उनके बारे में भी पता कर रही है।

Friday, December 23, 2016

मोदी भ्रष्ट हैं इसलिए भ्रष्टाचार ख़त्म करने को लेकर गंभीर नहीं हैं, धोखा दे रहे हैं: केजरीवाल

मोदी भ्रष्ट हैं इसलिए भ्रष्टाचार ख़त्म करने को लेकर गंभीर नहीं हैं, धोखा दे रहे हैं: केजरीवाल

kejriwal-attack-modi-notbandi-in-ranchi-rally-told-modi-is-corrupt

रांची, 22 दिसम्बर: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए कहा कि नोटंबदी औद्योगिक घरानों को संकट से उबारने के मकसद से हुई है, जिन्होंने बैंक से लिए गए अपने ऋण को नहीं चुकाया है। यहां जनसभा को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी (आप) नेता ने कहा कि प्रधानमंत्री काले धन या भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ाई के प्रति गंभीर नहीं हैं।

केजरीवाल ने कहा, "अगर वह गंभीर होते तो सिर्फ उन्हें गिरफ्तार करते, जिनका काला धन स्विस बैंकों में जमा है।"

केजरीवाल ने आयकर विभाग के दस्तावेज दिखाते हुए यह दावा किया कि मई 2014 में प्रधानमंत्री बनने से पहले जब वह गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तो दो प्रमुख कारपोरेट घरानों ने उन्हें भारी रिश्वत दी थी।

अपने पूर्व के विभाग, आयकर विभाग के सूत्रों का हवाला देते हुए आम आदमी पार्टी के संयोजक ने कहा कि आरोपों की जांच किए जाने की बजाय मोदी ने जांच को दबा दिया।

उन्होंने कहा, "प्रधानमंत्री को पता है कि स्विस बैंक खाते किसके हैं, लेकिन उन्होंने उन्हें गिरफ्तार नहीं किया क्योंकि वे उनके मित्र हैं।"

उन्होंने कहा कि नोटबंदी मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह द्वारा रचाई गई साजिश है, ताकि 500 और 1000 रुपये के नोटों को बैंकों में जमा कराया जा सके और इनका इस्तेमाल कारपोरेट घरानों द्वारा लिए गए ऋण को माफ करने में किया जाए।

केजरीवाल ने कहा कि नोटंबदी से अर्थव्यवस्था को नुकसान हुआ है और इससे देश भर में 105 लोग मारे गए हैं।

उन्होंने कहा, "भाजपा को नकद में 70 प्रतिशत चंदा मिला है लेकिन वे लोगों को कैशलेस होने के लिए कह रहे हैं।"

उन्होंने कहा, "मोदी के परिचित अपनी बेटियों की शादी में करोड़ों रुपये खर्च करते हैं, लेकिन वे हमसे कह रहे हैं कि अपनी बेटियों की शादी 2.5 लाख में करो।" अंत में उन्होंने कहा कि 'मोदी भ्रष्ट है'।

Sunday, November 20, 2016

कलेक्टर साहब चाहते तो घर पहुँच जाते नोट, लेकिन लाइन में लगकर और नम्बर आने पर बदलवाया नोट

कलेक्टर साहब चाहते तो घर पहुँच जाते नोट, लेकिन लाइन में लगकर और नम्बर आने पर बदलवाया नोट

bastar-collector-amit-kataria-news-exchange-notes-in-bank-queue
Photo Credit: Amit Kataria Facebook Page
New Delhi 18 November 2016: बस्तर के कलेक्टर अमित कटारिया इस वक्त फिर सुर्ख़ियों में हैं। एक दिन पहले उन्होंने काफी देर आम जनता की तरह बैंक के बाहर लाइन में खड़े होकर पांच-पांच सौ के दो नोटों के बदले सौ-सौ के नोट लिए। भारतीय स्टेट बैंक बस्तर पहुंचे कटारिया ने जनता के बीच खड़े होकर नोटबंदी पर उनकी राय ली। कटारिया के मुताबिक़ अधिकतर लोगों ने उन्हें बताया कि नोटबंदी से कोई ख़ास समस्या नहीं है।

कटारिया बैंक पहुँचते ही लाइन में सबसे पीछे खड़े हो गए और जब उनका नंबर आया तो आधार कार्ड की फोटोस्टेट काँपी देकर उन्होंने नोट बदलवाए।

अपने पाठकों को बता दें कि अमित कटारिया एक दबंग अधिकारी हैं ये चर्चा में उस समय आये थे जब छत्तीशगढ़ पहुंचे  प्रधानमंत्री की आगवानी के दौरान इन्होंने अपनी आँखों पर से काला चश्मा नहीं उतारा था। स्थानीय जहां भी परेशान होती है वहाँ कटारिया को भेजती है कटारिया सरकार की उम्मीदों पर हमेशा खरे उतरते हैं। अधिकारियों की लापरवाही बर्दास्त नहीं करते हैं।

कटारिया 2004  बैच के IAS   अधिकारी हैं। भाजपा नेता जो अब विधायक हैं उन्हें अपने आफिस से गेटआउट बोल चुके हैं। बताया जाता है कि कटारिया मात्र एक रूपये तनख्वाह लेते हैं। गुड़गांव के रहने वाले अमित ने इंजीनियरिंग की सर्वोच्च संस्थाओं में से एक आईआईटी दिल्ली से इलेकट्रानिक्स में बीटेक किया है। बीटेक की पढ़ाई के दौरान ही उन्हें देश विदेश की नामी गिरामी कंपनियों से लाखों के पैकेज पर नौकरी का आफर मिला था, लेकिन वे आईएएस बनना चाहते थे। इसलिए सभी आफर ठुकरा दिया। कटारिया के परिवार का दिल्ली और आसपास रियल स्टेट का कारोबार है। शापिंग माल और कई कांप्लेक्स भी हैं। अमित की पत्नी प्रोफेशनल पायलट हैं। उनसे कई गुना ज्यादा उनकी पत्नी की आमदनी है।

Tuesday, November 1, 2016

PM MODI ने किया छत्तीसगढ़ राज्योत्सव का शुभारंभ

PM MODI ने किया छत्तीसगढ़ राज्योत्सव का शुभारंभ

pm-modi-inaugurates-chhatisgarh-state-festival-programme

रायपुर, 1 नवंबर: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को छत्तीसगढ़ राज्योत्सव कार्यक्रम में शामिल होने नया रायपुर पहुंचे। यहां उन्होंने पांच दिवसीय राज्योत्सव का शुभारंभ किया। साथ ही सौर सुजला योजना की शुरुआत की और जंगल सफारी, बस रैपिड ट्रांजिट सिस्टम, एकात्म पथ का लोकार्पण और पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा का अनावरण किया। मोदी ने प्रदेशवासियों को राज्य स्थापना दिवस की बधाई और शुभकामनाएं दी।

जंगल सफारी के लोकार्पण अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रधानमंत्री मोदी को स्मृति चिन्ह के रूप में भगवान गणेश की काष्ठ निर्मित प्रतिमा भेंटकर शुभकामनाएं दी। मोदी ने जंगल सफारी में पौधरोपण भी किया। प्रधानमंत्री के हाथों राज्य को कई सौगातें मिलीं। 

जंगल सफारी का विकास 320 हेक्टेयर में किया गया है। इसका निर्माण अक्टूबर 2012 में शुरू हुआ था। इसमें टाइगर, बीयर, हबीर्वोर और लॉयन सफारी शामिल हैं। जंगल सफारी के बीच 131 एकड़ से अधिक क्षेत्र में खंडवा जलाशय है। जलाशय के बीच नेस्टिंग आइलैंड का विकास किया जाएगा। यह नया रायपुर के लिए एक ऑक्सीजोन है।

सफारी का निर्माण लगभग 200 करोड़ रुपये की लागत से इस किया गया है। इसमें 50 एकड़ के रकबे में टाइगर सफारी और 50 एकड़ में भालुओं के लिए बीयर सफारी बनाया गया है। इसके अलावा 125 एकड़ में चिड़ियाघर और 50 एकड़ में लायन सफारी का भी प्रावधान है।

रंग-बिरंगी तितलियों के लिए बटरफ्लाई जोन का निर्माण भी किया गया है। जंगल सफारी में पशु-पक्षियों के लिए करीब 52 एकड़ में जलस्रोत भी विकसित किए गए हैं।

मोदी ने रायपुर और नया रायपुर के बीच सार्वजनिक परिवहन की शुरुआत भी की। प्रथम चरण में 30 बसों का संचालन किया जा रहा है। इन बसों में ऑटोमेटेड टिकटिंग कंट्रोल सिस्टम भी है।

सीबीडी रेलवे स्टेशन तथा राजधानी परिसर के बीच 2.25 किलोमीटर लंबाई और 200 मीटर की चौड़ाई में 30 करोड़ रुपये की लागत से एकात्म पथ का निर्माण किया गया है। सड़क के मध्य 100 मीटर चौड़े तथा 2.10 किलोमीटर लंबे क्षेत्र में आकर्षक उद्यान भी बनाया गया है।

करीब 50 एकड़ के इस उद्यान में विभिन्न प्रजातियों के 6 हजार से अधिक वृक्ष समेत 23 हजार पौधों का रोपण। एकात्म पथ पर गुलाब, सेवंती, जासवंत, मेहंदी, चम्पा, चांदनी, सदाबहार, नीम, पीपल, कचनार, कामिनी, कुसुम, बादाम, बसंत रानी, पारिजातक समेत 65 विभिन्न प्रजातियों के पौधे रोपे गए हैं। उद्यान में 1 लाख 13 हजार वर्ग मीटर घास लगाई गई हैं। उद्यान में 11 विभिन्न फव्वारे हैं। पैदल पथ तथा 4 किलोमीटर साइकिल ट्रैक है। इस पथ के बीच रोटरी ऑब्जर्वेशन टॉवर भी प्रस्तावित है।

एकात्म पथ में खैरागढ़ के चित्रकारों द्वारा मधुबनी, वरली, संथाल, गोंड, बांग्ला तथा बस्तर शैली में जीवन के विभिन्न अवसरों को चित्रों के माध्यम से उकेरा गया है।

एकात्म मानववाद के प्रवर्तक पंडित दीनदयाल उपाध्याय की 15 फीट और 14 टन की यह प्रतिमा संगरमर के पत्थरों से निर्मित है। जयपुर (राजस्थान) के पद्मश्री सम्मान प्राप्त शिल्पकार अर्जुन प्रजापति ने इसका निर्माण किया है। यह प्रतिमा 150 मीटर व्यास के वृत्त वाली सड़क के बीच स्थापित की गई है। पंडित दीनदयाल वृत्त प्रदेश के प्रशासिक केंद्र राजधानी परिसर के ठीक सामने है। यह वृत्त भौगोलिक दृष्टि से शहर का केंद्र है।

प्रधानमंत्री मोदी ने छत्तीसगढ़ सहित देशभर के उन किसानों को सौर सुजला योजना की सौगात दी। इस नई योजना में ऐसे किसानों के खेतों में पानी पहुंचाने के लिए उन्हें आकर्षक अनुदान पर सौर ऊर्जा से चलने वाले सिंचाई पम्प दिए जाएंगे। अनुसूचित जाति और जनजाति वर्ग के किसानों को साढ़े तीन लाख रुपये की लागत वाले तीन हॉर्सपावर का सिंचाई पम्प सिर्फ सात हजार रुपये के अंशदान पर मिलेगा। 

इसी तरह पिछड़ा वर्ग के किसानों को यह पम्प 12 हजार रुपये और सामान्य वर्ग के किसानों को 18 हजार रुपये में मिलेगा। वहीं पांच हॉर्सपावर वाले साढ़े चार लाख रुपये कीमत वाले सिंचाई पम्प अनुसूचित जाति और जनजाति के किसानों को 10 हजार रुपये, अन्य पिछड़ा वर्ग के किसानों को 15 हजार रुपये और सामान्य वर्ग के किसानों को 20 हजार रुपये में दिया जाएगा। 

छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में वित्तीय वर्ष 2019 तक 51 हजार किसानों को इस योजना का लाभ दिलाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इनमें से 11 हजार किसानों को चालू वित्तीय वर्ष 2016-17 में सौर ऊर्जा आधारित सिंचाई पम्प दिए जा रहे हैं।

राज्योत्सव के शुभारंभ समारोह में राज्यपाल बलरामजी दास टंडन और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह सहित प्रदेश सरकार के मंत्री, छत्तीसगढ़ के कई लोकसभा और राज्यसभा सांसद, विधायक तथा बड़ी संख्या में अन्य जनप्रतिनिधि, विभिन्न निगम मंडलों के पदाधिकारी और विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधि उपस्थित थे। 

प्रधानमंत्री मोदी सिर्फ डेढ़ साल में तीसरी बार छत्तीसगढ़ आए। वह स्वामी विवेकानंद विमानतल (माना) पर भारतीय वायुसेना के विमान से पहुंचे। उनका आत्मीय स्वागत किया गया।

विमानतल पर राज्यपाल बलरामजी दास टंडन और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने पुष्पगुच्छ भेंट कर उनकी अगवानी की। प्रदेश सरकार के मंत्रियों, राज्य के कई सांसदों, विधायकों, विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारियों सहित शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारियों ने भी प्रधानमंत्री का स्वागत किया।

Thursday, September 15, 2016

105 साल की ताई कुंवरबाई बोलीं 'हवाई जहाज से भले गिर जाऊं, मोदी दिल्ली बुलाया है तो जाउंगी’

105 साल की ताई कुंवरबाई बोलीं 'हवाई जहाज से भले गिर जाऊं, मोदी दिल्ली बुलाया है तो जाउंगी’

modi will honour kunwar bai in new delhi on 17 september she afread

नई दिल्ली 15 सिंतबर: बकरी बेचकर टॉयलेट बनाने वाली छत्तीसगढ़ निवासी 105 वर्षीय कुंवरबाई को स्वच्छता मिशन के शुभंकर के रूप में चुना गया है जिसके लिए उन्हें सम्मान के रूप में दो लाख रूपये दिए जायेंगे, मिलने वाली रकम को लेकर इन दिनों कुंवर बाई की रातो की नींद और दिन का चैन उड़ा हुआ है, उन्हें दिन पर दिन एक ही चिंता सता रही हैं की वो इतनी बड़ी रकम को कहा रखेंगी, कही चोरी हो गई या फिर चोरो ने उनसे पैसे छीनकर उनका क़त्ल कर दिया तो,, इन सब बातो को लेकर कुंवरबाई बहुत ही परेशान नजर आ रही है हालाँकि अभी उन्हें सम्मानित राशि मिली नहीं है।

बाई को इस बात की भी ख़ुशी है कि उन्हें पैसे लेने के लिए हवाई जहाज से दिल्ली बुलाया गया है, साथ ही इस बात का डर भी है कि वह हवाई जहाज में कैसे बैठेंगी, उन्हें हवाई जहाज से नीचे गिरने का भी डर है, हवाई जहाज में बैठना ही उनके लिए बहुत बड़ी बात है। उनका कहना है कि उन्होंने कभी ऐसा सोचा भी नहीं था कि हवाई जहाज में बैठूंगी, मै भले ही हवाई जहाज से नीचे गिर जाऊं लेकिन मोदी ने मुझे दिल्ली बुलाया है तो जाउंगी। 

वे कहती हैं ‘मैं कब सोचे रहेंव, जहाज म बइठिहंव..। मोदी हमोर बेटा हे...त मोर बेटी शुशीला है, ओकर बहिनी होइस। ओ हर ओला राखी बांधही।’ (मतलब, मोदी ने उन्हें मां माना है तो बेटी सुशीला उनकी बहन हुईं। वो दिल्ली में प्रधानमंत्री को राखी बांधेंगी। प्रधानमंत्री के लिए सुशीला ने अपने हाथ से राखी बनाई है। सुशीला कहती हैं, इस सम्मान के बाद से छत्तीसगढ़ में उनकी मां खास हो गई हैं लेकिन उनकी मां को लगता है कि तो कोई उनकी पुरस्कार राशि न चुरा ले। कुंवर बाई से जब कहा गया कि नरेंद्र मोदी आपका सम्मान करेंगे। नए कपड़े ले लो, तो कुंवर बाई बोलीं, प्रधानमंत्री कपड़े का सम्मान कर रहे हैं या मेरा। कोई जरूरत नहीं है। मैं जैसी हूं, ठीक है। मैं भली, मेरी पुरानी फटी साड़ी भली और मेरी लाठी भली।

छत्तीसगढ़ में धमतरी जिले के कोटाभर्री गांव की रहने वाली कुंवर बाई यादव ने अपनी बकरी बेचकर टॉयलेट बनवाया था। इससे प्रेरित हो पूरे गांव के लोगों ने टॉयलेट बनवाए। 17 सितंबर को दिल्ली में उन्हें प्रधानमंत्री के हाथों सम्मानित किया जाएगा। कुंवरबाई के साथ बेटी सुशीला, नाती बुधराम, सरपंच वत्सला और जोहन यादव भी दिल्ली जाएंगे