Showing posts with label Chandigarh. Show all posts
Showing posts with label Chandigarh. Show all posts

Aug 15, 2017

अभी अभी, चंडीगढ़ में स्वतंत्रता दिवस के कायक्रम में भाग लेने गयी लड़की के साथ रेप

अभी अभी, चंडीगढ़ में स्वतंत्रता दिवस के कायक्रम में भाग लेने गयी लड़की के साथ रेप

girl-allegedly-rape-in-chandigarh-went-to-participate-in-id-programme

चंडीगढ़: चंडीगढ़ से एक हैरान करने वाली खबर आयी है. एक लड़की से रेप का मामला सामने आया है. आपको बता दें कि चंडीगढ़ पुलिस देश में सबसे सतर्क और तेज मानी जाती है लेकिन इसके बावजूद भी एक व्यक्ति से स्वतंत्रता दिवस के समारोह में भाग लेने गयी लड़की के साथ दिन दहाड़े रेप की घटना को अंजाम दिया.

रिपोर्ट के अनुसार पीड़ित छात्रा आठवीं कक्षा में पड़ती है. वह अपने स्कूल में स्वतंत्रता दिवस के कार्यक्रम में भाग लेने के लिए गयी थी. जब वह वापस लौट रही थी तो सेक्टर 23 स्थित चिल्ड्रन ट्रैफिक पार्क स्थित नाले के पास उसके साथ रेप हुआ. यह इलाका सूनसान है जिसकी वजह से घटना के बारे में लोगों को पता नहीं चला.

पीड़ित छात्रा के अनुसार रेप के आरोपी की उम्र करीब 40 साल के आसपास है. फिलहाल पुलिस उसे गिरफ्तार नहीं कर पाई है. पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.

Aug 10, 2017

चंडीगढ़ कांड में मोदी-राजनाथ का एक्शन देखकर खुश हो गए सुब्रमनियम स्वामी 'अब नहीं करेंगे PIL'

चंडीगढ़ कांड में मोदी-राजनाथ का एक्शन देखकर खुश हो गए सुब्रमनियम स्वामी 'अब नहीं करेंगे PIL'

subramanian-swamy-happy-after-modi-rajnath-action-on-vikas-barala

चंडीगढ़: चंडीगढ़ महिला उत्पीडन कांड में मोदी और राजनाथ सिंह का एक्शन देखकर सुब्रमनियम स्वामी बहुत खुश हैं, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि चंडीगढ़ में केंद्र सरकार का शासन है और पुलिस गृह मंत्रालय के अंतर्गत आती है. जब मामले में ढिलाई बरती जाने लगी तो सुब्रमनियम स्वामी इस केस में कूद पड़े और CBI जांच की मांग करते हुए कोर्ट में PIL करने की धमकी दी.

इसके बाद केंद्र सरकार ने इस मामले में तुरंत एक्शन किया और चंडीगढ़ पुलिस को विकास बराला के खिलाफ जांच और कड़ा एक्शन लेने का निर्देश दिया. मोदी सरकार के दखल के बाद पुलिस ने पुलिसिया रंग दिखा दिया है और दोनों आरोपियों को पर दो धाराएं और ठोंककर अब उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया.

दोनों आरोपियों विकास बराला और आकाश को पुलिस मुख्यालय में बुलाकर 2 घंटे तक पूछताछ की गयी और उसके बाद दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस ने दोनों पर अपहरण करने की कोशिश के तहत दो धाराएं - 365 और 511 और ठोंक दी गयीं जिसके बाद साफ़ हो गया कि अब दोनों का बचना मुश्किल है.

मोदी और राजनाथ सिंह के  इस मामले में दखल देने के बाद सुब्रमनियम स्वामी खुश हो गए और उन्होंने अपनी PIL को रोक लिया. उन्होंने ट्विटर पर लिखा - मैं चंडीगढ़ कांड में प्रधानमंत्री और गृह मंत्री के तेज एक्शन के लिए उनका धन्यवाद देता हूँ. उन्होने चंडीगढ़ पुलिस को मामले की जांच के आदेश दिए हैं इसलिए मैं अपनी PIL रोक रहा हूँ.


पुलिस के एक्शन के बाद कई लोगों ने इसका क्रेडिट सुब्रमनियम स्वामी को दिया क्योंकि उनके PIL दाखिल करने की धमकी के बाद ही केंद्र सरकार ने विकास बराला के खिलाफ कड़ा कदम उठाया था. लोगों ने कहा कि सुब्रमनियम स्वामी की PIL की धमकी काम कर गयी और केंद्र सरकार ने एक्शन ले लिया.

Aug 9, 2017

छेड़छाड़ कांड में बुरा फंसा बराला का बेटा, मोदी के दखल के बाद चंडीगढ़ पुलिस ने ठोंकी दो धाराएं

छेड़छाड़ कांड में बुरा फंसा बराला का बेटा, मोदी के दखल के बाद चंडीगढ़ पुलिस ने ठोंकी दो धाराएं

chandigarh-police-arrest-vikas-barala-in-abduction-case-365-511

चंडीगढ़: वर्णिका कुंडू छेड़छाड़ मामले में हरियाणा भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला का बिगडैल बेटा विकास बराला बुरी तरह फंस गया है क्योंकि मोदी सरकार के दखल के बाद पुलिस ने पुलिसिया रंग दिखा दिया है और दोनों आरोपियों को पर दो धाराएं और ठोंककर अब उन्हें गिरफ्तार करके जेल भेजने की तैयारी चल रही है.

आज दोनों आरोपियों विकास बराला और आकाश को पुलिस मुख्यालय में बुलाकर 2 घंटे तक पूछताछ की गयी और उसके बाद दोनों को गिरफ्तार करने की तैयारियां शुरू हो गयीं. पुलिस ने दोनों पर अपहरण करने की कोशिश के तहत दो धाराएं - 365 और 511 और ठोंक दी गयीं जिसके बाद साफ़ हो गया कि अब दोनों का बचना मुश्किल है.

पुलिस ने यह भी बताया कि हम दोनों आरोपियों को अरेस्ट कर रहे हैं और दोनों को कल कोर्ट में पेश किया जाएगा और कोर्ट ने हम इनको रिलीज कस्टडी रिमांड लेने की कोशिश करेंगे. क्योंकि इस इन्वेस्टीगेशन में अभी बहुत सी बातें ऐसी हैं जिनके बारे में हमें पूछताछ करनी हैं और तीनों को घटनास्थल पर ले जाकर कई तथ्य बाहर लाने हैं.
अब नहीं बचेगा बराला का बिगड़ा बेटा, राजनाथ सिंह ने अपने हाथों में ली चंडीगढ़ पुलिस की कमान: पढ़ें

अब नहीं बचेगा बराला का बिगड़ा बेटा, राजनाथ सिंह ने अपने हाथों में ली चंडीगढ़ पुलिस की कमान: पढ़ें

rajanth-singh-interfare-chandigarh-kand-police-call-vikas-barala

चंडीगढ़: चंडीगढ़ पीछा-कांड पर पुलिस पर बीजेपी नेताओं के दबाव की ख़बरों के बाद होम मंत्रालय हरकत में आ गया है, चंडीगढ़ केंद्र शासित प्रदेश है और वहां की कानून व्ययस्था केंद्र सरकार के हाथों में है, जैसे ही राजनाथ सिंह ने चंडीगढ़ कांड पर विवाद बढ़ते देखा, पुलिस का कंट्रोल अपने हाथों में लेकर छेड़छाड़ के आरोपी विकास बराला पर कड़ी कार्यवाही के आदेश दिए हैं.

राजनाथ सिंह के दखल देने के बाद चंडीगढ़ पुलिस भी हरकत में आ गयी है और हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के घर पर नोटिस चिपका दिया है, विकास बराला को पूछताछ के लिए समन जारी किया गया है.

छेड़छाड़ का यह मामला चंडीगढ़ के सेक्टर-26 पुलिस स्टेशन में दर्ज हुआ था। होम मंत्रालय से आदेश मिलते ही पुलिस ने आज 11 बजे दोनों आरोपी लड़कों को पूछताछ के लिए बुलाया है। इस मामले में अब तक पुलिस ढीला रवैया अपना रही थी लेकिन मीडिया ने जिस तरह पुलिस पर सवाल खड़ा किया, उसके बाद होम मंत्रालय को हरकत में आना पड़ा. अब पुलिस का रवैया बेहद शख्त नजर आ रहा है।

कल भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला का बयान आया था कि वर्णिका कुंडू मेरी बेटी की तरह है और उसे न्याय मिलेगा लेकिन बराला ने अपने इस्तीफ़ा देने का कोई संकेत नहीं दिया।

Aug 8, 2017

चंडीगढ़-कांड पर सुब्रमनियम स्वामी ने खोली BJP सरकार की पोल, देंगे वर्णिका का साथ: पढ़ें

चंडीगढ़-कांड पर सुब्रमनियम स्वामी ने खोली BJP सरकार की पोल, देंगे वर्णिका का साथ: पढ़ें

subramanian-swamy-wll-help-varnika-in-chandigarh-kand

हरियाणा की बीजेपी सरकार की पोल खुद बीजेपी सांसद सुब्रमनियम स्वामी ने खोल दी है और अब खुलकर पीड़ित लड़की वर्णिका के समर्थन में आ गए हैं, वे ना सिर्फ इस मामले में PIL दाखिल करेंगे बल्कि जरूरत पड़ने पर CBI जांच की भी मांग करेंगे और हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के पियक्कड़ बेटे विकास बराला को सबक सिखाकर मानेंगे.

सुब्रमनियम स्वामी ने कहा कि राजनीतिक दबाव में पुलिस इमानदारी से काम नहीं कर रही है, पुलिस ने FIR में ही केस को कमजोर कर दिया है, उन्होंने केवल जमानती अपराध का जिक्र किया है, ऐसा लगता है कि पुलिस पर दबाव डाला जा रहा है. मैं इसके खिलाफ कोर्ट में जाऊंगा और CBI जाँच की मांग करूँगा. अगर जरूरत पड़ी तो SIT गठन की भी मांग करूँगा ताकि पीडिता को न्याय मिल सके.

सुब्रमनियम स्वामी ने कहा कि पीड़ित लड़की को लगना चाहिए कि राज्य का पुलिस-प्रशासन उसके लिए काम कर रहा है और जिन असभ्य लोगों ने उसके साथ बुरा बर्ताव किया है उनके खिलाफ कार्यवाही कर रहा है.

आपको बता दें कि सुब्रमनियम स्वामी कल वर्णिका के समर्थन में आ गए और हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के बिगड़े बेटे विकास बराला को नशेड़ी गुंडा बता दिया. उन्होंने ट्विटर पर कहा - मैं अपने साथी वकील एपी जग्गा के साथ चंडीगढ़ में दो नशेड़ी गुंडों द्वारा महिला का पीछा करने और अपरहरण की कोशिश करने के मामले पर चंडीगढ़ में एक PIL दाखिल करूँगा.

subramanian-swamy-will-support-varnika

Aug 7, 2017

पीछा-कांड की शिकार IAS की बेटी इसलिए सिखाना चाहती है BJP अध्यक्ष के बेटे को सबक: पढ़ें जरूर

पीछा-कांड की शिकार IAS की बेटी इसलिए सिखाना चाहती है BJP अध्यक्ष के बेटे को सबक: पढ़ें जरूर

chandigarh-stalking-case-why-varnika-kundu-fighting-against-vikas

चंडीगढ़ में हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के पुत्र विकास बराला द्वारा पीछा-कांड और छेड़छाड़ की शिकार पूर्व IAS की बेटी वर्णिका कुंडू अब खुलकर विकास बराला के खिलाफ मैदान में आ गयी है, आज उसनें मीडिया को बताया कि वह क्यों इतने बड़े आदमी के खिलाफ लोहा ले रही है.

वर्णिका कुंडू ने ANI से बात करते हुए कहा कि इस लड़ाई में चाहे मैं जीतूँ या हारूं, लोगों को कम से कम जागरूकता तो मिलेगी ही, अगर मैं नहीं जीतूंगी तो अगली लडकी जीतेगी, अगर वह भी नहीं जीती तो उसके बाद वाली जीतेगी, कम से कम समाज में ऐसे लोगों के खिलाफ एक सन्देश तो जाएगा ही.

वर्णिका ने कहा कि विकास बराला बड़े आदमी के बेटे हैं, अगर उनका बीजेपी से कोई कनेक्शन ना होता तो चीजें आसान होतीं लेकिन जब तक मामला ख़त्म नहीं होगा बात भी ख़त्म नहीं होगी और मैं अंत तक अपनी लड़ाई जारी रखूंगी.

पुलिस की कार्यवाही पर प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि अभी तक मुझे पुलिस की कार्यवाही में कोई कमीं नजर नहीं आयी है, पुलिस ने अपना काम बहुत इमानदारी से किया है.
इस बिगड़ेजादे की वजह से ट्विटर पर चल रहा ट्रेंड 'बेटी बचाओ भाजपा से': पढ़ें क्या है मामला

इस बिगड़ेजादे की वजह से ट्विटर पर चल रहा ट्रेंड 'बेटी बचाओ भाजपा से': पढ़ें क्या है मामला

twitter-trend-beti-bachao-bhajpa-se-over-vikas-barala-pichha-kand

हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के बिगड़ेजादे विकास बराला ने बीजेपी को कहीं मुंह दिखाने लायक नहीं छोड़ा है, अब ट्विटर पर भी ट्रेंड चल रहा है 'बेटी बचाओ भाजपा से'. हरियाणा में बीजेपी ने बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ' का नारा दिया था लेकिन जब बीजेपी अध्यक्ष के बेटे ने ही एक लड़की को किडनैप और छेड़ने की कोशिश की तो पूरे भारत को सोचने पर मजबूर कर दिया है, लोग यह कह रहे हैं कि बीजेपी किस मुंह से बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ' का नारा दे रही है जबकि इनके नेताओं के बेटे ही बेटियों के साथ ऐसा कर रहे हैं.

beti-bachao-bhajpa-se

क्या है मामला: पढ़ें

चंडीगढ़ में पीछा-कांड का शिकार युवती ने मीडिया को पीछा-कांड की कई बातें बतायी हैं, युवती पूर्व IIS कुंडू की बेटी है, कल उसनें बताया कि उस रात को आरोपियों ने काफी देर तक उसका पीछा किया और उसके बाद मेरी गाड़ी के आगे अपनी कार लगाकर मेरा रास्ता ही रोक दिया, उसके बाद एक युवक मेरी कार के पास आया और गेट खोलने की कोशिश की.

29 वर्षीय युवती ने बताया कि वह चंडीगढ़ के सेक्टर 8 से पंचकूला के लिए जा रही थी, उन लड़कों ने मेरा सेक्टर 7 से पीछा करना शुरू किया, उन्होंने कई बार मुझे रुकने का इशारा किया लेकिन मैंने अपनी कार नहीं रोकी, उसके बाद उन्होंने मेरा रास्ता ब्लाक करने की कोशिश की, एक मोड़ पर उन्होंने मेरा रास्ता रोक लिया और मेरे पास एक युवक आया और गेट खोलने की कोशिश की. उसके तुरंत बाद पुलिस आ गयी, अगर पुलिस ना आयी होती तो शायद मैं बच नहीं पाती. पुलिस ने मेरी बहुत मदद की.

युवती ने बताया कि घटना की सुबह पुलिस की महिला सेल की तरफ से मुझे फोन किया गया और मेरी मदद मांगी गयी, उस समय तक मुझे नहीं पता था कि मेरा पीछा करने वाला बीजेपी अध्यक्ष का बेटा था, न्यूज़ में मुझे उसके बारे में पता चल. चंडीगढ़ पुलिस ने वाकई में बहुत तेजी से एक्शन दिखाया है खासकर महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुलिस बहुत सतर्क है.
पीछा-कांड की शिकार बोली, मुझे नहीं पता था कि वो BJP अध्यक्ष का बेटा है, सुबह न्यूज़ में पता चला

पीछा-कांड की शिकार बोली, मुझे नहीं पता था कि वो BJP अध्यक्ष का बेटा है, सुबह न्यूज़ में पता चला

peecha-kand-girl-dont-know-bjp-president-son-vikas-barala

चंडीगढ़ में पीछा-कांड का शिकार युवती ने मीडिया को पीछा-कांड की कई बातें बतायी हैं, युवती पूर्व IIS कुंडू की बेटी है, कल उसनें बताया कि उस रात को आरोपियों ने काफी देर तक उसका पीछा किया और उसके बाद मेरी गाड़ी के आगे अपनी कार लगाकर मेरा रास्ता ही रोक दिया, उसके बाद एक युवक मेरी कार के पास आया और गेट खोलने की कोशिश की.

29 वर्षीय युवती ने बताया कि वह चंडीगढ़ के सेक्टर 8 से पंचकूला के लिए जा रही थी, उन लड़कों ने मेरा सेक्टर 7 से पीछा करना शुरू किया, उन्होंने कई बार मुझे रुकने का इशारा किया लेकिन मैंने अपनी कार नहीं रोकी, उसके बाद उन्होंने मेरा रास्ता ब्लाक करने की कोशिश की, एक मोड़ पर उन्होंने मेरा रास्ता रोक लिया और मेरे पास एक युवक आया और गेट खोलने की कोशिश की. उसके तुरंत बाद पुलिस आ गयी, अगर पुलिस ना आयी होती तो शायद मैं बच नहीं पाती. पुलिस ने मेरी बहुत मदद की.

युवती ने बताया कि घटना की सुबह पुलिस की महिला सेल की तरफ से मुझे फोन किया गया और मेरी मदद मांगी गयी, उस समय तक मुझे नहीं पता था कि मेरा पीछा करने वाला बीजेपी अध्यक्ष का बेटा था, न्यूज़ में मुझे उसके बारे में पता चल. चंडीगढ़ पुलिस ने वाकई में बहुत तेजी से एक्शन दिखाया है खासकर महिलाओं की सुरक्षा के लिए पुलिस बहुत सतर्क है.
नकाब उतारकर बोली IAS की बेटी ‘मैं क्यों छुपाऊं अपना चेहरा, BJP अध्यक्ष का बेटा है तो क्या हुआ’

नकाब उतारकर बोली IAS की बेटी ‘मैं क्यों छुपाऊं अपना चेहरा, BJP अध्यक्ष का बेटा है तो क्या हुआ’

iis-daughter-varnika-open-naqab-against-bjp-cheaf-son-vikas-barala

चंडीगढ़ 7 अगस्त: हरियाणा भाजपा अध्यक्ष सुभाष बराला के पुत्र विकास बराला के खिलाफ अब IAS कुंडू की बेटी वर्णिका कुंडू खुलकर मैदान में आ गयी हैं, कल तक वे मीडिया के सामने नकाब पहनकर आती थीं ताकि कोई उनका मुंह ना देख सके, आज उन्होंने नकाब उतारकर फेंक दिया है और खुलकर मैदान में आ गयी हैं. उनका कहना है कि आखिर मैंने किया क्या है तो नकबा में अपना चेहरा छुपाऊं, गलती तो बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला ने की है, चेहरा तो उसे ढकना चाहिए.

वर्णिका ने भाजपा अध्यक्ष के बेटे विकास बराला पर निशाना साधते हुए कहा कि शर्म तो उनको आनी चाहिए जिन्होंने ‘बेटी बचाओ’ का नारा देकर ही एक बेटी की इज्जत से खिलवाड़ करने की कोशिश की है। वर्णिका ने मीडिया से बातचीत में विकास बराला व उसके साथ आशीष को खुली चुनौती देते हुए कहा कि वह न्याय के लिए हर दरवाजे पर जाएंगी।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि दो दिन पहले हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष सुभाष बराला के बेटे विकास बराला ने रात के 12 बजे इस लडकी की कार का पीछा किया था और गलत हरकत करने की कोशिश की थी लेकिन चंडीगढ़ पुलिस ने सही वक्त पर पहुंचकर लडकी की आबरू बचा ली थी. चंडीगढ़ पुलिस ने तुरंत ही विकास बराला को गिरफ्तार करके उसकी मेडिकल जांच कराई तो पता चला कि विकास बराला और उनके दोस्त आकाश बराला दारु के नशे में टुन्न थे.

इस मामले में कल दिन भर प्रदेश में भाजपा के पुतले जलाये गए। विपक्ष के लोग सुभाष बराला का स्तीफा मांग रहे हैं लेकिन कल मुख्यमंत्री ने साफ़ कह दिया कि बेटे की गलती की सजा भाजपा अध्यक्ष को नहीं दी जाएगी। 

May 30, 2017

वाह! Arunaya Shine Institute ने 100 परसेंट नतीजे देकर किया कमाल

वाह! Arunaya Shine Institute ने 100 परसेंट नतीजे देकर किया कमाल

arunaya-shine-institute-derabassi-100-percent-result-in-cbse-12th
डेराबसी, चंडीगढ़: इस बार CBSE बोर्ड की 12वीं परीक्षा में छात्रों को उम्मीद के अनुसार नंबर नहीं मिले और ना ही बढ़िया नतीजे आये लेकिन डेराबसी स्थित Arunaya Shine Institute ने CBSE बोर्ड की 12वीं परीक्षा में 100 फीसदी नतीजे देकर कमाल कर दिया है और क्षेत्र का अग्रणी इंस्टिट्यूट बन गया है. 

जानकारी के लिए बता दें कि 28 मई को CBSE बोर्ड की 12वीं परीक्षा के नतीजे घोषित किये गए थे, इस वर्ष पिछले वर्ष की तुलना में केवल 82 फ़ीसदी छात्र सफल हुए थे लेकिन Arunaya Shine Institute ने 100 फ़ीसदी रिजल्ट दिया है.

इंस्टिट्यूट के डायरेक्टर प्रिंस बंसल का कहना है कि हम हमेशा से ही बढ़िया नतीजे देते आये हैं लेकिन इस बार हमने 100 फ़ीसदी नतीजे दिए हैं, हमने फिजिक्स, केमिस्ट्री और मैथ में भी 100 फ़ीसदी रिजल्ट दिया है. हमें इस बात की बहुत ख़ुशी है कि हमारे यहाँ पढने वाला कोई भी छात्र फेल नहीं हुआ.

CBSE बोर्ड के अलावा JEE Main में भी यहाँ के 6 छात्र सफल हुए हैं, डायरेक्टर प्रिंस बंसल ने दावा किया है कि आने वाले समय में यह इंस्टिट्यूट चंडीगढ़ क्षेत्र का नंबर 1 इंस्टिट्यूट बनेगा.

CBSE Board 12th Exam में छात्रों को मिले नंबर (Arunaya Shine Institute)
Gagan Raj - Physics (95), Chemistry (87), Math (95)
Bhupinder Pal - Physics (94), Chemistry (91), Math (95)
Naval Jeet Kaur - Physics (92), Chemistry (91), Math (94)
Riya Baliyan - Physics (95), Chemistry (92), Math (95)
Kiran Deep Kaur - Physics (85), Chemistry (85), Bio (91)
Navneet - Physics (80)
Himanshi Godiyal - Chemistry (87)
Parbhat Rajput - Physics (80), Math (85)
Sparsh Thakur - Physics (87)
Devanshi - Math (80)

Dec 21, 2016

केजरीवाल ने चंडीगढ़ चुनावों से भागकर बढ़िया, वर्ना औकात पता चल जाती, बेइज्जती भी होती

केजरीवाल ने चंडीगढ़ चुनावों से भागकर बढ़िया, वर्ना औकात पता चल जाती, बेइज्जती भी होती

kejriwal-good-decision-to-run-away-from-chandigarh-mc-election

चंडीगढ़, 21 दिसंबर: अरविन्द केजरीवाल पिछले कई महीनों से प्रोजेक्शन करते आ रहे हैं कि पंजाब में आम आदमी पार्टी की 117 सीटों में से कम से कम 110 सीटों पर विजय होने वाली है और उनकी आंधी में बीजेपी, अकाली दल और कांग्रेस उड़ने वाली हैं। इसी भरोसे से केजरीवाल चंडीगढ़ नगर निगम चुनावों में भी लड़ने का मन बनाया था, केजरीवाल ने कई रैलियां भी की थी लेकिन एन वक्त पर वे चुनावों से भाग लिए, उनके सभी उम्मीदवार निर्दलीय चुनाव लड़े और सब के सब बीजेपी की आंधी में उड़ गए।

चंडीगढ़ चुनावों से भागकर केजरीवाल ने बढ़िया काम किया, अगर वे चुनाव लड़ते तो उन्हें उनकी औकात भी पता चल जाती और बेइज्जती भी होती, उन्हें इसका नुकसान पंजाब विधानसभा चुनावों में भी होता क्योंकि सब के सब यही सोचते ही केजरीवाल में कोई दम नहीं है, इनकी औकात चंडीगढ़ में पता चल गयी।

चंडीगढ़ में बीजेपी की आंधी में कांग्रेस पार्टी उड़ गयी, बीजेपी ने 22 सीटों पर चुनाव लड़ा था जिसमें उन्हें 20 सीटों पर जीत मिली, अकाली दल ने चार सीटों पर चुनाव लड़ा था जिसमें से उन्हें केवल 1 सीट पर जीत मिली। अगर बीजेपी इन चारों सीटों पर भी चुनाव लडती तो उन्हें या तो अभी पर या चार में से 2-3 सीटें जरूर मिलती। कांग्रेस को इसका फायदा हुआ और उन्हें चार सीटें मिल गयीं और एक सीट निर्दलीय के खाते में चली गयी।

Dec 20, 2016

अमित शाह बोले, चंडीगढ़ की विशाल जीत नोटबंदी का समर्थन, कांग्रेस का विनाश तय

अमित शाह बोले, चंडीगढ़ की विशाल जीत नोटबंदी का समर्थन, कांग्रेस का विनाश तय

amit-shah-said-chandigarh-mc-election-victory-due-to-notbandi

नई दिल्ली, 20 दिसम्बर: भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष अमित शाह ने मंगलवार को कहा कि चंडीगढ़ स्थानीय निकाय चुनाव में भाजपा की जीत नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा नोटबंदी के फैसले का पुरजोर समर्थन है। चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव का परिणाम मंगलवार को आया। भाजपा ने कुल 22 सीटों पर चुनाव लड़ा था, जिसमें उसने 20 सीटों पर जीत दर्ज की है, जबकि उसके गठबंधन घटक दल शिरोमणि अकाली दल (SAD) ने चार सीटों पर चुनाव लड़ा था जिसमें से 1 सीट पर जीत दर्ज की है। भाजपा तथा SAD ने मिलकर कुल 26 में से 21 सीटें जीतीं।

शाह ने कहा, "चंडीगढ़ में हुई ताजी जीत लोगों का नोटबंदी को स्पष्ट समर्थन है और इससे स्पष्ट हो गया है कि विपक्ष नोटबंदी पर गंदी राजनीति कर रहा है।"

उन्होंने कहा कि कांग्रेस नकारात्मक राजनीति के एक प्रतीक के रूप में सिमटकर रह गई है हर जगह से समाप्त होती जा रही है।

भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि नोटबंदी के बाद जितनी जगहों पर निकाय चुनाव हुए, उन सबमें भाजपा का प्रदर्शन शानदार रहा है।

शाह ने कहा, "जनता ने नरेंद्र मोदी सरकार की नीतियों का खुलकर समर्थन किया है। यह राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात के स्थानीय निकाय चुनाव तथा विधानसभा व लोकसभा उपचुनाव से स्पष्ट हो गया है।"

पिछले चुनाव में भाजपा ने 15 सीटें जीती थीं, जबकि कांग्रेस ने नौ सीटों पर जीत दर्ज की थी। इस बार कांग्रेस को मात्र चार सीटों से संतोष करना पड़ा।
चंडीगढ़ वालों ने कांग्रेस को नोटबंदी के विरोध की दी सजा, MC चुनावों में सूपड़ा ही साफ़ कर दिया

चंडीगढ़ वालों ने कांग्रेस को नोटबंदी के विरोध की दी सजा, MC चुनावों में सूपड़ा ही साफ़ कर दिया

chandigarh-municipal-corporation-election-2016-bjp-modi-big-victory

चंडीगढ़, 20 दिसम्बर: ऐसा लग रहा है कि पूरा देश कांग्रेस पार्टी को नोटबंदी के विरोध की सजा दे रहा है, जहाँ जहाँ भी चुनाव हो रहे हैं कांग्रेस का सूपड़ा साफ़ हो रहा है, आज चंडीगढ़ नगर निगम चुनावों में भी कांग्रेस पार्टी का सूपड़ा साफ हो गया और बीजेपी-अकाली दल की बम्पर जीत हुई। 

चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव में भाजपा और शिरोमणि अकाली दल के गठबंधन ने 26 में से 21 सीटों पर जीत दर्ज कर स्पष्ट बहुमत हासिल कर लिया है। चुनाव कार्यालय के एक प्रवक्ता ने बताया कि भाजपा ने 21, विरोधी दल कांग्रेस ने चार और निर्दलीय ने एक वार्ड में जीत हासिल की है। 

जीत दर्ज करने वाले प्रमुख उम्मीदवारों में भाजपा के मेयर अरूण सूद और कांग्रेस के देविंदर सिंह बाबला शामिल हैं। चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव में कुल 59.54 प्रतिशत मतदान हुआ। नोटबंदी के बाद भाजपा और कांग्रेस के लिए 26 वार्डों में हुए ये नगर निगम चुनाव उनके प्रदर्शन को आंकने की एक बड़ी कसौटी थे। निर्दलीय 67 उम्मीदवारों सहित कुल 122 उम्मीदवार चुनाव में खड़े हुए थे। वहीं 2,37,374 महिलाओं सहित कुल 5,07,627 मतदाता थे। 

इस चुनाव में कुल 122 उम्मीदवार थे जिसमें से 67 निर्दलीय थे। चुनाव में बीजेपी को 57 फीसदी वोट मिले। नोटबंदी के बाद आ रहे इन नतीजों से बीजेपी का उत्साहित होना लाजिमी है। गौर हो कि पिछली बार बीजेपी ने इस चुनाव में 10 सीटें जीती थी और इस बार दोगुनी सीटों पर जीत हासिल की। दूसरी तरफ पिछले नगर निगम चुनाव में कांग्रेस ने 11 सीटें जीती थी जो इस बार घटकर 4 हो गई।